Spotting
 Timeline
 Travel Tip
 Trip
 Race
 Social
 Greeting
 Poll
 Img
 PNR
 Pic
 Blog
 News
 Conf TL
 RF Club
 Convention
 Monitor
 Admin
 Followed
 Rating
 Correct
 Wrong
 Stamp
 HJ
 Vote
 Pred
 @
 FM Alert
 FM Approval
 Pvt
News Super Search
 ↓ 
×
Member:
Posting Date From:
Posting Date To:
Category:
Zone:
Language:
IR Press Release:

Search
  Go  

Feeling bored in the Train - talk to a RailFan. You'll WISH the train gets late.

Full Site Search
  Full Site Search  
 
Thu Mar 21 03:00:40 IST
Home
Trains
ΣChains
Atlas
PNR
Forum
Gallery
News
FAQ
Trips/Spottings
Login
Feedback
Advanced Search

News Posts by Saurabh®^~

Page#    Showing 1 to 5 of 508 news entries  next>>
  
आचार संहिता लागू होने के 10 दिनों के बाद भी रेलवे स्टेशनों और प्लेटफार्मों पर सरकार की योजनाओ का प्रचार करते नेताओं के चमकते चेहरों वाले पोस्टरों से पटा पड़ा है. सरकार की योजनाओं के प्रचार के साथ नरेंद्र मोदी की तस्वीर वाले बड़े-बड़े बैनर ट्रेन की बोगिओं पर देश भर में घूम-घूम कर न केवल सफर कर रहे हैं, बल्कि आचार संहिता का खुला मजाक भी बना रहे हैं. बिहार के हाजीपुर स्टेशन के प्लेटफार्म पर जगह-जगह सरकार की उपलब्धिओं और योजनाओ के साथ प्रधानमंत्री की तस्वीर वाले बैनर और पोस्टर देखें जा सकते हैं. स्टेशन,पार्सल कार्यालय, वोटिंग रूम हर जगह बड़े बड़े होर्न्डिंग्स और पोस्टर चुनाव आचार संहिता को लेकर रेलवे की लापरवाही और बेफिक्री को दर्शा रहे हैं.  
देश
...
more...
के चुनाव और चुनाव को लेकर देश में लागू आचार संहिता को लेकर रेलवे की लापरवाही यही पर खत्म नहीं होती है. हजारों किलोमीटर का सफर करने वाली कई ट्रेनों की बोगिओ पर प्रधानमंत्री के योजनाओं वाले पोस्टर्स को नहीं हटाया गया है. सिर्फ हाजीपुर स्टेशन से गुजरने वाली कई ट्रेनों की बोगिओं पर सरकारी विज्ञापन और विज्ञापन में तस्वीर लगी पोस्टर अचार संहिता लागू होने के दस दिनों बाद भी जस की तस बरकरार है. ट्रेन की बोगिओं पर गरीबों के मुफ्त इलाज की जन आरोग्य योजना के साथ प्रधानमंत्री के पोस्टर, बेशक सरकार की योजना के प्रचार के लिए लगाए गए हों. लेकिन देश में आचार संहिता के लागू होने के बाद इनको नहीं हटाया जाना चुनाव को प्रभावित करने और अचार संहिता का उलंघन का मामला है.पोस्टरों और बैनरो को लेकर रेलवे के अधिकारिओ से जब पूछा गया तो अधिकारी सवाल से और कैमरों से भागते दिखे. हालांकि रेलवे की इस लापरवाही को वैशाली जिला प्रशासन ने गंभीर मानते हुए इस मामले में रेलवे को नोटिस जारी कर दिया है और वैशाली DM ने SDM को तुरंत पूरे मामले जांच के आदेश भी दे दिए हैं. वैशाली के मजिस्ट्रेट ने कहा की आचार संहिता के उलंघन करने वाले इन पोस्टरों को लेकर अगर रेलवे का जबाब संतोषजनक नहीं मिलता है तो इसमें रेलवे के ऊपर FIR भी दर्ज की जाएगी.
  
