Spotting
 Timeline
 Travel Tip
 Trip
 Race
 Social
 Greeting
 Poll
 Img
 PNR
 Pic
 Blog
 News
 Conf TL
 RF Club
 Convention
 Monitor
 Topic
 #
 Rating
 Correct
 Wrong
 Stamp
 PNR Ref
 PNR Req
 Blank PNRs
 HJ
 Vote
 Pred
 @
 FM Alert
 FM Approval
 Pvt
News Super Search
 ↓ 
×
Member:
Posting Date From:
Posting Date To:
Category:
Zone:
Language:
IR Press Release:

Search
  Go  
dark mode

Rockfort Express: திருச்சி அவனது கோட்டை, இரவில் சென்னை வரை வேட்டை, அவன் தான் மலைக்கோட்டை. - Vijay Baradwaj

Full Site Search
  Full Site Search  
FmT LIVE - Follow my Trip with me... LIVE
 
Mon May 23 22:50:18 IST
Home
Trains
ΣChains
Atlas
PNR
Forum
Quiz Feed
Topics
Gallery
News
FAQ
Trips
Login
Post PNRPost BlogAdvanced Search

KIY/Kalayat (1 PFs)
     कलायत

Track: Single Electric-Line

Show ALL Trains
Kalayat, District Kaithal, Haryana
State: Haryana

Elevation: 229 m above sea level
Zone: NR/Northern   Division: Delhi

No Recent News for KIY/Kalayat
Nearby Stations in the News
Type of Station: Regular
Number of Platforms: 1
Number of Halting Trains: 10
Number of Originating Trains: 0
Number of Terminating Trains: 0
0 Follows
Rating: NaN/5 (0 votes)
cleanliness - n/a (0)
porters/escalators - n/a (0)
food - n/a (0)
transportation - n/a (0)
lodging - n/a (0)
railfanning - n/a (0)
sightseeing - n/a (0)
safety - n/a (0)
Show ALL Trains

Station News

Page#    Showing 1 to 10 of 10 News Items  
Feb 19 (04:27) डीआरएम के स्वागत को अतिक्रमण हटाने में जुटा रहा रेलवे (m-jagran-com.cdn.ampproject.org)
0 Followers
8007 views

News Entry# 478073  Blog Entry# 5222199   
  Past Edits
Feb 19 2022 (04:27)
Station Tag: Kalayat/KIY added by भारतीय/778285

Feb 19 2022 (04:27)
Station Tag: Narwana Junction/NRW added by भारतीय/778285

Feb 19 2022 (04:27)
Station Tag: Kaithal/KLE added by भारतीय/778285
दिल्ली के रेलवे मंडल अधीक्षक (डीआरएम) डिपी गर्ग शनिवार को नरवाना-कुरुक्षेत्र सेक्शन पर स्थित स्टेशनों का दौरा करेंगे। इस दौरान डीआरएम नरवाना कैथल और कुरुक्षेत्र के रेलवे स्टेशन का निरीक्षण करेंगे। उनके दौरे को लेकर रेलवे के अधिकारियों और कर्मचारियों ने कमर कसी।
जागरण संवाददाता, कैथल : दिल्ली के रेलवे मंडल अधीक्षक (डीआरएम) डिपी गर्ग शनिवार को नरवाना-कुरुक्षेत्र सेक्शन पर स्थित स्टेशनों का दौरा करेंगे। इस दौरान डीआरएम नरवाना, कैथल और कुरुक्षेत्र के रेलवे स्टेशन का निरीक्षण करेंगे। उनके दौरे को लेकर रेलवे के अधिकारियों और कर्मचारियों ने कमर कसी।
बता
...
more...
दें कि डीआरएम दोपहर करीब एक बजे तक कैथल के रेलवे के स्टेशन पर पहुंचेंगे, जिसके तहत शुक्रवार को रेलवे स्टेशन से लेकर रेलवे लाइन पर कार्य किया गया। इस कार्य के तहत रेलवे लाइन को ठीक करने और रेलवे लाइन की दोनों तरफ अतिक्रमण हटाने का विशेष अभियान चलाया गया। डीआरएम कोरोना महामारी से इस नरवाना-कुरुक्षेत्र रेल मार्ग पर हुए विद्युतीकरण के कार्य के बाद पहली बार पहुंचेंगे। स्टेशन पर पहुंचकर जांचेंगे व्यवस्थाएं

