Spotting
 Timeline
 Travel Tip
 Trip
 Race
 Social
 Greeting
 Poll
 Img
 PNR
 Pic
 Blog
 News
 Conf TL
 RF Club
 Convention
 Monitor
 Topic
 Bookmarks
 Rating
 Correct
 Wrong
 Stamp
 PNR Ref
 PNR Req
 Blank PNRs
 HJ
 Vote
 Pred
 @
 FM Alert
 FM Approval
 Pvt
Forum Super Search
 ↓ 
×
HashTag:
Freq Contact:
Member:
Posting Date From:
Posting Date To:
Blog Category:
Train Type:
Train:
Station:
Pic/Vid:   FmT Pic:   FmT Video:
Sort by: Date:     Word Count:     Popularity:     
Public:    Pvt: Monitor:    Topics:    

Search
  Go  
dark mode

The mighty veteran Purulia Express serving for decades, daily commuters' lifeline and witness to a Rising Bengal! - Soumyadip Mahato

Full Site Search
  Full Site Search  
FmT LIVE - Follow my Trip with me... LIVE
 
Tue Nov 30 03:12:02 IST
Home
Trains
ΣChains
Atlas
PNR
Forum
Quiz Feed
Topics
Gallery
News
FAQ
Trips/Spottings
Login
Post PNRAdvanced Search
Filters:

Page#    14 Blog Entries  next>>
Rail News
11396 views
Commentary/Human Interest
SECR/South East Central
Nov 25 (15:35)   Railway: रेलवे कर रहा यह गलती, यात्रियों को भा नहीं रही समय-सारणी

