Spotting
 Timeline
 Travel Tip
 Trip
 Race
 Social
 Greeting
 Poll
 Img
 PNR
 Pic
 Blog
 News
 Conf TL
 RF Club
 Convention
 Monitor
 Topic
 Bookmarks
 Rating
 Correct
 Wrong
 Stamp
 PNR Ref
 PNR Req
 Blank PNRs
 HJ
 Vote
 Pred
 @
 FM Alert
 FM Approval
 Pvt
News Super Search
 ↓ 
×
Member:
Posting Date From:
Posting Date To:
Category:
Zone:
Language:
IR Press Release:

Search
  Go  

हम RailFan - हमेशा पंखों पे

Full Site Search
  Full Site Search  
FmT LIVE - Follow my Trip with me... LIVE
 
Fri Jun 25 02:38:14 IST
Home
Trains
ΣChains
Atlas
PNR
Forum
Quiz Feed
Topics
Gallery
News
FAQ
Trips/Spottings
Login
Advanced Search

News Posts by Viper587

Page#    Showing 1 to 5 of 8 news entries  next>>
Yesterday (00:24) 60 Kisan Rail routes operational, 2.7 lakh tonnes consignment ferried so far (www.outlookindia.com)
0 Followers
3191 views

News Entry# 457039  Blog Entry# 4993575   
  Past Edits
This is a new feature showing past edits to this News Post.
New Delhi, Jun 23 (PTI) Sixty routes of the Kisan Rail has been operational so far, ferrying 2.7 lakh tonnes of farm products across the nation, the Indian Railways said on Wednesday. In compliance to the announcement made in Union Budget 2020-21, Kisan Rail trains have been introduced by the railways to move perishables and farm produce (including fruits,vegetables, meat, poultry, fishery and dairy products) from production or surplus regions to consumption or deficient regions. "The Kisan Rail, with its pan-India network, forms an integral part of the government plan to raise incomes in the farm sector by encouraging transportation by rail. Introduction of Kisan Rails have given farmers wide access of Indian markets. Kisan Rails have so far carried 2.7 lakh tonnes of consignment. Till now, 60 routes have been operationalised," it said in a statement. The railways has been relentlessly pursuing with various stake holders – including Ministry of...
more...
Agriculture and Farmers Welfare, state governments and local bodies and agencies, mandis etc – to plan roll out of Kisan Rail services, the ministry said. Kisan Rail enables movement of perishables including fruits, vegetables, meat, poultry, fishery and dairy products from production or surplus regions to consumption or deficient regions, enabling farmers to to utilise the vast railway network to gain access to distant, bigger and more lucrative markets. The farmers are also given 50 per cent subsidy in freight (being borne by Ministry of Food Processing Industries under ‘Operation Greens – TOP to Total’ scheme) for transportation of fruits and vegetables. No minimum limit on quantity that can be booked, enabling even small and marginal farmers to reach bigger and distant markets. The first train under the Kisan Rail scheme – between Devlali (Mah) and Danapur (Bihar) – was flagged off by Railway Minister Piyush Goyal and Minister of Agriculture Narendra Singh Tomar on August 7, 2020. PTI ASG CK Disclaimer :- This story has not been edited by Outlook staff and is auto-generated from news agency feeds. Source: PTI
Yesterday (00:20) आज से चलेगी धनबाद-गया इंटरसिटी (www.jagran.com)
0 Followers
3882 views

News Entry# 457038  Blog Entry# 4993574   
  Past Edits
Jun 24 2021 (00:20)
Station Tag: Dhanbad Junction/DHN added by Viper587/1952276

Jun 24 2021 (00:20)
Station Tag: Gaya Junction/GAYA added by Viper587/1952276

Jun 24 2021 (00:20)
Train Tag: Dhanbad - Dehri On Sone InterCity Special/03305 added by Viper587/1952276

