Spotting
 Timeline
 Travel Tip
 Trip
 Race
 Social
 Greeting
 Poll
 Img
 PNR
 Pic
 Blog
 News
 Conf TL
 RF Club
 Convention
 Monitor
 Topic
 Bookmarks
 Rating
 Correct
 Wrong
 Stamp
 PNR Ref
 PNR Req
 Blank PNRs
 HJ
 Vote
 Pred
 @
 FM Alert
 FM Approval
 Pvt
News Super Search
 ↓ 
×
Member:
Posting Date From:
Posting Date To:
Category:
Zone:
Language:
IR Press Release:

Search
  Go  

दूरी नही मंज़िल भारी, साथ हो जब मेट्रो हमारी - Mushfique Khalid

Full Site Search
  Full Site Search  
FmT LIVE - Follow my Trip with me... LIVE
 
Thu Jun 17 15:03:42 IST
Home
Trains
ΣChains
Atlas
PNR
Forum
Quiz Feed
Topics
Gallery
News
FAQ
Trips/Spottings
Login
Post PNRAdvanced Search
Scenic; Platform Pic; Large Station Board;
Entry# 2636685-0
Platform Pic; Large Station Board;
Entry# 3559118-0


HW/Haridwar (9 PFs)
हरिद्वारम् / ہری دوار     हरिद्वार

Track: Construction - Electric-Line Doubling

Show ALL Trains
Purusharthi Market Road, Shikhu Pur, Devpura, Haridwar, Pin - 249401, , Dist - Haridwar
State: Uttarakhand


Zone: NR/Northern   Division: Moradabad

No Recent News for HW/Haridwar
Nearby Stations in the News
Type of Station: Regular
Number of Platforms: 9
Number of Halting Trains: 52
Number of Originating Trains: 19
Number of Terminating Trains: 18
Rating: 3.8/5 (224 votes)
cleanliness - good (28)
porters/escalators - good (28)
food - good (28)
transportation - good (29)
lodging - good (28)
railfanning - good (27)
sightseeing - good (28)
safety - good (28)
Show ALL Trains

Station News

Page#    Showing 1 to 20 of 564 News Items  next>>
मुरादाबाद, जेएनएन। हरिद्वार स्टेशन पर रेलवे सुरक्षा बल के एक आरक्षी की बहादुरी की चर्चाएं हो रहीं हैं। आरक्षी ने अपनी जान पर खेलकर ट्रेन से नीचे उतरते समय गिरे यात्री को बचा लिया। यात्री ने आरक्षी का धन्यवाद ही अदा नहीं किया बल्कि वह जान बचाने वाले के गले लग गया।
दरअसल शनिवार को रेलवे स्टेशन हरिद्वार के प्लेटफार्म नंबर एक पर लिंक एक्सप्रेस से एक यात्री चलती ट्रेन से नीचे उतरते समय गिर गया। वह ट्रेन व प्लेटफार्म की चपेट में आने वाला था। इस दौरान रेलवे सुरक्षा बल पोस्ट हरिद्वार पर तैनात आरक्षी दिनेश लाल ड्यूटी पर थे। उन्होंने जैसे ही यात्री को चलती ट्रेन और प्लेटफार्म के बीच आते देखा तुरंत उसे खींचकर जान बचा ली। यात्री को
...
more...
अपने साथ हुई घटना में उबरने में काफी समय लगा। इसके बाद वह आरक्षी के गले लग गया और धन्यवाद भी जताया। आरक्षी दिनेश लाल के इस सराहनीय कार्य से यात्री की जान बच गई। रेलवे के अधिकारियों ने भी आरक्षी के इस प्रयास की सराहना की है। कर्मी को इनाम मिलने भी संभावना जताई जा रही है।

मुरादाबाद मंडल में मालभाड़े की ऑनलाइन भुगतान की शुरुआत
रेल मंडल ने डिजिटल इंडिया की ओर एक और कदम बढ़ाया है। मंडल के दो रेलवे स्टेशन पर मालाभाड़े के आनलाइन भुगतान की व्यवस्था की शुरुआत की गई। सीनियर डीसीएम रेखा शर्मा ने बताया कि मंडल के अमरोहा से शनिवार को 64 टन जेगरी डिब्रूगढ़ के लिए लोड किया गया। इसके मालभाड़े का भुगतान आनलाइन किया गया। वहीं बरेली रेलवे स्टेशन से 64 टन मसूर दाल जिरिनिया त्रिपुरा के लिए लोड की गई। इसका भी भुगतान आनलाइन किया गया। मालभाड़े की ऑन लाइन भुगतान की सुविधा से ग्राहकों और रेलवे दोनों को लाभ मिलेगा। लंबी चौड़ी कागजी प्रक्रिया के साथ समय की भी बचत होगी। डीडी आदि बनवाने के लिए बैंक के चक्कर भी नहीं लगाने पड़ेंगे।
 
