Spotting
 Timeline
 Travel Tip
 Trip
 Race
 Social
 Greeting
 Poll
 Img
 PNR
 Pic
 Blog
 News
 Conf TL
 RF Club
 Convention
 Monitor
 Topic
 Bookmarks
 Rating
 Correct
 Wrong
 Stamp
 PNR Ref
 PNR Req
 Blank PNRs
 HJ
 Vote
 Pred
 @
 FM Alert
 FM Approval
 Pvt
News Super Search
 ↓ 
×
Member:
Posting Date From:
Posting Date To:
Category:
Zone:
Language:
IR Press Release:

Search
  Go  

DC Line - ये आग का दरिया पार कर पाना नहीं था आसान ...पर धनबादवासियों के इरादे हैं चट्टान.... चलाकर रहेंगे इसपर रेल गाड़ी महान... - Niket Karan

Full Site Search
  Full Site Search  
 
Fri Apr 23 10:47:42 IST
Home
Trains
ΣChains
Atlas
PNR
Forum
Quiz Feed
Topics
Gallery
News
FAQ
Trips/Spottings
Login
Advanced Search

News Posts by Saurabh®

Page#    Showing 1 to 5 of 4034 news entries  next>>
Yesterday (20:15) रेल हादसा टला, तीन हिस्से में बंट गईं मालगाड़ी की बोगियां (m.jagran.com)
Crime/Accidents
NWR/North Western
0 Followers
276 views

News Entry# 449371  Blog Entry# 4945274   
  Past Edits
Apr 22 2021 (20:15)
Station Tag: Hanumangarh Junction/HMH added by Saurabh®/1294142

Apr 22 2021 (20:15)
Station Tag: Sangaria/SGRA added by Saurabh®/1294142
मालगाड़ी की कुछ बोगियां अचानक रेलवे ट्रैक से नीचे उतरी गईंं और फिर अपने आप ही चढ़ गईं। इस दौरान मालगाड़ी की बोगियां तीन हिस्से में बंट गईं। इंजन के साथ 40 बोगियां एक किलोमीटर तक चली गईं और पांच बीच में व एक दर्जन पीछे रह गईं।
जागरण संवाददाता, जयपुर: राजस्थान में हनुमानगढ़ जिले के संगरिया में बुधवार को बड़ा रेल हादसा टल गया। संगरिया से बठिंडा जा रही मालगाड़ी की कुछ बोगियां अचानक रेलवे ट्रैक से नीचे उतरी गईंं और फिर अपने आप ही चढ़ गईं। इस दौरान मालगाड़ी की बोगियां तीन हिस्से में बंट गईं। इंजन के साथ 40 बोगियां एक किलोमीटर तक चली गईं और पांच बीच में व एक दर्जन पीछे रह गईं। नियमों के अनुसार,
...
more...
मालगाड़ी में गार्ड होना चाहिए, लेकिन इसमें नहीं था। गार्ड नहीं होने के कारण चालक को सूचना नहीं मिली और वह 40 बोगियों को लेकर करीब एक किलोमीटर आगे चला गया। जहां बोगियां ट्रैक से उतरी थीं, वहां का कुछ हिस्सा क्षतिग्रस्त हो गया। इस कारण कई ट्रेनों की आवाजाही प्रभावित हुई। काफी मशक्कत के बाद कर्मचारियों ने मरम्मत की और फिर रेल मार्ग व्यवस्थित हुआ।
जांच में सामने आया कि सुबह करीब साढ़े दस बजे मालगाड़ी के संगरिया रेलवे स्टेशन से निकलते ही वहां मौजूद कर्मचारियों को कुछ टूटने की आवाज आई थी। उन्होंने मालगाड़ी को रोकने का प्रयास भी किया, लेकिन गार्ड नहीं होने के कारण चालक तक सूचना नहीं मिली। स्टेशन मास्टर ने इस की सूचना अगले स्टेशन पर दी। मालगाड़ी अगले स्टेशन पर पहुंचने से पहले ही तीन हिस्सों में बंट गई। घटना की सूचना मिलते ही रेलवे अधिकारी मौके पर पहुंचे। बोगियां कैसे ट्रैक से उतरी और फिर वापस चढ़ गईं, इसकी जानकारी जुटाने में रेलवे के तकनीकी कार्मिक जुटे हुए हैं। एक बार ट्रैक से उतरने और फिर वापस अपने आप चढ़ने के दौरान कोई बोगी पलटी नहीं। इस घटना के समय बीच में आने वाला रेलवे फाटक बंद था, इस कारण बड़ी संख्या में वाहन चालक रुके हुए थे। दो घंटे बाद करीब साढ़े 12 बजे 40 बोगियों को इंजन के साथ बठिंडा के लिए रवाना किया गया। शेष डिब्बों को दूसरे इंजन से स्टेशन तक पहुंचाया गया।
शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप
Total Vaccination:11,72,23,509
Active:22,91,486
Death:1,84,657
over 8.0 / 5.88
Delhi Metro आपको अपने चेहरे और मुंह को ढकने के लिए प्रॉपर तरीके से मास्क का ही इस्तेमाल करना होगा वरना नियम के तहत आपको जुर्माना भरना होगा। दिल्ली में कोरोना वायरस का संक्रमण काफी तेजी से फैला है। मेट्रो की टीम नियम न मानने वालों का चालान कर रही।



