Spotting
 Timeline
 Travel Tip
 Trip
 Race
 Social
 Greeting
 Poll
 Img
 PNR
 Pic
 Blog
 News
 Conf TL
 RF Club
 Convention
 Monitor
 Topic
 Bookmarks
 Rating
 Correct
 Wrong
 Stamp
 PNR Ref
 PNR Req
 Blank PNRs
 HJ
 Vote
 Pred
 @
 FM Alert
 FM Approval
 Pvt
News Super Search
 ↓ 
×
Member:
Posting Date From:
Posting Date To:
Category:
Zone:
Language:
IR Press Release:

Search
  Go  

12567/68 राज्यरानी सुपरफास्ट की धाक राजधानी से कम नहीं है। - Prabhat Sharan

Full Site Search
  Full Site Search  
FmT LIVE - Follow my Trip with me... LIVE
 
Sun Jul 25 05:45:59 IST
Home
Trains
ΣChains
Atlas
PNR
Forum
Quiz Feed
Topics
Gallery
News
FAQ
Trips/Spottings
Login
Advanced Search

News Posts by jigyasusingh47

Page#    Showing 1 to 5 of 589 news entries  next>>
अगर आप ज्यादातर स्लीपर क्लास में यात्रा करते हैं, तो रेलवे आपको बड़ी राहत दे रही है. स्लीपर क्लास में पंखा लगा होता है, अब सरकार आपके लिए सस्ते में एयर कंडीशन कोच में यात्रा का मौका दे रही है. यह सस्ती और सबसे आरामदायक यात्रा हो रेलवे इसके लिए पूरी तैयारी कर रहा है. इस साल 806 एयर कंडीशन कोच ट्रैक पर उतारने की तैयारी कर रहा है.

इस वक्त 25 ऐसे एयर कंडीशन कोच चल रहे हैं. इनमें से 10 पश्चिम रेलवे, उत्तर मध्य रेलवे में सात, उत्तर
...
more...
पश्चिम रेलवे में पांच और उत्तर रेलवे में तीन कोच शामिल है. एसी इकोनॉमी क्लास की शुरुआत हो चुकी है और यात्रा के लिए और कोच तैयार हो रही है.इस कोच में यात्रा के लिए किराया स्लीपर क्लास से थोड़ा ही ज्यादा है. इस कोच की श्रेणी को "3E" नाम दिया गया है. डिब्बे के बाहर M से ही इसे प्रदर्शित किया जायेगा

इस कोच में 83 बर्थ की व्यस्था है, इसमें पुराने कोच की तुलना में यात्रियों के लिए जगह ज्यादा है. इस कोच में यात्रियों के लिए कोई खास व्यस्था नहीं है. आप इस कोच में यात्रा के लिए जो टिकट लेंगे उसमें भी ‘3E’ नाम से प्रिंट किया जाएगा. ट्रेन के डिब्बों के बाहर इस क्लास को 'M' के रूप में प्रदर्शित किया जाएगा.
एसी में कम पैसे में यात्रा के लिए गरीब रथ सबसे बेहतर ऑप्शन है. इसी ट्रेन से इकोनॉमी वर्ग के लिए ऐसी की सुविधा शुरू की गयी थी. इसमें यात्रा करने वाले लोगों को यह शिकायत थी कि साइड बर्थ में एक्सट्रा मिडिल बर्थ लगा दिया गया. इस नये कोच के निर्माण में उन सारी असुविधाओं को ध्यान में रखा गया है जो पहले दर्ज की गयी है.

इस कोच में यात्रा के लिए आपको स्लीपर क्लास से कितना बढ़कर किराया देना होगा इस संबंध में अबतक रेलवे ने कोई जानकारी सार्वजनिक नहीं की है लेकिन यह इकोनॉमी क्लास के लोगों को ध्यान में रखकर तय किया जायेगा .

Rail News
7565 views
Jul 23 (12:13)
AniJU
AniJu~   4580 blog posts
Re# 5022554-1            Tags   Past Edits
Nwr me kaunsi trains me hai ye coaches?
मालदा रेल मंडल प्रबंधक ने मुंगेर स्टेशन का किया निरीक्षण। सफाई और गड्ढा देख भड़के ली खबर। डीआरएम ने कहा यात्रियों सुविधाओं में किसी तरह की लापरवाही नहीं की जाएगी बर्दाश्त। कोचों की संख्या बढ़ेगी बल्कि यात्रियों की समय में बचत होगी।
जागरण संवाददाता, मुंगेर। जमालपुर से बेगूसराय और खगडिय़ा के लिए ट्रेनों की संख्या बढ़ेंगी। इस रेल सेक्शन पर डेमू (डीजल मल्टीपल यूनिट) जगह मेमू (मेन लाइन इलेक्ट्रिक) ट्रेनें चलेंगी। इसके लिए तैयारी शुरू कर दी गई है। जोन और बोर्ड से सहमति मिलने के बाद मेमू ट्रेनों का परिचालन सामान्य हो जाएगा। इसके चलने से न सिर्फ कोचों की संख्या बढ़ेगी बल्कि यात्रियों की समय में बचत होगी।
...
more...


