Spotting
 Timeline
 Travel Tip
 Trip
 Race
 Social
 Greeting
 Poll
 Img
 PNR
 Pic
 Blog
 News
 Conf TL
 RF Club
 Convention
 Monitor
 Topic
 #
 Rating
 Correct
 Wrong
 Stamp
 PNR Ref
 PNR Req
 Blank PNRs
 HJ
 Vote
 Pred
 @
 FM Alert
 FM Approval
 Pvt
News Super Search
 ↓ 
×
Member:
Posting Date From:
Posting Date To:
Category:
Zone:
Language:
IR Press Release:

Search
  Go  
dark mode

patri ke is taraf ya us taraf, zindagi mein hum sab RailFan ek taraf - Ananya D'Souza

Full Site Search
  Full Site Search  
FmT LIVE - Follow my Trip with me... LIVE
 
Fri Jan 28 18:22:18 IST
Home
Trains
ΣChains
Atlas
PNR
Forum
Quiz Feed
Topics
Gallery
News
FAQ
Trips
Login
Post PNRAdvanced Search
Large Station Board;
Entry# 1444017-0

CKH/Chakand (2 PFs)
چاكند     चाकन्द

Track: Double Electric-Line

Show ALL Trains
0631-241502, National Highway 83, Chakand
State: Bihar

Elevation: 106 m above sea level
Zone: ECR/East Central   Division: Danapur

No Recent News for CKH/Chakand
Nearby Stations in the News
Type of Station: Regular
Number of Platforms: 2
Number of Halting Trains: 42
Number of Originating Trains: 0
Number of Terminating Trains: 0
0 Follows
Rating: NaN/5 (0 votes)
cleanliness - n/a (0)
porters/escalators - n/a (0)
food - n/a (0)
transportation - n/a (0)
lodging - n/a (0)
railfanning - n/a (0)
sightseeing - n/a (0)
safety - n/a (0)
Show ALL Trains

Station News

Page#    Showing 1 to 8 of 8 News Items  
Dec 16 2020 (10:29) बैठक:रेलवे के अधिकारियों ने गया जंक्शन व चाकंद स्टेशन के गुड्स शेड्स को जांचा (www.bhaskar.com)
Other News
ECR/East Central
0 Followers
16409 views

News Entry# 428697  Blog Entry# 4814093   
  Past Edits
Dec 16 2020 (10:30)
Station Tag: Chakand/CKH added by Anupam Enosh Sarkar/401739

Dec 16 2020 (10:30)
Station Tag: Gaya Junction/GAYA added by Anupam Enosh Sarkar/401739
Stations:  Gaya Junction/GAYA   Chakand/CKH  
दानापुर व डीडीयू रेल मंडल के रेल अफसरों ने चांकद स्टेशन के पास नव निर्मित गुड्स शेड व गया जंक्शन मालगोदाम का निरीक्षण किया। गुडस ट्रेन से लोडिंग व अनलोडिंग में स्थानीय व्यापारियों की भागीदारी सुनिश्चित हो इसके लिए अफसरों ने उनके साथ बैठक की।
तीन सदस्यी निरीक्षण टीम में दानापुर रेल मंडल से एडीआरएम (अपर मंडल रेल प्रबंधक) विभूति भूषण गुप्ता, सीनियर डीओएम व डीडीयू रेल मंडल के सीनियर डीसीएम रूपेश कुमार शामिल थे। चाकंद के अलावे गया गुड्स शेड के पास व्यापारियों की हुई बैठक में रेलवे के द्वारा हर संभव सहयोग का भरोसा दिया गया।
व्यापारियों
...
more...
ने सामानों की लोडिंग-अनलोडिंग से संबंधित समस्याएं भी गिनाईं। जिसे अफसरों ने जल्द ही निदान करने का विश्वास दिलाया। रेल अफसरों का संयुक्त निरीक्षण रेलवे राजस्व बढ़ाने की कवायद के तौर पर देखी जा रही है। मौके पर स्टेशन प्रबंधक टू बिपीन कुमार सिन्हा, एसएम दीपक कुमार आदि मौजूद थे।
गया जंक्शन के डेल्हा साइड बनेगा शौचालयगया जंक्शन के डेल्हा साइड व मुख्य प्रवेश की ओर एक एक शौचालय बनाने को चर्चा की। जंक्शन के सर्कुलेटिंग एरिया में पे एंड यूज शौचालय के पास गंदगी देश सीनियर डीएसीएम भड़के व जुर्माना का निर्देश दिया। जहां तहां यूरिन फैला देख नाराजगी जाहिर की। जंक्शन परिसर में यात्री सुविधा स्टॉल बढ़ाने की आवश्यकता पर भी चर्चा की।
Nov 28 2020 (15:36) Indian Rail News: गया के पास चाकंद में बना गुड्स यार्ड, आसपास के व्‍यवसायियों को होगा लाभ (www.jagran.com)
New Facilities/Technology
ECR/East Central
0 Followers
18903 views

