Spotting
 Timeline
 Travel Tip
 Trip
 Race
 Social
 Greeting
 Poll
 Img
 PNR
 Pic
 Blog
 News
 Conf TL
 RF Club
 Convention
 Monitor
 Topic
 Followed
 Rating
 Correct
 Wrong
 Stamp
 HJ
 Vote
 Pred
 @
 FM Alert
 FM Approval
 Pvt
News Super Search
 ↓ 
×
Member:
Posting Date From:
Posting Date To:
Category:
Zone:
Language:
IR Press Release:

Search
  Go  

এক রাজ্য, দুই রাণী।নাম তাদের, শালিমার ও আলিপুরদুয়ার রাজ্যরানী - Dip

Full Site Search
  Full Site Search  
 
Mon Oct 26 18:19:59 IST
Home
Trains
ΣChains
Atlas
PNR
Forum
Topics
Gallery
News
FAQ
Trips/Spottings
Login
Advanced Search

News Posts by GZB⭐️WAP5⭐️35006

Page#    Showing 1 to 5 of 1857 news entries  next>>
Oct 02 (13:52) ओएफसी केबिल हटाकर रेलवे ने अपनाई वायरलेस तकनीक (m-livehindustan-com.cdn.ampproject.org)
NR/Northern
0 Followers
10884 views

News Entry# 420063  Blog Entry# 4731689   
  Past Edits
Oct 02 2020 (13:55)
Station Tag: Najibabad Junction/NBD added by ❤Mumbai Rajdhani Express❤/1828106