यह जानकारी मालदा के रेल मंडल प्रबंधक यतेंद्र कुमार ने दी। डीआरएम गुरुवार को मुंगेर स्टेशन का निरीक्षण करने पहुंचे थे। डीआरएम ने कहा कि यात्री सुविधाओं पर मालदा रेल मंडल का विशेष फोकस है। जमालपुर जंक्शन पर लिफ्ट लगाया गया है, यात्रियों के लिए जल्द ही सेवा बहाल की जाएगी। डीआरएम ने कहा कि आने वाले दिनों में मुंगेर रेल सेक्शन पर गाडिय़ों की संख्या बढ़ेंगी। लगभग 45 मिनट तक निरीक्षण के बाद डीआरएम जमालपुर गए।

स्टेशन को स्टेशन ही रखें, झोपड़पट्टी नहीं बनाएं
डीआरएम सुबह 10 बजे स्पेशल सैलून से मुंगेर आए थे। प्लेटफार्म पर उतरते ही गड्डे और गंदगी देख भड़क गए। डीआरएम ने इसके लिए स्टेशन अधीक्षक की खूब खबर ली। उन्होंने सफाई व्यवस्था दुरुस्त करने की नसीहत दी और कहा कि अगली बार गंदगी मिली तो खैर नहीं है। स्टेशन के आसपास झोपडिय़ां देखकर भड़क गए।

स्टेशन अधीक्षक और आरपीएफ को साफ कहा कि स्टेशन को स्टेशन ही रखें झोपड़पट्टी नहीं बनाएं। अवैध रूप से रेलवे ट्रैक क्रास करने वालों के लिए लाइन के दोनों ओर बोर्ड लगाने का भी निर्देश दिया। सरकुलेटिंग एरिया, वेटिंग हाल को भी देखा और यात्री सुविधाओं से रूबरू हुए। करीब 45 मिनट निरीक्षण करने के बाद सड़क मार्ग से जमालपुर गए।

कोरोना काल में लगातार रेल यातायात व्‍यवस्‍था प्रभावित रही। अब इसे सुचारू करने के लिए रेलवे प्रशासनिक स्‍तर पर प्रयास कर रही है। ज्‍यादातर रेलों का परिचालन शुरू कर दिया है। कुछ ट्रेनों का परिचालन अभी शेष है।

Rail News
3269 views
Yesterday (21:27)
Bengal Me Maut ka khela Band Ho
MrMultiTalented~   1894 blog posts
Re# 5022552-1            Tags   Past Edits
kae salo se yahi sun raha huu
IRCTC Indian Railway News बिहार से गुजरने वाली ज्‍यादातर एक्‍सप्रेस ट्रेनों को पहले ही शुरू किया जा चुका है वहीं अब पूर्व मध्य रेल की ओर से 86 ट्रेनों को फिर से चालू करने के लिए रेलवे बोर्ड को प्रस्‍ताव दिया गया है।

पूर्व मध्‍य रेलवे ने किया नई ट्रेनों को चलाने का एलान।
IRCTC Indian Railway News बिहार से गुजरने वाली
...
more...
ज्‍यादातर एक्‍सप्रेस ट्रेनों को पहले ही शुरू किया जा चुका है वहीं अब पूर्व मध्य रेल की ओर से 86 ट्रेनों को फिर से चालू करने के लिए रेलवे बोर्ड को प्रस्‍ताव दिया गया है।