Jun 24 2021 (00:20)
Train Tag: Dehri On Sone - Dhanbad InterCity Special/03306 added by Viper587/1952276
ट्रेन चलाने को लेकर सांसद ने रेलवे के अधिकारियों से की थी बात
कोरोना के कारण लंबे समय से बंद था इंटरसिटी का परिचालन संवाद सहयोगी, कोडरमा: कोडरमा सांसद सह भाजपा के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष अन्नपूर्णा देवी के प्रयास से धनबाद गया इंटरसिटी ट्रेन फिर से रेलवे ने चलाने का निर्णय लिया है। रेलवे के अधिकारियों के अनुसार यह ट्रेन 24 जून 2021 से अपने निर्धारित समय पर धनबाद से गोमो, पारसनाथ, परसाबाद, कोडरमा, गया होते हुए डेयरी आन सोन तक पूर्व की तरह चलेगी। बताते चलें कि कोडरमा सांसद अन्नपूर्णा देवी जनता की मांग पर इंटरसिटी ट्रेन चलाने को लेकर रेलवे के अधिकारियों से बात की थी। जिस पर रेलवे के अधिकारियों के द्वारा सांसद को ट्रेन जल्द चलाने को लेकर
...
more...
आश्वासन दिया था। सांसद के प्रयास के बाद रेलवे के अधिकारियों ने पहल करते हुए 24 जून से ट्रेन चलाने का निर्णय लिया है। जिससे आम जनता को आने जाने में काफी सुविधा होगी । सांसद अन्नपूर्णा देवी के इस प्रयास की सराहना करते हुए क्षेत्र की जनता एवं भाजपा नेताओं व कार्यकर्ताओं ने हर्ष व्यक्त करते हुए सांसद को बधाई दी है।
Yesterday (00:15) बरेली में रेलवे जंक्शन पर जल्द खुलेगा रिटायरिग रूम (www.jagran.com)
0 Followers
3638 views

News Entry# 457037  Blog Entry# 4993573   
  Past Edits
Jun 24 2021 (00:15)
Station Tag: Bareilly Junction/BE added by Viper587/1952276
Stations:  Bareilly Junction/BE  
रेलवे स्टेशन के रिटायरिग रूम और डारमेट्री की बुकिग फिर शुरू होने वाली है। इस बार सुविधाएं बढ़ाई गई हैं। इसके लिए यात्रियों को आनलाइन बुकिग करनी होगी। इंडियन रेलवे कैटरिग एंड टूरिज्म कार्पोरेशन (आइआरसीटीसी) से जंक्शन पर रिटायरिग रूम को व्यवस्थित करने को कहा गया है।
संचालन करने वाली फर्म को आइआरसीटीसी ने दिया निर्देश बरेली, जेएनएन: रेलवे स्टेशन के रिटायरिग रूम और डारमेट्री की बुकिग फिर शुरू होने वाली है। इस बार सुविधाएं बढ़ाई गई हैं। इसके लिए यात्रियों को आनलाइन बुकिग करनी होगी। इंडियन रेलवे कैटरिग एंड टूरिज्म कार्पोरेशन (आइआरसीटीसी) से जंक्शन पर रिटायरिग रूम को व्यवस्थित करने को कहा गया है।
...
more...
पुरुष व महिलाओं के लिए डारमेट्री बनाई गई है। नाश्ते और भोजन के लिए यात्रियों को स्टेशन से बाहर नहीं जाना पड़ेगा। आर्डर पर कमरे में ही ब्रेक फास्ट, लंच और डिनर उपलब्ध कराया जाएगा। कोविड के चलते आइआरसीटीसी से रिटायरिग रूम और डारमेट्री की बुकिग बंद कर दी गई थी। आइआरसीटीसी के जनसंपर्क अधिकारी राजेंद्र सिंह बताया कि जल्द रिटायरिग रूम की बुकिग होने की उम्मीद है। इस तरह करें बुकिंग
बुकिग के लिए वेबसाइट पर रिटायरिग रूम का विकल्प चुनें और पीएनआर नंबर लिखकर सर्च करें, पूरा डिटेल आ जाएगा। स्टेशन का चयन कर क्लिक करें। बुकिग की प्रक्रिया शुरू हो जाएगी। नाम, पता, आइडी प्रूफ का ब्योरा दर्ज करना होगा। बुकिग के लिए आनलाइन भुगतान करना पड़ेगा। जब रूम लेने जाएंगे तो रेलवे टिकट और आइडी प्रूफ दिखाना पड़ेगा।
दिल्ली, जेएनएन। सेंट्रल रेल साइड वेयर हाउस कंपनी के सेंट्रल वेयरहाउसिंग कारपोरेशन (सीडब्लूसी) के साथ विलय के प्रस्ताव को कैबिनेट ने बुधवार को मंजूरी दे दी। सरकार के इस फैसले से दोनों कंपनियों की वेयरहाउसिंग, हैंडलिंग और परिवहन जैसे कार्य का संचालन एक ही जगह से होने लगेगा। इससे रेलवे के गोदामों में दक्षता, अधिकतम क्षमता उपयोग, पारदर्शिता, पूंजी प्रवाह और रोजगार सृजन के अवसर प्राप्त होंगे। विलय से सरकार की 'न्यूनतम सरकार अधिकतम शासन' की मंशा उजागर होती है।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की अध्यक्षता में केंद्रीय मंत्रिमंडल की बैठक में फैसले
...
more...
के प्रस्ताव को मंजूरी दी गई। सरकार के इस फैसले से कारपोरेट कार्यालय के किराए, कर्मचारियों के वेतन और अन्य प्रशासनिक खर्च में बचत होने से रेल साइड वेयरहाउस कांप्लेक्स के प्रबंधन व्यय में पांच करोड़ रुपए तक की कमी का अनुमान लगाया गया है।