CWA_corn_city~   141 news posts
Entry# 5144055   News Entry# 470861         Tags   Past Edits
छिंदवाड़ा. मेमू ट्रेन के आमला से इतवारी तक चलाने की मांग तेज हो गई है। वहीं दूसरी तरफ मध्य रेलवे का कहना है कि दक्षिण पूर्व मध्य रेलवे द्वारा उन्हें मेमू ट्रेन चलाने की अनुमति केवल छिंदवाड़ा तक ही दी गई है। हालांकि अगर दक्षिण पूर्व मध्य रेलवे, नागपुर मंडल चाहे तो मेमू ट्रेन के छिंदवाड़ा से इतवारी तक चलाने के लिए बोर्ड को प्रस्ताव भेज सकता है। इसके बाद मामला मध्य रेलवे, नागपुर मंडल के पास जाएगा और दोनों ही मंडल की सहमति से मेमू ट्रेन का परिचालन आमला से इतवारी तक होने लगेगा। गौरतलब है कि 17 नवंबर से मेमू ट्रेन का परिचालन आमला से छिंदवाड़ा एवं छिंदवाड़ा से आमला तक किया जा रहा है। यह ट्रेन मध्य रेलवे, नागपुर मंडल की है। ट्रेन आमला से छिंदवाड़ा आने के बाद सात घंटे रेलवे स्टेशन पर खड़ी रहती है। इसके पश्चात शाम 6.15 बजे छिंदवाड़ा से आमला के लिए रवाना...
more...
हो रही है। स्थानीय लोगों का कहना है कि सात घंटे रेलवे स्टेशन पर ट्रेन को खड़ा रखने से अच्छा है कि इसे आमला से छिंदवाड़ा तक दो फेरे में चलाया जाए या फिर आमला से इतवारी तक मेमू ट्रेन का परिचालन हो।रेलवे स्थानीय आवश्यकता पर नहीं दे रही ध्यान रेलवे मार्च 2020 से पहले तक स्थानीय वासियों के समस्याओं को ध्यान में रखकर ही ट्रेन का परिचालन करती थी, लेकिन लगभग एक साल से रेलवे छिंदवाड़ा को लेकर मनमाने फैसल ले रही है। पांच साल पहले जब छिंदवाड़ा से नागपुर तक बड़ी रेल लाइन के लिए छोटी लाइन बंद की गई थी तो लोगों को उम्मीद थी कि उन्हें लंबे इंतजार के बाद उनकी सुविधाओं के अनुसार ही ट्रेन की सौगात मिलेगी, लेकिन ऐसा हुआ नहीं। 22 फरवरी 2021 को दक्षिण पूर्व मध्य रेलवे ने छिंदवाड़ा से इतवारी एवं इतवारी से छिंदवाड़ा तक 8 बोगी की पैसेंजर ट्रेन का परिचालन शुरु कर दिया, लेकिन इस ट्रेन के परिचालन की समय-सारणी स्थानीय दृष्टि से उपयुक्त नहीं है। इस बात की जानकारी भी रेलवे अधिकारियों को है, लेकिन अब तक ट्रेन के समय-सारणी में बदलाव नहीं किया गया। बड़ी बात यह है कि दक्षिण पूर्व मध्य रेलवे के अधिकारी छिंदवाड़ा से इतवारी एवं इतवारी से छिंदवाड़ा तक चल रही ट्रेन को घाटे का सौदा बता रहे हैं जबकि हकीकत यह है कि अगर पैसेंजर ट्रेन का परिचालन छिंदवाड़ा से सुबह एवं इतवारी से शाम को हो तो फिर इस टे्रन में पैर रखने की भी जगह नहीं बचेगी। वहीं दूसरी तरफ आमला से छिंदवाड़ा तक मेमू ट्रेन का परिचालन भी अगर सोच समझकर किया जाए तो रेलवे एवं यात्री दोनों को ही फायदा होगा।आधुनिक सुविधाओं से लैस है मेमू ट्रेन छिंदवाड़ा से आमला एवं आमला से छिंदवाड़ा तक चल रही 8 बोगी की मेमू ट्रेन आधुनिक सुविधाओं से लैस है। इस ट्रेन में 800 यात्रियों के बैठने की व्यवस्था है। इसके अलावा यात्री एक बोगी में चढऩे के बाद अंदर ही अंदर आठवें बोगी तक पहुंच सकता है। हर एक बोगी में डिस्प्ले बोर्ड लगा हुआ है जिसमें ट्रेन के चलने के समय यात्रियों को आने वाले हर एक स्टेशन की जानकारी मिलती है। बड़ी बात यह है कि हर एक बोगी में माइक्रो फोन एवं सीसीटीवी कैमरा लगा हुआ है और इसकी स्क्रीन लोको पायलट सीट के बगल में होती है जिससे लोगों पायलट हमेशा निगरानी कर सकता है। माइक्रो फोन की सहायता से बोगी में बैठा यात्री इमरलेंसी में लोको पायलट से संपर्क कर सकता है। मेमू ट्रेन में दोनों तरफ इंजन लगा होता है। इससे इसको आगे पीछे करने की भी जरूरत नहीं होती है। इन सब खासियतों की वजह से अब मेमू ट्रेनों की डिमांड बढऩे लगी है।इनका कहना है...दक्षिण पूर्व मध्य रेलवे ने मेमू ट्रेन को छिंदवाड़ा तक ही चलाने की अनुमति दी है। अगर दक्षिण पूर्व मध्य रेलवे चाहेगा तो वह प्रस्ताव भेज सकता है। इसके बाद उच्च अधिकारी फैसला लेंगे।के. पाटिल, सीनियर डीसीएम, मध्य रेलवे, नागपुर मंडल

1 Public Posts - Thu Nov 25, 2021

4302 views
Nov 27 (09:29)
Irtaqua Akhter
IrtaquaAkhter~   677 blog posts
Re# 5144055-2            Tags   Past Edits
SECR ek taraf apni ITR-CWA Pass ko useless TT ke sath chala raha hai or dusri taraf CR ki MEMU ko ITR extend karwane me koi interest nahi dikha raha hai. Jitne bhi GC hue hai sabme bs freight se hi revenue kama raha hai SECR

1 Public Posts - Sat Nov 27, 2021
Rail News
New Facilities/Technology
SECR/South East Central
Sep 17 (17:36)   SECR proposes RoR at Gondia to end detention of trains on Howrah route

MAREECH_HA1NKS~   336 news posts
Entry# 5068520   News Entry# 465051         Tags   Past Edits
By Sagar Mohod :

