Spotting
 Timeline
 Travel Tip
 Trip
 Race
 Social
 Greeting
 Poll
 Img
 PNR
 Pic
 Blog
 News
 Conf TL
 RF Club
 Convention
 Monitor
 Admin
 Followed
 Rating
 Correct
 Wrong
 Stamp
 HJ
 Vote
 Pred
 @
 FM Alert
 FM Approval
 Pvt
News Super Search
 ↓ 
×
Member:
Posting Date From:
Posting Date To:
Category:
Zone:
Language:
IR Press Release:

Search
  Go  

Darjeeling Mail - উত্তরবঙ্গের ঐতিহ্য - Joydeep Roy

Full Site Search
  Full Site Search  
 
Fri Oct 18 15:06:05 IST
Home
Trains
ΣChains
Atlas
PNR
Forum
Stream
Gallery
News
FAQ
Trips/Spottings
Login
Feedback
Post BlogPost Stn TipUpload Stn PicAdvanced Search

BPL/Bhopal Junction (6 PFs)
بھوپال جنکشن     भोपाल जंक्शन

Track: Triple Electric-Line

Junction Point BINA/MKC/ET, Navbahar Colony, Bhopal, 462001
State: Madhya Pradesh


Zone: WCR/West Central   Division: Bhopal

Type of Station: Junction
Number of Platforms: 6
Number of Halting Trains: 241
Number of Originating Trains: 20
Number of Terminating Trains: 20
Rating: 3.6/5 (387 votes)
cleanliness - average (52)
porters/escalators - good (50)
food - good (49)
transportation - good (50)
lodging - good (46)
railfanning - good (47)
sightseeing - good (45)
safety - good (48)

Nearby Stations

HBJ/HabibGanj 6 km     HESG/BHEL Bhopal 10 km     BIH/Bairagarh 11 km     SUW/Sukhisewaniyan 11 km     SHRN/Sant Hirdaram Nagar 11 km     MSO/Misrod 12 km     BQE/Bakanian Bhaunri 19 km     BVB/Bhadbhadaghat 19 km     MDDP/Mandi Dip 22 km     PUD/Phanda 27 km    

Station News

Page#    Showing 21 to 40 of 1601 News Items  <<prev  next>>
  
Oct 16 (21:43) ऐतिहासिक धरोहरों का खजाना है महावीर वन्य जीव विहार, ये हैं इतिहास से जुड़े रहस्य – हिंदी समाचार, Breaking News in Hindi, Latest News in Hindi- HS NEWS (hs.news)
Tourism
NCR/North Central
0 Followers
1988 views

News Entry# 393410  Blog Entry# 4460538   
  Past Edits
Oct 16 2019 (21:44)
Station Tag: Indore Junction/INDB added by ललितपुर सिंगरौली बड़ी रेल लाइन~/1206649

Oct 16 2019 (21:44)
Station Tag: Agra Cantt./AGC added by ललितपुर सिंगरौली बड़ी रेल लाइन~/1206649

Oct 16 2019 (21:44)
Station Tag: Bhopal Junction/BPL added by ललितपुर सिंगरौली बड़ी रेल लाइन~/1206649

Oct 16 2019 (21:44)
Station Tag: Khajuraho/KURJ added by ललितपुर सिंगरौली बड़ी रेल लाइन~/1206649

Oct 16 2019 (21:44)
Station Tag: New Delhi/NDLS added by ललितपुर सिंगरौली बड़ी रेल लाइन~/1206649