रेलवे की तरफ से हाल ही में कुरुक्षेत्र-नरवाना रेल सेक्शन पर कैथल, ढांड और कलायत सहित अन्य कुछ स्टेशनों पर विकास कार्य करवाए गए हैं। इसमें कैथल में नान इंटरलोकिग सिस्टम, स्टेशन पर नए भवन का निर्माण और टिकट घर और प्रतीक्षालय का निर्माण किया गया है। इसके साथ ही कलायत और ढांड में भी रेलवे स्टेशन पर कुछ निर्माण कार्य हुए हैं। इसके साथ ही नरवाना से कैथल और ढांड से पबनावा तक रेलवे लाइन को बदला गया है। यहा पर गति बढ़ाने के कार्य के तहत रेलवे ट्रैक पर मरम्मत का कार्य किया गया है। इन सभी कार्यो का निरीक्षण करने के लिए डीआरएम यहां पर पहुंचेंगे। इसके साथ ही कैथल रेलवे स्टेशन पर इस समय मिल रही यात्रियों की सुविधाओं को लेकर व्यवस्थाओं की जांच करेंगे। इसके साथ ही वे रेलवे की तरफ से करनाल रोड फाटक पर बनाए जाने वाले रेलवे एलिवेटेड ट्रैक के निर्माण को लेकर भी जांच कर सकते है। रेलवे लाइन के आसपास से अवैध कब्जे हटाएं
रेलवे की तरफ से चलाए गए अतिक्रमण के इस विशेष अभियान के तहत रेलवे लाइन के आसपास स्थित किए अवैध कब्जों को हटाया जाएगा। इस दौरान रेलवे स्टेशन से लेकर नए बस स्टैंड के पास फाटक के पास 20 से अधिक जगहों पर अवैध कब्जे हटाने की कार्रवाई की गई। यह अवैध कब्जे जेसीबी के माध्यम से हटाए गए। बता दें कि शहर में देवीगढ़ रोड से लेकर सब्जी मंडी और कुतुबपुर फाटक के समीप कई लोगों की तरफ से अवैध कब्जे किए गए थे। इन्हीं कब्जों को रेलवे की तरफ से हटाया गया। कोरोना में बंद हुई ट्रेनों को शुरू करने की लोगों की है मांग
कुरुक्षेत्र-नरवाना रेल मार्ग पर पिछले करीब दो साल से कोरोना महामारी के कारण रेलगाड़ियों को बंद किया गया था। इसके बाद यहां पर चलने वाली पांच यात्री रेलगाड़ियों में से महज एक यात्री रेलगाड़ी का ही संचालन हो पाया है। इसके साथ ही केवल एक ही एक्सप्रेस ट्रेन चलाई गई है। इस समय लोगों की कोरोना में बंद हुई सभी यात्री रेलगाड़ियों को शुरू करने की मांग है। डीआरएम के दौरे से यहां पर बंद हुई सभी यात्री रेलगाड़ियों के शुरू होने की उम्मीद भी जगी है।
कुरुक्षेत्र-नरवाना रेल मार्ग पर नरवाना, कैथल और कुरुक्षेत्र के रेलवे के स्टेशन पर दिल्ली डीआरएम निरीक्षण के लिए पहुंचेंगे। इसको लेकर एक पत्र प्राप्त हुआ है। डीआरएम नरवाना में दोपहर को साढ़े 12 के बाद पहुंचेंगे, जबकि करीब डेढ़ बजे कैथल रेलवे स्टेशन पर पहुंचेंगे।