पर्यावरण संरक्षण के साथ बिजली खर्च बचाने के लिए रेलवे स्टेशनों को पूरी तरह से हरित ऊर्जा से रोशन करने की योजना तैयार हो गई है। हरित ऊर्जा का दायरा इतना बड़ा होगा कि स्टेशन की लाइटों के अलावा सिग्नल प्रणाली भी इसी से संचालित किए जाएंगे। इसके लिए देहरादून, हरिद्वार, रुड़की और ऋषिकेश समेत उत्तराखंड के छह स्टेशनों पर सौर ऊर्जा पैनल लगाए जा रहे हैं।
पर्यावरण संरक्षण को लेकर रेलवे बेहद गंभीर है। साथ ही कोरोना काल में हुए नुकसान को कम करने के लिए भी रेलवे कई तरह की योजनाएं बना रहा है। बता दें कि रेलवे स्टेशनों को रोशन करने में बिजली मद में हर महीने लाखों रुपये खर्च होते हैं। इस खर्च में कमी लाने के लिए
...
more...
रेलवे स्टेशनों को सोलर प्लेट से आच्छादित किया जा रहा है ताकि स्टेशनों पर होने वाली ऊर्जा की खपत को ज्यादा से ज्यादा हरित ऊर्जा से पूरा किया जा सके।
वहीं, परंपरागत ऊर्जा स्त्रोतों के लगातार खत्म हो रहे भंडार को देखते हुए ऊर्जा मंत्रालय देशभर में हरित ऊर्जा को बढ़ावा दे रहा है। रेलवे सर्वाधिक ऊर्जा की खपत करने वाले विभागों में से एक है। ऐसे में रेल परिसरों में चलने वाले तमाम उपकरणों के लिए भी हरित ऊर्जा के तौर पर सोलर ऊर्जा का इस्तेमाल करने की योजना तैयार की गई है। इसके तहत छह स्टेशनों पर सौर ऊर्जा की प्लेटें लगाई जा रही हैं। संवाद
पूरी बिल्डिंग को मिलेगी बिजली
सौर ऊर्जा पैनल लगने से पूरे स्टेशन को बिजली मिलेगी। पावर केबिन से लेकर रिटायरिंग रूम, रनिंग रूम, वेटिंग हॉल, आरक्षण कक्ष, साधारण टिकट काउंटर, जीआरपी, आरपीएफ के थाने, अतिथि कक्ष में भी सौर ऊर्जा से ही कूलर, पंखे व लाइटें चलेंगी। वहीं, हरिद्वार और देहरादून रेलवे स्टेशन पर तो ट्रेनों को धोने के लिए भी सौर ऊर्जा पैनल का ही इस्तेमाल किया जाएगा।
विज्ञापन
स्टेशन बिल्डिंग, सिक लाइन, बुकिंग ऑफिस होगा रोशन
देहरादून रेलवे स्टेशन पर बिल्डिंग को रोशन करने के लिए 84.18 मेगावाट का पैनल लगाया जाएगा। जबकि सिक लाइन और कंप्रेशन रूम के लिए 19.5 मेगावाट का पैनल लगाया जाएगा। द्वितीय बुकिंग ऑफिस में 20.14 मेगावाट का पैनल लगेगा। हरिद्वार में बिल्डिंग के लिए 28 मेगावाट, वाशिंग लाइन के लिए 5.2 मेगावाट का पैनल लगाया जाएगा।
बाकी स्टेशनों पर सिर्फ बिल्डिंग को रोशन करने के लिए पैनल लगाए जाएंगे। डोईवाला में 5.2, ज्वालापुर में 20.15, ऋषिकेश में 20.15, रायवाला में 10.075 और रुड़की रेलवे स्टेशन पर 45.175 मेगावाट के सोलर पैनल लगाए जा रहे हैं।
रुकेगी डीजल की खपत
रेलवे अधिकारियों के अनुसार, इससे सोलर ऊर्जा को बढ़ावा मिलेगा। स्टेशन पर डीजल की खपत को भी कम किया जाएगा। ऐसे स्टेशन, जो दूरस्थ क्षेत्रों में हैंस वहां भी निर्बाध रोशनी उपलब्ध कराई जा सकेगी
पर्यावरण संरक्षण को लेकर रेलवे गंभीर है। अधिकांश कार्यों को हरित ऊर्जा से ही संपादित करने का लक्ष्य रखा गया है। इसके तहत देहरादून, हरिद्वार, ऋषिकेश, रायवाला, ज्वालापुर और रुड़की रेलवे स्टेशनों पर सौर ऊर्जा पैनल लगाए जा रहे हैं।
- रेखा शर्मा, सीनियर डीसीएम, मुरादाबाद मंडल
Jun 11 (12:50) UKMRC submits DPR of Rs 1,663 crore Metro Neo project for Uttarakhand (urbantransportnews.com)
Metro
0 Followers
4089 views