Oct 16 2019 (21:44)
Station Tag: Lalitpur Junction/LAR added by ललितपुर सिंगरौली बड़ी रेल लाइन~/1206649
नई दिल्ली: ललितपुर के महावीर वन्य जीव विहार में आकर तो ऐसा लगता ही नहीं है कि ये सूखी धरती वाले बुन्देलखण्ड का हिस्सा है. जैव विविधता वाले इस प्राकृत आवास को ईको पर्यटन के बड़े स्थल के तौर पर विकसित किया जा रहा है.
यहां पर भगवान महावीर वन्य जीव अभयारण्य के अंदर एक जैन मंदिर, वराह मंदिर, सिद्ध की गुफा, नाहर घाटी, राज घाटी और बेतवा नदी का मनोरम दृश्य है. ये सभी सदियों पुराने हैं. इसके साथ ही बेतवा के किनारे पर प्राकृतिक चट्टानों से बने घाट पर चट्टानों की दीवारों पर कई प्रतिमाएं उकेरी गई हैं. ब्राह्मी लिपि में एक अभिलेख भी लिखा हुआ है.
जैन
...
more...
मन्दिरों का समूह क्षेत्र– कहा जाता है कि यहां कुल 40 जैन मंदिर और थे, जिनमें से छोटे बड़े मिलाकर कुल 31 अभी भी बचे हुए हैं. जो भारतीय स्थापत्य कला का बेजोड़ नमूना हैं. विन्ध्य पर्वत माला पर जैन मन्दिरों का ये समूह इस क्षेत्र को अति विशिष्ट बनाता है. इनमें अनगिनत शिलालेख, मानस्तम्भ, भगवान भरत, बाहुबली तथा आदिनाथ, शान्तिनाथ, पार्श्वनाथ, महावीर आदि चौबीस तीर्थकरों तथा चक्रेश्वरी, अम्बिका, पदमावति, सरस्वती, लक्ष्मी आदि यक्षियों की अद्वितीय सैकड़ों प्रतिमाएं दर्शनीय हैं.
भगवान शान्तिनाथ की प्रतिमा- जैन मन्दिर समूह में मन्दिर नम्बर 12 अपनी विशालता और भगवान शान्तिनाथ की प्रतिमा के कारण बेहद महत्वपूर्ण है. भगवान शान्तिनाथ की प्रतिमा ऊंचाई, समय और अपने कलात्मक गुणों के कारण बेहद गौरवशाली है. प्रतिमा के आभामण्डल को देखते हुए गुप्तकाल के शिल्पियों की कला की तारीफ करते हुए लोग नहीं थकते.
गर्भगृह में भगवान शान्तिनाथ के दोनों और यक्षी अम्बिका की प्रतिमाएं हैं. पंचायतन शैली के इस विशाल मन्दिर की बाहरी दीवार पर 24 यक्ष-यक्षिणियों की सुन्दर कला-कृतियां बनी हुई हैं, जिनकी आकृतियों से भव्यता टपकती है. साथ ही 18 लिपियों वाला लेख भी बरामदे में उत्कीर्णित है. इन्हीं सब कारणों से ये मंदिर सर्वश्रेष्ठ मंदिरों में से एक माना जाता है.
पक्षियों से गुलजार- इसके साथ ही विन्ध्याचल के पहाड़ और बेतवा नदी की मौजूदगी के बीच यहां स्पोटेड डियर सहित तरह-तरह के वन्यजीव देखे जा सकते हैं. खैर, इन्द्रजौ, चन्दन और तेंदू के पेड़ से घिरी इस वन सेंचुरी में दुर्लभ व रंग बिरंगे पक्षियों की भी अपनी अलग दुनिया है, जो महावीर वन्य जीव विहार को बेहद खास बनाती है. इनमें जलीय पक्षी, नम भूमि के पक्षी, घास के पक्षी, स्थलीय पक्षी से लेकर शिकार पक्षी प्रमुख हैं.
इन पंछियों को वन्य जीव विहार में हर कोने-कोने पर फुदकते और आराम करते देखा जा सकता है. पर्पिल हेरोन, गेट इग्रेट, ग्रे हेरोन, लिटिल रिंग्ड प्लोअर, लॉफिंग डव, स्पोटेड डव, किंगफिशर, इण्डिन रौबिन, इण्डियन पोण्ड हेरन (अंधा बगुला), ब्रोन्ज विंग्ड जैकना (कटोई), ब्लैक ड्रोंगो (कोतवाल), मैना, कबूतर, तोता, बुलबुल, सुर्खाब बत्तख, चौबाहा, घोघिल, काला सिर का ढ़ोमरा, गजपांव, छोटा लालसर, ठेकरी सहित अन्य प्रकार के पक्षी इस वन क्षेत्र को बेहद खास बनाते हैं.
