Spotting
 Timeline
 Travel Tip
 Trip
 Race
 Social
 Greeting
 Poll
 Img
 PNR
 Pic
 Blog
 News
 Conf TL
 RF Club
 Convention
 Monitor
 Topic
 Bookmarks
 Rating
 Correct
 Wrong
 Stamp
 PNR Ref
 PNR Req
 Blank PNRs
 HJ
 Vote
 Pred
 @
 FM Alert
 FM Approval
 Pvt
News Super Search
 ↓ 
×
Member:
Posting Date From:
Posting Date To:
Category:
Zone:
Language:
IR Press Release:

Search
  Go  
dark mode

Uttarbanga Exp: উত্তরের আত্মার আত্মীয় - Avinaba Bose

Full Site Search
  Full Site Search  
FmT LIVE - Follow my Trip with me... LIVE
 
Wed Dec 1 12:42:43 IST
Home
Trains
ΣChains
Atlas
PNR
Forum
Quiz Feed
Topics
Gallery
News
FAQ
Trips
Login
Advanced Search

News Posts by AJ®

Page#    Showing 1 to 5 of 123 news entries  next>>
पूर्व मध्य रेलवे के डीडीयू रेल मंडल के वाणिज्य विभाग ने गया नई दिल्ली महाबोधि एक्सप्रेस 12397 सहित जंक्शन से खुलने वाली लम्बी दूरी की चार ट्रेनों के लगेज वैन(एसएलआर) को रेलवे ने लीज(पट्‌टा) पर देने का निर्णय लिया है। ये लीज टेंडर की शर्तों के अनुसार 90 दिनों के लिए है। इनमें सबसे अधिक पट्‌टा का वैल्यू गया-नई दिल्ली महाबोधि एक्सप्रेस 12397 के लगेज वैन का है। जिसमें कॉन्ट्रेक्ट वैल्यू करीब 77 लाख 585 रुपए है।
गया-चेन्नई एग्मोर एक्सप्रेस 12389 के लिए 18 लाख 23 हजार, गया हावड़ा एक्सप्रेस 12324 ट्रेन के लगेज वैन के लिए प्रत्येक करीब 54 लाख 56 हजार रूपए(इसमें दो एसएलआर), गया कामाख्या एक्सप्रेस 15619 के लगेज वैन के लिए 16 लाख 60 हजार रुपए कॉन्ट्रेक्ट वैल्यू
...
more...
रखा गया है। इसमें जीएसटी व अन्य चार्जेज शामिल है। सूत्रों के अनुसार रेलवे ने इसके लिए टेंडर के तहत अगले माह से कोटेशन की प्रक्रिया शुरू की है। एसएलआर की क्षमता 3.9/4 टन निर्धारित की गई है।
पूर्व मध्य रेल के अधिक राजस्व वाले टॉप 30 स्टेशनों की सूची में सहरसा फिर से 13वें स्थान पर काबिज है। टॉप यानी पहले स्थान पर फिर से पटना जंक्शन काबिज है। दूसरे स्थान पर फिर से दानापुर, तीसरे पर मुजफ्फरपुर, चौथे पर दीनदयाल उपाध्याय (मुगलसराय) और पांचवें पर दरभंगा जंक्शन है।
पिछली सूची में 12 वें स्थान पर रहने वाला गया स्टेशन इस बार छह नंबर छलांग लगाते छठे स्थान पर पहुंच गया है। समस्तीपुर जंक्शन की रैंकिंग में इस बार सुधार हुआ है। नौ से घटकर सातवें स्थान पर पहुंच गया है। वहीं धनबाद एक नंबर आगे आठवें स्थान पर पहुंच गया है। पटना जिले का राजेंद्रनगर टर्मिनल एक पायदान नीचे लुढ़क नौवें स्थान पर पहुंच गया है। 
पटना
...
more...
का ही सातवें स्थान पर रहने वाला पाटलिपुत्र स्टेशन इस बार 14 वें स्थान पर है। ग्यारह पर रहने वाला बक्सर इस बार दसवें और आरा ग्यारहवें स्थान पर है। सहरसा से नीचे रहने वाला बरौनी एक पायदान आगे 12 वें नंबर पर पहुंच गया है। टॉप 30 के सबसे निचले पायदान पर अनुग्रह नारायण रोड स्टेशन का नाम है। 
बता दें कि आरक्षित और अनारक्षित टिकट बिक्री से एक अप्रैल से 30 सितंबर 2021 तक पांच माह में मिले राजस्व को आधार बनाते टॉप 30 स्टेशनों की सूची रेलवे ने जारी की है। राजेश कुमार सिंह नामक व्यक्ति के द्वारा मांगे गए आरटीआई के जवाब में पूर्व मध्य रेल मुख्यालय के डिप्टी सीसीएम यात्री सुविधा ने अधिक राजस्व वाले टॉप 30 स्टेशनों की सूची उपलब्ध कराई है। 
सहरसा से नीचे हाजीपुर, कियूल, मोतिहारी व खगड़िया स्टेशन
तेरहवें नंबर पर काबिज सहरसा स्टेशन से नीचे पाटलिपुत्र, हाजीपुर, कोडरमा, डेहरी ऑन सोन, कियूल, बापूधाम मोतिहारी और सासाराम स्टेशन हैं। बीसवें स्थान वाले सासाराम से नीचे मधुबनी, खगड़िया, सोनपुर, बेतिया, जयनगर, बेगूसराय, रक्सौल, बगहा और सकरी स्टेशन हैं। 
चार नंबर ऊपर पहुंचा बेगूसराय स्टेशन
