Spotting
 Timeline
 Travel Tip
 Trip
 Race
 Social
 Greeting
 Poll
 Img
 PNR
 Pic
 Blog
 News
 Conf TL
 RF Club
 Convention
 Monitor
 Topic
 Bookmarks
 Rating
 Correct
 Wrong
 Stamp
 PNR Ref
 PNR Req
 Blank PNRs
 HJ
 Vote
 Pred
 @
 FM Alert
 FM Approval
 Pvt
News Super Search
 ↓ 
×
Member:
Posting Date From:
Posting Date To:
Category:
Zone:
Language:
IR Press Release:

Search
  Go  

हमसे सीखे कोई जीने का सलीका। सफर कैसा भी हो, मौज़ उडाये जाते हैं।। - Amir

Full Site Search
  Full Site Search  
FmT LIVE - Follow my Trip with me... LIVE
 
Sat Jun 19 06:46:08 IST
Home
Trains
ΣChains
Atlas
PNR
Forum
Quiz Feed
Topics
Gallery
News
FAQ
Trips/Spottings
Login
Advanced Search

News Posts by विश्व नाथ

Page#    Showing 1 to 5 of 3563 news entries  next>>
Aug 31 2019 (16:49) आजादी के बाद पहली बार चली ट्रेन, देखने के लिए बच्चे से लेकर बुजुर्ग पहुंचे स्टेशन (www.kashishnews.com)
New Facilities/Technology
ER/Eastern
0 Followers
13306 views

News Entry# 389938  Blog Entry# 4414867   
  Past Edits
Aug 31 2019 (16:49)
Station Tag: Pirpainti/PPT added by विश्व नाथ*/31233

Aug 31 2019 (16:49)
Station Tag: Poreya Hat/PRYHT added by विश्व नाथ*/31233
Stations:  Pirpainti/PPT   Poreyahat/PYHT  
जिले के लोगों के खुशी की लहर है। खुशी की वजह है ट्रेन की सीटी जो जिले के लोगों ने आजादी के 72 साल के बाद सुना है। दरअसल जिले के पोड़ैयाहाट प्रखंड से हसडिया यात्री ट्रेन का ट्रायल किया गया और ट्रायल सफल पाया गया है। जिसके बाद से हसडिया यात्री ट्रेन पहले गोड्डा आएगी और फिर ट्रेन ललमटिया, बलबड्डा होते हुए पीरपैंती पहुंची। फिलवक्त जिले में आजादी के 72 साल बाद ट्रेन के परिचालन शुरू होने से लोग काफी खुश है, वहीं ट्रेन को देखने के लिए स्टेशन पर लोगों और बच्चों की भीड़ लगी हुई है।
परियोजना पहुंचने में लग गई देर
आपको
...
more...
बता दें कि गोड्डा में रेल परियोजना की शुरुआत कांग्रेस के शासनकाल में ही हुई थी। लेकिन उनके शासनकाल के दौरान परियोजना की गति धीमी पड़ गई थी, जिस वजह से उसे पूरा होने में काफी वक्त लग गया। इस परियोजना को लेकर राजनीतिक गलियारों में भी काफी हलचल रही है। लेकिन परियोजना के पूरा होने से लोगों में खुशी है। फिलहाल रेललाईन की लंबाई 16 किलोमीटर ही है और यह परियोजना गोड्डा के पोड़ैयाहाट तक ही पहुंची है, उम्मीद है कि जल्द ही गौड्डा में भी स्टेशन बनेगा।
Jul 07 2019 (15:44) हाजीपुर-मुजफ्फरपुर लाइन पर 110 की रफ्तार से दौड़ीं ट्रेनें (epaper.livehindustan.com)
IR Affairs
ECR/East Central
0 Followers
28198 views

News Entry# 386164  Blog Entry# 4371769   
  Past Edits
Jul 07 2019 (15:44)
Station Tag: Bhagwanpur/BNR added by विश्व नाथ*/31233

