Spotting
 Timeline
 Travel Tip
 Trip
 Race
 Social
 Greeting
 Poll
 Img
 PNR
 Pic
 Blog
 News
 Conf TL
 RF Club
 Convention
 Monitor
 Topic
 Bookmarks
 Rating
 Correct
 Wrong
 Stamp
 PNR Ref
 PNR Req
 Blank PNRs
 HJ
 Vote
 Pred
 @
 FM Alert
 FM Approval
 Pvt
News Super Search
 ↓ 
×
Member:
Posting Date From:
Posting Date To:
Category:
Zone:
Language:
IR Press Release:

Search
  Go  

Maitree Express: মৈত্রী এক্সপ্রেস - দুই বাংলার সংস্কৃতি ও ভাতৃত্বের মেলবন্ধন - Joydeep Roy

Full Site Search
  Full Site Search  
FmT LIVE - Follow my Trip with me... LIVE
 
Sun Jun 13 16:51:00 IST
Home
Trains
ΣChains
Atlas
PNR
Forum
Quiz Feed
Topics
Gallery
News
FAQ
Trips/Spottings
Login
Post PNRAdvanced Search

POF/Piparsand (2 PFs)
پیپرسنڈ     पिपरसन्ड

Track: Double Electric-Line

Show ALL Trains
National Highway 25A near Lonha village
State: Uttar Pradesh


Zone: NR/Northern   Division: Lucknow Charbagh NR

No Recent News for POF/Piparsand
Nearby Stations in the News
Type of Station: Regular
Number of Platforms: 2
Number of Halting Trains: 28
Number of Originating Trains: 0
Number of Terminating Trains: 0
Rating: 3.4/5 (7 votes)
cleanliness - average (2)
porters/escalators - n/a (0)
food - n/a (0)
transportation - poor (1)
lodging - n/a (0)
railfanning - excellent (2)
sightseeing - n/a (0)
safety - good (2)
Show ALL Trains

Station News

Page#    Showing 1 to 10 of 10 News Items  
Feb 18 2019 (10:32) जीआरपी को मिली बरौनी मेल को बम से उड़ाने की सूचना, मचा हड़कंप (m.navbharattimes.indiatimes.com)
Crime/Accidents
NR/Northern
0 Followers
11813 views

News Entry# 376796  Blog Entry# 4235194   
  Past Edits
Feb 18 2019 (10:33)
Station Tag: Piparsand/POF added by RIP pulwama attack martyrs^~/1294142

Feb 18 2019 (10:33)
Train Tag: Gwalior - Barauni Mail/11124 added by RIP pulwama attack martyrs^~/1294142