एक अप्रैल 2020 से 31 मार्च 2021 तक साल भर के लिए जारी पूर्व मध्य रेल के टॉप 30 स्टेशनों की सूची में बेगूसराय सबसे नीचे था। इस बार एक अप्रैल से 30 सितंबर 2021 तक जारी हुई पूर्व मध्य रेल के टॉप स्टेशनों की सूची में बेगूसराय ने चार पायदान छलांग लगाते 26 वें स्थान पर जगह बनाई है। 
ट्रेन बढ़ी तो पांच माह में ही 25 करोड़ से अधिक राजस्व
ट्रेनों की संख्या बढ़ी और पिक सीजन होने के कारण सहरसा स्टेशन का टिकट बिक्री से रेल राजस्व पांच माह में ही 25 करोड़ 18 लाख 27 हजार 445 रुपए पर पहुंच गया। आरक्षित टिकटों की बिक्री से 24 करोड़ 29 लाख 79 हजार 690 रुपए और अनारक्षित टिकटों से 88 लाख 47 हजार 755 रुपए मिले। 
वहीं कोरोना काल में ट्रेन परिचालन बंद रहने और फिर नाममात्र के कुछ ट्रेन के चलने के वाबजूद एक अप्रैल 2020 से 31 मार्च 2022 तक साल भर में सहरसा जंक्शन से 28 करोड़ 88 लाख 73 हजार 658 रुपए राजस्व टिकट बिक्री से हासिल हुए थे।
जनसेवा, जनसाधारण जैसी ट्रेनें चलती तो राजस्व में और होता इजाफा
अगर अमृतसर को चलने वाली जनसेवा, जनसाधारण जैसी ट्रेनें चलती तो सहरसा से मिले राजस्व में और भी इजाफा होता। पूर्णिया और समस्तीपुर रूट की बंद पैसेंजर ट्रेनें चलती तो और रेवेन्यू मिलते। वहीं पुरबिया पहले की तरह दो दिन चलती तो इससे भी राजस्व बढ़ता।
समस्तीपुर मंडल के टॉप थ्री राजस्व स्टेशनों में सहरसा शामिल
समस्तीपुर मंडल के टॉप थ्री अधिक राजस्व देने वाले स्टेशनों में सहरसा तीसरे नंबर पर है। पहले स्थान पर दरभंगा और दूसरे नंबर पर समस्तीपुर जंक्शन है। चौथे स्थान पर बापूधाम मोतिहारी, फिर मधुबनी, बेतिया, जयनगर, रक्सौल, बगहा, सकरी स्टेशन है।
स्टेशनों को मिले राजस्व पर एक नजर
सबसे अधिक राजस्व हासिल करने की सूची में टॉप पर जंक्शन पटना का एक अप्रैल से 30 सितंबर 2021 तक प्राप्त राजस्व 202 करोड़ 45 लाख 52 हजार 962 रुपए रहा। टॉप 30 में सबसे नीचे स्थान वाले अनुग्रह नारायण रोड स्टेशन से सात करोड़ 24 लाख 4 हजार 237 रुपए राजस्व मिले। दानापुर जंक्शन से 108 करोड़ 75 लाख 65 हजार 200, मुजफ्फरपुर से 84 करोड़ 99 लाख 78 हजार 368, दीनदयाल उपाध्याय से 68 करोड़ 26 लाख 19 हजार 40 और दरभंगा से 57 करोड़ 78 लाख 4 हजार 782 रुपए राजस्व मिले। 
गया से 56 करोड़ 22 लाख 48 हजार 738, समस्तीपुर से 45 करोड़ 39 लाख 78 हजार 948, धनबाद से 44 करोड़ 89 लाख 95 हजार 390, राजेंद्रनगर टर्मिनल से 43 करोड़ 45 लाख 78 हजार 112, बक्सर से 33 करोड़ 23 लाख 91 हजार 968, आरा से 28 करोड़ 89 लाख 60 हजार 441, बरौनी से 26 करोड़ 85 लाख एक हजार 155, पाटलिपुत्र से 23 करोड़ 41 लाख 90 हजार 744, हाजीपुर से 20 करोड़ 47 लाख 67 हजार 656, कोडरमा से 14 करोड़ 50 लाख 703, डेहरी ऑन सोन से 13 करोड़ 97 लाख 27 हजार 507, कियूल से 13 करोड़ 68 लाख 15 हजार 142, बापूधाम मोतिहारी से 12 करोड़ 45 लाख 93 हजार 768, सासाराम से 11 करोड़ 1 लाख 29 हजार 320, मधुबनी से 10 करोड़ 68 लाख 21 हजार 444 रुपए राजस्व मिले। 
खगड़िया से 10 करोड़ 48 लाख 17 हजार 414, सोनपुर से 9 करोड़ 83 लाख 92 हजार 473, बेतिया से 9 करोड़ 72 लाख 10 हजार 894, जयनगर से 8 करोड़ 73 लाख दो हजार 659, बेगूसराय से 8 करोड़ 9 लाख 99 हजार 517, रक्सौल से 7 करोड़ 77 लाख 95 हजार 576, बगहा से 7 करोड़ 65 लाख 97 हजार 69 और  सकरी से 7 करोड़ 39 लाख 66 हजार 268 रुपए राजस्व प्राप्त हुए।
कौन से स्टेशन कितने नंबर पर
1. पटना2. दानापुर3. मुजफ्फरपुर4. दीनदयाल उपाध्याय5. दरभंगा6. गया7. समस्तीपुर8. धनबाद9. राजेंद्रनगर टर्मिनल10. बक्सर11. आरा12. बरौनी13. सहरसा14. पाटलिपुत्र15. हाजीपुर16. कोडरमा17. डेहरी ऑन सोन18. कियूल19. बापूधाम मोतिहारी20. सासाराम21. मधुबनी22. खगड़िया23. सोनपुर24. बेतिया25. जयनगर26. बेगूसराय27. रक्सौल28. बगहा29. सकरी30. अनुग्रह नारायण रोड