रणधीर सिंह, स्टेशन अधीक्षक, कैथल रेलवे स्टेशन
संवाद सहयोगी, कलायत : असुविधाओं के कारण अकसर विरान रहने वाले दिल्ली मंडल के कलायत रेलवे स्टेशन पर शनिवार को उत्सव का माहौल था। खुशियों के लड्डू बांटे जा रहे थे। अधिकारियों, कर्मचारियों, यात्रियों और आम नागरिकों के चेहरों पर खुशी झलक रही थी। 131 वर्ष बाद करोड़ों रुपये के बजट से रेलवे स्टेशन को आधुनिक स्वरूप मिला है। अब जर्जर भवन की बजाए नवनिर्मित और सुधारीकरण से लैस भवन के माध्यम से लोगों को सेवाएं मिलेंगी। लोकार्पण की रस्म का निर्वहन रेलवे परिचालक प्रबंधक रामबीर सिंह ने एरिया आफिसर गुरमीत सिंह, कलायत स्टेशन अधीक्षक एनके शर्मा और रेलवे कंपनी अधिकारियों की मौजूदगी में नारियल तोड़कर किया। रेलवे मंत्रालय की सुधारीकरण योजना के तहत कलायत के साथ-साथ कैथल और पेहवा में निर्मित नए भवन का भी विधिवत उद्घाटन किया जा चुका है। कलायत के रेलवे स्टेशन पर पहले मेनुअल रूप से सिगनल होते रहे हैं।
कंप्यूटराइजड
...
more...
और वातानुकूलित सुविधाओं से लैस रहेगा कलायत स्टेशन
सिगनल की बेहद पुरानी पद्धति के अनुसार रेलवे कर्मी ट्रैक पर आने वाली गाड़ियों को सिगनल देते थे। इसमें बड़े सुधार करते हुए सिगनल की कार्यवाही कंप्यूटरकृत की गई है। इस तरह रेलवे सेवाओं को हाईटेक रूप देते हुए रेलवे मंत्रालय ने कलायत रेलवे स्टेशन को अभूतपूर्व सौगातें देने का दावा किया है। स्टेशन मास्टर एनके शर्मा ने बताया कि रेलवे विभाग यात्रियों को बेहतर सुविधाएं देने के लिए प्रभावी कदम उठाए जा रहे हैं।
अभी कुछ चुनौतियों को करना है पार
सांसद नायब सैनी लोकसभा में कलायत रेलवे स्टेशन चंडीगढ़-जयपुर इंटरसिटी गाड़ी के ठहराव की मांग पुरजोर ढंग से उठा चुके हैं। इसके साथ ही देवभूमि रेल यात्री संघर्ष समिति विभिन्न संसाधनों के जरिये इस मांग को लेकर संघर्षरत हैं। इसके अलावा नरवाना से कैथल तक डबल लाइन, उत्तर दिशा में प्लेटफार्म के विस्तार, पर्यावरण संरक्षण के मद्देनजर पार्क, क्रासिग पुल और अन्य महत्वपूर्ण सुविधाओं की दरकार लोगों को रही है।
Jul 12 2021 (09:02) कलायत रेलवे स्टेशन का हुआ कायाकल्प (www.google.com)
0 Followers
7067 views

