Spotting
 Timeline
 Travel Tip
 Trip
 Race
 Social
 Greeting
 Poll
 Img
 PNR
 Pic
 Blog
 News
 Conf TL
 RF Club
 Convention
 Monitor
 Topic
 #
 Rating
 Correct
 Wrong
 Stamp
 PNR Ref
 PNR Req
 Blank PNRs
 HJ
 Vote
 Pred
 @
 FM Alert
 FM Approval
 Pvt
News Super Search
 ↓ 
×
Member:
Posting Date From:
Posting Date To:
Category:
Zone:
Language:
IR Press Release:

Search
  Go  
dark mode

You'll find companions wherever you go, when you travel in Trains, family or solo.

Full Site Search
  Full Site Search  
Just PNR - Post PNRs, Predict PNRs, Stats, ...
 
Fri Aug 19 10:46:40 IST
Home
Trains
ΣChains
Atlas
PNR
Forum
Quiz Feed
Topics
Gallery
News
FAQ
Trips
Login
Post PNRPost BlogAdvanced Search

NAYAR/Naya Raipur
     नया रायपुर

Track: Double Electric-Line

Show ALL Trains
Unnamed Road, Sector 2, Nawagaon-1, Naya Raipur
State: Chhattisgarh

Elevation: 311 m above sea level
Zone: SECR/South East Central   Division: Raipur

No Recent News for NAYAR/Naya Raipur
Nearby Stations in the News
Type of Station: Regular
Number of Platforms: n/a
Number of Halting Trains: 0
Number of Originating Trains: 0
Number of Terminating Trains: 0
0 Follows
Rating: NaN/5 (0 votes)
cleanliness - n/a (0)
porters/escalators - n/a (0)
food - n/a (0)
transportation - n/a (0)
lodging - n/a (0)
railfanning - n/a (0)
sightseeing - n/a (0)
safety - n/a (0)
Show ALL Trains

Station News

Page#    Showing 1 to 20 of 29 News Items  next>>
Jun 14 (11:39) नवा रायपुर में चार साल में एक भी प्लेटफार्म नहीं बना पाया एनआरडीए (www.naidunia.com)
IR Affairs
SECR/South East Central
0 Followers
6953 views

News Entry# 489196  Blog Entry# 5378255   
  Past Edits
Jun 14 2022 (11:39)
Station Tag: Raipur Junction/R added by Adittyaa Sharma/1421836