For resolving the stagnation at Gondia with opening of new route to Jabalpur, South East Central Railway (SECR) has proposed a project of Rail over Rail (RoR) that would help in simultaneous running of trains in East-West as well as South-North directions. After completion of the link till Jabalpur, Indian Railways had to redraw the maps of long distance travel for passenger traffic as rule states that trains should run through shortest route. With over 200 kms travel distance slashed off as round about trip to Itarsi
...
more...
is now cut off the trains are being diverted from Ballarshah station via Gondia enroute to Jabalpur. An alternate to Grand Trunk route of Indian Railways ensured that most of long distance trains emerging from Southern direction of country are no longer coming to Nagpur and then moving ahead to Itarsi and then to Jabalpur and ahead to their respective destination. Right now about half dozen Mail/Express trains going to Northern direction are taking the new path through Gondia.

Though the new route resulted in huge savings for Railways, on operations front it posed a new problem at Gondia station that was getting locked-up for a fairly long time, particularly on the East-West route. During the time, traffic on mainline -- Howrah-Mumbai -- was held-up the incoming trains from Chandafort-Nagbhir direction coming to Gondia crosses-over for moving onto Jabalpur direction. The time lost in transit on mainline was not very helpful given the congestion due to rapid increase in number of trains over the year and development freezes on the front of expansion of network. So the development of new route though heralded a good news after a perennially long time, the detention on mainline added to worries of planners. Now to accommodate new traffic and anticipated growth in future a third line is also being laid between Rajnandgaon and Kalumna stations in SECR's Nagpur Division.

That would further require uninterrupted running of trains on Howrah-Mumbai line without any need for stoppages on outer signal for allowing movement of criss-crossing traffic from Chandafort direction. “So after looking at the table and mapping trains movement, the RoR was thought off as the best option,” said Vikas Kashyap, Sr. Divisional Commercial Manager, SECR, Nagpur Division. Kashyap added, “RoR would help the division to increase throughput on the new line, especially in terms of movement of freight trains.” The project involved construction of a railway over the existing mainline. A similar project already exists at Chacher railway station in Mauda in Nagpur Division that has enabled simultaneous placing of loaded rake and moving of empty rake outside the yard.

At Gondia, the RoR would ensure that mainline remains undisturbed even as trains coming from Southern directions move on smoothly overhead. As the term suggests, RoR is a steel bridge over the existing tracks and meant to create a system of by-pass at crossing points. The project cost as of now is pegged at around Rs 134 crore and apart from RoR, allied structures like connecting brides would be constructed for smooth transit of trains through Gondia. The surface crossing that is currently occurring would also end and overcome issue of bottleneck on mainline. To handle the trains on RoR, a Chord Cabin would also come up on Eastern side of Gondia station where the new project is going to come up to control South to North movement.

1 Public Posts - Fri Sep 17, 2021

24355 views
Sep 17 (20:44)
Irtaqua Akhter
IrtaquaAkhter~   677 blog posts
Re# 5068520-2            Tags   Past Edits
Bilkul sahi kahe aapne or jaisa ki is article me NGP divsion ke Sr.DCM ne bhi kaha hai ki ROR would help "especially in terms of movement of freight trains" kul milake goods trains ki time saving karke jyada se jyada revenue earn karna or G yard me freights ka congestion kam karna. Existing 2 Coaching trains ke alawa baaki chalu hui nahi or G JBP section overcrowded ho gaya.

1 Public Posts - Sat Sep 25, 2021
Rail News
26200 views
SECR/South East Central
Jun 21 (19:16)   दो दशक से जनता कर रही मांग, नागपुर तक चलाएं नई ट्रेन