गिद्ध हैं यहां के विशेष पहचान– महावीर वन्य जीव विहार की एक प्रमुख पहचान यहां पाये जाने वाले गिद्ध हैं. प्रदेश में सर्वाधिक गिद्ध महावीर स्वामी वन्य जीव विहार में पाए जाते हैं. यहां बड़ी संख्या में गिद्धों के घोंसले देखे जा सकते हैं. इनके भोजन के लिए यहां विशेष इंतजाम करते हुए गिद्ध भोजन संग्रहालय बनाया गया है. इस तरह संरक्षण के इंतजामों के कारण यहां गिद्धों की संख्या में इजाफा भी हुआ है.
दशावतार मन्दिर– वन सेन्चुरी की यात्रा के दौरान आपको छठवीं सदी का दशावतार मन्दिर भी बेहद आकर्षित करेगा. पंचायतन शैली में निर्मित ये मन्दिर गुप्तकाल की धरोहरों में से एक है और इस शैली का उत्तर भारत में सबसे प्राचीन मन्दिर है.
हालांकि गर्भ गृह में भगवान की कोई मूर्ति नहीं है, लेकिन बाहरी दीवारों पर आपको दांपत्य प्रेम के साथ देव प्रतिमाओं की अनोखी मुद्रा वाली कलाकृतियां देखने को मिलेंगी, जो शिल्पकला की बेजोड़ विरासत मानी जाती हैं. दशावतार मन्दिर को इसलिए भी श्रेष्ठ माना गया है, क्योंकि यहां रामायण और महाभारत की देव प्रतिमाओं का अनूठा संगम है. मूर्तियों में जहां द्रौपदी और पांडव एक साथ दर्शाए गए हैं, वहीं हाथी की पुकार पर सब कुछ छोड़ विष्णु प्रतिमा का भी एक-एक भाव अपने आप में नायाब है.
मुचकुंद गुफा- इसके साथ ही यहां की मुचकुंद गुफा से पौराणिक मान्यता जुड़ी है. कहा जाता है कि कालयवन से युद्ध के दौरान भगवान कृष्ण युद्ध भूमि छोड़कर इस गुफा में आये और तपस्यारत महाराज मुचकुंद को अपना पीताम्बर उड़ाकर छिप गये. उनके पीछे-पीछे आये कालयवन ने जब कृष्ण के भ्रम से महाराज मुचकुंद को उठाया, तो वरदान के प्रभाव से जैसे ही उन्होंने कालयवन को देखा वो भस्म हो गया.
इस घटना के बाद से रण छोड़ने के कारण ही कृष्ण रणछोर कहलाए. इस गुफा में ही उन्होंने महाराजा मुचकुंद को अपने पूर्ण स्वरूप के दर्शन दिए, तभी ये स्थान मुचकुंद गुफा कहलाई. इस गुफा से कुछ दूर बेतवा नदी के तट पर भगवान रणछोड़ का मंदिर भी है. इसके अलावा नाहर घाटी और रामघाटी भी है.
प्रदेश सरकार ने इस बात को समझते हुए अब ईको टूरिज्म के जरिए बुन्देलखण्ड के विकास का निर्णय किया है. इसके लिए जहां महावीर वन्य जीव अभ्यारण से जुड़े क्षेत्रों का तेजी से विकास कराया जा रहा है, वहीं पर्यटकों के ठहरने के लिहाज से सुविधाओं में वृद्धि पर जोर दिया गया है.
इन सबके बीच प्रकृति के इस अनमोल खजाने का व्यापक स्तर पर प्रचार-प्रसार भी किया जा रहा है. जिससे सैलानियों को इसके बार में जानकारी हो और वो यहां की ओर रुख कर सकें. प्रदेश सरकार की इस पहले से दोहरा लाभ होने का रास्ता खुला है. एक तरफ महावीर वाइल्फ लाइफ सेन्चुरी को ईको टूरिज्म के नक्शे पर नई पहचान मिलेगी, वहीं ज्यादा से ज्यादा पर्यटकों के यहां आने से स्थानीय स्तर पर रोजगार की सम्भावनाएं भी बढ़ेंगी.
साभार- युगवार्ता
Recent Post
  