पटना, जागरण संवाददाता। IRCTC, Indian Railway: कोरोना की दूसरी लहर का असर कम होने के साथ ही रेलवे ट्रेनों का परिचालन सामान्‍य करने की कवायद में जुट गया है। बिहार से गुजरने वाली ज्‍यादातर एक्‍सप्रेस ट्रेनों को पहले ही शुरू किया जा चुका है, वहीं अब पूर्व मध्य रेल (East Central Railway) की ओर से बुधवार से अगले आदेश तक दानापुर (Danapur Rail) और पंडित दीन दयाल उपाध्‍याय (PDDU rail) रेल मंडल के अंतर्गत तीन जोड़ी मेमू स्पेशल ट्रेनों का परिचालन शुरू करने का निर्णय लिया गया है। ये मेमू पैसेंजर स्पेशल ट्रेनें पटना जंक्‍शन (Patna Junction) से गया (Gaya Junction), आरा (Ara Junction) एवं पंडित दीन दयाल उपाध्याय जं. के बीच प्रतिदिन चलेंगी। इससे पहले पूर्व मध्‍य रेल के मुख्‍य जनसंपर्क अधिकारी राजेश कुमार ने बताया कि 86 ट्रेनों को फिर से चालू करने के लिए रेलवे बोर्ड को प्रस्‍ताव दिया गया है।

20 जोड़ी ट्रेनों के लिए रेलवे बोर्ड ने दी अनुमति

वरीय वाणिज्‍य प्रबंधक आधार राज ने मंगलवार को बताया कि पूर्व मध्‍य रेलवे की ओर से 12 जुलाई को भेजे गए प्रस्‍ताव के आधार पर 20 जोड़ी लोकल पैसेंजर ट्रेनों का परिचालन शुरू करने अनुमति रेलवे बोर्ड से मिल गई है। इन ट्रेनों को एक से दो दिनों के अंदर शुरू करने की योजना बनाई जा रही है। इनमें तीन ट्रेनें बुधवार से ही शुरू की जा रही हैं। ये ट्रेनें बिहार के अलावा झारखंड और यूपी के यात्रियों का सफर आसान करेंगी।

आज से चलने वाली मेमू ट्रेनें

03203/04 पटना-डीडीयू जं.-पटना मेमू पैसेंजर स्पेशल डीडीयू से 08.15 बजे खुलकर सभी छोटे-बड़े स्टेशन पर रुकते हुए 16.50 बजे पटना जं. पहुंचेगी। इसी तरह 03203 पटना-पंडित दीन दयाल उपाध्याय जंक्शन मेमू पैसेंजर स्पेशल पटना जंक्शन से प्रतिदिन 12.35 बजे खुलकर सभी छोटे-बड़े स्टेशनों पर रुकते हुए 20.30 बजे डीडीयू जंक्शन पहुंचेगी। 03263/64 पटना-गया-पटना मेमू पैसेंजर स्पेशल गया से प्रतिदिन 05.45 बजे खुलकर सभी छोटे-बड़े स्टेशनों पर रुकते हुए 08.35 बजे पटना पहुंचेगी । यहां से वापसी में 03263 पटना-गया मेमू पैसेंजर स्पेशल पटना से 22.00 बजे खुलकर 00.45 बजे गया पहुंचेगी । 03221/22 पटना-आरा-पटना मेमू पैसेंजर स्पेशल आरा से प्रतिदिन 07.05 बजे खुलकर सभी छोटे-बड़े स्टेशनों पर रूकते हुए 08.34 बजे पटना जं. पहुंचेगी । वापसी में 03221 पटना-आरा स्पेशल पटना जंक्शन से 17.40 बजे खुलकर 19.30 बजे आरा पहुंचेगी।

307 एक्‍सप्रेस और 190 पैसेंजर ट्रेनें चलती थीं पहले
पूर्व मध्‍य रेलवे के अंतर्गत कोरोना काल से पहले 307 एक्‍सप्रेस और 190 पैसेंजर ट्रेनें चलती थीं। इनमें 279 एक्‍सप्रेस और 74 जोड़ी लोकल पैसेंजर ट्रेनों का परिचालन पहले ही शुरू किया जा चुका है। अब दो से तीन दिनों में 94 लोकल पैसेंजर ट्रेनें चलने लगेंगी। रेलवे बोर्ड की अनुमति से कई और एक्‍सप्रेस ट्रेनों को भी चलाने की तैयारी शुरू हो गई है।
पटना. बिहार में मजदूरों से भरी ट्रेनों को टाइम बम से उड़ाने की आईएसआई साजिश रच रहा है. इसकी सूचना मिलने के बाद बिहार के सभी रेलवे स्टेशनों पर चौकसी बढ़ा दी गई है. सूत्रों का कहना है कि ISI उन ट्रेनों को अपना निशाना बनना चाह रहा है जिसमें बड़ी संख्या में मजदूर सफर कर रहे हो. ताकि जानमाल का ज्यादा नुकसान हो सके. ट्रेनों में टाइमर के जरिए बम लगाने और ब्लास्ट की ISI साजिश रचा है.