News Entry# 458896  Blog Entry# 5011891   
  Past Edits
Jul 12 2021 (09:02)
Station Tag: Kalayat/KIY added by mannunrw/778285
Stations:  Kalayat/KIY  
असुविधाओं के कारण अकसर वीरान रहने वाले कलायत रेलवे स्टेशन पर शनिवार को उत्सव का माहौल था। अधिकारियों, कर्मचारियों, यात्रियों और आम नागरिकों के चेहरों पर खुशी साफ झलक रही थी। मौका था कि 131 वर्ष बाद करोड़ों रुपये के बजट से रेलवे स्टेशन को आधुनिक स्वरूप जो मिला है। अब जर्जर भवन की बजाए नव निर्मित और सुधारीकरण से लैस भवन के माध्यम से लोगों को सेवाएं मिलेंगी। लोकार्पण की रस्म का निर्वहन रेलवे परिचालक प्रबंधक रामबीर सिंह ने एरिया आफिसर गुरमीत सिंह, कलायत स्टेशन अधीक्षक एनके शर्मा और रेलवे कंपनी अधिकारियों की मौजूदगी में नारियल तोडक़र किया। रेलवे मंत्रालय की सुधारीकरण योजना के तहत कलायत के साथ-साथ कैथल और पिहोवा में निर्मित नए भवन का भी विधिवत उद्घाटन किया जा चुका है। कलायत के माडर्न रेलवे स्टेशन पर पहले मेनुअल रूप से सिग्नल होते रहे हैं। अब क्लिकसे ट्रेन का संचालन होगा। एलसीडी के जरिए स्टेशन मास्टर व दूसरे...
more...
कर्मी संपूर्ण परिसर से निरंतर जुड़ें रहेंगे। कंप्यूटराइजड और वातानुकूलित सुविधाओं से लैस रहेगा, कलायत स्टेशन सिग्नल की बेहद पुरानी पद्धति के अनुसार रेलवे कर्मी ट्रैक पर आने वाली गाड़ियों को सिगनल देते थे। इसमें बड़े सुधार करते हुए सिग्नल की कार्रवाई कंप्यूटरीकृत की गई है। इस तरह रेलवे सेवाओं को हाईटेक रूप देते हुए रेलवे मंत्रालय ने कलायत रेलवे स्टेशन को अभूतपूर्व सौगातें देने का दावा किया है। स्टेशन मास्टर एनके शर्मा ने बताया कि रेलवे विभाग यात्रियों को बेहतर सुविधाएं देने के लिए प्रभावी कदम उठाए जा रहे हैं। शनिवार को सुधार के कार्य पूर्ण कर स्टेशन को जनता को समर्पित किया गया है। रेलवे स्टेशन कंप्यूटराइजड और वातानुकूलित सुविधाओं से सु-सज्जित रहेगा।
Jun 20 2021 (01:55) बेहद निराले स्वरूप में नजर आएगा कलायत का 131 वर्ष पुराना रेलवे स्टेशन (www.google.com)
IR Affairs
NR/Northern
0 Followers
16770 views