Rail News
11630 views
Nov 28 (18:16)
Amr~   235 blog posts
Re# 5147551-1            Tags   Past Edits
SER ki v detail dijiye please.
पंजाब के उधमपुर से छत्तीसगढ़ के दुर्ग जा रही एक्सप्रेस ट्रेन में शुक्रवार को आग लग गई। आग एमपी में मुरैना के हेतमपुर स्टेशन पर लगी। ट्रेन की चार बोगियों को ट्रेन ने पूरी तरह अपनी चपेट में ले लिया। फायर ब्रिगेड की गाड़ियां आग को बुझाने में लगी हैं। हादसे में किसी की जान जाने की सूचना नहीं है।
पिछले कुछ साल में कई रेलवे स्‍टेशनों के नाम बदले हैं। इसका सबसे ताजा उदाहरण हबीबगंज रेलवे स्‍टेशन है। रेलवे स्‍टेशनों के नाम कैसे बदले जाते हैं? इसकी क्‍या प्रक्रिया है? यहां जानते हैं।
Jharkhand News : ट्रेन के लगभग ढाई किलोमीटर आगे से वापस प्लेटफॉर्म पर लौटी। तब मेडिकल टीम ने प्रसूता और नवजात शिशु को ट्रेन से उतारा और प्रारंभिक जांच के बाद उन्हें अस्पताल में भर्ती कराया।
Page#    123 news entries  next>>

Scroll to Top
Scroll to Bottom
Go to Mobile site
Important Note: This website NEVER solicits for Money or Donations. Please beware of anyone requesting/demanding money on behalf of IRI. Thanks.
Disclaimer: This website has NO affiliation with the Government-run site of Indian Railways. This site does NOT claim 100% accuracy of fast-changing Rail Information. YOU are responsible for independently confirming the validity of information through other sources.
India Rail Info Privacy Policy