Spotting
 Timeline
 Travel Tip
 Trip
 Race
 Social
 Greeting
 Poll
 Img
 PNR
 Pic
 Blog
 News
 Conf TL
 RF Club
 Convention
 Monitor
 Admin
 Followed
 Rating
 Correct
 Wrong
 Stamp
 HJ
 Vote
 Pred
 @
 FM Alert
 FM Approval
 Pvt
News Super Search
 ↓ 
×
Member:
Posting Date From:
Posting Date To:
Category:
Zone:
Language:
IR Press Release:

Search
  Go  

Malgudi Express: From the pages of RK Narayan to the railway tracks of Mysore. - Vageesh

Full Site Search
  Full Site Search  
 
Mon Jun 17 02:02:52 IST
Home
Trains
ΣChains
Atlas
PNR
Forum
Gallery
News
FAQ
Trips/Spottings
Login
Feedback
Advanced Search

News Posts by Adittyaa Sharma^~

Page#    Showing 1 to 5 of 13041 news entries  next>>
  
Yesterday (18:57) महादेवशाल-पोसैता के बीच टूटा ओएचई तार (m.livehindustan.com)
Major Accidents/Disruptions
SER/South Eastern
0 Followers
1335 views

News Entry# 384368  Blog Entry# 4344773   
  Past Edits
Jun 16 2019 (18:57)
Station Tag: Tatanagar Junction/TATA added by Adittyaa Sharma^~/1421836

Jun 16 2019 (18:57)
Station Tag: Posoita/PST added by Adittyaa Sharma^~/1421836

Jun 16 2019 (18:57)
Station Tag: Mahadevsal/MXW added by Adittyaa Sharma^~/1421836
हावड़ा-मुम्बई रेल मार्ग के महादेवशाल-पोसैता के बीच शनिवार को तेज आंधी के कारण ओएचई तार टूट जाने से दो घंटे तक ट्रेनों का परिचालन ठप हो गया। बताया जाता है कि तेज आंधी के कारण महादेवशा-पोसैता रेलवे स्टेशन के बीच एक पेड़ ओएचई तार को तोड़ते हुए रेल लाइन पर गिर गया।घटना दिन के लगभग सवा तीन बजे की है। बाद में ट्रैक्शन विभाग के कर्मचारी ओएचई वैन के साथ घटना स्थल पर पहुंचे और टूटे ओएचई तार की मरम्मत की एवं पेड़ को रेलवे ट्रैक से हटाया गया। इसके बाद ट्रेनों का परिचालन लगभग 5.20 बजे प्रारंभ हुआ। हालांकि इस दौरान अप एवं डाउन में कोई भी यात्री ट्रेन नहीं होने के कारण यात्री ट्रेन प्रभावित नहीं हुआ। इस दौरान मालगाड़ियों का परिचालन ठप रहा।
  
Yesterday (09:27) कोचिंग डिपो में धुलाई नहीं पोंछाई के बाद निकल रही ट्रेनें (mnaidunia.jagran.com)
IR Affairs
SECR/South East Central
0 Followers
1008 views