Oct 16 (10:57) 'उत्कृष्ट' बनी भोपाल एक्सप्रेस, सफाई, सुंदरता और सुविधाएं बढ़ीं (naidunia.jagran.com)
IR Affairs
WCR/West Central
0 Followers
1246 views

News Entry# 393365  Blog Entry# 4460026   
  Past Edits
Oct 16 2019 (10:58)
Station Tag: HabibGanj/HBJ added by Adittyaa Sharma^~/1421836

Oct 16 2019 (10:58)
Station Tag: Bhopal Junction/BPL added by Adittyaa Sharma^~/1421836
Stations:  Bhopal Junction/BPL   HabibGanj/HBJ  
हबीबगंज स्टेशन पर सांसद ने दिखाई हरी झंडी, आज रवाना होगा दूसरा उत्कृष्ट रेक भोपाल। नवदुनिया प्रतिनिधि भोपाल एक्सप्रेस में अब 'उत्कृष्ट' ट्रेन बन गई है। इसके साथ ही इस ट्रेन में यात्रियों को अब और ज्यादा सुविधाएं मिल सकेंगी। ट्रेन का बाहरी रंग बदल दिया गया है। कोच में सुंदरता बढ़ाने के लिए दरवाजे के पास ट्रेन की दीवार पर विनायल कोडिंग (रंगीन परत) लगाई गई है। बाथरूम व इसके सामने मैट बिछाई गई है। अन्य सुविधाएं भी 15 दिन के भीतर बढ़ाई जाएंगी। सांसद प्रज्ञा सिंह ठाकुर ने मंगलवार रात 9 बजे हबीबगंज स्टेशन पर नए उत्कृष्ट रैक को हरी झंडी दिखाकर हजरत निजामुद्दीन के लिए रवाना किया। दूसरा रेक बुधवार को हबीबगंज से नई दिल्ली के लिए रवाना होगा। इस तरह बुधवार से दोनों तरफ की भोपाल एक्सप्रेस उत्कृष्ट रेक से चलने लगेगी। डीआरएम उदय बोरवणकर ने बताया कि उत्कृष्ट रेक के साथ ही ट्रेन में कई सुविधाएं...
more...
बढ़ाई गई हैं। दरवोज पास एक छोटी लाइब्रेरी बनाई गई है। सफाई में आयुर्वेदिक लिक्विड का इस्तेमाल किया जाएगा जो सुगंधित और कीट नियंत्रक है। एसी टायलेट में एनाउंसमेंट सिस्टम लगाया गया जो बायो टॉयलेट के इस्तेमाल को लेकर यात्रियों को जागरूक करेगा। भोपाल एक्सप्रेस मंडल की दूसरी उत्कृष्ट ट्रेन बनी है। इसके पहले भोपाल प्रतापगढ़ एक्सप्रेस को उत्कृष्ट बनाया जा चुका है। बता दें कि पहले भोपाल एक्सप्रेस का एलएचबी कोच से चलाने की तैयारी थी। लिहाजा भोपाल एक्सप्रेस की जगह प्रतापगढ़ एक्सप्रेस को पहले उत्कृष्ट बनाया गया। --------------------एक रेक में 60 लाख रुपए से बढ़ाई जाएंगी सुविधाएं ट्रेन में सुविधाएं बढ़ाने के लिए दोनों रैेक में 60-60 लाख रुपए खर्च किए जाएंगे। इससे एलईडी लाइटिंग, मैटिंग, रात में चमकने वाले बर्थ सूचक नंबर, अच्छे क्वालिटी के पंखे लगाए जाएंगे।  #fas fa as asd
हबीबगंज स्टेशन पर सांसद ने दिखाई हरी झंडी, आज रवाना होगा दूसरा उत्कृष्ट रेक
भोपाल। नवदुनिया प्रतिनिधि
भोपाल एक्सप्रेस में अब 'उत्कृष्ट' ट्रेन बन गई है। इसके साथ ही इस ट्रेन में यात्रियों को अब और ज्यादा सुविधाएं मिल सकेंगी। ट्रेन का बाहरी रंग बदल दिया गया है। कोच में सुंदरता बढ़ाने के लिए दरवाजे के पास ट्रेन की दीवार पर विनायल कोडिंग (रंगीन परत) लगाई गई है। बाथरूम व इसके सामने मैट बिछाई गई है। अन्य सुविधाएं भी 15 दिन के भीतर बढ़ाई जाएंगी। सांसद प्रज्ञा सिंह ठाकुर ने मंगलवार रात 9 बजे हबीबगंज स्टेशन पर नए उत्कृष्ट रैक को हरी झंडी दिखाकर हजरत निजामुद्दीन के लिए रवाना किया। दूसरा रेक बुधवार को हबीबगंज से नई दिल्ली के लिए रवाना होगा। इस तरह बुधवार से दोनों तरफ की भोपाल एक्सप्रेस उत्कृष्ट रेक से चलने लगेगी।
डीआरएम उदय बोरवणकर ने बताया कि उत्कृष्ट रेक के साथ ही ट्रेन में कई सुविधाएं बढ़ाई गई हैं। दरवोज पास एक छोटी लाइब्रेरी बनाई गई है। सफाई में आयुर्वेदिक लिक्विड का इस्तेमाल किया जाएगा जो सुगंधित और कीट नियंत्रक है। एसी टायलेट में एनाउंसमेंट सिस्टम लगाया गया जो बायो टॉयलेट के इस्तेमाल को लेकर यात्रियों को जागरूक करेगा। भोपाल एक्सप्रेस मंडल की दूसरी उत्कृष्ट ट्रेन बनी है। इसके पहले भोपाल प्रतापगढ़ एक्सप्रेस को उत्कृष्ट बनाया जा चुका है। बता दें कि पहले भोपाल एक्सप्रेस का एलएचबी कोच से चलाने की तैयारी थी। लिहाजा भोपाल एक्सप्रेस की जगह प्रतापगढ़ एक्सप्रेस को पहले उत्कृष्ट बनाया गया।
--------------------
एक रेक में 60 लाख रुपए से बढ़ाई जाएंगी सुविधाएं
ट्रेन में सुविधाएं बढ़ाने के लिए दोनों रैेक में 60-60 लाख रुपए खर्च किए जाएंगे। इससे एलईडी लाइटिंग, मैटिंग, रात में चमकने वाले बर्थ सूचक नंबर, अच्छे क्वालिटी के पंखे लगाए जाएंगे।

  
Rail News
447 views
Oct 16 (11:00)
siddharthrma~   1368 blog posts   490 correct pred (84% accurate)
Re# 4460026-1            Tags   Past Edits
1 compliments
😂😂😂
मीडिया वाले , सांसद कितने खुश हो रहे उत्कृष्ट रैक को लेकर
और आयुर्वेदिक लिक्विड बाबाजी वाला ही होगा । 🤣🤣🤣
  