...
more...


नई दिल्ली, आनलाइन डेस्क। अगर आप मेट्रो में सफर कर रहे हैं और अपना मुंह और नाक ढकने के लिए गमछे या इस जैसे कुछ चीज इस्तेमाल कर रहे हैं तो ये मान्य नहीं होगा। आपको अपने चेहरे और मुंह को ढकने के लिए प्रॉपर तरीके से मास्क का ही इस्तेमाल करना होगा वरना नियम के तहत आपको जुर्माना भरना होगा। दिल्ली में कोरोना वायरस का संक्रमण काफी तेजी से फैला है। पहले चरण में लगे लॉकडाउन के कारण लगभग तीन माह तक मेट्रो का संचालन भी बंद रहा था। जब फिर से मेट्रो पटरी पर आई तो ये व्यवस्था की गई कि सभी को मास्क लगाकर ही मेट्रो में प्रवेश दिया जाएगा।



इसके अलावा शारीरिक दूरी का भी पालन करना होगा। मेट्रो ने सभी सीटों पर बैठने के लिए मार्किंग भी कर दी। उसके बाद भी कई यात्री निर्धारित किए गए नियमों का पालन नहीं कर रहे थे उनको नियमों का पालन कराने के लिए फ्लाइंग स्कवायड बनाए गए। अब इस स्कवायड की टीम नियम न मानने वालों का जुर्माना कर रही है। उनसे पेनाल्टी वसूली जा रही है। लगभग दो सप्ताह शुरू किए गए अभियान में अब तक 3000 से अधिक लोगों से पेनाल्टी वसूल की जा चुकी है। पकड़े जाने पर लोग तरह-तरह के बहाने बनाते हैं मगर टीम के लोग उनकी एक नहीं सुनते।



स्कवायड में शामिल लोगों का साफ कहना होता है कि मास्क का मतलब मास्क होता है। इसी से नाक और मुंह को ठीक तरह से ढका जा सकता है इसके अलावा कोई भी साधन इनको ठीक तरह से कवर नहीं कर पाता है। यदि कवर भी कर लेता है तो कुछ समय के लिए ही होता है। यदि लोग बिना मास्क के आते हैं या उसे ठीक से नहीं लगाते हैं तो उनसे जुर्माना वसूला जा रहा है। साथ ही हिदायत भी दी जा रही है कि वो मास्क का ही प्रयोग करें।