News Entry# 384352  Blog Entry# 4344393   
  Past Edits
Jun 16 2019 (09:28)
Station Tag: Bilaspur Junction/BSP added by Adittyaa Sharma^~/1421836
Stations:  Bilaspur Junction/BSP  
बिलासपुर। नईदुनिया प्रतिनिधि
रेलवे के कोचिंग डिपो में पानी का संकट गहरा गया है। हालत यह है कि करीब 20 दिन से एक ट्रेन की धुलाई नहीं हो रही। केवल झाड़ू लगाई जा रही है और टायलेट में एक बाल्टी पानी से केवल पोंछाई की जा रही है। वहीं रेलवे के पास इस समस्या को दूर करने कोई ठोस उपाय नहीं है। बड़ी मुश्किल में टैंकर से पानी पहुंचता है।
रेल मंडल के कोचिंग डिपो में बिलासपुर से छूटने वाली ट्रेनों की सफाई व अन्य मेंटेनेंस
...
more...
कार्य होते हैं। परीक्षण के साथ-साथ निजी कर्मचारी प्रत्येक कोच में झाडू लगाकर पानी से सफाई करते हैं। इसके बाद हर एक कोच में लगी पानी टंकी भरी जाती है। इस पूरे कार्य में करीब छह घंटे का समय लगता है। इसके बाद ट्रेन जोनल स्टेशन पहुंचती है और यात्री सुगमता के साथ यात्रा पूरी कर गंतव्य तक पहुंचते हैं। डिपो में पानी की खपत को देखते हुए एक या दो नहीं बल्कि तीन-तीन बोर कराए गए हैं। यह इंतजाम इसलिए किया गया है कि विषम परिस्थिति आने पर भी पानी की किल्लत न हो। एक बोर सूख जाए तो अन्य दो पानी की आपूर्ति हो जाए। इस बार एक साथ तीनों बोर सूख गए। यह समस्या करीब 20 दिन से है। सूखे की स्थिति निर्मित होने से रेलवे के पास उपलब्ध टैंकर को रेलवे परिक्षेत्र की दूसरी पानी टंकियों से भरा जाता है। इसके बाद उसे डिपो लाया जाता है। पानी कम मात्रा में होने के कारण रेलवे ने तो ट्रेनों की धुलाई ही बंद कर दी है। केवल सफाई कर्मचारी झाडू लगाते हैं। टॉयलेट में केवल झाडू लगाकर सफाई नहीं की जा सकती है। बदबू व गंदगी से यात्री हलाकान हो जाएंगे। इसे देखते हुए कर्मचारी बाल्टी में पानी भरकर पोंछाई कर रहे हैं। इससे आधी-अधूरी सफाई के बाद ट्रेन को डिपो से स्टेशन के लिए रवाना किया जा रहा है। अधिकारी सुबह से कोचिंग डिपो में जमे रहते हैं। पर यहां खड़े होने के अलावा वे कुछ कर भी नहीं सकते। फिलहाल अभी टैंकर से ही पानी लाकर कोच की सफाई की औपचारिता पूरी की जाएगी। मानसून आने के बाद ही पानी की यह समस्या दूर होने की संभावना है।
कर्मचारियों की नहीं बूझ रही प्यास
कोचिंग डिपो में बड़ी संख्या में रेल कर्मचारी काम करते हैं। उन्हें भी पानी की आवश्यकता पड़ती है, लेकिन बोर सूखने के कारण उन्हें प्यास बुझाने तक के लिए पानी नहीं मिल रहा है। वे परेशान हैं और लगातार अफसरों से पुख्ता इंतजाम करने की मांग कर रहे हैं। न चाहते हुए भी वे टैंकर से बॉटल आदि में पानी भरकर किसी तरह गुजारा कर रहे हैं।
प्रतिदिन 200 तक कोच की सफाई
रेल मंडल का यह कोचिंग डिपो बड़ा व उपयोगी है। यहां प्रतिदिन नौ से 10 रैक यानी 180 से 200 कोच का परीक्षण किया जाता है। परीक्षण के बाद सफाई और उसके बाद पानी भरने का काम होता है। इसके बाद ही ट्रेन यहां से निकलती है। लेकिन पानी की कमी ने यात्री सुविधा से जुड़े इस महत्वपूर्ण कार्य को ठप कर दिया है।
  
Yesterday (09:26) उसलापुर स्टेशन में एलईडी डिजीटल स्क्रीन बोर्ड की सुविधा (mnaidunia.jagran.com)
New Facilities/Technology
SECR/South East Central
0 Followers
956 views

News Entry# 384351  Blog Entry# 4344392   
  Past Edits
Jun 16 2019 (09:27)
Station Tag: Bilaspur Junction/BSP added by Adittyaa Sharma^~/1421836