Oct 15 (20:54) दीपावली व डाला छठ पर तीन स्पेशल ट्रेन की मिली सौगात (m.jagran.com)
New Facilities/Technology
WCR/West Central
0 Followers
4209 views

News Entry# 393337  Blog Entry# 4459461   
  Past Edits
Oct 15 2019 (20:54)
Station Tag: Satna Junction/STA added by siddharthrma~/720659

Oct 15 2019 (20:54)
Station Tag: Katni Junction/KTE added by siddharthrma~/720659

Oct 15 2019 (20:54)
Station Tag: Jabalpur Junction/JBP added by siddharthrma~/720659

Oct 15 2019 (20:54)
Station Tag: Itarsi Junction/ET added by siddharthrma~/720659

Oct 15 2019 (20:54)
Station Tag: Hoshangabad/HBD added by siddharthrma~/720659

Oct 15 2019 (20:54)
Station Tag: Ara Junction/ARA added by siddharthrma~/720659

Oct 15 2019 (20:54)
Station Tag: Buxar/BXR added by siddharthrma~/720659

Oct 15 2019 (20:54)
Station Tag: Pt. DD Upadhyaya Junction (Mughalsarai)/DDU added by siddharthrma~/720659

Oct 15 2019 (20:54)
Station Tag: Allahabad Chheoki Junction/ACOI added by siddharthrma~/720659

Oct 15 2019 (20:54)
Station Tag: Manikpur Junction/MKP added by siddharthrma~/720659

Oct 15 2019 (20:54)
Station Tag: Saugor/SGO added by siddharthrma~/720659

Oct 15 2019 (20:54)
Station Tag: Mirzapur/MZP added by siddharthrma~/720659

Oct 15 2019 (20:54)
Station Tag: Patna Junction/PNBE added by siddharthrma~/720659

Oct 15 2019 (20:54)
Station Tag: Rajendra Nagar Terminal (Patna)/RJPB added by siddharthrma~/720659

Oct 15 2019 (20:54)
Station Tag: Bhopal Junction/BPL added by siddharthrma~/720659

Oct 15 2019 (20:54)
Station Tag: HabibGanj/HBJ added by siddharthrma~/720659

Oct 15 2019 (20:54)
Station Tag: Danapur/DNR added by siddharthrma~/720659

Oct 15 2019 (20:54)
Station Tag: Kota Junction/KOTA added by siddharthrma~/720659

Oct 15 2019 (20:54)
Train Tag: Danapur - Habibganj Suvidha Special/82158 added by siddharthrma~/720659

Oct 15 2019 (20:54)
Train Tag: Habibganj - Danapur Suvidha Special/82157 added by siddharthrma~/720659

Oct 15 2019 (20:54)
Train Tag: Habibganj - Danapur Special/01657 added by siddharthrma~/720659

Oct 15 2019 (20:54)
Train Tag: Danapur - Habibganj Special/01658 added by siddharthrma~/720659

Oct 15 2019 (20:54)
Train Tag: Danapur - Kota Suvidha Special/82916 added by siddharthrma~/720659

Oct 15 2019 (20:54)
Train Tag: Kota - Danapur Suvidha Special/82915 added by siddharthrma~/720659