Jul 07 2019 (15:44)
Station Tag: Ram Dayalu Nagar/RD added by विश्व नाथ*/31233

Jul 07 2019 (15:44)
Station Tag: Ghoswar/GWH added by विश्व नाथ*/31233

Jul 07 2019 (15:44)
Station Tag: Sarai/SAI added by विश्व नाथ*/31233

Jul 07 2019 (15:44)
Station Tag: Hajipur Junction/HJP added by विश्व नाथ*/31233

Jul 07 2019 (15:44)
Station Tag: Muzaffarpur Junction/MFP added by विश्व नाथ*/31233
हाजीपुर-मुजफ्फरपुर रेलखंड पर अब अप-डाउन दोनों तरफ से ट्रेनें 110 किमी प्रतिघंटे की रफ्तार से दौड़ने लगी हैं। पहले केवल अप ट्रेनों का ही परिचालन इस गति से होता था। हाल में ही डाउन ट्रैक पर भी सफल ट्रायल हुआ था। अबतक डाउन में 75 किमी प्रतिघंटे की रफ्तार से ट्रेनें दौड़ती थीं। रेलवे ने इसे 35 किमी प्रतिघंटा बढ़ा दिया है। .परिचालन में सुधार होने से ससमय स्टेशनों पर पहुंचेंगीं गाड़ियां शनिवार को वैशाली सुपरफास्ट एक्सप्रेस सहित कई डाउन लाइन की गाड़ियां हाजीपुर से मुजफ्फरपुर तक 110 किमी की रफ्तार से पहुंचीं। अब दोनों लाइनों पर ट्रेन की रफ्तार बढ़ने से हाजीपुर-मुजफ्फरपुर के बीच परिचालन में सुधार होगा। साथ ही समय से ट्रेनें स्टेशनों पर पहुंचेंगी। .हाजीपुर-मुजफ्फरपुर रूट के बीच 53 किमी में रेललाइन दोहरीकरण का काम चल रहा है। इसमें हाजीपुर से घोसवर पांच किमी और भगवानपुर से रामदयालुनगर तक 34 किमी में दोहरीकरण का काम पूरा हो गया...
more...
है। घोसवर से भगवानपुर के बीच भी 14 किमी में दोहरीकरण का काम तेजी से चल रहा है। इसका दो सेक्शन में दोहरीकरण किया जा रहा है जो घोसवर से सराय व सराय से भगवानपुर तक है। नौ नवंबर तक पूरा करने का लक्ष्य है। .
160 किमी तक बढ़ानी है सुपरफास्ट ट्रेनों की रफ्तार : सुपरफास्ट ट्रेनों की रफ्तार 160 किमी तक बढ़ानी है। रेलमंत्री पीयूष गोयल ने इसका आदेश सभी जीएम को हाल में ही दिया है। इसके लिए प्रत्येक जोन को चार रेल रूट तय करने का आदेश दिया है ।.
Jul 07 2019 (15:35) सहरसा-बरुआरी के बीच दौड़ेगी विद्युत ट्रेन (epaper.livehindustan.com)
New Facilities/Technology
ECR/East Central
0 Followers
11773 views

News Entry# 386163  Blog Entry# 4371766   
  Past Edits
Jul 07 2019 (15:35)
Station Tag: Saharsa Junction/SHC added by विश्व नाथ*/31233