Feb 18 2019 (10:33)
Train Tag: Gwalior - Barauni Mail/11124 added by RIP pulwama attack martyrs^~/1294142
Stations:  Piparsand/POF  
जीआरपी को युवक ने दी सूचना- बरौनी ट्रेन को उड़ाने की बात कर रहे हैं दो संदिग्ध युवक
जानकारी मिलने के बाद मचा हड़कंप, पिपरसंड स्टेशन पर रुकवाकर ट्रेन की हुई तलाशी
सूचना देने वाले युवक को लेकर संदिग्धों की पहचान की हुई कोशिश, नहीं मिल पाए संदिग्ध
ट्रेन की तलाशी की वजह से कई गाड़ियां हुईं प्रभावित, 11:47 बजे बरौनी मेल की गई
...
more...
रवाना
लखनऊ
ग्वालियर से बरौनी जा रही बरौनी मेल में रविवार रात करीब 8 बजे एक युवक ने जीआरपी कंट्रोल को सूचना दी कि ट्रेन में दो संदिग्ध बैठे हुए हैं। ये संदिग्ध ट्रेन को बम से उड़ाने की योजना बना रहे हैं। जानकारी मिलने के बाद जीआरपी में हड़कंप मच गया। सूचना मिलते ही जीआरपी और आरपीएफ की टीम मौके पर पहुंचीं। इसके बाद सुरक्षा टीमों ने पिपरसंड स्टेशन पर ट्रेन रुकवा दी। तकरीबन दो घंटे तक चली सघन चेकिंग के दौरान सूचना देने वाला युवक भी जीआरपी के हत्थे चढ़ गया। इसके बाद रात 11 बजकर 47 मिनट पर ट्रेन को रवाना कर दिया गया।
बरौनी मेल के स्लीपर में सफर कर रहे एक युवक ने जीआरपी को सूचना दी थी कि उसके कोच में दो संदिग्ध युवक वॉट्सऐप पर मेसेज भेजने के साथ ही ट्रेन को बम से उड़ाने की बात कर रहे हैं। इसके बाद जीआरपी व आरपीएफ ने ट्रेन को रुकवाने के आदेश दिए। रात 8 बजे उन्नाव से रवाना हो चुकी इस ट्रेन को जीआरपी ने पिपरसंड स्टेशन पर रोककर तलाशी शुरू की। डॉग स्क्वॉड और बम निरोधक दस्ते से चेकिंग करवाई गई लेकिन कोई संदिग्ध वस्तु नहीं मिली। इस कारण बरौनी मेल के पीछे से आ रही कई ट्रेनें भी प्रभावित हुईं।
संदिग्धों की देर रात तक नहीं हो पाई पहचान
उधर, रेलवे ने पिपरसंड से थोड़ा आगे दोबारा ट्रेन को रोकर चेकिंग करवाई। सीओ अमिता सिंह के नेतृत्व में रात 11 बजकर 47 मिनट पर चेकिंग के बाद ट्रेन को रवाना किया गया। जीआरपी सूचना देने वाले युवक को लेकर जनरल कोच के एक-एक यात्री से उन संदिग्धों को पहचानने की कोशिश में जुटी रही। हालांकि, युवक ने जिन संदिग्धों की बात की थी उनकी पहचान देर रात तक नहीं हो पाई।
'मेल को बम से उड़ाने की बातचीत का मिला था मेसेज'
लखनऊ रेंज के एसपी रेलवे सौमित्र यादव ने कहा, 'एक युवक ने कोच में दो संदिग्धों को बरौनी मेल को बम से उड़ाने की बातचीत करने का मेसेज दिया था। उसके बाद ट्रेन को रोककर उसकी छानबीन करवाई गई लेकिन दो बार की सघन चेकिंग में कुछ भी संदिग्ध नहीं मिला।'
Jul 17 2018 (22:27) Emergency break: खतरे का लाल निशान लांघ गया शताब्दी एक्सप्रेस का ड्राइवर (www.jagran.com)
Major Accidents/Disruptions
NR/Northern
0 Followers
9984 views

News Entry# 346323  Blog Entry# 3638016   
  Past Edits
Jul 17 2018 (22:27)
Station Tag: Lucknow Charbagh NR/LKO added by ☆अलविदा गोंडा मीटरगेज ■☆*^~/206964

