Spotting
 Timeline
 Travel Tip
 Trip
 Race
 Social
 Greeting
 Poll
 Img
 PNR
 Pic
 Blog
 News
 Conf TL
 RF Club
 Convention
 Monitor
 Topic
 Followed
 Rating
 Correct
 Wrong
 Stamp
 HJ
 Vote
 Pred
 @
 FM Alert
 FM Approval
 Pvt
News Super Search
 ↓ 
×
Member:
Posting Date From:
Posting Date To:
Category:
Zone:
Language:
IR Press Release:

Search
  Go  

Kanchan Kanya Express: ডুয়ার্সের রাণী - Joydeep Roy

Full Site Search
  Full Site Search  
 
Thu Oct 22 22:49:41 IST
Home
Trains
ΣChains
Atlas
PNR
Forum
Topics
Gallery
News
FAQ
Trips/Spottings
Login
Advanced Search
Page#    397612 news entries  next>>
Today (22:48) पैसेंजर ट्रेनों के नहीं चलने से हो रही परेशानी (www.livehindustan.com)
0 Followers
0 views

News Entry# 422413  Blog Entry# 4755858   
  Past Edits
Oct 22 2020 (22:49)
Station Tag: Howrah Junction/HWH added by jeetendrapoddar/1561784

Oct 22 2020 (22:49)
Station Tag: Malda Town/MLDT added by jeetendrapoddar/1561784

Oct 22 2020 (22:49)
Station Tag: Bhagalpur Junction/BGP added by jeetendrapoddar/1561784

Oct 22 2020 (22:49)
Station Tag: Begusarai/BGS added by jeetendrapoddar/1561784

Oct 22 2020 (22:49)
Station Tag: Khagaria Junction/KGG added by jeetendrapoddar/1561784

Oct 22 2020 (22:49)
Station Tag: Munger (Monghyr)/MGR added by jeetendrapoddar/1561784

Oct 22 2020 (22:49)
Station Tag: Jamalpur Junction/JMP added by jeetendrapoddar/1561784
कोरोना के कारण पिछले 22 मार्च से बंद की गई ट्रेनों में कुछ ट्रेनों को छोड़कर बाकी ट्रेनों को अब तक शुरू नहीं किया गया है। हालांकि रेलवे द्वारा दूर तक जाने वाली कुछ एक्सप्रेसों को चलाया गया है, लेकिन लोकल सफर करने वाले लोगों को हो रही परेशानी हो को देखते हुए अभी तक पर्याप्त संख्या में पैसेंजर ट्रेनों का परिचालन शुरू नहीं हो सका है। जिसके कारण आम यात्रियों को आवागमन में काफी परेशानियों का सामना लंबे समय से करना पड़ रहा है।ट्रेनों के बंद होने से बहुत बड़ा वर्ग प्रभावित हो रहा है। ट्रेनों पर चल कर व्यवसाय करने वाले व्यापारियों के सामने भुखमरी की स्थिति लगातार बनी हुई है। ट्रेन पर चलकर बादाम झालमुड़ी पानी ठंडा फौलादी बेचने वाले व्यापारियों का कहना है कि कोरोना संक्त्रमण के कारण जब से ट्रेनों का परिचालन बंद हुआ है तब से हम लोगों को पैसे की भारी किल्लत हो गई...
more...
है।घर चला पाना मुश्किल हो गया है। कहीं से मांग-चांग कर घर चला रहे हैं। ऐसे में कर्ज काफी हो चुका है। अब दुकानदार भी राशन आदि देने को तैयार नहीं है। सरकार को इसको लेकर सहानुभूति पूर्वक विचार करना चाहिए। वही लंबे समय से पैसेंजर ट्रेनों के बंद होने के कारण प्रतिदिन ऑफिस जाने वाले कर्मचारियों को भी भारी मुश्किलों का सामना करना पड़ रहा है।इन दिनों विश्वविद्यालयों में भी परीक्षाएं हो रही हैं।ऐसे में दूर जाकर छात्र—छात्राओं को परीक्षा में शामिल होने में काफी पैसे खर्च हो जाते हैं।यात्रियों का कहना है कि हम लोग सुबह यात्रा करने के लिए स्टेशन पर पहुंच जाते हैं लेकिन सूचना पट पर गाडि़यों की रद्द होने की सूचना देख मायूस होकर अपने घरों को लौट जाते हैं।
Today (22:44) सात यात्रियों को लेकर लौटी स्पेशल ट्रेन (m.jagran.com)
Commentary/Human Interest
NR/Northern
0 Followers
0 views