Jul 07 2019 (15:35)
Station Tag: Garh Baruari/GEB added by विश्व नाथ*/31233

Jul 07 2019 (15:35)
Station Tag: Saraygarh/SRGR added by विश्व नाथ*/31233
कोसीवासियों के लिए खुशखबरी है। मानसी-मधेपुरा की तरह सहरसा-गढ़ बरुआरी रेलखंड पर इलेक्ट्रिक इंजन लगी ट्रेनें चलेगी। इसके लिए सहरसा-गढ़ बरुआरी रेलखंड को रेल विद्युतीकरण से लैस किया जाएगा।.
रेल विद्युतीकरण का कार्य अगस्त अंतिम तक शुरू होगा। साढ़े 16 किमी में विद्युतीकरण कार्य के लिए रेल निर्माण विभाग ने टेंडर निकाल दिया गया है। जुलाई अंतिम तक टेंडर की प्रक्रिया पूरी करते कार्य एजेंसी बहाल कर दी जाएगी। उप मुख्य अभियंता विद्युत(निर्माण) दीपक गुप्ता ने कहा कि सहरसा-गढ़ बरुआरी रेल विद्युतीकरण कार्य के लिए एजेंसी चयन की प्रक्रिया टेंडर के जरिए जुलाई अंतिम तक पूरी कर ली जाएगी। अगले माह अगस्त अंतिम से फाउंडेशन जोड़ने के साथ विद्युतीकरण कार्य की शुरूआत हो जाएगी। साढ़े 16 किमी में विद्युतीकरण कार्य के लिए
...
more...
टेंडर प्रक्रिया शुरू करने से पहले सर्वे किया गया था। उन्होंने कहा कि प्रति एक किमी विद्युतीकरण कार्य पर 40 से 50 लाख रुपए खर्च आता है। छह महीने में विद्युतीकरण कार्य पूरा करने का लक्ष्य निर्धारित किया गया है।.गढ़ बरुआरी-सरायगढ़ व सरायगढ़-फारबिसगंज रेलखंड में भी होगा रेल विद्युतीकरण कार्य : गढ़ बरुआरी-सरायगढ़ और सरायगढ़-फारबिसगंज रेलखंड में भी इलेक्ट्रिक इंजन लगी ट्रेनें चलाने के लिए रेल विद्युतीकरण कार्य किया जाएगा। उप मुख्य अभियंता विद्युत (निर्माण) ने कहा कि जैसे-जैसे बड़ी रेललाइन से जोड़ते ट्रेन आवागमन सुविधा बहाल की जाएगी उस सेक्शन में विद्युतीकरण कार्य किया जाएगा। सरायगढ़ से आगे भी रेल विद्युतीकरण कार्य किया जाएगा।.सरायगढ़ और सुपौल के बीच बनेगा ट्रैक्शन पावर सब स्टेशन : सरायगढ़ और सुपौल के बीच ट्रैक्शन पावर सब स्टेशन बनेगा। उप मुख्य अभियंता ने कहा कि ट्रैक्शन पावर सब स्टेशन के लिए कौन सी जगह उपयुक्त होगी और कहां जमीन उपलब्ध है इसे देखा जा रहा है।.
.
Jul 06 2019 (15:22) रांची-जयनगर एक्सप्रेस, हटिया-पटना पाटलिपुत्रा एक्सप्रेस, रांची-दुमका इंटरसिटी और रांची-कामाख्या एक्सप्रेस को भी पुराने रूट पर चलाने की मंजूरी (epaper.livehindustan.com)
0 Followers
21607 views

News Entry# 386102  Blog Entry# 4371098   
  Past Edits
Jul 06 2019 (15:22)
Station Tag: Barauni Junction/BJU added by विश्व नाथ*/31233

Jul 06 2019 (15:22)
Station Tag: Madhubani/MBI added by विश्व नाथ*/31233

Jul 06 2019 (15:22)
Station Tag: Samastipur Junction/SPJ added by विश्व नाथ*/31233

Jul 06 2019 (15:22)
Station Tag: Ranchi Junction/RNC added by विश्व नाथ*/31233

Jul 06 2019 (15:22)
Station Tag: Darbhanga Junction/DBG added by विश्व नाथ*/31233

Jul 06 2019 (15:22)
Station Tag: Dhanbad Junction/DHN added by विश्व नाथ*/31233

Jul 06 2019 (15:22)
Station Tag: Jaynagar/JYG added by विश्व नाथ*/31233

Jul 06 2019 (15:22)
Train Tag: Jaynagar - Ranchi Express/18606 added by विश्व नाथ*/31233

Jul 06 2019 (15:22)
Train Tag: Ranchi - Jaynagar Express/18605 added by विश्व नाथ*/31233
10 जुलाई से धनबाद-कतरास-चंद्रपुरा रूट पर अन्य चार लोकप्रिय ट्रेनें भी लौट आएंगी। शुक्रवार को दक्षिण पूर्व रेलवे ने रांची-जयनगर एक्सप्रेस, हटिया-पटना पाटलिपुत्रा एक्सप्रेस, रांची-दुमका इंटरसिटी और रांची-कामाख्या एक्सप्रेस को भी पुराने रूट पर चलाने की मंजूरी देते हुए तिथि की घोषणा की। एसई रेलवे के सीपीटीएम सौमित्र मौजूमदार ने पूर्व रेलवे व एनएफ रेलवे के सीपीटीएम को पत्र लिख कर यह जानकारी दी।.चार में से तीन ट्रेनें धनबाद के लोगों को बिहार, बंगाल और असम के जिलों से जोड़ेंगी, जबकि रांची-दुमका इंटरसिटी के धनबाद-कतरास होकर चलने से कोयला राजधानी धनबाद उप राजधानी दुमका से सीधे जुड़ जाएगा। पिछले माह रेलवे बोर्ड ने 10 जोड़ी ट्रेनों को वापस डीसी लाइन पर चलाने की मंजूरी दी थी। 28 जून को रेलवे बोर्ड के पत्र के आधार पर पूर्व मध्य रेलवे के सीपीटीएम ने दक्षिण पूर्व रेलवे के सीपीटीएम को पत्र लिख कर चारों ट्रेनों को पुराने रूट पर चलाने का अनुरोध किया...
more...
था। इसी आलोक में एसई रेलवे ने 10 जुलाई की तिथि निर्धारित की। रांची-जयनगर एक्सप्रेस हफ्ते में तीन दिन ही चलती है, इसलिए यह ट्रेन 10 के बजाय 11 जुलाई से धनबाद होकर चलेंगी। बाकी तीनों ट्रेनें 10 जुलाई से पुरानी रूट पर लौट आएंगी। .
Jul 06 2019 (12:12) Railways Budget 2019: Indian Railways' profitability decreased 7.8% under Modi govt's first term (www.businesstoday.in)
IR Affairs
0 Followers
7616 views