विलय की इस प्रक्रिया के पूरा होने से माल गोदाम स्थलों के पास कम से कम 50 और रेल साइड गोदामों को स्थापित करने की सुविधा मिलेगी। इससे कुशल कामगारों के लिए 36,500 और अकुशल कामगारों के लिए 9,12,500 श्रम दिवसों के बराबर रोजगार के अवसर पैदा होने की संभावना है। इस विलय की प्रक्रिया अगले आठ महीने में पूरी होने की उम्मीद है।

सीडब्लूसी सरकार की एक मिनी रत्न श्रेणी की कंपनी है। इसकी स्थापना वर्ष 1957 में हुई थी। लाभ कमाने वाली यह कंपनी कृषि उपज व अन्य वस्तुओं का भंडारण करती है, जिसकी कुल पूंजी एक सौ करोड़ रुपये है।



कंपनी ने वर्ष 2007 में सेंट्रल रेल साइड वेयरहाउस कंपनी लिमिटेड (सीआरडब्लूसी) नाम की एक अलग सहायक कंपनी का गठन किया, जो रेलवे से पट्टे पर ली गई थी। यह कंपनी रेलवे ट्रैक के पास रेलवे की अधिग्रहित भूमि पर रेल साइड गोदाम बना रही थी। सीआरडब्लूसी 50 स्थायी कर्मचारियों और 48 आउटसोर्स कर्मचारियों वाला छोटा संगठन है, जो देशभर में 20 रेल साइड वेयरहाउस संचालित करती है। 
Yesterday (00:03) चार माह में पूरा होगा मधेपुरा पूर्णिया रेल विद्युतीकरण कार्य (www.jagran.com)
Other News
0 Followers
3773 views

News Entry# 457035  Blog Entry# 4993571   
  Past Edits
Jun 24 2021 (00:04)
Station Tag: Purnea Court/PRNC added by Viper587/1952276