Jun 14 2022 (11:39)
Station Tag: Naya Raipur/NAYAR added by Adittyaa Sharma/1421836
रायपुर (नईदुनिया प्रतिनिधि)। रायपुर विकास प्राधिकरण नवा रायपुर में चार साल में एक भी प्लेटफार्म नहीं बना सका है। इसके चलते रेलवे लाइन बिछाने का काम भी नहीं हो पाया है। एनआरडीए को अटल नगर, उद्योग नगर, सीबीडी, मुक्तांगन रेलवे स्टेशन का निर्माण करना है। एक स्टेशन केंद्री का निर्माण रेलवे को करना है, जो पूरा हो चुका है। एनआरडीए के अधिकारियों का कहना है कि शासन से अब तक सिर्फ एक स्टेशन के निर्माण की स्वीकृति मिली है, जिसका निर्माण कार्य चल रहा है। बाकी स्टेशनों के निर्माण की स्वीकृति मिलने पर उनका भी निर्माण किया जाएगा।
उद्योग नगर रेलवे स्टेशन में अंडरब्रिज तथा स्टेशनों के प्लेटफार्म का निर्माण कार्य नहीं होने से करीब सात किलोमीटर तक पटरी बिछाने का काम
...
more...
नहीं हो पाया है। रेलवे के अधिकारी विलंब के लिए एनआरडीए के अधिकारियों को जिम्मेदार मान रहे हैं। ज्ञात हो कि मंदिर हसौद से नवा रायपुर तक 21 किमी लंबी रेललाइन बिछाने का काम चल रहा है। चार स्टेशनों का निर्माण एनआरडीए के जिम्मे है। इनका पूरा खर्च राज्य शासन और एनआरडीए को उठाना है।
एनआरडीए सीबीडी रेलवे स्टेशन का निर्माण कार्य कर रहा है। इसके प्लेटफार्म की दीवार बनाई थी, लेकिन वह गिर गई। अब दोबारा निर्माण शुरू किया गया है। बाकी स्टेशनों का काम शुरू नहीं हुआ है। दूसरी ओर रेलवे का दावा है कि अटल नगर से उद्योग नगर तक रेलवे लाइन बिछाने का काम पूरा कर लिया गया है। उद्योग नगर रेलवे स्टेशन में अंडरब्रिज बनने के बाद उसे पटरी को जोड़ दिया जाएगा।
मंद गति से चल रहा है काम
रेलवे सूत्रों के अनुसार एनआरडीए अंडरब्रिज का निर्माण जल्द करवा ले तो नवंबर 2022 तक पटरी बिछाने का काम पूरा कर लिया जाएगा। नवा रायपुर में अटलनगर, उद्योगनगर, सीबीडी स्टेशन का निर्माण कार्य दिसंबर 2021 तक पूरा हो जाना था, जो अब तक नहीं हो पाया है।
40 फीसद काम बाकी
रेल लाइन के बीच बनने वाले अधिकांश पुल-पुलियों का खर्च एनआरडीए को उठाना है। वहीं नेशनल हाईवे पर करीब 20 करोड़ की लागत से फ्लाईओवर बनाने का प्रस्ताव है। यह काम भी एनआरडीए को ही करना है। एनआरडीए ने काम शुरू कर दिया है, लेकिन 40 फीसद काम बाकी है।
रायपुर के वरिष्ठ प्रचार निरीक्षक शिव प्रसाद ने कहा, रेलवे ने अपनी प्रक्रिया पूर्ण कर ली है, शेष कार्य एनआरडीए द्वारा प्रस्तावित है। कार्य पूर्ण होने पर जल्द ही यात्रियों को ट्रेन से सफर की सुविधा मिलेगी।
नवा रायपुर एनआरडीए के सीईओ एय्याज तंबोली ने कहा, एनआरडीए ने शासन को चार स्टेशन बनाने का प्रस्ताव भेजा है। सीबीडी रेलवे स्टेशन का काम पहली प्राथमिकता में था, इसलिए उसका काम चल रहा है।