News Entry# 456652  Blog Entry# 4990486   
  Past Edits
Jun 20 2021 (01:55)
Station Tag: Kalayat/KIY added by mannunrw/778285

Jun 20 2021 (01:55)
Train Tag: Jaipur - Daulatpur Chowk Intercity Express/19717 added by mannunrw/778285
दिल्ली मंडल के 131 वर्ष पुराने कलायत रेलवे स्टेशन एक माह की समय अवधि में बेहद निराले स्वरूप में दिखाई देगा। पुराने ढर्रे पर चले रहा यह स्टेशन पूर्णत: कंप्यूटराइजड और वातानुकूलित होगा। पहले इस स्टेशन पर केवल एक टिकट काउंटर स्थापित था जिसकी संख्या अब दो हो चुकी है। रेलवे स्टेशन की लाइन चौड़ी की गई है। प्रतीक्षालय भवन को आकर्षक बनाया गया है।
सहायक स्टेशन मास्टर एन.के शर्मा ने बताया कि रेलवे विभाग द्वारा तैयार किए गए स्वरूप के तहत मार्डन कार्यालय, प्रतीक्षालय, टिकट घर और परिसर नए लुक में नजर आएगा। इसके साथ ही पेयजल, बिजली, पानी निकासी, शौचालय और सौंदर्य करण से जुड़ी अन्य योजनाएं भी जमीनी स्तर पर उतारी जा रही हैं।
बुजुर्गों
...
more...
का कहना है कि धार्मिक नगर कलायत के रेलवे स्टेशन से जुड़े पहलुओं की अगर समीक्षा की जाए तो अपने एक शताब्दी से अधिक के सफर में इसने गुलाम और आजाद भारत के इतिहास को बखूबी देखा है। जिस दौरान वर्ष 1890 में स्टेशन की शुरूआत हुई उस समय केवल दो गाडि़यां चलती थी। वर्ष 1959 के नवंबर माह में अंबाला से नरवाना अप-डाऊन ट्रेन का अध्याय इसमें जुड़ा।
इस श्रृंखला को आगे बढ़ाते हुए वर्ष 1970 में तत्कालीन रेल मंत्री गुलजारी लाल नंदा से शहर के धार्मिक एवं सामरिक महत्व को देखते हुए जींद से कुरुक्षेत्र चलने वाले गाड़ी का तोहफा क्षेत्रवासियों को दिया। वर्ष 2014 का फरवरी माह भी रेलवे के लिए खुशियों भरा रहा। इसी वर्ष फरवरी माह में स्टेशन को तत्कालीन सांसद नवीन जिंदल ने कुरुक्षेत्र-दिल्ली गाड़ी को हरी झंडी दी। वाया कुरुक्षेत्र, नरवाना और जींद दौड़ने वाली अप-डाऊन गाड़ी यात्रियों को बड़ी सहूलियत देने का काम कर रही है। 16 सितंबर 2014 को कंेद्र सरकार ने जयपुर-चंडीगढ़ इंटर सिटी गाड़ी के साथ स्टेशन की शान में चार-चांद लगाए। इस तरह ज्यों-ज्यों कलायत रेलवे स्टेशन की आयु बढ़ती जा रही है तरक्की की रफ्तार में साथ-साथ वृद्धि हो रही है। अब जिस प्रकार रेलवे लाइन का विद्युतीकरण किया गया उससे स्टेशन की स्थिति अपेक्षाकृत ज्यादा सबल होती जा रही है। हर कोई यह मानकर चल रहा है कि इस कदम से यात्रियों को आधुनिक स्तर की सुविधाएं जिस प्रकार उपलब्ध होंगी उससे रेलवे विभाग के राजस्व में भी बड़ा इजाफा होगा।
सुविधाओं का दायरा बढ़ाना वक्त की मांग
शंकर कौशिक, डा.हवा सिंह, रामकुमार नायक, दर्शन कौशिक, दूनी चंद, रोहताश कुमार, राजकुमार राजा और दूसरे संगठनांे से जुड़े पदाधिकारियों का कहना है कि अपनी आयु का लंबा दौर तय कर चुके स्टेशन को अपेक्षाकृत 'यादा सुधारों की जरूरत रही है। स्टेशन की स्थिति को मजबूत बनाने के लिए सुविधाओं का दायरा बढ़ाना अनिवार्य है। ताकि नगर के सामरिक महत्व को पंख लगे सकें।
सांसद नायब सैनी उठा रहे जयपुर-चंडीगढ़ इंटर सिटी ट्रेन ठहराव की मांग
जयपुर-चंडीगढ़ इंटर सिटी ट्रेन ठहराव का मुद्दा इलाके में पिछले काफी समय से गहराया हुआ है। इस मांग को लेकर व्यापक स्तर पर देवभूमि रेल यात्री संघर्ष समिति के माध्यम से हस्ताक्षर अभियान चलाया जा रहा है। अब तक असंख्य लोग इसमें अपनी सहभागिता दर्ज करवा चुके हैं। इसके मद्देनजर कुरुक्षेत्र संसदीय क्षेत्र सांसद नायब सैनी लोकसभा में जयपुर-चंडीगढ़ इंटर सिटी ट्रेन ठहराव का मुद्दा उठाया गया था।
Nov 28 2020 (17:17) कैथल के लोगों को नए साल का तोहफा, कैथल, ढांड और कलायत के रेलवे स्टेशन पर मिलेगी इलेक्ट्रॉनिक इंटरलॉकिंग की सुविधा (m.jagran.com)
Commentary/Human Interest
NR/Northern
0 Followers
27715 views

News Entry# 426346  Blog Entry# 4794008   
  Past Edits
Nov 28 2020 (17:17)
Station Tag: Pehowa Road/PHWR added by Anupam Enosh Sarkar/401739