Jun 24 2021 (00:04)
Station Tag: Purnea Junction/PRNA added by Viper587/1952276
सहरसा। पूर्व-मध्य रेल सहरसा के तीनों रेलखंडों में से एक रेल खंड में रेल विद्युतीकरण का कार्य पूरा हो चुका है। सहरसा-सरायगढ़ के बीच रेल विद्युतीकरण कार्य चल रहा है। वहीं मधेपुरा-पूर्णिया कोर्ट तक रेल विद्युतीकरण कार्य तेज गति से चल रहा है। इस रेलखंड में फाउंडेशन का कार्य शुरू है। इस रेलखंड में 75 करोड़ की लागत से रेल विद्युतीकरण कार्य किया जा रहा है। हालांकि कोरोनाकाल में मजदूरों की समस्या को लेकर निर्माण कार्य प्रभावित हुआ है लेकिन संबंधित कार्य एजेंसी द्वारा निर्माण कार्य में तेजी लाई जा रही है। रेल अधिकारी ने बताया कि रेल विद्युतीकरण कार्य होने से रेल परिचालन में समय की बचत होगी और खर्च में कमी आएगी। सहरसा रेलखंड के मानसी तक रेल विद्युतीकरण कार्य दो वर्ष पहले ही पूरा हो चुका है। मधेपुरा-पूर्णिया एवं सहरसा-फारबिसगंज के बीच रेल विद्युतीकरण कार्य निर्माणाधीन है।
...
more...

इससे पहले ही सहरसा-मधेपुरा के बीच दो वर्ष पूर्व ही रेल विद्युतीकरण कार्य पूरा हो चुका है। मानसी- सहरसा- मधेपुरा तक एक साथ ही रेल विद्युतीकरण कार्य पूरा कर लिया गया था। कोसी में वर्ष 2021-22 तक ही हर जगह विद्युतीकरण कार्य पूरा करने का लक्ष्य है। अंतिम चरण में राघोपुर- फारबिसगंज के बीच विद्युतीकरण कार्य पूरा किया जाएगा।
------------------------
सुपौल तक लग गया विद्युत पोल
-----
सहरसा से सुपौल स्टेशन के बीच रेल विद्युतीकरण कार्य करीब पूरा हो चुका है। सहरसा से सुपौल तक विद्युत पोल एवं तार लगा दिया गया है। सुपौल- सरायगढ़ के बीच विद्युतीकरण कार्य जारी है। इस रेलखंड में फाउंडेशन कार्य किया जा चुका है। प्रथम चरण में सरायगढ तक रेल विद्युतीकरण कार्य पूरा किया जाएगा। इसके बाद सरायगढ से फारबिसगंज के बीच रेल विद्युतीकरण कार्य शुरू किया जाएगा।
---------------------------
पूर्व मध्य रेल सहरसा के तीन खंडों में विद्युतीकरण कार्य एक वर्ष के अंदर पूरे कर लिए जाएंगे। मानसी- सहरसा- मधेपुरा के बीच विद्युतीकरण कार्य पूरा किया जा चुका है। वहीं मधेपुरा- पूर्णिया रेल खंड के बीच विद्युतीकरण कार्य अक्टूबर माह तक पूरा कर लिया जाएगा। इसके लिए संबंधित कार्य एजेंसी को निर्धारित समय सीमा के अंदर निर्माण कार्य पूरा करने का निर्देश दिया गया है।
अशोक माहेश्वरी, मंडल रेल प्रबंधक, पूर्व मध्य रेल
Page#    8 news entries  next>>

Scroll to Top
Scroll to Bottom
Go to Mobile site
Important Note: This website NEVER solicits for Money or Donations. Please beware of anyone requesting/demanding money on behalf of IRI. Thanks.
Disclaimer: This website has NO affiliation with the Government-run site of Indian Railways. This site does NOT claim 100% accuracy of fast-changing Rail Information. YOU are responsible for independently confirming the validity of information through other sources.
India Rail Info Privacy Policy