News Entry# 422412  Blog Entry# 4755854   
  Past Edits
Oct 22 2020 (22:45)
Station Tag: Kalka/KLK added by Anupam Enosh Sarkar/401739

Oct 22 2020 (22:45)
Station Tag: Shimla/SML added by Anupam Enosh Sarkar/401739
Stations:  Kalka/KLK   Shimla/SML  
जागरण संवाददाता, शिमला : कालका-शिमला हेरिटेज रेलवे ट्रैक पर सात यात्रियों को लेकर स्पेशल ट्रेन कालका लौटी। ट्रेन सुबह 10:40 बजे शिमला से कालका के लिए रवाना हुई। वीरवार को स्टेशन पर सात यात्री पहुंचे तो उन्हें सैनिटाइज करवाकर बैठने की अनुमति दी गई। साथ में आए लोगों को स्टेशन में आने से रोका गया।
कोरोना संक्रमण के खतरे को देखते हुए रेलवे प्रबंधन ने फैसला लिया है कि यात्रियों के अलावा स्टेशन पर अन्य लोगों का प्रवेश नहीं होगा। यात्रियों के लिए गेट पर थर्मल स्कैनिग की व्यवस्था की गई है। वहीं आवाजाही करने वाले यात्रियों का नाम व पता रजिस्टर पर पंजीकृत किया जा रहा है।
...
more...
रेलवे स्टेशन के स्टेशन अधीक्षक प्रिस सेठी ने बताया कि ट्रेन संचालन के पहले दिन जहां एक भी यात्री शिमला नहीं पहुंचा वहीं दूसरे दिन सात यात्रियों ने बुकिग करवाई थी। इसके अलावा वीरवार को कालका से शाम के समय पहुंची ट्रेन में 21 यात्री शिमला पहुंचे हैं। उन्होंने कहा कि धीरे-धीरे लोगों का रुझान बढ़ेगा और उम्मीद है कि जल्द ही ट्रेन में लोगों की आवाजाही बढ़ेगी। रोमांच से भरा है सफर
पर्यटक शिमला-कालका हेरिटेज ट्रैक के सफर को बेहद पसंद करते हैं, क्योंकि यहां पर वे प्रकृति से रूबरू होते हैं। हरे-भरे पहाड़ व ठंडी हवाएं पर्यटकों को रोमांचित करती हैं। सात महीने से कोरोना के कारण लगे लाकडाउन की वजह से यात्री ट्रेन बंद थी। त्योहारी सीजन को देखते हुए दोबारा ट्रेन का संचालन किया है। साथ ही अन्य राज्यों के पर्यटक ट्रेन के सफर को अधिक सुविधाजनक मानते हैं, इसलिए आशा है कि आने वाले समय में ट्रेन में भीड़ रहेगी। मौजूदा समय में दिल्ली, हरियाणा और पंजाब से ही पर्यटक शिमला घूमने पहुंच रहे हैं। सफर कम होने की वजह से ऐसे पर्यटक बस या फिर निजी वाहनों का इस्तेमाल करके शिमला पहुंच रहे हैं। यूनेस्को धरोहर में शामिल है कालका-शिमला रेलवे ट्रैक
कालका-शिमला ट्रैक को 2008 में यूनेस्को की विश्व धरोहर सूची में शामिल किया गया था। रेलवे के अनुसार, हरियाणा के कालका से शिमला तक 96 किलोमीटर लंबी रेलवे लाइन में 102 सुरंगें, 988 पुल और 925 कर्व हैं, जहां से ट्रेन गुजरती है। बड़ोग के पास सबसे लंबी सुरंग 1143 मीटर लंबी है।
Today (22:42) माल भाड़ा गाड़ियों में लाल कपड़ा बांधने को किया प्रेरित (m.jagran.com)
Commentary/Human Interest
NCR/North Central
0 Followers
82 views