Oct 02 2020 (13:52)
Station Tag: Kotdwar/KTW added by GZB⭐️WAP5⭐️35006/1833693
Stations:  Najibabad Junction/NBD   Kotdwar/KTW  
-नजीबाबाद-कोटद्वार मार्ग पर नए सिस्टम से होगा ट्रेनों का संचालन
-पूर्व में ट्रेनों के संचालन मे किया जाता था ओएफसी केबिल का प्रयोग
नजीबाबाद।
उत्तर रेलवे मुरादाबाद मण्डल में नजीबाबाद-कोटद्वार रेल मार्ग पर ट्रेनों के संचालन के लिए रेलवे ने नई तकनीक को अपनाया है। रेलवे की ओर से पुराने ओएफसी सिस्टम के स्थान पर वायरलेस तकनीक के लिए नया कम्युनिकेशन सिस्टम
...
more...
शुरू कर दिया है।
नजीबाबाद जंक्शन रेलवे स्टेशन से कोटद्वार रेलवे स्टेशन की बीच की दूरी 24 किलोमीटर है। उक्त रेल मार्ग पर सिंगल रेल ट्रैक के माध्यम से ट्रेनों का आवागमन कराया जाता है। जिसके चलते ब्रिटिश काल में उक्त रेलवे ट्रेक को बिछाए जाने से वर्तमान तक ट्रेनों के संचालन को इस रेल लाइन पर स्थित तीनों रेलवे स्टेशनों से ब्लाक इंस्टूमेंट निकाले गए टोकन को जारी किए जाने के आधार पर ट्रेनों का संचालन किया जाता रहा है। पुराने तरीके से ट्रेनों के संचालन को नजीबाबाद-कोटद्वार रेल मार्ग पर ओएफसी केबिल बिछाया गया था। वर्तमान में उत्तर रेलवे के मुरादाबाद मण्डल ने ओएफसी केवल के स्थान पर 24 किलोमीटर खंड पर वायरलेस तकनीक का इस्तेमाल करना शुरू कर दिया। दरअसल उक्त रेल मार्ग पर जल्द ही विद्युतीकरण किए जाने की योजना पर रेलवे के अधिकारी काम कर रहे हैं।
रिमोट रिमोट से होगा उपकरणों का संचालन
प्रवर मण्डल वाणिज्य प्रबंधक, उत्तर रेलवे, मुरादाबाद मण्डल रेखा शर्मा के मुताबिक इस कार्य से कोविड-19 की परिस्थितियों में पुराने सिस्टम पर होने वाले खर्च की अत्यधिक बचत भी सुनिश्चित की जा सकी है। उनके मुताबिक इस कम्युनिकेशन सिस्टम को स्थापित होने पर ट्रैक्शन पावर कंट्रोल के माध्यम से उपकरणों को रिमोट से संचालित कराने का काम सफलतापूर्वक किया जाना संभव हुआ है। मुरादाबाद मण्डल के डीआरएम (मंडल रेल प्रबंधक) तरूण प्रकाश की प्रेरणा एवं प्रवर मण्डल विद्युत अभियंता (टीआरडी) जितेन्द्र कुमार के प्रयास से ही संभव हुआ है।
कोटद्वार रेलवे ट्रैक पर नहीं हुआ इलेक्ट्रिक पावर संचालन
जम्मूतवी- हावड़ा/ सियालदाह रेल मार्ग पर पडऩे वाले नजीबाबाद जंक्शन रेलवे स्टेशन पर कई वर्ष पूर्व विद्युतीकरण का कार्य हो जाने से उक्त स्टेशन से होकर इलैक्ट्रिक पावर (इंजन) से ट्रेनों का संचालन किया जा रहा है। हालांकि नजीबाबाद से कोटद्वार के लिए संचालित की जाने वाली ट्रेनों के लिए वर्तमान तक रेलवे को डीजल पावर (इंजन) को जोड़कर ट्रेनों का संचालन किया जाता है। जिसके लिए लक्सर से ओएचई लाइन बिछी होने के बावजूद डीजल पावर को नजीबाबाद आवागमन कराया जाता है।
प्रकृति के संरक्षण को अपनाई नई तकनीक
नजीबाबाद-कोटद्वार रेल लाइन संरक्षित वन क्षेत्र से होकर गुजरती है। उक्त रेल खंड के अधिकांश स्विचिंग पोस्ट रिजर्व फारेस्ट क्षेत्र में आने के चलते ओएफसी केबिल बिछाए जाने की वजह से इस रेल खंड में प्रकृति को हानि पहुंचने की संभावनाओं से भी इंकार नहीं किया जा सकता है। जिसको देखते हुए उत्तर रेलवे के टी.आर.डी मुरादाबाद डिवीजन ने नए कम्युनिकेशन सिस्टम को स्थापित करने के लिए ओएफसी केबिल के स्थान पर वायरलेस तकनीक को अपनाया है।
मुरादाबाद। महात्मा गांधी की जयंती पर रेल प्रशासन बापूधाम मोतिहारी से दिल्ली तक स्पेशल ट्रेन चलाने जा रहा है। यह ट्रेन केवल एक ही फेरा लगाएगी, जो सीतापुर और मुरादाबाद होकर गुजरेगी। स्वतंत्रता संग्राम में बिहार के मोतिहारी से महात्मा गांधी ने सत्याग्रह आंदोलन शुरू किया गया। आजादी के बाद मोतिहारी स्टेशन का नाम बापूधाम मोतिहारी रखा गया है।
कोरोना संक्रमण के कारण गांधी जयंती पर विशेष आयोजन नहीं हो रहे हैं। ऐसे में भारतीय रेल गांधी जयंती के अवसर पर बापूधाम से विशेष ट्रेन चलाने जा रहा है। ट्रेन के सभी कोच में स्वतंत्रता संग्राम सेनानी के फोटो लगे होंगे। एसी थ्री, स्लीपर व जनरल बोगी लगाई गई हैं। किराया अन्य एक्सप्रेस के बराबर रखा गया है। यह ट्रेन दो अक्टूबर
...
more...
रात 9:10 बजे मोतिहारी से चलेगी। तीन सितंबर को दोपहर 3:15 बजे मुरादाबाद रुककर चलेगी और दिल्ली शाम 6:30 बजे पहुंचेगी। चार अक्टूबर दिल्ली से रात 11 बजे वापसी में चलेगी। रात 2:52 मुरादाबाद से चलकर पांच अक्टूबर रात आठ बजे बापूधाम मोतिहारी पहुंच जाएगी। दिल्ली की ओर आने वाली इस ट्रेन में गुरुवार रात 12 बजे से शुक्रवार शाम पांच बजे तक रिजर्वेशन कराया जा सकता है। बापूधाम की ओर जाने वाली इस ट्रेन में दो अक्टूबर सुबह आठ बजे से रिजर्वेशन टिकट मिलना शुरू हो जाएगा। यह ट्रेन गोरखपुर, सीतापुर, चन्दौसी, मुरादाबाद, हापुड़, गाजियाबाद में में रुकेगी। प्रवर मंडल वाणिज्य प्रबंधक रेखा शर्मा ने बताया कि बापूधाम मोतिहारी से दिल्ली के लिए शुक्रवार को एक ट्रिप के लिए स्पेशल ट्रेन चलेगी।
मेरठ, जेएनएन। दिल्ली- गाजियाबाद- मेरठ के बीच भारत के पहले रीजनल रेल नेटवर्क रैपिड रेल के पहले लुक का अनावरण कल (शुक्रवार) को किया जाएगा।