Jul 17 2018 (22:27)
Station Tag: Piparsand/POF added by ☆अलविदा गोंडा मीटरगेज ■☆*^~/206964
लखनऊ (जेएनएन)। लखनऊ से नई दिल्ली जा रही शताब्दी एक्सप्रेस का ड्राइवर खतरे के लाल निशान को नहीं भांप सका था। जिस रेलखंड पर शताब्दी एक्सप्रेस को 30 किलोमीटर प्रतिघंटे की गति से दौडऩा था, वहां ट्रेन 100 किलोमीटर की गति से पहुंच गई थी। अचानक बीच पटरी पर मेंटेनेंस के उपकरण को देख ड्राइवर ने इमरजेंसी ब्रेक लगा दी थी। दरअसल सोमवार को अमौसी से हरौनी के बीच पटरियों को बदलने का काम चल रहा है। इसी के साथ पटरियों के ढीले बोल्ट कसने और जॉगर प्लेट को बदलने का काम भी चल रहा है। रेलवे इंजीनियरिंग विभाग के ठेका मजदूर पिपरसंड स्टेशन के पास पटरियों की मरम्मत कर रहे थे। इसके लिए 30 किलोमीटर प्रतिघंटे की गति से ट्रेनों के चलने का कॉशन था। यहां से करीब 200 मीटर दूर लाल रंग का बैनर पटरी पर लगा दिया गया था। इस बीच शाम 4:25 बजे ट्रेन अमौसी को पार कर...
more...
पिपरसंड की ओर चल पड़ी। अमौसी से ट्रेन को क्लीयर लाइन मिली थी। ड्राइवर कॉशन के रूट तक 100 किमी गति से पहुंच गया। जैसे ही उसने लाल बैनर देखा आनन फानन इमरजेंसी ब्रेक लगाया। हालांकि इस बीच इंजन बैनर को उखाड़ते कार्यस्थल तक पहुंच गया। ट्रेन को तेज गति से आते देख मजदूर उपकरण छोड़कर भाग निकले। रेलवे ने ड्राइवर से कॉशन दिए जाने के बारे में पूछताछ की है। डीआरएम सतीश कुमार ने बताया कि शताब्दी एक्सप्रेस के मामले में कई बिंदुओं को लेकर पूछताछ की जा रही है। परिचालन और इंजीनियरिंग से रिपोर्ट मांगी गई है।  दिल्ली-हावड़ा रेल मार्ग दो बार ठहराः शताब्दी एक्सप्रेस समेत कई महत्वपूर्ण ट्रेनें प्रभावित यह भी पढ़ें दर्ज हुए बयान  शताब्दी एक्सप्रेस के लोको पायलट बीपी शाह और सहायक लोको पायलट एसके भारती का बयान दर्ज किया गया। दोनों ने बताया कि नियम के तहत 1200 मीटर पहले पटाखा दगाना चाहिए या फिर लाल झंडा लगाकर रखना चाहिए था। इसके न होने पर 600 मीटर पहले लाल झंडी लेकर गैंगमैन को खड़ा किया जाना चाहिए था। पिपरसंड में कार्यस्थल के 200 मीटर पहले ही झंडी लगाई गई थी, जिसे देख इमरजेंसी ब्रेक मारा गया लेकिन, स्पीड अधिक थी इसलिए ट्रेन पर नियंत्रण पाना मुश्किल हो गया। अब बुधवार को शताब्दी एक्सपे्रस के गार्ड, दोनों ड्राइवरों के साथ रेल पथ निरीक्षक (पीडब्ल्यूआइ) से भी पूछताछ की जाएगी।  शताब्दी एक्सप्रेस पर पथराव, राजधानी और संगम एक्सप्रेस ने रौंदे युवक और मवेशी यह भी पढ़ें   By Nawal Mishra
लखनऊ (जेएनएन)। लखनऊ से नई दिल्ली जा रही शताब्दी एक्सप्रेस का ड्राइवर खतरे के लाल निशान को नहीं भांप सका था। जिस रेलखंड पर शताब्दी एक्सप्रेस को 30 किलोमीटर प्रतिघंटे की गति से दौडऩा था, वहां ट्रेन 100 किलोमीटर की गति से पहुंच गई थी। अचानक बीच पटरी पर मेंटेनेंस के उपकरण को देख ड्राइवर ने इमरजेंसी ब्रेक लगा दी थी। दरअसल सोमवार को अमौसी से हरौनी के बीच पटरियों को बदलने का काम चल रहा है। इसी के साथ पटरियों के ढीले बोल्ट कसने और जॉगर प्लेट को बदलने का काम भी चल रहा है।
रेलवे इंजीनियरिंग विभाग के ठेका मजदूर पिपरसंड स्टेशन के पास पटरियों की मरम्मत कर रहे थे। इसके लिए 30 किलोमीटर प्रतिघंटे की गति से ट्रेनों के चलने का कॉशन था। यहां से करीब 200 मीटर दूर लाल रंग का बैनर पटरी पर लगा दिया गया था। इस बीच शाम 4:25 बजे ट्रेन अमौसी को पार कर पिपरसंड की ओर चल पड़ी। अमौसी से ट्रेन को क्लीयर लाइन मिली थी। ड्राइवर कॉशन के रूट तक 100 किमी गति से पहुंच गया। जैसे ही उसने लाल बैनर देखा आनन फानन इमरजेंसी ब्रेक लगाया। हालांकि इस बीच इंजन बैनर को उखाड़ते कार्यस्थल तक पहुंच गया। ट्रेन को तेज गति से आते देख मजदूर उपकरण छोड़कर भाग निकले। रेलवे ने ड्राइवर से कॉशन दिए जाने के बारे में पूछताछ की है। डीआरएम सतीश कुमार ने बताया कि शताब्दी एक्सप्रेस के मामले में कई बिंदुओं को लेकर पूछताछ की जा रही है। परिचालन और इंजीनियरिंग से रिपोर्ट मांगी गई है। 