Oct 15 2019 (20:54)
Train Tag: Danapur - Kota Special/01718 added by siddharthrma~/720659
जागरण संवाददाता, मीरजापुर : दीपावली व डाला छठ पर्व का देखते हुए उत्तर मध्य रेलवे प्रशासन ने कोटा-दानापुर व हबीबगंज-दानापुर के लिए तीन स्पेशल ट्रेन की सौगात दी है। यह तीनों स्पेशल ट्रेनों का मीरजापुर रेलवे स्टेशन पर दो मिनट का ठहराव होगा और यात्रियों को काफी हद तक यात्रा में सहूलियत मिलेगी। त्योहार को देखते हुए यूपी व बिहार के बीच लाखों लोग यात्रा करते है जिन्हें अपने घर पहुंचने में अब कोई दिक्कत नहीं होगी और आराम से अपने परिवार के साथ सफर कर सकेंगे। यह ट्रेन सप्ताह में कुल छह दिन अप व डाउन करेंगी।
उत्तर मध्य रेलवे ने कोटा से दानापुर सुविधा एक्सप्रेस का मीरजापुर में ठहराव भोर तीन बजकर आठ मिनट पर आगमन होगा और दो
...
more...
मिनट ठहराव के बाद आगे के लिए रवाना हो जाएगी। यह ट्रेन 20, 23 व 26 अक्टूबर को चलेगी। इसी तरह दानापुर से कोटा को जाने वाली ट्रेन छह नवंबर को चलेगी और मीरजापुर में इसका आगमन शाम पांच बजकर 23 मिनट पर होगा। दूसरी हबीबगंज से दानापुर के लिए स्पेशल ट्रेन 29 अक्टूबर व एक नवंबर को चलेगी, डाउन की तरफ जाने वाली दानापुर से हबीबगंज को जाने वाली ट्रेन तीन नवंबर को चलेगी। तीसरी हबीबगंज से दानापुर को जाने वाली ट्रेन पांच नवंबर को चलेगी और डाउन की तरफ जाने वाली दानापुर से हबीबगंज जाने वाली ट्रेन 27 व तीस अक्टूबर को तथा दानापुर से कोटा को जाने वाली ट्रेन 21 व 24 अक्टूबर को चलेगी। यह जानकारी आरक्षण पयर्वेक्षक सीबी सिंह ने देते हुए बताया कि तीनों ट्रेन दीपावली व डाला छठ को देखते हुए चलाई जा रही है और लोगों को काफी हद तक सहूलियत मिलेगी। इन स्टेशन पर यात्रियों को मिलेगी सहूलियत
कोटा से चलने वाली स्पेशल ट्रेनों का ठहराव कोटा के अलावा सागर, मानिकपुर, छिवकी, मीरजापुर, दीनदयाल उपाध्याय जंक्शन, बक्सर, आरा के बाद दानापुर स्टापेज होगी। इसी तरह हबीबगंज से चलने वाली स्पेशल ट्रेनों का ठहराव हबीबगंज रेलवे स्टेशन के अलावा होसंगाबाद, इटारसी, पिपरिया, जबलपुर, कटनी, सतना, मानिकपुर, छिवकी, मीरजापुर, दीनदयाल उपाध्याय जंक्शन, बक्सर, आरा और दानापुर तक जाएगी। इसी तरह डाउन की तरफ जाने वाली भी समस्त ट्रेन की वापसी इन्ही स्टेशनों से होकर गुजरेगी।
  
Oct 15 (15:41) शान-ए-भोपाल एक्सप्रेस: देश में पहली बार भोपाल एक्सप्रेस के टॉयलेट में होगा ऑडियो सिस्टम (m.patrika.com)
New Facilities/Technology
WCR/West Central
0 Followers
3311 views

News Entry# 393329  Blog Entry# 4459091   
  Past Edits
Oct 15 2019 (15:41)
Station Tag: Jabalpur Junction/JBP added by siddharthrma~/720659

Oct 15 2019 (15:41)
Station Tag: Hazrat Nizamuddin/NZM added by siddharthrma~/720659

Oct 15 2019 (15:41)
Station Tag: Bhopal Junction/BPL added by siddharthrma~/720659

Oct 15 2019 (15:41)
Station Tag: HabibGanj/HBJ added by siddharthrma~/720659

Oct 15 2019 (15:41)
Train Tag: Hazrat Nizamuddin - Jabalpur SF Express/22182 added by siddharthrma~/720659

Oct 15 2019 (15:41)
Train Tag: Jabalpur - Hazrat Nizamuddin SF Express/22181 added by siddharthrma~/720659

Oct 15 2019 (15:41)
Train Tag: Shaan E Bhopal SF Express/12156 added by siddharthrma~/720659