Chetan~   1023 news posts
Entry# 4991598   News Entry# 456817         Tags   Past Edits
शहडोल. नागपुर तक सीधी ट्रेन को लेकर लंबे समय से मांग की जा रही है। संभाग की जनता पिछले दो दशक से मांग कर रही है। इलाज के लिए नागपुर तक सीधी ट्रेन न होने की वजह से जनता का दर्द और बढ़ जाता है। इधर गोंदिया ट्रेन का रूट भी बदल दिया गया है। बरौनी-गोंदिया ट्रेन का रूट बदल दिए जाने से सांसद हिमाद्री सिंह आगे आई हैं। उन्होंने रेल मंत्री को पत्र लिखते हुए कहा कि दो दशक से जनता शहडोल से सीधे नागपुर के लिए ट्रेन की मांग कर रही है। इसके बाद भी ट्रेन शुरू नहीं की गई है। उन्होंने पत्र में लिखा है कि संसदीय क्षेत्र शहडोल चार जिले में विभाजित है। अनुसूचित जन जाति बाहुल्य व पिछड़ा जिला है। क्षेत्र में पावर प्लांट व कोयला खदानों के कारण कई राज्य के लाखों कर्मचारी कार्यरत है। संसदीय क्षेत्र से नागपुर के लिए कोई सीधी ट्रेन नहीं...
more...
होने ेस चिकित्सा एवं शिक्षा की दृष्टि से महती आवश्यकता है। लगभग दो दशक से यह मांग व आवश्यकता की पहल किया गया लेकिन आज तक रेल प्रशासन ने जन भावना व जन आवश्यकता की पूर्ति नहीं किया है। बजट सत्र में मेरे द्वारा रेल विभाग के माध्यम से चर्चा कर नागपुर तक नियमित ट्रेन चलाने की चर्चा संसद में उठाया गया था। तब आश्वासन मिला था। इसलिए वर्तमान समय में बरौनी-गोंदिया एक्सपे्रेस का रूट परिवर्तन कर देने के कारण और परेशानी यात्रियों को हो रही है।वाराणसी, प्रयागराज से नागपुर चलाएं ट्रेनसांसद ने पत्र लिखकर विकल्प भी बताया है। इसके विकल्प में वाराणसी से प्रयागराज, सतना, कटनी, शहडोल, बिलासपुर होते हुए नागपुर तक नई एक्सप्रेस ट्रेन चलाने की मांग की है।

Rail News
20995 views
Jun 21 (19:32)
Irtaqua Akhter
IrtaquaAkhter~   677 blog posts
Re# 4991598-1            Tags   Past Edits
Barauni Gondia Barauni ke route diversion ka abhi tak official letter kaha aaya hai ? Divert hui bhi hai ya nahi ?

1 Public Posts - Mon Jun 21, 2021

20496 views
Jun 21 (19:39)
Irtaqua Akhter
IrtaquaAkhter~   677 blog posts
Re# 4991598-3            Tags   Past Edits
Wahi to proposed hone se pahle hi itna bawal macha diya media ne
Rail News
IR Affairs
WCR/West Central
Mar 23 (08:27)   जबलपुर-रायपुर इंटरसिटी ट्रेन चलाने का प्रस्ताव, जबलपुर में मेमो ट्रेन चलाने के लिए स्टाफ की ट्रेनिंग शुरू