भारत की पहली आरआरटीएस ट्रेनों के डिजाइन और निर्माण का काम बॉम्बार्डियर इंडिया को दिया गया है। इन सभी ट्रेनों का निर्माण मेक इन इंडिया नीति के अंतर्गत 100 फीसद देश मे ही होगा। ये ट्रेनें बॉम्बार्डियर के सावली प्लांट, गुजरात में निर्मित होंगी। बॉम्बार्डियर ने आरआरटीएस ट्रेनों का डिजाइन अपनी हैदराबाद फैसिलिटी में किया है।
...
more...

अब तक आरआरटीएस ट्रेन की एक काल्पनिक छवि उपयोग में लाई जा रही थी। अब वास्तविक आरआरटीएस ट्रेनों के रूप को विकसित किया गया है।

दिल्ली-गाजियाबाद-मेरठ आरआरटीएस कॉरिडोर के 50 किलोमीटर से अधिक हिस्से पर सिविल निर्माण कार्य चल रहा हैं।

साथ थे चार स्टेशन

साहिबाबाद, गाजियाबाद, गुलधर और दुहाई का निर्माण कार्य भी प्रगति पर है। पिलर और वायडक्ट का निर्माण भी जारी है।



अब तक दुहाई से साहिबाबाद के बीच के प्राथमिक खंड पर वायडक्ट के फ़ाउंडेशन के लिए 2500 से अधिक पाइल, 210 से अधिक पाइल कप और 100 से ज़्यादा पिलर बनकर तैयार हैं।

इस खंड पर चार स्टेशन

साहिबाबाद, गाजियाबाद, गुलधर और दुहाई का निर्माण भी जोरों पर है। वायडक्ट के स्पैन के लौंचिंग का कार्य भी प्रगति पर है। एनसीआरटीसी ने दुहाई से शताब्दी नगर (मेरठ) के बीच के 33 किमी के हिस्से पर भी निर्माण कार्य शुरू कर दिया है। इसके साथ ही अब 82 किमी लंबे कॉरिडोर के 50 किमी से अधिक के हिस्से पर निर्माण कार्य चल रहा है।
Sep 25 (22:48) रेल की पटरी पर अजब नजारा, ट्रैक पर धड़धड़ाती दौड़ रही थी कार; लोग भाग रहे थे पीछे (m-jagran-com.cdn.ampproject.org)
IR Affairs
NR/Northern
0 Followers
9745 views

News Entry# 419540  Blog Entry# 4725212   
  Past Edits
Sep 25 2020 (22:49)
Station Tag: Ghaziabad Junction/GZB added by GZB⭐️WAP5⭐️35006/1833693

Sep 25 2020 (22:49)
Train Tag: Avadh Assam COVID - 19 Special/05909 added by GZB⭐️WAP5⭐️35006/1833693
गाजियाबाद, आपने रेलवे ट्रैक पर ट्रेनों को रफ्तार भरते देखा होगा, लेकिन दिल्ली से सटे गाजियाबाद में अचानक ट्रैक पर कार दौड़ने लगी तो वहां मौजूद यात्री भी हैरान रह गए। मामले की सच्चाई सामने आई तो लोगों के होश उड़ गए। पूरा मामला कविनगर थाना क्षेत्र में रजापुर स्थित वाल्मीकि मोहल्ले का है। यहां पर बुधवार दोपहर 2 मवेशी चोरी कर भागे आरोपितों ने पकड़े जाने के डर से कार रेलवे ट्रैक पर चढ़ा दी। कुछ दूर तक कार दौड़ी फिर ट्रैक पर फंसकर गाड़ी आगे न बढ़ पाने पर कार से उतरकर एक आरोपित फरार हो गया, जबकि दूसरे को लोगों ने दबोच लिया और जमकर धुनाई की।
वहीं, दोपहर 2.55 बजे दिल्ली जाने वाली अवध-असम एक्सप्रेस आई तो
...
more...
चालक ने समझदारी दिखाते हुए रेलवे  ट्रैक पर भीड़ देखकर आपातकालीन ब्रेक लगाए। इसके बाद पांच मिनट यहां रुकने के बाद ही ट्रेन गाजियाबाद स्टेशन की तरफ रवाना हुई।