Yesterday (12:06) SCR Surpasses its Highest Freight Loading Performance since inception, buoyed by surge in demand from core sectors (www.scr.indianrailways.gov.in)
IR Affairs
SCR/South Central
IR Press Release
0 Followers
1577 views

News Entry# 379113  Blog Entry# 4266792   
  Past Edits
Mar 20 2019 (12:07)
Station Tag: Secunderabad Junction/SC added by Saurabh®^~/1294142
Stations:  Secunderabad Junction/SC  
South Central Railway has registered yet another milestone in its freight traffic business, surpassing the earlier best ever annual performance, by crossing the same in the current fiscal 2018-19 (well before the end of the financial year). The Zone has recorded the highest ever freight loading of 117.16 Million Tonnes (MTs), touching the mark yesterday i.e., 18thMarch, 2019. This feat was achieved in comparison to the earlier top most freight loading performance of SCR in the financial year 2014-15 when the Zone had transported 116.80 MTs of Goods.
Having been set a target of 111 MTs by the Railway Board for SCR to attain in the financial year 2018-19, the Operating Department of the Zone, in close co-ordination with other wings, formulated
...
more...
a multi-pronged strategy to enhance its Operational efficiency and identify traffic trends all through the year, so as to tap the freight traffic sources and cater to the demands, prevailing over other competitive transport sectors. Shri N. Madhusudana Rao, Principal Chief Operations Manager, SCR envisaged an intensive action plan with a system in place to analyze the requirements of freight customers o­n a every day basis and positively respond to the same.
The Krishnapatnam Port Company Limited (KPCL), located in South Coastal Andhra Pradesh has been the other core customer for SCR, enabling transport of huge Freight loads to and from the port to various destinations in the region, ably served by SCR.
Amongst the other commodities which contributed to SCRs performance, the Cement Industry which has got a huge presence of Cement Factories located in the region served by SCR, has given good business to the Zone during the year. Around 27 MTs of Cement has been transported by the Zone in the current fiscal. Other commodities include Fertilizers which generated 5.88 MTs of freight loading, imported Iron ore to the extent of 5.45 MTs, Food Grains to the tune of 4.33 MTs and Raw Material for Steel Plants to about 2.75 MTs. The Container traffic has been about 1.21 MTs, Petroleum Oil Lubricants to the extent of 0.77 MTs, while other Goods also contributed 5.65 MTs of Freight business to the Zone.
The outcome of this sizeable surge in freight traffic is the significant rise in freight earnings of SCR. The freight earnings of the Zone rose to Rs. 10745.00 crore in the current fiscal 2018-19 till yesterday i.e., 18th March, 2019. This compares an increase of 2414.00 crore over the previous financial year (2017-18) freight revenue earning of Rs. 8331.00 crore.
The General Manager was optimistic that the Zone will be able to further enhance its status as o­ne of the best freight carriers o­n Indian Railways. The momentum can be carried forward with commitment during the remaining days of the current fiscal so as to generate a record Freight performance, both in terms of Traffic and Revenue, he opined.
  
Yesterday (11:51) अभी हेंडओवर नहीं लिया ब्रिज-रेल अफसर डेढ़ साल पहले ही उन्हें दे चुके- ठेकेदार (www.bhaskar.com)
IR Affairs
SECR/South East Central
0 Followers
1350 views

News Entry# 379112  Blog Entry# 4266775   
  Past Edits
Mar 20 2019 (11:51)
Station Tag: Chakarbhatha/CHBT added by Saurabh®^~/1294142
Stations:  Chakarbhatha/CHBT  
अब्दुल रिजवान | बिलासपुर
चकरभाठा अंडरब्रिज के बारे में रेलवे अफसरों का कहना है कि वह तो अभी हैंडओवर ही नहीं हुआ है। मेंटेनेंस टाइम भी बाकी है। वहीं कंस्ट्रक्शन कंपनी के संचालक का कहना है कि डेढ़ साल पहले अंडरब्रिज कंप्लीट होते ही उसे हैंडओवर कर दिया था। 6 महीने का मेंटेनेंस टाइम भी पूरा हो चुका है। अंडरब्रिज में पानी जस का तस भरा हुआ है। न पानी निकाला गया और न ही सफाई करवाई गई।
रेलवे जोनल मुख्यालय से महज 14 किलोमीटर अंडरब्रिज चकरभाठा में बना रेलवे अंडरब्रिज
...
more...
आम जनता के लिए परेशानी का सबब बन गया है। आम जनता के पैसे का रेलवे अफसरों ने किस तरह से दुरुपयोग किया है यह इसका ताजा उदाहरण है। बच्चे दिन भर इसमें नौकायन करते हैं। जब से यह ब्रिज बनकर तैयार है तब से इसमें हर दिन पानी भरने की समस्या है लेकिन इसे दूर किया नहीं जा सका है। अब जोनल मुख्यालय में बैठे अफसरों ने इसे संज्ञान में लिया है। मामला रायपुर डिवीजन का है इसलिए मुख्यालय में बैठे अफसरों ने रायपुर डिवीजन के संबंधित अफसरों से पूछताछ की तो वहां से अफसरों ने सीधा जवाब दिया कि अभी तो अंडरब्रिज हैंडओवर ही नहीं हुआ। ठेकेदार के पास ही है और मेंटेनेंस गारंटी पर है।
मोटर पंप तो है पर ऑपरेटर नहीं
अंडरब्रिज से पानी फेंकने के लिए मोटर पंप, पाइप सब कुछ खरीदा जा चुका है लेकिन इसे चलाने के लिए विभाग के पास कोई कर्मचारी नहीं है इसलिए अंडरब्रिज में भरा पानी नहीं निकाला जा रहा है। अंडरब्रिज में पानी भरा होने के साथ-साथ कीचड़ भी हो गया है। इससे फिसलन हो रही है। आते-जाते वाहन चालक रेतीली कीचड़ में फिसल रहे हैं।
हमने तो अफसरों को अवगत कराया था
अंडरब्रिज में हमेशा पानी भरा रहता है। लोग परेशान होते हैं लेकिन इसकी चिंता रेलवे के अफसरों को नहीं है।
स्थायी निदान के निर्देश दिए गए हैं
  