Oct 15 2019 (15:41)
Train Tag: Shaan E Bhopal SF Express/12155 added by siddharthrma~/720659
किसी समय में देश की पहली आईएसओ सर्टिफाइड ट्रेन का तमगा प्राप्त कर चुकी 12155, 12156 शान-ए-भोपाल एक्सप्रेस (भोपाल एक्सप्रेस) की हालत पिछले एक साल से खराब चल रही थी। आए दिन यात्रियों द्वारा इसमें खराब सीट, एसी से पानी लीकेज की शिकायत की जाती थी। लेकिन अब यह ट्रेन अपने पुराने स्वरूप में वापस आ रही है। आधुनिक सुविधायुक्त तैयार किए गए उत्कृष्ट कोचों से सुसज्जित 12155 हबीबगंज-हजऱत निजामुदद्ीन शान-ए-भोपाल एक्सप्रेस को 15 अक्टूबर को रात 9.05 बजे हबीबगंज स्टेशन के प्लेटफॉर्म नंबर-1 से सांसद प्रज्ञा सिंह ठाकुर हरी झंडी दिखाकर रवाना करेंगी।
भोपाल मण्डल द्वारा भारतीय रेल में सबसे पहले टायलेट में ऑडियो सिस्टम लगाया गया है। यात्री द्वारा दरवाजा खोलते ही सेंसर युक्त सिस्टम टॉयलेट में साफ-सफाई रखने का
...
more...
अनुरोध करेगा। इन टॉयलेट में आधुनिक नल, शाफ्टी ऑपरेटेड फ्लश वॉल्व लगाए गए हैं। इसके अलावा दुर्गंध को दूर करने के लिए फ्लश वॉल्व के साथ ऑटो जनरेटर सिस्टम लगाया गया हैै, जिससे टॉयलेट में खुशबू बनी रहती है। इसके अलावा दोनों टॉयलेट की बीच में फायर रिटोरडेंट नेट लगाई गई है, जो फायर प्रूफ है।
टॉयलेट फ्लोर को सूखा रखेगी एपॉक्सी फ्लोरिंगभारतीय रेलवे के उत्कृष्ट परियोजना के रूप में विकसित उत्कृष्ट कोच पूर्णत: ईको फ्रैंडली हैं। इसमें पुराने कोचों में बदलाव कर बेहतर सुविधाओं के साथ नया रूप दिया गया है। उत्कृष्ट कोच से लैस भोपाल एक्सप्रेस के कोचों में पर्यावरण अनुकूल शौचालय बनाए गए हैं साथ ही वातानुकूलित कोचों में स्टेनलस स्टील का सोप डिस्पेंसर लगाया गया है। इन कोचों के टॉयलेट में एपॉक्सी फ्लोरिंग की गई है, जिससे टॉयलेट फ्लोर सूखा बना रहता है।
कोच के बाहर तिरंगा झंडा व महात्मा गांधी की 150 वीं जंयती का लोगो
रेलवे का दावा है कि इस ट्रेन के अन्दर आते ही यात्रियों को अच्छी यात्रा का एहसास होगा। इसके दरवाजे खुलते ही खूबसूरत विनाइल रैपिंग की वजह से दरवाजा और आस पास का हिस्सा काफी सुन्दर दिखेगा। कोचों के अन्दर डिजिटल हेरिटेज फोटोग्राफ है, इस पर लगे क्यूआर कोड को स्कैन करने पर उस फोटोग्राफ से संबंधित जानकारी प्राप्त की जा सकेगी। इन कोचों में यूनिफाइड पोस्टर भी लगाए गए हैं। प्रत्येक कोच के बाहर की सतह पर दोनों ओर तिरंगा झंडा व महात्मा गांधी की 150 वीं जंयती का लोगो भी लगाया गया है।
डीआरएम ने निरीक्षण कर दिया था उत्कृष्ट कोच में बदलने के निर्देशयात्रियों की लगातार शिकायतों के बाद 30 अगस्त को डीआरएम उदय बोरवरणकर ने खुद इसके रैक का निरीक्षण किया था, इस दौरान सामने आया था कि पिछले साल ठंड के मौसम में 22181/22182 गोंडवाना एक्सप्रेस से भोपाल एक्सप्रेस का रैक बदल दिया गया था। जिसके बाद डीआरएम ने भोपाल एक्सप्रेस में उत्कृष्ट रैक लगाने के निर्देश दिए थे। बता दें, भोपाल एक्सप्रेस देश की पहली ऐसी ट्रेन जिसे वर्ष 2003 में पहला आईएसओ-9002 सर्टिफिकेट प्राप्त हुआ था। यह ट्रेन 23 मई 1999 से संचालित हो रही है। यह ट्रेन अपनी टाइम पंक्चुएलिटी, स्पीड और मेंटेनेंस के लिए जानी जाती थी।

2 Public Posts - Tue Oct 15, 2019

  
947 views
Oct 15 (16:06)
siddharthrma~   1368 blog posts   490 correct pred (84% accurate)
Re# 4459091-3            Tags   Past Edits
New trend. Ab to LHB bhi hogi to MPs inaugurate karenge

  
945 views
Oct 15 (16:13)
siddharthrma~   1368 blog posts   490 correct pred (84% accurate)
Re# 4459091-4            Tags   Past Edits
Special b to regular nhi ho paa rhi

  
937 views
Oct 15 (16:33)
Railgeek~   1951 blog posts   10 correct pred (77% accurate)
Re# 4459091-5            Tags   Past Edits
Aunty ka dimag sidhe kaam me chalta h? 😞

  
Oct 15 (22:45)
Saurabh®^~   17173 blog posts   167 correct pred (70% accurate)
Re# 4459091-6            Tags   Past Edits
1 compliments
😂
Bhopal waale kya soch ke un ko parliament bheje hain ab wo hi jaane..