वहीं, गाजियाबाद स्टेशन अधीक्षक कुलदीप कुमार त्यागी ने बताया कि ट्रैक बाधित होने की सूचना पर सप्तक्रांति एक्सप्रेस को गाजियाबाद स्टेशन पर रोका गया। रेलवे कर्मचारी ने मौके पर पहुंचकर ट्रैक साफ होने की रिपोर्ट दी। इसके बाद ट्रेन को आधे घंटे की देरी से रवाना किया गया। इस कारण लखनऊ-दिल्ली रेल मार्ग आधे घंटे बाधित रहा।


पथराव करते हुए पीछे दौड़े लोग
बुधवार दोपहर स्विफ्ट डिजायर कार में दो मवेशी चोरी कर आरोपित भागे तो मोहल्ले के लोग पथराव करते हुए उनकी कार के पीछे दौड़े। चिरंजीव विहार से रेलवे ट्रैक के किनारे होते हुए आरोपित जीवन विहार कॉलोनी के पीछे पहुंच गए, लोग भी उनके पीछे दौड़ते हुए पथराव करते रहे। पकड़े जाने के डर से आरोपितों ने रेलवे ट्रैक पर गाड़ी चढ़ाकर ट्रैक पार करने की कोशिश की, लेकिन कार फंस गई। इसके बाद भीड़ ने गाड़ी पर पथराव किया। एसएचओ कविनगर नागेंद्र चौबे ने बताया कि लोगों ने एक चोर को दबोचकर पुलिस के सुपुर्द किया। वह विजयनगर का रहने वाला विजय वाल्मीकि है। उसके साथी की तलाश जारी है।
Coronavirus: निश्चिंत रहें पूरी तरह सुरक्षित है आपका अखबार, पढ़ें- विशेषज्ञों की राय व देखें- वीडियो
एकात्म मानववाद और अंत्योदय दर्शन के प्रणेता पंडित दीनदयाल उपाध्याय (Deen Dayal Upadhyay) की आज जयंती है। रेलवे स्टेशन पर ही विषम परिस्थितियों के बीच 25 सितंबर 1916 को दीनदयाल उपाध्याय का जन्म हुआ। 11 फरवरी 1968 की रात मुगलसराय रेलवे जंक्शन के पास रहस्यमयी हालत में उनकी लाश मिली थी।
'हमारी राष्ट्रीयता का आधार भारत माता है। केवल माता शब्द हटा दीजिए, तो भारत जमीन का टुकड़ा मात्र बनकर रह जाएगा।' यह विचार हैं पंडित दीनदयाल उपाध्याय (Deen Dayal Upadhyay) के। एकात्म मानववाद और अंत्योदय दर्शन के प्रणेता दीनदयाल की आज जयंती है। वह कठिन परिस्थितियों के बीच धरती पर आए और मृत्यु रहस्य बनकर रह गई।
राष्ट्रीय
...
more...
स्वयंसेवक संघ (RSS) के संगठनकर्ता और भारतीय जनसंघ के अध्यक्ष रहे पंडित दीनदयाल उपाध्याय का जन्म 104 साल पहले मथुरा में हुआ था। चंद्रभान नांगला नामक गांव के निवासी भगवती प्रसाद उपाध्याय रेलवे में कर्मचारी थे। वह अपनी गर्भवती पत्नी रामप्यारी के साथ ट्रेन से घर लौट रहे थे, जब स्टेशन पर ही विषम परिस्थितियों के बीच 25 सितंबर 1916 को दीनदयाल उपाध्याय का जन्म हुआ।
Page#    1857 news entries  next>>

Scroll to Top
Scroll to Bottom
Go to Mobile site
Important Note: This website NEVER solicits for Money or Donations. Please beware of anyone requesting/demanding money on behalf of IRI. Thanks.
Disclaimer: This website has NO affiliation with the Government-run site of Indian Railways. This site does NOT claim 100% accuracy of fast-changing Rail Information. YOU are responsible for independently confirming the validity of information through other sources.
India Rail Info Privacy Policy