News Entry# 455736  Blog Entry# 4982786   
  Past Edits
Jun 11 2021 (12:51)
Station Tag: Haridwar/HW added by ⭐ ⭐ ⭐ Telangana Express Oops AP Express ⭐ ⭐ ⭐/1366147

Jun 11 2021 (12:51)
Station Tag: Dehradun Terminal/DDN added by ⭐ ⭐ ⭐ Telangana Express Oops AP Express ⭐ ⭐ ⭐/1366147
Stations:  Dehradun Terminal/DDN   Haridwar/HW  
Dehradun, India (Urban Transport News): The Government of Uttarakhand initially planned a Metro system for the Dehradun-Haridwar Metropolitan area for which Delhi Metro Rail Corporation prepared a DPR in January 2020 as per Metro Rail Policy 2017 issued by the Ministry of Housing & Urban Affairs (MoHUA), Government of India and recommended Metrolite system for all the four corridors including two corridors in Dehradun city (North-South corridor from ISBT to Kandholi and East-West corridor from FRI to Raipur). No decision could be taken on this DPR due to various factors including high cost.
In the meantime, MoHUA has recently issued standard specifications of Metro Neo in November 2020. The first project of Metro Neo has been planned in the city of Nashik,
...
more...
Maharashtra. The cost of Metro Neo being much less than Metrolite, it has been decided in a meeting chaired by Chief Minister Torath Singh Rawat on January 29, 2021, that Metro Neo should be examined for implementation in place of Metrolite in Dehradun city for both corridors (N-S & E-W) except the stretch of NS corridor on Rajpur road.
In view of the above, a new DPR for Metro Neo has been prepared by Uttarakhand Metro Rail, Urban Infrastructure & Building Construction Corp. Ltd. based on primary & secondary traffic data collected for the DPR of Metrolite including Topography survey and Geotechnical investigations etc. Cost estimations in this DPR are broadly based on Nashik Metro Neo DPR. Considering an escalation at the rate of 5% per year.
As decided, the stretch on Rajpur Road, from Gandhi Park to Kandholi, has been excluded and the N-S corridor considered in this DPR is only from ISBT to Gandhi Park (8.523 Kms). The stretch of 2.52 Kms (Gandhi Park to Kandholi) on the Rajpur Road will be served either by running the Metro Neo coaches as battery-operated buses at grade in shared access with other traffic or by some other suitable mode of transport so that there is no impact on the ridership estimated in the DPR of Metrolite and same ridership estimation and projections have been taken in this DPR.
The proposed Metro Neo corridors in the Dehradun city area are one from ISBT to Gandhi Park which runs north-south and another from FRI to Raipur which runs East-West. The Ghantaghar Station will be the Interchange Station between the two Metro Neo Corridors.
Corridor-1 runs from ISBT to Gandhi Park, via Sewla Kalan, ITI, Lalpul, Chamanpuri, Pathri Bagh, Railway Station, District Court, and Ghantaghar.
Corridor-2 runs from FRI to Raipur via Ballupur Chowk, IMA Blood Bank, Doon School, Malhotra Bazar, Ghantaghar, CCMC, Araghar Chowk, Nehru Colony, Rispana/Vidhan Sabha, Upper Badrish Colony, Upper Nathanpur, Ordnance Factory, and Hathi Khana Chowk. A total of 25 (10 on N-S and 15 on E-W corridors) stations have been proposed along both the corridors and all the stations are Elevated.
Corridors planned in new DPR
Corridor 1: ISBT Dehradun - Gandhi Park
Corridor 2: FRI - Raipur
Estimated Cost: (January 2021 price level)
Selection of technology
The proposed Metro Neo system will be designed to comply with the performance, environmental and design criteria. The proposed rolling stock will be low floor rubber tyred electric coaches. Such type of coach offers great modularity and flexibility since the coach can be customized to fit different customer requirements.
Multi-model Integration
These corridors are planned for a multi-modal system, where the proposed Metro Neo will be complemented by the city bus services currently under implementation and feeder services to be deployed by Uttarakhand Government. The need is now to ensure that people have safe, comfortable and secure access to the above modes as well as seamless integration facilities.
Jun 02 (11:28) बरेलीराज्यरानी, बरेली इंटरसिटी, सियालदह समेत 14 जोड़ी ट्रेनें चलेंगी (www.livehindustan.com)
Commentary/Human Interest
NER/North Eastern
0 Followers
26570 views