Vcpl Jbp   2002 news posts
Entry# 4915865   News Entry# 446670         Tags   Past Edits
जबलपुर-रायपुर इंटरसिटी ट्रेन चलाने का प्रस्ताव, जबलपुर में मेमो ट्रेन चलाने के लिए स्टाफ की ट्रेनिंग शुरू
जबलपुर। पश्चिम मध्य रेलवे के जबलपुर रेल मंडल के डीआरएम संजय विश्वास ने कहा है कि छत्तीसगढ़ जाने के लिए यात्रियों की जबर्दस्त मांग को देखते हुए जबलपुर से रायपुर व्हाया नैनपुर-बालाघाट-गोंदिया के बीच इंटरसिटी एक्सप्रेस चलाने का प्रस्ताव मुख्यालय भेजा गया है, जिसकी मंजूरी मिलते ही नई ट्रेन शुरू कर दी जायेग। वहीं छोटे स्टेशनों के यात्रियों के लिए मेमू ट्रेन भी शुरू की जायेगी, जिसके लिए स्टाफ को ट्रेनिंग दिया जा रहा है। यह जानकारी उन्होंने पत्रकार वार्ता में दी।
डीआरएम
...
more...
संजय विश्वास ने कहा कि प्रयागराज (इलाहाबाद) के लिए इंटरसिटी की मांग अर्से से की जा रही है। इस पर भी विचार किया जा रहा है। ब्रॉडगेज रूट अभी खाली है। ऐसे में जबलपुर से बालाघाट होते हुए रायपुर के लिए इंटरसिटी चलाने की तैयारी है। इसके लिए पश्चिम मध्य रेलवे और बिलासपुर रेल जोन में सहमति होना है। इसके बाद रेलवे बोर्ड इस पर निर्णय लेगा। वर्तमान में चल रही सभी ट्रेनों में एलएचबी कोच लगाए जा रहे हैं, जिससे यात्रियों का सफर आरामदायक बन सके।
अवैध वेंडर पकडऩे क्यूआर कोड का प्रयोग
रेलवे स्टेशन के प्लेटफार्म और ट्रेन में चलने वाले वेंडर की पहचान करने के लिए सभी वैध वेंडर को आईकार्ड दिए गए हैं। इसके लिए सभी कार्ड में क्यूआर कोड दिए गए हैं। इसे स्कैन करके वैध वेंडर की पूरी जानकारी हासिल की जा सकती है। इतना ही नहीं कमर्शियल विभाग द्वारा नॉन फेयर रेवेन्यू (एनएफआर) के माध्यम से आय बढ़ाई जा रही है। इस मौके पर सीनियर डीईएन (समन्वय) संजय यादव, विजय पांडे, डीसीएम सुनील श्रीवास्तव मौजूद थे।
एमपी के जबलपुर में और तेज हुई कोरोना संक्रमण की स्पीड, एक की मौत, 124 पाजिटिव मिले..!
जबलपुर में बदमाशों ने वकील को गोली मारी..!
जबलपुर में मौखिक आदेश पर टीकाकरण में लगा दिए हजारों कर्मचारी, मानदेय का पता नहीं..!
जबलपुर में कोरोना की रफ्तार बढऩे के साथ साथ अब वैक्सीनेशन में आई तेजी
जबलपुर में किश्त वसूलने गए बैंक अधिकारियों पर हमला कर पथराव, मची भगदड़, अफरातफरी
जबलपुर में खुलेगा रेलवे का सेन्ट्रल स्कूल, हाऊबाग में 5 एकड़ जमीन आवंटित, WCREU की वर्षों पुरानी मांग पर निर्णय
एमपी में इस कंपनी ने 28 कर्मचारियों को गिफ्ट में दिया वन बीएचके मकान, इनका पूरा किया सपना
केन-बेतवा लिंक परियोजना के समझौता ज्ञापन पर एमपी-यूपी के सीएम ने किए हस्ताक्षर, पीएम भी थे मौजूद
Leave a Reply

2 Public Posts - Tue Mar 23, 2021

34784 views
Mar 24 (09:11)
Irtaqua Akhter
IrtaquaAkhter~   677 blog posts
Re# 4915865-3            Tags   Past Edits
02274 JBP CAF triweekly is useless in between G & CAF (Due to non-stop run & CAF is 11 kms far from BPQ) if same rake was used for JBP R ICE then this will become more beneficial for railways in view of response in its starting days. If railway wants, they can use this same rake for Raipur & Chanda fort as a triweekly service for both the destinations.
Rail News
Other News
SECR/South East Central
Mar 09 (18:49)   CG में हादसा:​​​​​​​राजनांदगांव में मालगाड़ी की चपेट में आकर शावक की मौत; मां के साथ क्रॉस कर रहा था रेलवे ट्रैक

Anupam Enosh Sarkar^~   27779 news posts
Entry# 4901602   News Entry# 443559         Tags   Past Edits
1 compliments
दिवंगत आत्मा को श्रद्धांजलि🙏😔
छत्तीसगढ़ के राजनांदगांव में बाघ के शावक की मालगाड़ी की चपेट में आने से मौत हो गई। शावक अपनी मां के साथ रेलवे ट्रैक क्रॉस कर रहा था, इसी दौरान हादसा हो गया। सूचना मिलने पर पहुंची वन विभाग की टीम ने पोस्टमार्टम के बाद शव का अंतिम संस्कार कर दिया। हादसा जिले से सटे गोरेगांव वन मंडल के पिंडकेपार-गोंगले रेलमार्ग पर हुआ है।
जानकारी के मुताबिक, नवेगांव-नागझिरा टाइगर रिजर्व फॉरेस्ट की बाघिन टी-14 अपने तीन शावकों के साथ सोमवार को रेलवे ट्रैक क्रॉस कर रही थी। इसी दौरान उसका शावक मालगाड़ी की चपेट में आ गया। शावक की उम्र करीब एक साल बताई जा रही है। यह गोंदिया से चंद्रपुर रेलवे ट्रैक जिले के संरक्षित वन क्षेत्र नागजीरा के बीच से
...
more...
होकर गुजरता है।