News Entry# 422411  Blog Entry# 4755845   
  Past Edits
Oct 22 2020 (22:42)
Station Tag: Fatehpur/FTP added by Anupam Enosh Sarkar/401739
Stations:  Fatehpur/FTP  
जागरण संवाददाता, फतेहपुर : लोहे के सरिया, इंगल जैसे सामानों को बिना लाल निशान कपड़ा लगाकर ढुलाई किए जाने और हादसों पर रोक लगाने जागरूकता फैलाई। बीते दिनों इसी प्रतिनिधि मंडल ने एआरटीओ से गुहार लगाई थी। इन लोगों ने इस अभियान को तेजी पकड़ा रखी है। शहर में साप्ताहिक बंदी के बावजूद जो वाहन मिले उनको रोक कर लाल कपड़ा बांधा। चालकों से अपील की कि वह बिना लाल कपड़ा बांधे सामान की ढुलाई न करें।
समाज सेवियों के प्रतिनिधि मंडल ने लापरवाही के चलते होने वाले हादसों को रोके जाने के काम में विभागीय सहयोग की मांग की। एआरटीओ अरविद त्रिवेदी ने कहाकि नियम विरुद्ध तरीके से ऐसे सामान की ढुलाई कराने का आश्वासन दिया है। समाजसेवी डॉ.
...
more...
अनुराग श्रीवास्तव, गंगा समग्र के जिला संयोजक कुलदीप सिंह भदौरिया, सर्व फार ह्यूमिनिटी के सरदार गुरमीत सिंह, भोजन सेवा समिति के कुमार शेखर, सुहेलदेव जनता पार्टी के जिलाध्यक्ष श्रवण श्रीवास्तव, अचल त्रिपाठी, आचार्य राम नारायण ने लाल झंडा बांधकर जागरूकता फैलाई।
Today (22:41) चार हजार टन गेहूं लाद बांग्लादेश रवाना हुई मालगाड़ी (m.jagran.com)
Commentary/Human Interest
NCR/North Central
0 Followers
119 views

News Entry# 422410  Blog Entry# 4755840   
  Past Edits
Oct 22 2020 (22:41)
Station Tag: Prayagraj Junction (Allahabad)/PRYJ added by Anupam Enosh Sarkar/401739
अतुल यादव, प्रयागराज : रेलवे अब देश ही नहीं विदेश में भी माल सप्लाई करने लगा है। उत्तर मध्य रेलवे (एनसीआर) के प्रयागराज मंडल में कानपुर से गुरुवार रात चार हजार टन गेहूं की पहली रैक लेकर एक मालगाड़ी बांग्लादेश रवाना हुई। जल्द ही दूसरी रैक नैनी से भेजी जाएगी।
कोरोना काल में यात्री गाड़ियों का संचालन बंद हुआ तो माल ढुलाई पर विशेष ध्यान दिया गया। मंडल स्तर पर भी प्रयास किया जा रहा है। रेलवे बोर्ड ने उत्तर मध्य रेलवे के लिए महीने भर में 16 लाख टन माल ढुलाई का लक्ष्य निर्धारित किया है। इस लक्ष्य की प्राप्ति की दिशा में पहल की जा रही है। इसी क्रम में बांग्लादेश के लिए भी माल लदान किया जा रहा
...
more...
है। गुरुवार को कानपुर से एक रैक यानी चार हजार टन गेहूं लादकर मालगाड़ी बांग्लादेश रवाना हुई। यह गेहूं एक निजी फर्म ने बांग्लादेश की फर्म को बेचा है। एक रैक गेहूं बांग्लादेश भेजने पर रेलवे को करीब 45 लाख रुपये की आय मालभाड़े के रूप में होगी। इससे पहले एनसीआर के एटा और झांसी स्टेशन से भी बांग्लादेश के लिए गेहूं भेजा जा चुका है। जोन के आगरा मंडल से बड़े पैमाने पर पेट्रोलियम पदार्थो की लोडिंग हो रही है। सीमेंट और खाद्यान्न की लोडिंग अलग-अलग मंडलों से की जा रही है। बांग्लादेश के लिए गेहूं लेकर दूसरी रैक 27 अक्टूबर को प्रयागराज के नैनी से भेजी जाएगी।
'कानपुर से एक रैक गेहूं बांग्लादेश के लिए भेजा गया है। अगली रैक नैनी से 27 अक्टूबर को भेजी जाएगी। वह बांग्लादेश के रोहनपुर स्टेशन तक जाएगी।'
- अजीत कुमार सिंह, सीपीआरओ, उत्तर मध्य रेलवे
Today (22:38) कर्मचारियों और यूनियन के संघर्ष के आगे झुका रेल मंत्रालय (m.jagran.com)
IR Affairs
ER/Eastern
0 Followers
211 views