Jun 16 2019 (09:27)
Station Tag: Uslapur/USL added by Adittyaa Sharma^~/1421836
Stations:  Bilaspur Junction/BSP   Uslapur/USL  
बिलासपुर। उसलापुर रेलवे स्टेशन के प्लेटफार्म एक व दो में एलईडी डिजीटल स्क्रीन बोर्ड की सुविधा शुरू की गई है। इसमें भारतीय रेलवे का इतिहास, उपलब्धियां, सुविधाओं की जानकारी के अलावा यात्रा के दौरान होने वाली परेशानियों के समाधान के लिए सहायता नंबरों को दर्शाया जाएगा। इसके जरिए राष्ट्रीय धरोहर वर्ष 1853 से लेकर रेलवे की अब तक की विकास यात्रा को शार्ट मूवी क्लिप के जरिए छोटी-छोटी फिल्में दिखाईं जाएंगी। इससे यात्रियों का मनोरंजन के साथ ही कई तरह की जानकारियां भी मिल सकेंगी। इनमें प्रमुख रूप से रेलवे की पहली ट्रेन कब और कहां से कहां चली, पुराना इंजन कैसा था आदि शामिल रहेंगे।
  
Yesterday (09:25) जोन की ट्रेनों में फ्लैम रहित चूल्हे की पेंट्रीकार, नहीं रहेगा खतरा (mnaidunia.jagran.com)
IR Affairs
SECR/South East Central
0 Followers
927 views

News Entry# 384350  Blog Entry# 4344391   
  Past Edits
Jun 16 2019 (09:26)
Station Tag: Bilaspur Junction/BSP added by Adittyaa Sharma^~/1421836
Stations:  Bilaspur Junction/BSP  
बिलासपुर। नईदुनिया प्रतिनिधि
दक्षिण पूर्व मध्य रेलवे जोन की ट्रेनें फ्लैम रहित चूल्हा की पेंट्रीकार के साथ चलेंगी। इससे तेज हवा के कारण आग लगने का खतरा नहीं रहेगा। यात्री भी सुरक्षित रहेंगे।
यह इलेक्ट्रिॉनिक सिस्टम है, जिसे पुराने कोचों (नीले रंग) के साथ चलने वाली ट्रेनों की पेंट्रीकार में लगाया जाएगा। नए एलएचबी कोच की ट्रेनों में यह निर्माण फैक्टरी से लगकर आते हैं। आगामी दिनों में जैसे-जैसे एलएचबी कोच उपलब्ध होते जाएंगे ट्रेनों को इसी से चलाई जाएगी। हालांकि इसमें काफी समय लग जाएगा। इसे देखते हुए
...
more...
ही और आग की घटनाओं को रोकने के लिए रेलवे बोर्ड ने नीले रंग के कोचों से चलनी वाली ट्रेनों में यह व्यवस्था करने का निर्णय लिया है। इसके अलावा सभी जोन को इस संबंध में निर्देश भी दिए हैं। इसी के तहत दक्षिण पूर्व मध्य रेलवे के ट्रेनों की पेंट्रीकार में इस पर फोकस दिया जा रहा है। वर्तमान में जोन के पास करीब 14 पेंट्रीकार हैं। अकेले छत्तीसगढ़ एक्सप्रेस पांच रैक के साथ चलती है। इस लिहाज से इसमें पांच पेंट्रीकार हैं। ऐसी ही और भी ट्रेनें हैं, जिसमें पुराने सिस्टम की वजह से हमेशा आग का खतरा मंडराते रहता है। ऐसा माना जाता है कि जरा सी चिंगारी भी पलभर में भयावह रूप लेता है, क्योंकि चलती ट्रेन में तेज हवा के कारण आग और फैलती है। कुछ साल पहले रेलवे में इस तरह की घटनाएं हो चुकीं हैं।
खाना गर्म करने की जगह बन जाएंगी पेंट्रीकार
इस सिस्टम के साथ-साथ एक उपाय और हो रहा है। इसके बाद पेंट्रीकार का उपयोग पहले जैसा नहीं रह जाएगा। इसका उपयोग केवल खाना गरम करने के लिए होगा। इस स्थिति में फ्लैम रहित चूल्हा कारगर साबित होगा। आइआरसीटीसी एक निर्धारित दूरी पर सेंट्रल किचन तैयार कर रहा है। वहां खाना तैयार होगा और ट्रेन के पहुंचने के बाद पेंट्रीकार में चढ़ा दिया जाएगा।
  