  
Oct 15 (22:52)
Railgeek~   1951 blog posts   10 correct pred (77% accurate)
Re# 4459091-7            Tags   Past Edits
Irony kuch essi h bhaiya ki
2 psychopath me se ek ko select kr diya
Result - public ka dol bja dono taraf se
  
भोपाल. भोपाल रेलवे स्टेशन से छह ट्रेनों का स्टापेज खत्म कर संत हिरदाराम नगर स्टेशन पर किया जाए। उन्हें निशातपुरा से विदिशा ट्रैक से आगे निकाला जाए, तो इससे न केवल आगे की यात्रा के लिए यात्रियों को एक से दो घंटे समय की बचत होने के साथ ही भोपाल रेलवे स्टेशन पडऩे वाला ट्रेनों का बोझ भी कम होगा।इससे नई ट्रेनों को भी यहां से शुरू किया जाना आसान हो सकेगा। कोलकता एक्सप्रेस, इंदौर पटना एक्सप्रेस, इंदौर राजेन्द्र नगर एक्सप्रेस, इंदौर बरेली एक्सप्रेस सहित मालवा एक्सप्रेस का भोपाल से स्टापेज खत्म किया जाए।इनमें से मालवा एक्सप्रेस का संत हिरदाराम नगर स्टापेज है। शेष इन पांच ट्रेनों का भी स्टापेज कर दिया जाए तो भोपाल रेलवे स्टेशन का बोझ काफी कम हो सकता है। इससे कोलकता, इंदौर, पटना, बरेली, दिल्ली व कटरा आदि तक जाने में यात्रियों को एक से दो घंटे के समय की बचत भी होगी। क्योंकि भोपाल रेलवे स्टेशन...
more...
पर ये ट्रेने ट्रैक चेंज करने के कारण काफी देर तक खड़ी रहती हैं। वैसे भी जिन ट्रेनों का संत हिरदाराम नगर स्टेशन पर स्टापेज है, भोपाल के 80 प्रतिशत यात्री यहां उतरकर अन्य साधनों से गंतव्य तक पहुंचते हैं।उन्हें भोपाल स्टेशन उतरने पर विभिन्न प्लेटफार्मों पर फुट ओव्हर ब्रिज क्रास करनी पड़ती है। इससे कई बुजुर्ग यात्रियों को काफी परेशानी होती है। ऐसे में उनके लिए संत हिरदाराम नगर स्टेशन पर आना और जाना काफी आसान रहेगा। भोपाल पर 130 ट्रेनों का बोझवर्तमान में भोपाल स्टेशन पर 130 ट्रेनों का बोझ है अगर इन 6 ट्रेनों का स्टापेज संत हिरदाराम नगर करने के बाद निशातपुरा से विदिशा की तरफ रूख किया जाता है, तो भोपाल स्टेशन पर अप व डाऊन 16 ट्रेनों का बोझ कम होगा। संत नगर स्टेशन पर ट्रेनों की संख्या काफी कम है। इससे संत नगर के कारोबार पर भी चार चांद लग जाएगा।पश्चिम मध्य रेल्वे जबलपुर के महाप्रबंधक अजय विजयवर्गीय को इसके लिए मैंने ज्ञापन दिया है। भोपाल की जगह संत हिरदाराम नगर से छह ट्रेनों का स्टापेज होने से काफी सुविधा होगी।नितेश लाल, रेल उपयोगकर्ता सलाहकार समिति सदस्य

2 Public Posts - Mon Oct 14, 2019

  
1573 views
Oct 14 (19:39)
sonu~   870 blog posts
Re# 4458147-3            Tags   Past Edits
Kiska hai proposal?

  
1578 views
Oct 14 (19:54)
siddharthrma~   1368 blog posts   490 correct pred (84% accurate)
Re# 4458147-4            Tags   Past Edits
पोस्ट की सबसे आखिरी लाइन में नाम है

  
1559 views
Oct 14 (19:55)
sonu~   870 blog posts
Re# 4458147-5            Tags   Past Edits
Matlab in trains ki frequency bhi increase ho sakti hai speed up kar ke?

  
1580 views
Oct 14 (19:58)
siddharthrma~   1368 blog posts   490 correct pred (84% accurate)
Re# 4458147-6            Tags   Past Edits
Ye logic kaha se aaya 😅😅
Speedup kitna ho jaega.
30-60mins ka fark aayega.

  
1529 views
Oct 14 (21:59)
anupsinghbr   221 blog posts
Re# 4458147-7            Tags   Past Edits
भोपाल स्टेशन पर जो समय ट्रेन के लगने और लोको चेंज करने में व्यय होता हैं उतना अतिरिक्त समय इन गाड़ियों को मिल जाएगा।
Page#    Showing 21 to 40 of 1601 News Items  <<prev  next>>

Scroll to Top
Scroll to Bottom
Go to Mobile site
Important Note: This website NEVER solicits for Money or Donations. Please beware of anyone requesting/demanding money on behalf of IRI. Thanks.
Disclaimer: This website has NO affiliation with the Government-run site of Indian Railways. This site does NOT claim 100% accuracy of fast-changing Rail Information. YOU are responsible for independently confirming the validity of information through other sources.
India Rail Info Privacy Policy