फैक्ट फाइल
- नवा रायपुर में 21 किलोमीटर तक बिछानी है रेलवे लाइन, सात किमी का काम बाकी
छत्तीसगढ़ वर्ष 2000 में बना और उसके बाद से अब तक 22 साल में केवल 105 किमी ही नई रेललाइन ही बिछाई जा रही है। जिस वक्त छत्तीसगढ़ राज्य बना, यहां 1186 किमी की रेललाइनें थीं। ये 22 साल में बढ़कर 1291 किमी हुई हैं। औसत निकाला जाए तो प्रदेश में एक साल में औसतन 4.72 किमी पटरियां बिछाई जा सकी हैं। इसके मुकाबले रेलवे ने पड़ोसी राज्यों में रफ्तार से काम किया है। पड़ोसी राज्य तेलंगाना 2008 में बना, लेकिन यहां 202 किमी नई रेललाइनें बिछ गई हैं। छत्तीसगढ़ के साथ बने पड़ोसी राज्य झारखंड में 425 किमी से ज्यादा नया रेलवे ट्रैक बिछा दिया गया है, वह भी केवल 2014 से 2022 के बीच।
प्रदेश में 22 साल में जो
...
more...
प्रमुख रेल लाइनें पूरी हुई हैं, उनमें खरसिया से कोरिछापर 44 किमी, केवटी से अंतागढ़ करीब 17 किमी और गुदुम से भानुप्रतापपुर 17 किमी प्रमुख हैं। इस दौरान छत्तीसगढ़ में 428 किमी रेलवे ट्रैक को डबल और ट्रिपल करने का काम हुआ है। प्रदेश में 1246.55 किमी नई रेललाइन का नेटवर्क तैयार करने के लिए 6 बड़ी परियोजनाएं चल रही हैं। इनकी कुल लागत 25 हजार 792 करोड़ रुपए से भी अधिक है। लेकिन इसी में पिछले दो दशक में काम की धीमी रफ्तार की वजह से बड़ी योजनाओं के भविष्य पर सवाल उठने लगे हैं।
पड़ोसी राज्यों में रेललाइन बिछाने की रफ्तार
राज्य - नई लाइन - डबलिंग, ट्रिपलिंग
1. छत्तीसगढ़ - 105 किमी - 428 किमी
2. मध्यप्रदेश - 147 किमी - 363 किमी
3. महाराष्ट्र - 86 किमी - 535 किमी
4. आंध्रप्रदेश - 305 किमी - 437 किमी
5. तेलंगाना - 202 किमी - 146 किमी
6. उत्तर प्रदेश - 460 किमी - 672 किमी
7. ओडिशा - 293 किमी - 841 किमी
8. झारखंड - 425 किमी - 374 किमी
(केंद्रीय रेल मंत्रालय की ओर से वर्ष 2009 से 2021 के बीच जारी आंकड़ों के अनुसार)
प्रदेश में नई रेल लाइन बिछाने के ये प्रोजेक्ट
ईस्ट रेल कॉरिडोर फेस 1 - 3055.15 करोड़ रुपए लाइन : खरसिया-घरघोड़ा-डोंगा महुआ तक 131 किमी
ईस्ट रेल कॉरिडोर फेस 2 - 1686 करोड़ रुपए लाइन : धर्मजयगढ़ से कोरबा के बीच 62.5 किमी
ईस्ट वेस्ट रेल कॉरिडोर - 4970 करोड़ रुपए लाइन : गेवरा से पेंड्रा-उरगा-कुसमुंडा तक 138 किमी
राजहरा -रावघाट रेल परियोजना - 1622 करोड़, 95 किमी
रावघाट-जगदलपुर परियोजना - 2563 करोड़, 140 किमी
चिरमिरी-नागपुर हाल्ट रेल लिंक - 241 करोड़, 17 किमी
डोंगरगढ़--कवर्धा-मुंगेली-कटघोरा - 5950 करोड़, 295 किमी
खरसिया-ब. बाजार-नवा रायपुर-दुर्ग - 5705 करोड़, 268 किमी