दर्ज हुए बयान 
शताब्दी एक्सप्रेस के लोको पायलट बीपी शाह और सहायक लोको पायलट एसके भारती का बयान दर्ज किया गया। दोनों ने बताया कि नियम के तहत 1200 मीटर पहले पटाखा दगाना चाहिए या फिर लाल झंडा लगाकर रखना चाहिए था। इसके न होने पर 600 मीटर पहले लाल झंडी लेकर गैंगमैन को खड़ा किया जाना चाहिए था। पिपरसंड में कार्यस्थल के 200 मीटर पहले ही झंडी लगाई गई थी, जिसे देख इमरजेंसी ब्रेक मारा गया लेकिन, स्पीड अधिक थी इसलिए ट्रेन पर नियंत्रण पाना मुश्किल हो गया। अब बुधवार को शताब्दी एक्सपे्रस के गार्ड, दोनों ड्राइवरों के साथ रेल पथ निरीक्षक (पीडब्ल्यूआइ) से भी पूछताछ की जाएगी। 

 
By Nawal Mishra
सपा की साइकिल यात्राः 2019 चुनावों से पहले अखिलेश यादव का बड़ा दांव
अनपडा डी में एफजीडी के लिए 640 करोड़ मंजूर, फायरमैन की शैक्षिक योग्यता इंटर
Cabinet decision: दिव्यांगों को सरकारी नौकरियों में आरक्षण एक फीसद बढ़ाया
Copyright © 2018 Jagran Prakashan Limited.
Jul 17 2018 (22:23) ब्लॉक के बावजूद फुल स्पीड में दौड़ा दी लखनऊ शताब्दी,कंफर्म टिकट के बावजूद नहीं मिली सीट, हंगामा रिजर्वेशन सिस्टम में 108 सीटों वाले एचएचबी कोच फीड हैं। जबकि ट्रेन में 90 सीटों वाले पुराने कोच ही लगाए जा रहे (epaper.navbharattimes.com)
Major Accidents/Disruptions
NER/North Eastern
0 Followers
14809 views

News Entry# 346320  Blog Entry# 3637996   
  Past Edits
Jul 17 2018 (22:23)
Station Tag: Gonda Junction/GD added by ☆अलविदा गोंडा मीटरगेज ■☆*^~/206964

Jul 17 2018 (22:23)
Station Tag: Gorakhpur Junction/GKP added by ☆अलविदा गोंडा मीटरगेज ■☆*^~/206964

Jul 17 2018 (22:23)
Station Tag: Badshahnagar/BNZ added by ☆अलविदा गोंडा मीटरगेज ■☆*^~/206964

Jul 17 2018 (22:23)
Station Tag: Lucknow Charbagh NR/LKO added by ☆अलविदा गोंडा मीटरगेज ■☆*^~/206964