News Entry# 426334  Blog Entry# 4793905   
  Past Edits
Nov 28 2020 (15:36)
Station Tag: Patna Junction/PNBE added by MahaBOBHI Express/1490219

Nov 28 2020 (15:36)
Station Tag: Gaya Junction/GAYA added by MahaBOBHI Express/1490219

Nov 28 2020 (15:36)
Station Tag: Chakand/CKH added by MahaBOBHI Express/1490219
गया व जहानाबाद के साथ ही आसपास के जिलों में सीमेंट और अन्‍य सामान मंगाने वाले व्‍यवसायियों के लिए रेलवे ने अच्‍छी खबर दी है। रेलवे ने इस क्षेत्र के लिए गया जंक्‍शन से सटे चाकंद रेलवे स्‍टेशन पर नया गुड्स यार्ड बनाया है। चाकंद रेलवे स्‍टेशन पटना-गया रेल लाइन पर स्थित है, यह गया जंक्‍शन से करीब 10 किलोमीटर दूरी पर इस रेलखंड का गया के बाद पहला रेलवे स्‍टेशन है। यहां नया गुड्स यार्ड बनकर तैयार हो गया है, जहां एक बार में दो रैक को खाली करने की व्‍यवस्‍था की गई है। गया और जहानाबाद में नो इंट्री और जाम के कारण परेशान हाेते थे व्‍यवसायी भीषण जाम व भारी वाहनों के नो इंट्री होने से व्यापारियों को सीमेंट अथवा अन्य सामानों का रैक मंगवाने के बाद उसे खाली कराने में काफी परेशानियों का सामना करना पड़ रहा था। गुड‌्स यार्ड से रैक नहीं खाली कराने पर रेलवे...
more...
की ओर से भारी जुर्माना वसूला जाता था तो नो इंट्री में वाहन ले  जाने पर  यातायात पुलिस की ओर से अलग से जुर्माना वसूला जा रहा था। व्यापारियों की  परेशानियों को देखते हुए  रेलवे  की ओर से दोनों शहर से हटकर बीचोबीच जाम से बचते हुए गुड्स यार्ड बनाने का प्रस्ताव दिया गया। चाकंद स्टेशन के पास मुख्य सड़क से 100 मीटर किनारे इसके लिए रेलवे की तरफ से जमीन मुहैया कराई गई। बाद में यहीं पर रेलवे की ओर से काफी बड़े क्षेत्र में गुड्स यार्ड बनाया गया। एक साथ दो-दो रैक के खाली करने की व्यवस्था की गई। Bihar Politics: ललन पासवान को लालू से क्‍यों लग रहा है डर, सदन और विजिलेंस कोर्ट में सुरक्षा की गुहार लगाई यह भी पढ़ें गुड्स यार्ड के लिए बनाया गया है करीब पौन किलोमीटर लंबा प्‍लेटफॉर्म इस संबंध में पूर्व मध्य रेल के मुख्य जन संपर्क अधिकारी राजेश कुमार ने बताया कि इस गुड्स यार्ड के लिए 727 मीटर लंबा प्लेटफार्म बनाया गया है। यहां ट्रकों को खड़ी करने के लिए पर्याप्त जगह है। एक साथ पन्द्रह से बीस ट्रक लगाकर माल की अनलोडिंग कराई जा सकती है। चाकंद गुड्स यार्ड में सीमेंट, रासायनिक खाद, नमक, स्टोन चिप्स के साथ ही अन्य खाद्यान्न सामग्री लाए या भेजे जा सकते हैं।