अंबिकापुर-बरवाडीह रेललाइन - 182 किमी (सर्वे स्तर पर)
कटघोरा- सूरजपुर (परसा से मतीन) - (65 किमी, सर्वे स्तर पर)
ग्राउंड रिपोर्ट- कभी कोरोना में मजदूरों की कमी, कभी लोहा संकट
नवा रायपुर रेललाइन 4 साल में भी अधूरी
नवा रायपुर में जिन जगहों पर रेललाइन बिछाने का काम चल रहा है, वहां लाइनें कम और नहरों जैसी संरचना ज्यादा है। पुराने और नए शहर को जोड़ने के लिए 20 किमी लंबी मंदिर हसौद से केंद्री तक की नई रेल लाइन का काम 2018 में शुरु हुआ था, जो अब तक पूरा नहीं हो पाया है। निर्माण के वक्त ये पूरा प्रोजेक्ट 160 करोड़ का था। बाद में इसकी लागत घटाकर 80 करोड़ रुपए की गई, क्योंकि 5 स्टेशन नया रायपुर विकास प्राधिकरण बनवाएगा। इस लाइन का काम कोरोना और लोहे की कमी से पिछड़ा है
अभनपुर-राजिम ट्रैक का अपग्रेडेशन धीमा
केंद्री से अभनपुर होकर राजिम तक 67 किमी लंबे ट्रैक को ब्रॉडगेज में बदलने का काम सुस्त गति से चल रहा है। 2019 में इस योजना के लिए 544 करोड़ मंजूर हुए थे। केंद्री मुक्तांगन के बीच पटरियां उखाड़ने का काम देरी से शुरू हुआ। जमीन अधिग्रहण का पेंच भी इस प्रोजेक्ट में फंसा। 2022 तक इसको पूरा करने का टारगेट था लेकिन यह संभव नहीं दिख रहा। गौरतलब है कि छत्तीसगढ़ यात्रा के दौरान 1920 में इसी रूट से महात्मा गांधी ने भी यात्रा की थी। तब ये छोटी रेल लाइन हुआ करता था।
यही प्रोजेक्ट जो हुए पूरे
44 किमी खरसिया से कोरिछापर
17 किमी केवटी से अंतागढ़
17 किमी गुदुम से भानुप्रतापपुर
एक्सपर्ट व्यू : अरुणेंद्र कुमार,पूर्व चेयरमेन, रेलवे बोर्ड
धीमी रफ्तार के पीछे कई फैक्टर
पिछले 22 साल में 105 किमी रेलवे ट्रैक बनना धीमी रफ्तार को बताता है। हालांकि केवल नई लाइन ही नहीं, हमें यह भी देखना चाहिए कि कितने ट्रैक की डबलिंग या ट्रिपलिंग हुई है, कितनी नई गाड़ियां बढ़ी है, मालगाड़ियों के जरिए कितने माल की ढुलाई हुई, कितने यात्रियों का आवागमन बढ़ा। लाइन बिछाने की रफ्तार धीमी होने के पीछे जमीन अधिग्रहण का समय पर नहीं होना भी बड़ी वजह है।
रेललाइन निर्माण से जुड़ी भौगोलिक परिस्थितियों को समग्र रूप से देखने की जरूरत है। नई लाइन, दोहरी करण, तीसरी लाइन, चौथी लाइन, गेज कन्वर्जन, इलेक्ट्रिफिकेशन से यात्री सुविधाओं का विकास होगा। - साकेत रंजन, सीपीआरओ-एसईसीआर
Copyright © 2022-23 DB Corp ltd., All Rights Reserved
This website follows the DNPA Code of Ethics.
Apr 21 (14:39) नवा रायपुर समेत तीन रेलवे स्टेशनों पर खुलेंगे थाने, रायपुर रेलवे मंडल ने प्रस्ताव भेजा जोन मुख्यालय (www.naidunia.com)
IR Affairs
SECR/South East Central
0 Followers
19444 views