News Entry# 386091  Blog Entry# 4370983   
  Past Edits
This is a new feature showing past edits to this News Post.
Railways Budget 2019: The first half of Modi 1.0 witnessed the Railways struggling with growing staff and increasing pension costs after the execution of the Seventh Pay Commission and low earnings
Indian Railways reported a drop in profitability during the first 5 years of Modi govt at the centre. During Modi 1.0, Railways' profitability decreased by 7.8%. In the financial year 2017-18, the Indian Railways reported its worst ever operating ratio of 98.4, the highest ever since the year 2000-01 when it was 98.3. An operating ratio of 98.4 means the Railways spent 98.4 paise to earn Re 1 in the last financial year, implying a tiny surplus. Operating ratio is used to measure the operational efficiency of an organisation. High operating
...
more...
ratio means a lower profitability. Higher the operating ratio, lower the resources available for expansion, growth.
The drop in profitability is because of higher borrowings in the past to fund expansion in the first term of Modi government. It  was being funded through borrowings which included financing from banks, institutional financing, and external investments. An increased reliance on borrowings eventually worsened the financial situation of Railways.
The first half of Modi 1.0 witnessed the Railways struggling with growing staff and increasing pension costs after the execution of the Seventh Pay Commission and low earnings. The first rail budget of Modi 1.0 was presented by Sadananda Gowda  and it lacked clarity despite him pitching for FDI in Railways sector, dedicated freight corridor, a diamond quadrilateral high-speed rail network, enhanced passenger amenities and augmented cargo-carrying capacity. Gowda was substituted by Suresh Prabhu within six months. Prabhu, in his inaugural speech, talked about bringing in investments and bringing the finances of the country's biggest employer back on track. Prabhu presented a 5-year plan wherein he sought to bring Rs 8.5 lakh crore investments, a marked increase from Gowda's Rs 65,445 crore figures presented in 2014-15. However, railway finances and infrastructure investment were stuck in a vicious cycle as poor finances didn't allow for investments and low investments meant that the infrastructure and services took a major hit.
India's rail network is currently facing capacity constraints and network has already reached saturation. In the last few years, railways' transportation business has been declining, and consequently, its ability to generate its own revenue has been on a decline. A decline in the growth of internal revenue generation has meant that Railways has been funding its capital expenditure through budgetary support from the central government and borrowings. An increased reliance on borrowings could further exacerbate the financial situation of Railways.
On the other hand, Railways' expenditure on salaries has been gradually increasing with a significant jump every few years due to Pay Commission revisions. The pension bill is also expected to increase further in the coming years, as about 40% of the Railways staff was above the age of 50 years in 2016-17.
Despite the seemingly dark clouds, Union minister Piyush Goyal, in his interim budget speech, was hopeful and said that operating ratio of the railways is set to improve from 98.4 in 2017-18 to 96.2 in 2018-19 and to 95 in 2019.
LATEST
Must Read
TECH NEWS
Page#    3563 news entries  next>>

Scroll to Top
Scroll to Bottom
Go to Mobile site
Important Note: This website NEVER solicits for Money or Donations. Please beware of anyone requesting/demanding money on behalf of IRI. Thanks.
Disclaimer: This website has NO affiliation with the Government-run site of Indian Railways. This site does NOT claim 100% accuracy of fast-changing Rail Information. YOU are responsible for independently confirming the validity of information through other sources.
India Rail Info Privacy Policy