कोरोना वायरस संक्रमण के बढ़ते मामलों के कारण दिल्ली मेट्रो रेल निगम (Delhi Metro Rail Corporation) ने भी कमर कस ली थी। मेट्रो स्टेशन हो या फिर ट्रेन यात्रा के दौरान, डीएमआरसी शारीरिक दूरी के नियमों का पालन कराने के साथ मास्क न लगाने पर कार्रवाई के तहत 200 रुपये का चालान कर रहा है। इतना ही नहीं, पीक आवर में अगर झमता से अधिक यात्री मेट्रो स्टेशन पर आने की कोशिश करते हैं तो डीएमआरसी एंट्री बंद करवा देता है। यह सिलसिला लगातार पिछले 15 दिनों से चल रहा है।





इस बीच डीएमआरसी ने ताजा ट्वीट में मेट्रो कंपार्टमेंट में गमछे का इस्तेमाल करने वाले की फोटो ट्वीट की, कहा कि इस तरह से नहीं चलेगा।इससे पहले मेट्रो ने एक फोटो और ट्वीट की थी जिसमें बच्चे मास्क लगाए हुए और सलीके से सीट पर बैठे हुए थे। लिखा था कि 'दिल्ली मेट्रो में सफर के दौरान कोई भी कोरोना वायरस संक्रमण के नियमों से ऊपर नहीं हैं। अगर ये बच्चे मास्क लगाने के साथ शारीरिक दूरी के नियमों का पालन कर सकते हैं तो आप क्यों नहीं?'



एक सप्ताह के भीतर काटे जा रहे हैं 3000 से अधिक यात्रियों का चालान

दिल्ली मेट्रो लगातार ऐसे लोगों को चालान कर रहा है जो शारीरिक दूरी के नियम का पालन नहीं करते और मास्क नहीं लगाते हैं। दिल्ली मेट्रो में यात्रा के दौरान लोगों की लापरवाही का आलम यह है कि एक सप्ताह के दौरान औसतन 3000 लोगों को चालान किया जाता है, जिसमें प्रत्येक व्यक्ति से 200 रुपये फाइन के तौर पर लिए जाते हैं। ताजा मामले में डीएमआरसी ने अपने ट्वीटर हैंडल पर रोजाना चालान करने वालों की संख्या के बारे में जानकारी दे रही है।



घाटे में चल रही मेट्रो को लगा झटका

यहां पर बता दें कि पिछले एक साल के दौरान दिल्ली मेट्रो रेल निगम की ट्रेनों का संचालन 6 महीने तक बंद रहा। कोरोना वायरस संक्रमण के चलते मार्च 2020 से अगस्त 2020 तक दिल्ली मेट्रो की सेवाएं स्थगित थीं। सितंबर के पहले सप्ताह से ट्रेनों का संचालन शुरू किया। मेट्रो का संचालन बंद रहने के दौरान डीएमआरसी को तकरीबन 1500 करोड़ रुपये का नुकसान हुआ है। ऐसे में एक बार फिर दिल्ली मेट्रो का संचालन एक सप्ताह तक बेहद सीमित यात्रियों के साथ होगा, ऐसे एक बार उसे घाटा होने के आसार हैं।





शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप

Total Vaccination:11,72,23,509

Active:22,91,486

Death:1,84,657

over 4.1 / 4.32
पूर्वी चंपारण, जासं। मुजफ्फरपुर-नरकटियागंज रेलखंड पर गुरुवार की सुबह आई तेज आंधी व बारिश के कारण बापूधाम मोतिहारी-सेमरा तथा जीवधारा स्टेशन के बीच रेलवे ट्रैक पर पेड़ के गिर जाने से ट्रेनों का पारिचालन बाधित हो गया। सूचना मिलने के बाद सीनियर सेक्शन इंजीनियर रेलपथ नरेश कुमार अपने कर्मियों के साथ मौके पर पहुंच पेड को कटवा कर ट्रैक खाली कराया। इसके बाद तकरीबन एक घंटे बाद रेलखंड पर ट्रेनों का परिचालन प्रारंभ हुआ। जबकि, रेलखंड के बापूधाम मोतिहारी-जीवधारा स्टेशन के बीच आंधी के कारण विद्युत आपूर्ति बंद हो गई। इसके कारण आवागमन में परेशानी हुई। इसे विद्युत विभाग के इंजीनियरों ने तुरंत ठीक कर दिया। इस दौरान हावड़ा-रक्सौल अप 03021 मिथिला एक्सप्रेस स्पेशल, मुजफ्फरपुर-नरकटियागंज अप 05215 स्पेशल एक्सप्रेस तकरीबन एक घंटे बिलंब बापूधाम स्टेशन से खुली। जबकि कई मालगाडिय़ों भी रेल खंड के विभिन्न स्टेशनों पर रुकी रही।
इंजन
...
more...
पर पेड़ की शाखा गिरने से चार घंटे बाधित रहा परिचालन
मुजफ्फरपुर-नरकटियागंज रेलखंड पर जीवधारा मधुछपरा के समीप चलती ट्रेन के इंजन पर पेड़ की शाखा टूटकर गिर पड़ी। शाखा इंजन को चला रहे विद्युत के तार पर गिर इंजन पेंटों में फंस गई। इससे शॉर्ट सर्किट उत्पन्न हुई व विद्युत सप्लाई ऑटोमेटिक बंद हो गई। इसके कारण इंजन रुक गई। ङ्क्षसगल लाइन होने के कारण रेलखंड पर सुबह 5.30 बजे से 9.10 बजे तक परिचालन बंद रहा। घटना के दो घंटे बाद बिजली विभाग के कर्मी घटना स्थल पर पहुंच विद्युत सप्लाई को आरंभ किया। इस बीच रेल खण्ड के पीपरा, जीवधारा व मोतिहारी स्टेशन पर अन्य गाडिय़ां खड़ी रहीं। बताया जाता है कि 5260 फास्ट पैसेंजर नरकटियागंज से मुजफ्फरपुर जा रही थी। जीवधारा-मधुछपरा गुमटी संख्या 156 के समीप गुरुवार अहले सुबह आई आंधी-तूफान के चपेट में आकर पेड़ की एक डाली टूट कर उसके चलती इंजन पर गिर गई। इसकी सूचना पीडब्ल्यूआई मनीष कुमार और रेलवे विद्युत विभाग के कनीय अभियंता सुजीत कुमार को दी गई। कनीय अभियंता सुजीत कुमार ने बताया कि इंजन पर गिरी डाली पेनटों में फंस गई थी। ब्लॉग कट लेकर पेंटो से टहनी हटाकर परिचालन आरंभ कराया गया है।
शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप
Total Vaccination:11,72,23,509
Active:22,91,486
Death:1,84,657
over 3.4 / 4.36
Yesterday (19:41) डाउन पंजाब मेल, अर्चना एक्सप्रेस सात घंटे लेट (m.jagran.com)
Major Accidents/Disruptions
NR/Northern
0 Followers
6297 views

News Entry# 449368  Blog Entry# 4945263   
  Past Edits
Apr 22 2021 (19:41)
Station Tag: Bhadohi/BOY added by Saurabh®/1294142
Stations:  Bhadohi/BOY  
जासं, भदोही : उत्तर रेलवे के बरेली-शाहजहांपुर के बीच बुधवार की रात हुई ट्रेन दुर्घटना के कारण रेलखंड से चलने वाली सभी ट्रेनों का परिचालन गुरुवार को प्रभावित रहा। अमृतसर से हावड़ा के बीच चलने वाली डाउन पंजाब मेल व जम्मूतवी से राजेंद्र नगर के बीच चलने वाली डाउन अर्चना एक्सप्रेस सात-सात घंटे के विलंब से आई। नई दिल्ली से वाराणसी के बीच चलने वाली डाउन काशी विश्वनाथ एक्सप्रेस (केवी) पांच घंटे के विलंब से आई। इसके कारण वाराणसी से नई दिल्ली को जाने वाली अप काशी विश्वनाथ तीन घंटे के विलंब से चलाई गई। रेलखंड पर फिलहाल इन्ही ट्रेनों का परिचालन हो रहा है। तीनों प्रमुख ट्रेनों के विलंब से चलने के कारण यात्रियों को भारी असुविधा का सामना करना पड़ा।
शॉर्ट
...
more...
मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप
Total Vaccination:11,72,23,509
Active:22,91,486
Death:1,84,657
over 1.1 / 6.86
Yesterday (19:40) प्रवासियों की भीड़ में चल रहे डब्ल्यूटी, कोरोना के डर से कोच में नहीं जाते हैं टीटीई (m.jagran.com)
Commentary/Human Interest
NCR/North Central
0 Followers
5284 views