यहां व्‍यवसायियों को मिलेगी दिन-रात लोडिंग-अनलोडिंग की सुविधा व्यापारियों को यहां से जहानाबाद, मकदुमपुर, बेला, गया, खिजरसराय, वजीरगंज, हिसुआ, बोधगया, डोभी आदि छोटे-बड़े शहरों में माल ले जाना आसान होगा। यहां दिन-रात माल की लोडिंग व अनलोडिंग की व्यवस्था होगी। वाहन चालकों के लिए शौचालय व स्नानागार भी बनाने की योजना है। इससे ट्रक चालक दिन-रात यहां से माल लोड-अनलोड कर सकेंगे। यहां गुड्स यार्ड बनने से आसपास के क्षेत्रों के सैकडों मजदूरों व बेरोजगारों को रोजगार मिलेगा। इससे इस क्षेत्र का भी विकास होगा। डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस
पटना, जेएनएन। गया व जहानाबाद के साथ ही आसपास के जिलों में सीमेंट और अन्‍य सामान मंगाने वाले व्‍यवसायियों के लिए रेलवे ने अच्‍छी खबर दी है। रेलवे ने इस क्षेत्र के लिए गया जंक्‍शन से सटे चाकंद रेलवे स्‍टेशन पर नया गुड्स यार्ड बनाया है। चाकंद रेलवे स्‍टेशन पटना-गया रेल लाइन पर स्थित है, यह गया जंक्‍शन से करीब 10 किलोमीटर दूरी पर इस रेलखंड का गया के बाद पहला रेलवे स्‍टेशन है। यहां नया गुड्स यार्ड बनकर तैयार हो गया है, जहां एक बार में दो रैक को खाली करने की व्‍यवस्‍था की गई है।
गया और जहानाबाद में नो इंट्री और जाम के कारण परेशान हाेते थे व्‍यवसायी
भीषण जाम व भारी वाहनों के नो इंट्री होने से व्यापारियों को सीमेंट अथवा अन्य सामानों का रैक मंगवाने के बाद उसे खाली कराने में काफी परेशानियों का सामना करना पड़ रहा था। गुड‌्स यार्ड से रैक नहीं खाली कराने पर रेलवे की ओर से भारी जुर्माना वसूला जाता था तो नो इंट्री में वाहन ले  जाने पर  यातायात पुलिस की ओर से अलग से जुर्माना वसूला जा रहा था। व्यापारियों की  परेशानियों को देखते हुए  रेलवे  की ओर से दोनों शहर से हटकर बीचोबीच जाम से बचते हुए गुड्स यार्ड बनाने का प्रस्ताव दिया गया। चाकंद स्टेशन के पास मुख्य सड़क से 100 मीटर किनारे इसके लिए रेलवे की तरफ से जमीन मुहैया कराई गई। बाद में यहीं पर रेलवे की ओर से काफी बड़े क्षेत्र में गुड्स यार्ड बनाया गया। एक साथ दो-दो रैक के खाली करने की व्यवस्था की गई।