Jul 17 2018 (22:23)
Station Tag: Piparsand/POF added by ☆अलविदा गोंडा मीटरगेज ■☆*^~/206964
दुर्घटना टली, जांच के आदेश
ब्लॉक के बावजूद फुल स्पीड में दौड़ा दी शताब्दी
रद नीलांचल का संचालन बहाल
कंफर्म टिकट के बावजूद नहीं मिली सीट, हंगामा
रिजर्वशन सिस्टम में ज्यादा सीट वाले कोच, जबकि
...
more...
ट्रेन में लगे थे कम सीट वाले कोच• एनबीटी ब्यूरो, लखनऊ : नीलांचल एक्सप्रेस को रेलवे ने मंगलवार से वाराणासी रेलमार्ग पर चल रहे नॉन इंटरलांकिंग कार्य के चलते 20 जुलाई तक रद कर दिया था। हालांकि सोमवार शाम रेलवे ने इस ट्रेन को डायवर्ट रूट से चलाने का निर्णय किया है। मंगलवार को यह ट्रेन लखनऊ, सुलतानपुर,जफराबाद व वाराणसी होकर चलेगी। हालांकि जिन पैसेंजर्स ने टिकट रद करा दिए हैं उन्हें परेशान होना पड़ेगा। दूसरी ओर रेलवे ने पहले डुप्लीकेट पंजाब मेल को नजीबाबाद में कैंसल कर दिया था लेकिन बाद में उसे अमृतसर तक चला दिया गया। इस समस्या को लेकर कई पैसेंजर्स ने शिकायत भी की है।
ट्रैक पर काम कर रहे कर्मचारियों ने किसी तरह हटकर बचाई जान। हालांकि ट्रेन की चपेट में आकर उपकरण क्षतिग्रस्त हो गए।• सरोजनीनगर, लखनऊ
कानपुर रेलखंड पर सोमवार दोपहर पिपरसंड रेलवे स्टेशन के पास ब्लॉक के बावजूद शताब्दी एक्सप्रेस फुल स्पीड से गुजर गई। ट्रैक पर काम कर रहे 50 से अधिक कर्मचारियों ने भागकर अपनी जान बचाई। ट्रैक पर लगी लाल झंडी पार करते हुए ड्राइवर ने कुछ दूरी पर ट्रेन रोकी। जानकारी पर डीआरएम सतीश कुमार ने जांच के आदेश दे दिए हैं।
लखनऊ-कानपुर रेलखंड के पिपरसंड एवं मानक रेलवे स्टेशन के बीच ट्रैक की मरम्मत का काम चल रहा है। रेल पथ निरीक्षक के कर्मचारी रेलवे लाइन के जोड़ खोलकर कस रहे थे। काम के मद्देनजर 30 किमी प्रति घंटे का कॉशन भी था। इसके साथ ही कर्मचारियों ने लाल झंडी भी लगा रखी थी। प्रत्यक्षदर्शियों के मुताबिक दोपहर करीब पौने चार बजे लखनऊ से कानपुर जा रही स्वर्ण शताब्दी एक्सप्रेस (12003) के फुल स्पीड में निकलने से कर्मचारियों में अफरातफरी मच गई। किसी तरह ट्रैक से हटकर सबने अपनी जान बचाई। इसके बावजूद ड्रिल मशीन सहित कई उपकरण ट्रेन के नीचे आ गए।
टूटकर गिरा पायदान : नई दिल्ली से लखनऊ आ रही शताब्दी एक्सप्रेस के कोच संख्या 99155 का पायदान सोमवार सुबह अलीगढ़ व इटावा के बीच टूटकर गिर गया। पायदान टूटने के बाद कंडक्टर ने दरवाजा लॉक कर दिया।
• एनबीटी ब्यूरो, लखनऊ : पूर्वोत्तर रेलवे की बादशाहनगर-गोरखपुर इंटरसिटी में एलएचबी कोच की कमी यात्रियों के लिए मुसीबत बन चुकी है। इसे लेकर सोमवार को यात्रियों ने हंगामा भी किया। यात्रियों के अनुसार टिकट कंफर्म होने के बावजूद सीट नहीं मिली।
बादशाहनगर-गोरखपुर इंटरसिटी में टू एस श्रेणी के छह कोच लग रहे हैं, लेकिन एलएचबी कोच नहीं हैं। रिजर्वेशन सिस्टम में 108 सीटों वाले एचएचबी कोच फीड हैं। जबकि ट्रेन में 90 सीटों वाले पुराने कोच ही लगाए जा रहे हैं। ऐसे में रोज 91 से लेकर 108 नम्बर सीट के पैसेंजर परेशान होते हैं। इसे लेकर सोमवार को यात्रियों और टीटीई में कहासुनी भी हो गई। उधर, अभिषेक साहनी ने लखनऊ जंक्शन से चलने वाली इंटरसिटी में भी 104 नम्बर की सीट न होने की शिकायत की है। डीआरएम विजयलक्ष्मी कौशिक के अनुसार पूरे मामले की जानकारी क्रिस को दी जा चुकी है। कोच की कमी होने से दिक्कत हो रही है। इसके साथ ही टीटीई को खाली सीटों पर यात्रियों को एडजस्ट करने के निर्देश दिए गए हैं।
Jul 17 2018 (21:45) कॉशन होने के बाद भी 100 की रफ्तार पर दौड़ रही थी शताब्दी (www.livehindustan.com)
Major Accidents/Disruptions
NR/Northern
0 Followers
11900 views