Rail News
27034 views
Mar 09 (19:04)
Irtaqua Akhter
IrtaquaAkhter~   677 blog posts
Re# 4901602-1            Tags   Past Edits
Ek taraf CG Rajnandgaon likh rahe hai or dusri taraf Gondia ke Chandrapur railway track, khud bhaskar wale hi confuse hai ki ye case CG ka hi ya MH ka

2 Public Posts - Tue Mar 09, 2021

Mar 09 (19:47)
Irtaqua Akhter
IrtaquaAkhter~   677 blog posts
Re# 4901602-4            Tags   Past Edits
Jaise Nainpur Lamta section me Forest ne without underpasses or fencing banane ke NOC nahi diya tha usi tarah Chanda fort section me bhi forest area me yahi same conditions ke sath NOC dena tha but abhi bhi tym hai SECR dono taraf fencing hone tak speed limit kam karke trains chalwa sakta hai.
Page#    14 Blog Entries  next>>

Leading Polls

4952888 ★★ 28s.r.k_1007^~
5123548 ★★ 29Rohittkarwal^~
1883326 ★★★ 109Anant Patil~
4854446 ★★ 28s.r.k_1007^~

Rail News

New Trains

Site Announcements

  • Entry# 5148000
    Yesterday (06:40AM)


    A new feature will be released soon, whereby you can follow blogs tagged with specific Trains & Stations. If you have already posted blogs tagged with some Train/Station, then you will be set to automatically follow that Train/Station. Thereafter, any future news/blogs tagged with those Trains/Stations will be marked to your...
  • Entry# 5093784
    Oct 13 2021 (07:04AM)


    These days, every other day, we are getting requests from members to allow email login to their FB-based IRI account. 10 years ago, we had given the option for users to login through FaceBook - in retrospect, this was a mistake. These days, apparently, users are quitting FaceBook in droves because...
  • Entry# 4906979
    Mar 14 2021 (01:12AM)


    Followup to: Fmt Changes The new version of FmT 2.0 will soon be here - in about 2 weeks. As detailed in the previous announcement, many of the old FmT features like Train TT, Speedometer, Geo Location, etc. will be REMOVED. It will be a bare-bones simple app, focused on trip blogging. It...
  • Entry# 4898771
    Mar 06 2021 (10:33PM)


    There are some changes coming to FMT. Many of the features of FMT, like station arrival, TT, speed, geo, passing times, station time, etc. are ALREADY available in OTHER railway apps. So all of these features will be REMOVED. We'll have ONLY BLOGGING - quick upload of pics/videos/audio, etc. You may attach...
  • Entry# 4785432
    Nov 21 2020 (02:51AM)


    We are unifying the Bookmark scheme for Blogs & PNRs. Previously, we had different systems of "Followed Blogs", "PNR History", "My PNR Posts", "My PNR Post Predictions", "Stamp Alerts", etc. which were somewhat confusing. Hereafter: For PNRs: 1. You may add ANY PNR to your bookmarks through the "Add Bookmark" link in the...
  • Entry# 4680754
    Aug 03 2020 (10:10PM)


    In the next few days, we shall introduce a "Personal Gallery". This will consist of your own personal pics - no restrictions. You can upload any number of pics to your personal gallery - with with or without trains. This personal gallery will be part of your Member Profile. Thanks.
Scroll to Top
Scroll to Bottom
Go to Mobile site
Important Note: This website NEVER solicits for Money or Donations. Please beware of anyone requesting/demanding money on behalf of IRI. Thanks.
Disclaimer: This website has NO affiliation with the Government-run site of Indian Railways. This site does NOT claim 100% accuracy of fast-changing Rail Information. YOU are responsible for independently confirming the validity of information through other sources.
India Rail Info Privacy Policy