News Entry# 454219  Blog Entry# 4975265   
  Past Edits
Jun 02 2021 (11:28)
Station Tag: Saharanpur Junction/SRE added by Rhythms of Rail/100643

Jun 02 2021 (11:28)
Station Tag: Jammu Tawi/JAT added by Rhythms of Rail/100643

Jun 02 2021 (11:28)
Station Tag: Amritsar Junction/ASR added by Rhythms of Rail/100643

Jun 02 2021 (11:28)
Station Tag: Rishikesh/RKSH added by Rhythms of Rail/100643

Jun 02 2021 (11:28)
Station Tag: Haridwar/HW added by Rhythms of Rail/100643

Jun 02 2021 (11:28)
Station Tag: New Delhi/NDLS added by Rhythms of Rail/100643

Jun 02 2021 (11:28)
Station Tag: Dehradun Terminal/DDN added by Rhythms of Rail/100643

Jun 02 2021 (11:28)
Station Tag: Varanasi Junction/BSB added by Rhythms of Rail/100643

Jun 02 2021 (11:28)
Station Tag: Bareilly Junction/BE added by Rhythms of Rail/100643

Jun 02 2021 (11:28)
Station Tag: Meerut City Junction/MTC added by Rhythms of Rail/100643

Jun 02 2021 (11:28)
Station Tag: Lucknow Charbagh NR/LKO added by Rhythms of Rail/100643

Jun 02 2021 (11:28)
Station Tag: Shaktinagar (Terminal)/SKTN added by Rhythms of Rail/100643

Jun 02 2021 (11:28)
Station Tag: Singrauli/SGRL added by Rhythms of Rail/100643

Jun 02 2021 (11:28)
Station Tag: Tanakpur/TPU added by Rhythms of Rail/100643
शायद आप ऐड ब्लॉकर का इस्तेमाल कर रहे हैं। पढ़ना जारी रखने के लिए ऐड ब्लॉकर को बंद करके पेज रिफ्रेश करें।
यूपी में कोरोना कर्फ्यू हटते के साथ ही रेल संचालन बहाली की उम्मीद जगी है। मंगलवार से प्रदेश के 61 शहरों में बाजार खुल गए। इसी के साथ रेलवे ने कोरोना से बंद चल रही ट्रेनों को चलाने का मसौदा तैयार कर लिया है। मेरठ से लखनऊ के बीच राज्यरानी, बरेली-नई दिल्ली इंटरसिटी, सियालदाह समेत चौदह जोड़ी ट्रेनों को नियमित चलाने का प्रस्ताव रेल मुख्यालय को भेजा गया है। इनमें सहारनपुर-लखनऊ समेत तीन पैसेंजर ट्रेनें भी है।
अप्रैल
...
more...
के बाद से तेजी से बढ़ी कोविड महामारी में मौतों ने रेल पटरी को बेपटरी कर दिया। लगातार यात्री घटने पर रेल प्रशासन को बारी बारी से ट्रेनों का रद करना पड़ा। मंडल में मुश्किल से 45 जोड़ी ट्रेनें चल रही है। अब केसों की संख्या कम होते ही मुरादाबाद समेत चार गुना शहर 'अनलॉक' होने से रेल मुख्यालय ने प्रमुख गाड़ियों का ब्योरा मांगा है। इसके बाद सुबह से ही मंडल की रश व लोकप्रिय ट्रेनों की सूची बनाने का काम शुरू हो गया। इनमें बरेली से नई दिल्ली इंटरसिटी, मेरठ-लखनऊ राज्यरानी, सियालहाद से जम्मूतवी सियालदाह एक्सप्रेस, देहरादून से नई दिल्ली शताब्दी, देहरादून-अमृतसर लाहौरी एक्सप्रेस, दिल्ली-टनकपुर (पुरानी ऊना हिमाचल) समेत 11 जोड़ी ट्रेनें है। बरेली से चार ट्रेनें भी शामिल की गई है। मंडल की प्रसिद्ध गाड़ी सहारनपुर-लखनऊ, बुलंदशहर से तिलक ब्रिज समेत तीन पैसेंजर ट्रेनें चलेगी।
संक्रमण घटने के साथ ही चौदह जोड़ी ट्रेनों को चलाया जाएंगा। रेल मुख्यालय को एक्सप्रेस व पैसेंजर ट्रेनों को चलाने का प्रस्ताव भेजा गया है। मुख्यालय ने हरी झंडी मिलने के बाद संचालन शुरु हो जाएगा। जनरल काउंटरों पर स्टाफ बढ़ाया जाएगा।
रेखा शर्मा सीनियर डीसीएम मुरादाबाद।
ट्रेन -नाम कहां से कहां
04315-16 बरेली-नई दिल्ली इंटरसिटी
22453-54 लखनऊ-मेरठ राज्यरानी एक्सप्रेस
03151-52 सियालदाह-जम्मूतवी सियालदाह एक्स.
04235-36 बरेली-वाराणसी
04307-08 बरेली-लखनऊ-प्रयागराज
02055-56 देहरादून-नई दिल्ली शताब्दी
04609-10 हरिद्वार-ऋषिकेश
04631-32 देहरादून-अमृतसर लाहौरी एक्सप्रेस
05073-74 टनकपुर-सिंगरौली
05075-76 टनकपुर-शक्तिनगर
04555-56 टनकपुर-दिल्ली
पैसेंजर-
54251-52 सहारनपुर-लखनऊ
54463-64 ऋषिकेश-बांदीकुई
64567-68 बुलंदशहर-तिलकब्रिज
May 28 (15:56) हरिद्वार रेलवे अंडरपास का अधूरा कार्य जल्द हो पूरा (www.livehindustan.com)
NR/Northern
0 Followers
4589 views