News Entry# 483862  Blog Entry# 5314850   
  Past Edits
Apr 21 2022 (14:40)
Station Tag: Antagarh/AAGH added by Adittyaa Sharma/1421836

Apr 21 2022 (14:40)
Station Tag: Keoti/KETI added by Adittyaa Sharma/1421836

Apr 21 2022 (14:39)
Station Tag: Dallirajhara/DRZ added by Adittyaa Sharma/1421836

Apr 21 2022 (14:39)
Station Tag: Bhanupratappur/BPTP added by Adittyaa Sharma/1421836

Apr 21 2022 (14:39)
Station Tag: Naya Raipur/NAYAR added by Adittyaa Sharma/1421836

Apr 21 2022 (14:39)
Station Tag: Raipur Junction/R added by Adittyaa Sharma/1421836
रायपुर।(नईदुनिया प्रतिनिधि)। छत्‍तीसगढ़ के भानुप्रतापुर, दल्लीराजहरा और नवा रायपुर रेलवे स्टेशनों पर आरपीएफ थाना खोलने का निर्णय लिया गया है। रायपुर रेलवे मंडल के कमांडेंट ने थानों के निर्माण के लिए प्रस्ताव बनाकर जोन मुख्यालय भेज दिया है। मुख्यालय से अनुमति मिलते ही इस पर काम शुरू कर दिया जाएगा।
आरपीएफ के अधिकारियों का कहना है कि सुरक्षा को देखते हुए थानों के निर्माण करने की मांग की गई थी।
गौरतलब है कि रेलवे प्रशासन रायपुर के केंवटी तक ट्रेन का परिचालन कर रहा है। केंवटी से अंतागढ़ तक पटरी बिछाना रेलवे के
...
more...
लिए चुनौतीपूर्ण था, क्योंकि कोसरोंडा से भइया साल्हेभाठ तक के चैलेंजिंग रूट में नदी-नाले सबसे बड़ी बाधा थे।
रेलवे ने इन बाधाओं को पार करते हुए केंवटी से अंतागढ़ तक करीब 17 किमी तक पटरी बिछाने और स्टेशन बनाने का काम पूरा कर लिया है। अंतागढ़ तक ट्रेन चलाने की कवायद चल रही है। वहीं, तारोकी रेलवे स्टेशन तक पटरी बिछाने का काम चल रहा है। ट्रैक के ऊर्जीकृत होने के बाद पैसेंजर और मालगाड़ी ट्रेनों की आवाजाही अधिक हो जाएगी। यही कारण है कि सुरक्षा बढ़ाने की मांग की जा रही थी।
सुरक्षा के लिए बटालियन तैनात
वर्तमान में रायपुर से केंवटी रेलवे स्टेशन तक मेमू का संचालन हो रहा है। यात्रियों की सुरक्षा के लिए बटालियन तैनात की गई है, लेकिन इन रेलवे स्टेशनों पर आरपीएफ थाना नहीं है। ऐसे में यदि ट्रेन से कटने या फिर अन्य किसी प्रकार की दिक्कत आती है तो जांच करने के लिए दुर्ग से अधिकारियों और कर्मचारियों को जाना पड़ता है। दुर्ग से केंवटी और भानुप्रतापपुर पहुंचने में करीब तीन घंटे लग जाते हैं। ऐसे में काफी दिक्कतों का सामना करना पड़ता है।
थानों के लिए 340 जवानों की मांग
सुरक्षा की दृष्टि से देखते हुए भानुप्रतापपुर में 212, दल्लीराजहरा और नवारायपुर में 128 जवानों की मांग की गई है। इसके लिए पत्र बनाकर जोन मुख्यालय भेजा गया है। सुरक्षा अधिकारियों ने कुछ दिनों पहले निरीक्षण किया था। वहीं, दूसरी तरफ नवा रायपुर में भी स्टेशन का निर्माण कार्य चल रहा है। नवा रायपुर में निर्माणाधीन पटरी के आसपास सामान रखे हैं। थाना शुरू होने से सामान की रखवाली तथा ट्रेन का संचालन शुरू होने पर यात्रियों को बेहतर सुरक्षा मुहैया होगी।
रायपुर रेलवे मंडल कमांडेंट संजय कुमार गुप्ता ने कहा, भानुप्रतापुर, दल्लीराजहरा और नवा रायपुर में आरपीएफ थाना खोलने के लिए पत्र भेजा गया है। हरी झंडी मिलने पर इस पर काम शुरू कर दिया जाएगा।
Feb 12 (15:44) रायपुर: रेलवे महाप्रबंधक ने कहा, नवा रायपुर में रेलवे लाइन का मार्च तक काम पूरा (www.naidunia.com)
IR Affairs
SECR/South East Central
0 Followers
21507 views

News Entry# 477489  Blog Entry# 5216273   
  Past Edits
Feb 12 2022 (15:44)
Station Tag: Bilaspur Junction/BSP added by Adittyaa Sharma/1421836

Feb 12 2022 (15:44)
Station Tag: Lakholi/LAE added by Adittyaa Sharma/1421836

Feb 12 2022 (15:44)
Station Tag: Naya Raipur/NAYAR added by Adittyaa Sharma/1421836