गुड्स यार्ड के लिए बनाया गया है करीब पौन किलोमीटर लंबा प्‍लेटफॉर्म
इस संबंध में पूर्व मध्य रेल के मुख्य जन संपर्क अधिकारी राजेश कुमार ने बताया कि इस गुड्स यार्ड के लिए 727 मीटर लंबा प्लेटफार्म बनाया गया है। यहां ट्रकों को खड़ी करने के लिए पर्याप्त जगह है। एक साथ पन्द्रह से बीस ट्रक लगाकर माल की अनलोडिंग कराई जा सकती है। चाकंद गुड्स यार्ड में सीमेंट, रासायनिक खाद, नमक, स्टोन चिप्स के साथ ही अन्य खाद्यान्न सामग्री लाए या भेजे जा सकते हैं।

यहां व्‍यवसायियों को मिलेगी दिन-रात लोडिंग-अनलोडिंग की सुविधा
व्यापारियों को यहां से जहानाबाद, मकदुमपुर, बेला, गया, खिजरसराय, वजीरगंज, हिसुआ, बोधगया, डोभी आदि छोटे-बड़े शहरों में माल ले जाना आसान होगा। यहां दिन-रात माल की लोडिंग व अनलोडिंग की व्यवस्था होगी। वाहन चालकों के लिए शौचालय व स्नानागार भी बनाने की योजना है। इससे ट्रक चालक दिन-रात यहां से माल लोड-अनलोड कर सकेंगे। यहां गुड्स यार्ड बनने से आसपास के क्षेत्रों के सैकडों मजदूरों व बेरोजगारों को रोजगार मिलेगा। इससे इस क्षेत्र का भी विकास होगा।
डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस
Copyright ©2020 Jagran Prakashan Limited.
Active:4,54,998
Death:1,36,200
Nov 28 2020 (07:19) Indian Rail News: गया के पास चाकंद में बना गुड्स यार्ड, आसपास के व्‍यवसायियों को होगा लाभ (m.jagran.com)
Commentary/Human Interest
ECR/East Central
0 Followers
14539 views