News Entry# 346313  Blog Entry# 3637919   
  Past Edits
Jul 17 2018 (21:46)
Station Tag: Kanpur Central/CNB added by ☆अलविदा गोंडा मीटरगेज ■☆*^~/206964

Jul 17 2018 (21:46)
Station Tag: Lucknow Charbagh NR/LKO added by ☆अलविदा गोंडा मीटरगेज ■☆*^~/206964

Jul 17 2018 (21:46)
Station Tag: Piparsand/POF added by ☆अलविदा गोंडा मीटरगेज ■☆*^~/206964

Jul 17 2018 (21:46)
Train Tag: New Delhi - Lucknow Jn Swarn Shatabdi Express/12004 added by ☆अलविदा गोंडा मीटरगेज ■☆*^~/206964
लखनऊ। कार्यालय संवाददातापिपरसंड में दुर्घटनाग्रस्त होने से बची शताब्दी एक्सप्रेस मामले में लोको पायलट की लापरवाही भी सामने आ रही है। रेल अधिकारियों के मुताबिक पटरियों की मरम्मत की वजह से इस रेलमार्ग पर 30 किलोमीटर प्रतिघंटे का कॉशन लगा हुआ था। इसके बाद शताब्दी एक्सप्रेस के लोको पायलट ने कॉशन को अनदेखा कर 100 किलोमीटर प्रतिघंटे की रफ्तार से ट्रेन चला दी। हालांकि डीआरएम का कहना है कि जांच के बाद ही सच्चाई सामने आएगी।लखनऊ-कानपुर रेलमार्ग पर पिपरसंड रेलवे स्टेशन पर पटरियों की मरम्मत का काम किया जा रहा है। इस सेक्शन पर रेलवे ने ट्रेन की रफ्तार 30 किलोमीटर प्रतिघंटा निर्धारित कर रखी है। कॉशन के साथ रेलवे ने मरम्मत की जगह से करीब 300 मीटर दूर एक लाल रंग का बैनर भी लगा रखा रहा है। ताकि लोको पायलट इसे दूर से देख ले। सोमवार को लखनऊ से चलने के बाद शाम 4.25 बजे लोको पायलट करीब 100...
more...
किलोमीटर की रफ्तार से ट्रेन दौड़ता हुआ पहुंच गया। इस दौरान लाल बैनर देख कर उसने इमरजेंसी ब्रेक लगा दिया। इससे बैनर को उड़ाता हुआ व मरम्मत के कार्यस्थल तक पहुंच गया। वहीं, मामले को लेकर रेलवे ने ड्राइवर से पूछताछ शुरू कर दी है। डीआरएम सतीश कुमार ने बताया कि शताब्दी एक्सप्रेस हादसे को लेकर जांच की जा रही है। मामले में परिचालन और इंजीनियरिंग से रिपोर्ट मांगी गई है। उसके बाद भी आगे की कार्रवाई की जाएगी।
Jul 17 2018 (06:15) दुर्घटना का शिकार होने से बची शताब्दी एक्सप्रेस (epaper.jagran.com)
IR Affairs
NR/Northern
0 Followers
11909 views