सूचना मिलने के बाद रेलवे प्रशासन ने अपनी चौकसी बढ़ा दी है.
...
more...
संदिग्‍ध लोगों, लावारिस वस्‍तुओं पर नजर रखी जा रही है. इसके साथ ही संदिग्ध वाहन और लोगों पर पैनी नजर रखी जा रही है.

दरअसल, दरभंगा स्टेशन पर 17 जून को हुए पार्सल ब्लास्ट के बाद से बिहार रेल पुलिस और अन्य जांच एजेंसियों की जांच में कई बातें सामने आयी है, इसमें खौफनाक साजिश चलती ट्रेन में बम ब्लास्ट की है.
ISI की जो लेटर रेल पुलिस को मिली है उसमें पाकिस्तान की ISI ने पंजाब में अपनी स्लीपर सेल को टाइमर के साथ एक बम लगाने को कहा है. इसके साथ ही निर्देश दिया है कि तारों को जोड़कर उसे ट्रेन लगाओ. लेटर में यह भी लिखा गया है कि बम को उस ट्रेन में लगाना है जिसमें बिहार और उत्तर प्रदेश के ज्यादा मजदूर सफर करते हैं.

रेल एसपी ने इसके बाद सभी प्रमुख स्‍टेशनों पर पैनी नजर रखने का निर्देश दिया है. उन्‍होंने लोगों से अपील भी किया है कि कुछ भी असामान्‍य दिखे तो इसकी तत्काल सूचना पुलिस को दें. सूचना देने वाले व्यक्ति की पहचान गुप्‍त रखी जाएगी. बताते चलें कि पिछले दिनों दरभंगा रेलवे स्टेशन पर पार्सल में हुए विस्फोट में एनआइए ने लश्कर के आतंकियों को गिरफ्तार किया गया था.
Train News Jharkhand, लातेहार न्यूज (सुमित कुमार) : सीआईसी सेक्शन बरकाकाना-बरवाडीह रेलखंड अंतर्गत महुआमिलान जंक्शन के समीप लाइन नम्बर 1 पर खाली मालगाड़ी के दो डिब्बे बेपटरी हो गये. इस दुर्घटना में रेलवे ट्रैक व हाईटेंशन बिजली के खंभे क्षतिग्रस्त हो गए. घटना की सूचना के बाद एआरटी बरकाकाना की टीम पहुंची और राहत- बचाव कार्य रात में ही आरंभ किया गया. इसमें किसी के हताहत होने की खबर नहीं है. ट्रेन की रफ्तार धीमी थी

अन्यथा बड़ा रेल हादसा हो सकता था.
...
more...

रात में ही लाइन ठीक कर दिया गया था, हालांकि इस घटना में किसी के हताहत होने की बात सामने नहीं आ रही है. मिली जानकारी के अनुसार सोमवार मध्यरात्रि उक्त मालगाड़ी टोरी से महुआमिलान स्टेशन की ओर आ रही थी. ट्रैक नम्बर 1 में प्रवेश करने के दौरान ट्रेन के पीछे का तीसरा व चौथा डिब्बा ट्रैक से उतर गया. गनीमत रही कि ट्रेन की रफ्तार धीमी थी अन्यथा बड़ा रेल हादसा हो सकता था. इधर घटना के बाद 1 व 2 नम्बर पटरी पर परिचालन प्रभावित हो गया था, जिसे रात्रि में ही बरकाकाना से पहुंची टीम ने ठीक कर दिया था.

घटना के बाद रेल अधिकारी यहां पहुंचे. टीआई उमेश कुमार ने घटना के संबंध में कहा कि अभी कुछ भी नहीं कहा जा सकता. पूरे मामले की जांच जारी है. दोनों बोगी डी-रेल होकर ओएचई खंभे से जा टकराई. इससे ओवरहेड वायर क्षतिग्रस्त हो गया. जोर की आवाज के साथ पूरे स्टेशन परिसर में ब्लैकआउट की स्थिति बन गई थी. करीब डेढ़ घंटे बाद इसे दुरुस्त किया गया.
Page#    589 news entries  next>>

Scroll to Top
Scroll to Bottom
Go to Mobile site
Important Note: This website NEVER solicits for Money or Donations. Please beware of anyone requesting/demanding money on behalf of IRI. Thanks.
Disclaimer: This website has NO affiliation with the Government-run site of Indian Railways. This site does NOT claim 100% accuracy of fast-changing Rail Information. YOU are responsible for independently confirming the validity of information through other sources.
India Rail Info Privacy Policy