News Entry# 422409  Blog Entry# 4755837   
  Past Edits
Oct 22 2020 (22:39)
Station Tag: Munger (Monghyr)/MGR added by Anupam Enosh Sarkar/401739
Stations:  Munger (Monghyr)/MGR  
मुंगेर। दुर्गा पूजा में रेल इंजन कारखाना के कर्मवीर रेल कर्मियों के बोनस भुगतान का मामला अटक सा गया था। कोविड-19 को लेकर रेल मंत्रालय द्वारा बोनस नहीं दिए जाने से आक्रोशित कर्मचारी एवं मेंस यूनियन नेताओं ने इसके खिलाफ संघर्ष प्रारंभ कर दिया। रेल कर्मचारियों और यूनियन नेताओं के संघर्ष के आगे आखिरकार रेल मंत्रालय को झुकना पड़ा। रेल मंत्रालय ने 78 दिनों के बोनस देने की घोषणा कर दी। इधर रेल मंत्रालय द्वारा जैसे ही बोनस की घोषणा हुई तो रेल इंजन कारखाने के कर्मचारियों के चेहरे खुशी से खिल उठे। यूनियन के केंद्रीय उपाध्यक्ष सत्यजीत कुमार एवं कारखाना शाखा अध्यक्ष विश्वजीत, सचिव मनोज कुमार ने बताया कि बोनस भुगतान को लेकर लगातार एआइआरएफ के महामंत्री शिव गोपाल मिश्रा सरकार एवं रेल मंत्रालय पर दबाव बना रहे थे। इतना ही नहीं महामंत्री के आह््वान पर पूरे देश में जब बोनस को लेकर धरना प्रदर्शन शुरू हुआ, तो मंत्रालय को...
more...
आखिरकार बोनस भुगतान के लिए मजबूर होना पड़ा। शाखा सचिव मनोज कुमार ने बताया कि बोनस भुगतान कर्मचारियों के संघर्ष का नतीजा है। मंत्रालय के निर्देश पर कारखाने में बोनस भुगतान को लेकर प्रशासनिक प्रक्रिया पूरी की जा रही है। एक से दो दिन के अंदर रेल कर्मियों के बीच बोनस भुगतान किया जाएगा।
Page#    397612 news entries  next>>

Scroll to Top
Scroll to Bottom
Go to Mobile site
Important Note: This website NEVER solicits for Money or Donations. Please beware of anyone requesting/demanding money on behalf of IRI. Thanks.
Disclaimer: This website has NO affiliation with the Government-run site of Indian Railways. This site does NOT claim 100% accuracy of fast-changing Rail Information. YOU are responsible for independently confirming the validity of information through other sources.
India Rail Info Privacy Policy