Nov 28 2020 (17:17)
Station Tag: Kalayat/KIY added by Anupam Enosh Sarkar/401739

Nov 28 2020 (17:17)
Station Tag: Kaithal/KLE added by Anupam Enosh Sarkar/401739
Stations:  Pehowa Road/PHWR   Kaithal/KLE   Kalayat/KIY  
पानीपत/कैथल, जेएनएन। रेलवे की ओर से जारी किए गए बजट के तहत शुरू हुआ इलेक्ट्रॉनिक इंटरलॉकिंग करने का कार्य जल्द ही खत्म होगा। जिसके बाद अब जिले में कैथल के पुराना स्टेशन, ढांड और कलायत के रेलवे स्टेशन जल्द ही इलेक्ट्रॉनिक सिस्टम से लैस होंगे। यहां पर रेल लाइनों की इंटरलॉकिंग सुविधा मिलेगी।
बता दें कि वर्ष 2018 में रेलवे ने इसका बजट जारी किया था। जिस पर पिछले वर्ष रेल मार्ग का विद्युतीकरण होने के बाद कार्य शुरू किया गया था। देखा जाता है कि केबिन मैन के समय पर न आने के कारण ट्रेन को सिग्नल न मिलने के कारण काफी देर तक स्टेशन के पीछे ही ब्रेक लगाना पड़ता है। परंतु यह सुविधा मिलने के बाद ऐसा नहीं होगा।
...
more...
एक ही स्थान पर ट्रैक को कंट्रोल करने की सुविधा मिलने के बाद समय की काफी बचत होगी। केवल बटन दबाते ही ट्रेन को रेल लाइन का रूट मिलेगा। इस सिस्टम से ट्रैक का रूट एक ही कमरे से ऑपरेट किया जाएगा।
इन स्टेशनों को मिलेगी सुविधा
बता दें कि वर्ष 2017 में नरवाना-कुरुक्षेत्र रेल लाइन का विद्युतीकरण शुरू हुआ तो जिसके बाद 2020 के फरवरी माह में विद्युतीकरण ट्रेन की सुविधा यात्रियों को मिल चुकी है। अब इसी दिशा में ही ट्रैक पर इलेक्ट्रिकल इंटरलॉकिंग की सुविधा कम्प्यूटराज्ड सिस्टम से देने को लेकर कार्य एक साल पहले शुरू किया गया था जो दिसंबर महीने के अंत तक पूरा हो जाएगा। कार्य पूरा होने के बाद ट्रेन को सिगन्ल मिलने में कोई देरी नहीं होगी।
रेल यात्रियों के समय की बचत होगी
रेल यात्री कल्याण समिति के प्रधान लाजपत सिंगला ने बताया कि स्टेशन पर इंटरलॉकिंग होने के बाद सिग्नल पर इंतजार करने की जरूरत नहीं रहेगी। रेल यात्रियों के समय की बचत होगी। स्टेशन के विकास की ओर यह कदम हैं। क्योंकि इस सुविधा के बाद रेलवे विभाग यहां पर ट्रेनों की संख्या को भी बढ़ा सकता है। जिसका फायदा रेल यात्रियों को होगा।
जल्द पूरा होगा कार्य 
कैथल स्टेशन के सीनियर सेक्शन के इंजीनियर अमरेंद्र सिंह ने बताया कि विद्युतीकरण के कार्य के बाद स्टेशनों पर इलेक्ट्रॉनिक इंटरलॉकिंग की सुविधा देने का रेरलवे ने प्रावधान किया गया था। अब यह कार्य पूरा हाेने पर है। नए साल में कैथल, पिहोवा रोड और कलायत में नॉन इंटरलॉकिंग सिस्टम से ट्रेनों का संचालन होगा।
Page#    Showing 1 to 10 of 10 News Items  

Scroll to Top
Scroll to Bottom
Go to Mobile site
Important Note: This website NEVER solicits for Money or Donations. Please beware of anyone requesting/demanding money on behalf of IRI. Thanks.
Disclaimer: This website has NO affiliation with the Government-run site of Indian Railways. This site does NOT claim 100% accuracy of fast-changing Rail Information. YOU are responsible for independently confirming the validity of information through other sources.
India Rail Info Privacy Policy