News Entry# 449367  Blog Entry# 4945262   
  Past Edits
Apr 22 2021 (19:40)
Station Tag: Kanpur Central/CNB added by Saurabh®/1294142
Stations:  Kanpur Central/CNB  
ज्यादातर लोग भीड़ की आड़ में सफर तो शुरू कर देते हैं लेकिन टिकट आरक्षित नहीं कराते। यह लोग आसानी से अपने गंतव्य भी पहुंच जाते हैं क्योंकि ट्रेनों में सफर के दौरान टीटीई भी कोच में जांच करने नहीं जाते।
कानपुर, जेएनएन। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के आपदा के अवसर के सूत्र को कुछ प्रवासी भी भुना रहे हैं। दरअसल ट्रेनों में प्रवासियों की भीड़ चल रही है जिसमें ज्यादातर प्रवासी इस भीड़ का फायदा भी उठा रहे हैं और बिना टिकट की अपने गंतव्य तक की यात्रा कर रहे हैं। मुंबई में लॉक डाउन लगने के बाद प्रवासियों के आने का सिलसिला तेज हो चुका है। ट्रेनों में भीड़ देखकर कोई भी रेलवे कर्मचारी उसमें घुसने की हिम्मत नहीं जुटा रहा
...
more...
है। लिहाजा मुंबई से आने वाली इस भीड़ में कई ऐसे भी हैं जो डब्ल्यूटी (बिना टिकट) चल रहे हैं।
दरअसल विशेष ट्रेनों में अधिकतर मजदूर वर्ग सफर कर रहा है। ऐसे में ज्यादातर लोग भीड़ की आड़ में सफर तो शुरू कर देते हैं लेकिन टिकट आरक्षित नहीं कराते। यह लोग आसानी से अपने गंतव्य भी पहुंच जाते हैं क्योंकि ट्रेनों में सफर के दौरान टीटीई भी कोच में जांच करने नहीं जाते। ऐसा ही कुछ हाल दिल्ली से आने वाली ट्रेनों का भी है। इन ट्रेनों में भी प्रवासी बिना टिकट सफर कर रहे हैं। दैनिक जागरण टीम की पड़ताल में यह बात सामने आयी। हालांकि मजदूरों का इस पर अपना तर्क है। उनका कहना है लॉकडाउन का डर और घर जाने की आपाधापी में टिकट लेना मुश्किल हो जाता है। टिकट काउंटर पर लंबी भीड़ लगती है। गाड़ी छूटने के डर के चलते बिना टिकट ही सफर शुरू करते हैं। ट्रेन में टीटीई आते तो वह टिकट बनवाने को भी तैयार हैं। 
शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप
Total Vaccination:11,72,23,509
Active:22,91,486
Death:1,84,657
over 1.5 / 6.55
Page#    4034 news entries  next>>

Scroll to Top
Scroll to Bottom
Go to Mobile site
Important Note: This website NEVER solicits for Money or Donations. Please beware of anyone requesting/demanding money on behalf of IRI. Thanks.
Disclaimer: This website has NO affiliation with the Government-run site of Indian Railways. This site does NOT claim 100% accuracy of fast-changing Rail Information. YOU are responsible for independently confirming the validity of information through other sources.
India Rail Info Privacy Policy