News Entry# 426270  Blog Entry# 4793399   
  Past Edits
Nov 28 2020 (07:19)
Station Tag: Chakand/CKH added by Anupam Enosh Sarkar/401739
Stations:  Chakand/CKH  
पटना, जेएनएन। गया व जहानाबाद के साथ ही आसपास के जिलों में सीमेंट और अन्‍य सामान मंगाने वाले व्‍यवसायियों के लिए रेलवे ने अच्‍छी खबर दी है। रेलवे ने इस क्षेत्र के लिए गया जंक्‍शन से सटे चाकंद रेलवे स्‍टेशन पर नया गुड्स यार्ड बनाया है। चाकंद रेलवे स्‍टेशन पटना-गया रेल लाइन पर स्थित है, यह गया जंक्‍शन से करीब 10 किलोमीटर दूरी पर इस रेलखंड का गया के बाद पहला रेलवे स्‍टेशन है। यहां नया गुड्स यार्ड बनकर तैयार हो गया है, जहां एक बार में दो रैक को खाली करने की व्‍यवस्‍था की गई है।
गया और जहानाबाद में नो इंट्री और जाम के कारण परेशान हाेते थे व्‍यवसायी
भीषण
...
more...
जाम व भारी वाहनों के नो इंट्री होने से व्यापारियों को सीमेंट अथवा अन्य सामानों का रैक मंगवाने के बाद उसे खाली कराने में काफी परेशानियों का सामना करना पड़ रहा था। गुड‌्स यार्ड से रैक नहीं खाली कराने पर रेलवे की ओर से भारी जुर्माना वसूला जाता था तो नो इंट्री में वाहन ले  जाने पर  यातायात पुलिस की ओर से अलग से जुर्माना वसूला जा रहा था। व्यापारियों की  परेशानियों को देखते हुए  रेलवे  की ओर से दोनों शहर से हटकर बीचोबीच जाम से बचते हुए गुड्स यार्ड बनाने का प्रस्ताव दिया गया। चाकंद स्टेशन के पास मुख्य सड़क से 100 मीटर किनारे इसके लिए रेलवे की तरफ से जमीन मुहैया कराई गई। बाद में यहीं पर रेलवे की ओर से काफी बड़े क्षेत्र में गुड्स यार्ड बनाया गया। एक साथ दो-दो रैक के खाली करने की व्यवस्था की गई।
गुड्स यार्ड के लिए बनाया गया है करीब पौन किलोमीटर लंबा प्‍लेटफॉर्म
इस संबंध में पूर्व मध्य रेल के मुख्य जन संपर्क अधिकारी राजेश कुमार ने बताया कि इस गुड्स यार्ड के लिए 727 मीटर लंबा प्लेटफार्म बनाया गया है। यहां ट्रकों को खड़ी करने के लिए पर्याप्त जगह है। एक साथ पन्द्रह से बीस ट्रक लगाकर माल की अनलोडिंग कराई जा सकती है। चाकंद गुड्स यार्ड में सीमेंट, रासायनिक खाद, नमक, स्टोन चिप्स के साथ ही अन्य खाद्यान्न सामग्री लाए या भेजे जा सकते हैं।
यहां व्‍यवसायियों को मिलेगी दिन-रात लोडिंग-अनलोडिंग की सुविधा
व्यापारियों को यहां से जहानाबाद, मकदुमपुर, बेला, गया, खिजरसराय, वजीरगंज, हिसुआ, बोधगया, डोभी आदि छोटे-बड़े शहरों में माल ले जाना आसान होगा। यहां दिन-रात माल की लोडिंग व अनलोडिंग की व्यवस्था होगी। वाहन चालकों के लिए शौचालय व स्नानागार भी बनाने की योजना है। इससे ट्रक चालक दिन-रात यहां से माल लोड-अनलोड कर सकेंगे। यहां गुड्स यार्ड बनने से आसपास के क्षेत्रों के सैकडों मजदूरों व बेरोजगारों को रोजगार मिलेगा। इससे इस क्षेत्र का भी विकास होगा।
Sep 28 2018 (20:19) चाकंद स्टेशन के पास टूटा ट्रैक्शन तार, अटकीं ट्रेनें (www.livehindustan.com)
Major Accidents/Disruptions
ECR/East Central
0 Followers
29723 views