News Entry# 453154  Blog Entry# 4971604   
  Past Edits
May 28 2021 (15:56)
Station Tag: Haridwar/HW added by ⭐ ⭐ ⭐ Telangana Express Oops AP Express ⭐ ⭐ ⭐/1366147
Stations:  Haridwar/HW  
वरिष्ठ नागरिक सामाजिक संगठन में ज्वालापुर रेलवे अंडरपास का अधूरा कार्य जल्द पूरा कराने की मांग को लेकर उत्तर रेलवे मुरादाबाद रेल मंडल के डीआरएम को पत्र भेजा है। इसके साथ ही उन्होंने जलभराव की समस्या का भी समाधान कराने की मांग की है। डीआरएम के अलावा डीएम और सिटी मजिस्ट्रेट को भी पत्र की प्रतिलिपि भेजी है।
अध्यक्ष चौधरी चरण सिंह ने डीआरएम को भेजे पत्र में कहा कि ज्वालापुर फाटक 16 बी पर अंडर पास बनाया गया है। बारिश के कारण अंडरपास में भारी पानी भर जाता है। पानी निकासी न होने के कारण यातायात में व्यवधान पैदा हो जाता है। जिससे स्थानीय लोगों को बहुत परेशानी उठानी पड़ती है। कुछ दिनों बाद बरसात का मौसम शुरू हो जाएगा। उन्होंने
...
more...
कहा कि अधूरे पड़े कार्य जिसमें दोनों साइड में फुटपाथ, सड़क के बीच में डिवाइडर प्रकाश की व्यवस्था, पानी निकासी व्यवस्था और अंडरपास के ऊपर ऊपर दोनों साइड में टीन शेड की व्यवस्थ होनी बहुत जरूरी है। यदि अधूरे निर्माण कार्य समय रहते पूरे नहीं किए जाएंगे तो यातायात में परेशानी पैदा होगी।अंडरपास का जनता को लाभ कम और परेशानी अधिक बढ़ जाएगी। मांग करने वालों में विद्यासागर गुप्ता, योगेंद्र राणा, ताराचंद, शिवचरण भास्कर, एनसी काला, श्याम सिंह, पीसी धीमान, हरदयाल अरोड़ा, प्रेम कुमार, शिवचरण, भोपाल सिंह, कर्मवीर सिंह, गिरधारी लाल शर्मा, देवी दयाल, वीरेश, चमन सिंह, राजपाल, छोटन सिंह आदि शामिल रहे।
Page#    Showing 1 to 20 of 564 News Items  next>>

Scroll to Top
Scroll to Bottom
Go to Mobile site
Important Note: This website NEVER solicits for Money or Donations. Please beware of anyone requesting/demanding money on behalf of IRI. Thanks.
Disclaimer: This website has NO affiliation with the Government-run site of Indian Railways. This site does NOT claim 100% accuracy of fast-changing Rail Information. YOU are responsible for independently confirming the validity of information through other sources.
India Rail Info Privacy Policy