Feb 12 2022 (15:44)
Station Tag: Raipur Junction/R added by Adittyaa Sharma/1421836
रायपुर(नईदुनिया प्रतिनिधि)। दक्षिण पूर्व मध्य रेलवे के महाप्रबंधक आलोक कुमार ने कहा है कि नवा रायपुर में रेलवे लाइन का काम मार्च तक पूरा कर लिया जाएगा। डीआरएम दफ्तर के सामने फाफाडीह रेलवे क्रासिंग पर ओवरब्रिज न बनने से लाखों लोगों को हो रही परेशानी पर कहा कि ओवरब्रिज बनाने का काम पीडब्ल्यूडी करवा रहा है। काम में काफी विलंब तो हुआ है, इस बारे में संबंधित विभाग के अधिकारी ही बता सकते हैं।
दरअसल रेलवे महाप्रबंधक ने बिलासपुर-लखौली- रायपुर सेक्शन का वार्षिक निरीक्षण किया।निरीक्षण के दौरान यात्री सुविधाओं, संरक्षा, सुरक्षा की सुनिश्चितता के साथ-साथ जनप्रतिनिधियों, स्थानीय संगठनों, यात्री संगठनों के पदाधिकारियों से मुलाकात कर उनकी मांग और समस्याएं सुनी और जल्द से जल्द निराकरण करने का आश्वासन दिया।
स्पेशल
...
more...
ट्रेन में बिलासपुर से निरीक्षण करने पहुंचे महाप्रबंधक आलोक कुमार सबसे पहले बिल्हा स्टेशन पर बिल्हा विधायक धरमलाल कौशिक के साथ अन्य संगठनों के पदाधिकारियों से यात्री सुविधाओं पर चर्चा की। इसके बाद रेलवे स्टेशन का निरीक्षण कर यात्री सुविधाओ,स्टेशन पर चल रहे विकासात्मक कार्यों का जायजा लिया। इसके बाद सेंट्रल रिले रूम, पैनल रूम, रेलवे कालोनी का निरीक्षण करने के साथ नवनिर्मित गैंग टूल रूम, रेस्ट रूम, रेल आवास, बाल उद्यान, ओपन जिम, रेल कर्मचारियों के लिए रेल आवास का शुभारंभ किया। इसी कड़ी में बिल्हा स्टेशन पर प्वाइंट, क्रासिंग, बिल्हा फाटक का निरीक्षण किया।
कर्व के सुरक्षा उपकरणों को देखा
महाप्रबंधक ने शिवनाथ नदी पर बने, बिलासपुर-रायपुर सेक्शन के दगोरी-निपनिया के मध्य स्थित ब्रिज नंबर 462 अप शिवनाथ ब्रिज, दगोरी -निपनिया के मध्य कर्व का सघन निरीक्षण किया। इसके साथ ही सुरक्षा उपकरणो की जांच की। इसके साथ ही कार्यस्थल पर कार्यरत इंजिनियरिंग विभाग के ट्रैकमेन कर्मचारियों से उनके कार्य प्रणाली पर संवाद किया। महाप्रबंधक ने बैकुंठ-सिलयारी के बीच किमी एलसी नंबर 401 कुंदरू फाटक का निरीक्षण
किया।
विधायक ने समस्याओं पर की चर्चा
सिलियारी स्टेशन पर विधायक अनिता शर्मा ने महाप्रबंधक के समक्ष यात्रियों,ग्रमीणों की समस्याओं पर चर्चा की।महाप्रबंधक ने लखौली स्टेशन पर यात्री सुविधाओ एवं रेलवे कालोनी का निरीक्षण कर नवनिर्मित ओपन पार्क एवं जिम का शुभारंभ किया। इस दौरान बहुविभागीय नवाचार प्रदर्शनी का अवलोकन कर लखौली स्टेशन पर ट्रैक मशीन के टेस्टिंग के प्रदर्शन, सुरक्षा उपकरणो की जांच की।
चालीस मिनट तक कमरे में चर्चा
रायपुर रेलवे स्टेशन पर देर शाम साढ़े छह बजे महाप्रबंधक का आगमन हुआ।करीब चालीस मिनट तक उन्होंने लाउंज में कई स्थानीय प्रतिनिधियों, विभिन्न संगठनों के सदस्यों, रेलवे यूनियनों,व्यापारिक संगठनों से मुलाकात कर रेल विकासात्मक विषयों पर चर्चा की। ग्रामीण विधायक सत्यनारायण शर्मा के प्रतिनिधि पंकज शर्मा ने मुलाकात कर यात्री सुविधाओं पर चर्चा की।
कमरे से निकलकर वे रायपुर रेलवे स्टेशन का बिना निरीक्षण किए ही स्पेशल ट्रेन में सवार होकर रवाना हो गए। निरीक्षण में महप्रबंधक आलोक कुमार के साथ डीआरएम श्याम सुंदर गुप्ता, बिलासपुर मुख्यालय के सभी प्रधान मुख्य विभागाध्यक्ष,रायपुर रेल मंडल के वरिष्ठ अधिकारी,मेडिकल टीम और आरपीएफ,जीआरपी के अधिकारी-कर्मचारी साथ थे।
Nov 01 2021 (09:05) Train Facility In Chhattisgarh: नवा रायपुर से दुर्ग तक सीधी ट्रेन का प्रस्ताव, यात्रियों को राहत (www.naidunia.com)
IR Affairs
SECR/South East Central
0 Followers
40891 views