Yesterday (09:24) पानी के लिए स्टेशन पर उतरा यात्री ट्रेन से घिसटा (mnaidunia.jagran.com)
Major Accidents/Disruptions
WCR/West Central
0 Followers
984 views

News Entry# 384349  Blog Entry# 4344388   
  Past Edits
Jun 16 2019 (09:24)
Station Tag: Jabalpur Junction/JBP added by Adittyaa Sharma^~/1421836
जबलपुर। नईदुनिया प्रतिनिधि
उधना से बनारस जाने वाली गाड़ी संख्या 19057 उधना एक्सप्रेस से एक यात्री मदन महल रेलवे स्टेशन पर फिसल कर गिर जाने और घिसटने से घायल हो गया।
यात्री नूर हसन (35) निवासी सतकुखरी मुगलसराय अपने परिजनों के साथ उधना से वाराणसी जा रहा था। ट्रेन शनिवार दोपहर 2.30 बजे जब मदन महल रेलवे स्टेशन पहुंची तब यात्री जैसे ही पानी लेने के लिए प्लेटफॉर्म में उतरा तभी ट्रेन चल पड़ी, जिसके कारण उसका पैर ट्रेन और प्लेटफॉर्म के बीच में आ गया और वह घिसटने लगा। किसी तरह उसे
...
more...
ट्रेन के यात्रियों ने निकाला और यात्रियों और परिजन ने जबलपुर पहुंचकर डिप्टी एसएस को सूचित किया तो रेलवे की तरफ से डॉक्टर की जगह एक कम्पाउंडर को इलाज के लिए भेजा गया। कम्पाउंडर ने भी यात्री को घायल देखकर इलाज करने से मना कर दिया और भर्ती होने कह दिया। जिसके बाद यात्री के परिजन ने अपने शहर में इलाज कराने कहकर ट्रेन में ही ले गए। घायल यात्री के पैर में गंभीर चोट आई है।
ट्रेन से गिरा अज्ञात यात्री, मौत
कछपुरा रेल यार्ड के पास किमी संख्या 984/01 पर एक पुरुष जिसकी उम्र लगभग 50 वर्ष बताई जा रही है वह किसी अज्ञात ट्रेन से गिर गया जिसके कारण उसकी मौत हो गई। सूचना पाकर मौके पर पहुंची जीआरपी ने मर्ग कायम कर शव को पोस्टमार्टम के लिए भिजवाया है। जीआरपी से मिली जानकारी अनुसार सुबह 7 बजे उनके पास सूचना आई कि एक व्यक्ति ट्रैक पर मृत पड़ा है। जिसका सर ट्रेन से कुचल गया है। यात्री की शिनाख्त नहीं हो पाई है। मृतक का चेहरा भी छत विक्षत हो गया है।
Page#    13041 news entries  next>>

Scroll to Top
Scroll to Bottom
Go to Mobile site
Important Note: This website NEVER solicits for Money or Donations. Please beware of anyone requesting/demanding money on behalf of IRI. Thanks.
Disclaimer: This website has NO affiliation with the Government-run site of Indian Railways. This site does NOT claim 100% accuracy of fast-changing Rail Information. YOU are responsible for independently confirming the validity of information through other sources.
India Rail Info Privacy Policy