News Entry# 361380  Blog Entry# 3849549   
  Past Edits
Sep 28 2018 (20:19)
Station Tag: Chakand/CKH added by Anupam Enosh Sarkar*^~/401739
गया-पटना रेल सेक्शन के चाकंद रेलवे स्टेशन के पास शुक्रवार की सुबह करीब आठ बजे ट्रैक्शन तार टूट गया। इसके कारण डाउन लाइन पर ट्रेनों का परिचालन करीब दो घंटे से ज्यादा समय तक बाधित रहा। गया जंक्शन से पटना जाने वाली सुबह साढ़े आठ और दस बजे की ट्रेन देर से खुली।ट्रेनों का लेट परिचालन से पिंडदानियों सहित यात्रियों को काफी परेशान होना पड़ा। स्टेशन प्रबंधक बीएन प्रसाद ने बताया कि चाकंद रेलवे स्टेशन के पास रेल किलो मीटर 83/30-32 पर डाउन लाइन में ओवरहेड ट्रैक्शन तार टूट गया। इसके कारण गया से सुबह साढ़े आठ बजे पटना के लिए जाने वाली 63246 मेमू ट्रेन 10:25 बजे खुली। इसी तरह सुबह 10 बजे गया से पटना जाने वाली 63248 मेमू ट्रेन 10:40 बजे खुली। ट्रैक्शन तार टूटने की घटना के बाद संबंधित विभाग के अधिकारी एवं कर्मचारी ट्रैक्शन तार ठीक करने में तत्काल जुट गए।करीब दो घंटे के मेहनत के...
more...
बाद तार को ठीक किया गया।
गया, जागरण संवाददाता: गया-पटना रेलखंड की पैसेंजर ट्रेनें 9 फरवरी से 14 फरवरी तक चाकंद स्टेशन से चलेगी। वहीं, गया-डिहरी व गया-मुगलसराय रेलखंड की पैसेंजर ट्रेनें इस रेलखंड के फेसर स्टेशन तक आएगी। और यहीं से मुगलसराय व डिहरी के लिए रवाना होगी। जबकि पटना-गया रेलखंड होकर रांची, हटिया, धनबाद, पलामू व राजगीर जाने वाली एक्सप्रेस ट्रेनें या तो रद्द रहेगी। या फिर इनमें से कुछ परिवर्तित मार्ग पर चलेंगे। ऐसा गया जंक्शन के प्लेटफार्म नंबर 8 एवं 9 के विस्तार करने व तथा करीब 30 सिग्नल प्वाइंट के ओवर हालिंग व नये प्वाइंट बनाने को लेकर होगा। इसके लिए नन-इंटरलाकिंग कार्य होने की सूचना गुरूवार को यहां पहुंच चुकी है। इस बावत पूछे जाने पर स्टेशन प्रबंधक बीएन प्रसाद कहते हैं कि 9 फरवरी से 14 फरवरी तक गया जंक्शन एनआई वर्क होने की सूचना प्राप्त हो चुकी है। लेकिन गुरूवार देर शाम तक इस संबंध में सूचना नहीं मिली...
more...
है कि कौन-कौन सी ट्रेनें रद्द रहेगी। और कौन सी ट्रेनों का परिचालन उक्त अवधि में गया से किया जाएगा। जहां तक साप्ताहिक गया-कामाख्या एक्सप्रेस की बात है तो संभावना है कि यह गया जंक्शन से ही चलेगी।
ऐसे में इतने दिनों तक गया-पटना तथा गया-मुगलसराय रेलखंड के दैनिक यात्रियों की परेशानी बढ़ी रहेगी।
रद होने वाली संभावित ट्रेनों की सूची
एनआई वर्क के कारण 9 से 14 फरवरी तक गया-पटना रेलखंड की 18623/24 पटना-हटिया रांची एक्सप्रेस, 18625/26 सहरसा-राजेन्द्र नगर-पटना-हटिया सुपरफास्ट एक्सप्रेस, 13329/3330 पटना-गया-धनबाद गंगा दामोदर एक्सप्रेस, 12365/66 पटना-वाया गया-रांची जनशताब्दी एक्सप्रेस, 13243/44 पटना वाया गया-डिहरी इंटरसीटी एक्सप्रेस के रद्द रहने की प्रबल संभावना है। जबकि 13348/47 पटना-बरकाकाना-पलामू एक्सप्रेस को मार्ग परिवर्तित करते हुए पटना-आरा-सोननगर रेलखंड से चलने की संभावना है।
--------
17 जोड़ी पैसेंजर ट्रेनों के यात्रियों की बढ़ी रहेगी परेशानी
गया-पटना रेलखंड की 11 जोड़ी ट्रेनें उक्त कार्य को लेकर चाकंद स्टेशन से चलेगी। इसके अलावा गया-डिहरी-मुगलसराय रेलखंड की 6 जोड़ी ट्रेनें फेसर स्टेशन तक आएगी। और वहीं से टर्मिनेट कर जाएगी। ऐसे में स्वाभाविक है कि इस रेलखंड पर सफर करने वाले लाखों दैनिक यात्रियों की परेशानी बढ़ी रहेगी।
Page#    Showing 1 to 8 of 8 News Items  

Scroll to Top
Scroll to Bottom
Go to Mobile site
Important Note: This website NEVER solicits for Money or Donations. Please beware of anyone requesting/demanding money on behalf of IRI. Thanks.
Disclaimer: This website has NO affiliation with the Government-run site of Indian Railways. This site does NOT claim 100% accuracy of fast-changing Rail Information. YOU are responsible for independently confirming the validity of information through other sources.
India Rail Info Privacy Policy