Yesterday (11:50) रेलवे में महिला कर्मचारी बदल सकेंगी कैटेगरी (www.bhaskar.com)
IR Affairs
SECR/South East Central
0 Followers
1106 views

News Entry# 379111  Blog Entry# 4266773   
  Past Edits
This is a new feature showing past edits to this News Post.
Stations:  Bilaspur Junction/BSP  
बिलासपुर | रेलवे की महिला कर्मचारी अब कैटेगरी बदल सकेंगी। रेलवे बोर्ड ने कहा है कि जटिल कार्य करने वाली महिलाओं की कैटेगरी बदलने के विकल्प तलाशे जाएं। इससे ग्रुप डी की कई महिला रेलकर्मियों को लाभ मिलेगा। रेलवे में महिलाएं ट्रैक मरम्मत, मालगाड़ियों की वैगन में आई खराबी दुरुस्त करने जैसे मुश्किल काम करती हैं।
  
Yesterday (11:48) नई सुविधा: अब ट्रेनों में महिलाओं को लोअर बर्थ के साथ सीट का भी कोटा (www.bhaskar.com)
New Facilities/Technology
SECR/South East Central
0 Followers
982 views

News Entry# 379110  Blog Entry# 4266772   
  Past Edits
Mar 20 2019 (11:48)
Station Tag: Bhilai/BIA added by Saurabh®^~/1294142

Mar 20 2019 (11:48)
Station Tag: Durg Junction/DURG added by Saurabh®^~/1294142
Stations:  Durg Junction/DURG   Bhilai/BIA  
भिलाई| ट्रेनों में महिला यात्रियों के लिए अब लोअर बर्थ का कोटा तय कर दिया है। अलग-अलग श्रेणी के कोच का कोटा अलग रहेगा। मेल और एक्सप्रेस ट्रेनों के सभी स्लीपर क्लास कोच में महिलाओं के लिए छह-छह बर्थ रिजर्व रहेंगी। गरीब रथ के एसी-3 कोच में भी छह बर्थ तय किए हैं। 45 वर्ष से अधिक उम्र की महिलाओं के लिए सभी मेल व एक्सप्रेस ट्रेनों के थर्ड एसी एवं सेकेंड एसी कोच में 3-3 बर्थें रिजर्व रहेंगी। गर्भवती को प्राथमिकता दी जाएगी। राजधानी-दुरंतो के साथ पूर्णतया एसी ट्रेनों के एसी-3 में महिलाओं के लिए 4 लोअर बर्थ रिजर्व रहेंगी। इसके लिए रेलवे ने सभी स्टेशनों में आदेश भेज दिया है। वहीं आरपीएफ और जीआरपी भी महिला बोगी में इसके पालन करवाने के लिए तैयारी कर ली है। आरपीएफ को लगातार शिकायतें मिल रही है कि महिला बोगी में पुरुष सफर कर रहे हैं।
Page#    508 news entries  next>>

Scroll to Top
Scroll to Bottom
Go to Mobile site
Important Note: This website NEVER solicits for Money or Donations. Please beware of anyone requesting/demanding money on behalf of IRI. Thanks.
Disclaimer: This website has NO affiliation with the Government-run site of Indian Railways. This site does NOT claim 100% accuracy of fast-changing Rail Information. YOU are responsible for independently confirming the validity of information through other sources.
India Rail Info Privacy Policy