News Entry# 468975  Blog Entry# 5109060   
  Past Edits
Nov 01 2021 (09:05)
Station Tag: Mandir Hasaud/MNDH added by Adittyaa Sharma/1421836

Nov 01 2021 (09:05)
Station Tag: Nagpur Junction/NGP added by Adittyaa Sharma/1421836

Nov 01 2021 (09:05)
Station Tag: Bhilai/BIA added by Adittyaa Sharma/1421836

Nov 01 2021 (09:05)
Station Tag: Durg Junction/DURG added by Adittyaa Sharma/1421836

Nov 01 2021 (09:05)
Station Tag: Naya Raipur/NAYAR added by Adittyaa Sharma/1421836

Nov 01 2021 (09:05)
Station Tag: Raipur Junction/R added by Adittyaa Sharma/1421836
Train Facility In Chhattisgarh: रायपुर(नईदुनिया प्रतिनिधि)। रायपुर, नवा रायपुर, भिलाई और दुर्ग को जोड़ने के लिए नया रेल नेटवर्क भी तैयार किया जा रहा है। अभी नवा रायपुर में पटरी बिछाने का काम तेजी से चल रहा है। इससे नए और पुराने शहर के अलावा भिलाई-दुर्ग भी आपस में जुड़ जाएंगे। रेलवे अफसरों ने दावा किया कि रायपुर से दुर्ग के बीच ट्रेनें 130 किमी की रफ्तार से दौड़ने लगेंगी।
रायपुर, नवा रायपुर, भिलाई और दुर्ग से अधिकतम दूरी 40 किमी से ज्यादा नहीं है। सभी शहर एक ही सड़क (जीई रोड) के किनारे स्थित हैं। तीन शहरों को रेल सुविधा से जोड़ने के लिए रायपुर रेल मंडल के अधिकारियों द्वारा नया रेल नेटवर्क तैयार किया जा रहा है।
अभी
...
more...
मंदिर हसौद से नवा रायपुर तक 20 किमी लंबी रेललाइन बिछाने का काम चल रहा है। 20 किमी के दायरे में बनने वाले चार रेलवे स्टेशन का निर्माण दिसंबर 2021 तक पूरा होना की उम्मीद है। धन की कमी के चलते यह प्रोजेक्ट करीब दो साल विलंब हो चुका है।
छत्तीसगढ़ राज्य का निर्माण करने वाले पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी की याद में उनके नाम पर मंदिरहसौद से दो किमी दूर नवा रायपुर की ओर अटल नगर रेलवे स्टेशन बन रहा है। इसे जंक्शन के रूप में विकसित किया जा रहा है। दिसंबर 2021 में इस स्टेशन को चालू करने की तैयारी है।

Rail News
38436 views
Nov 01 2021 (17:32)
a2z
A2Z~   17485 blog posts
Re# 5109060-1              
Non stop trains are doing 37 km long Raipur - Durg journey in 35-50 minutes with max speed of 110kmph!!
Let us see what happens after speed increase to 130kmph?
Distance Durg-Naya Raipur shall be more than reported 40kms. It may be about 60kms and not 40 as reported
Page#    Showing 1 to 20 of 29 News Items  next>>

Scroll to Top
Scroll to Bottom
Go to Mobile site
Important Note: This website NEVER solicits for Money or Donations. Please beware of anyone requesting/demanding money on behalf of IRI. Thanks.
Disclaimer: This website has NO affiliation with the Government-run site of Indian Railways. This site does NOT claim 100% accuracy of fast-changing Rail Information. YOU are responsible for independently confirming the validity of information through other sources.
India Rail Info Privacy Policy