News Entry# 346215  Blog Entry# 3635781   
  Past Edits
Jul 17 2018 (06:16)
Station Tag: Piparsand/POF added by Adittyaa Sharma^~/1421836
पटरी पर पड़े थे उपकरण, ड्राइवर ने लगाया इमरजेंसी ब्रेकजागरण संवाददाता, लखनऊ : पटरियों के बीच पड़े लाइन मरम्मत के उपकरणों की चपेट में आने से लखनऊ-नई दिल्ली शताब्दी एक्सप्रेस बाल-बाल बची। ट्रेन ड्राइवर ने सतर्कता दिखाते हुए इमरजेंसी ब्रेक लगा दी। तेज झटके के साथ ट्रेन खड़ी हो गई तो यात्रियों के बीच हड़कंप मच गया।1घटना लखनऊ से 25 किलोमीटर दूर पिपरसंड रेलवे स्टेशन की है। शताब्दी एक्सप्रेस लखनऊ से नई दिल्ली जा रही थी। लखनऊ-कानपुर रेलमार्ग पर पिपरसंड के पास ट्रैक मरम्मत का काम चल रहा है। यहां पर करीब 50 से अधिक मजदूर काम पर लगे हुए थे। काम करने के बाद मजदूरों ने कई उपकरणों को पटरी पर ही छोड़ दिया। इस बीच शाम 4:35 बजे वहां से गुजर रही शताब्दी एक्सप्रेस के ड्राइवर की नजर पटरी पर पड़ी तो उसने इमरजेंसी ब्रेक लगाकर ट्रेन को रोक दिया। इमरजेंसी ब्रेक के कारण ट्रेन तेज झटका...
more...
देकर खड़ी हो गई। इस ट्रेन में सफर कर रहे यात्री मोहम्मद जाहिद ने बताया कि जोरदार आवाज के साथ ट्रेन रुक गई। हालांकि सीनियर डीसीएम जगतोष शुक्ला के मुताबिक उनको ऐसी किसी घटना की जानकारी नहीं है। हालांकि ट्रेन यहां 15 मिनट तक खड़ी रही।जागरण संवाददाता, लखनऊ : पटरियों के बीच पड़े लाइन मरम्मत के उपकरणों की चपेट में आने से लखनऊ-नई दिल्ली शताब्दी एक्सप्रेस बाल-बाल बची। ट्रेन ड्राइवर ने सतर्कता दिखाते हुए इमरजेंसी ब्रेक लगा दी। तेज झटके के साथ ट्रेन खड़ी हो गई तो यात्रियों के बीच हड़कंप मच गया।1घटना लखनऊ से 25 किलोमीटर दूर पिपरसंड रेलवे स्टेशन की है। शताब्दी एक्सप्रेस लखनऊ से नई दिल्ली जा रही थी। लखनऊ-कानपुर रेलमार्ग पर पिपरसंड के पास ट्रैक मरम्मत का काम चल रहा है। यहां पर करीब 50 से अधिक मजदूर काम पर लगे हुए थे। काम करने के बाद मजदूरों ने कई उपकरणों को पटरी पर ही छोड़ दिया। इस बीच शाम 4:35 बजे वहां से गुजर रही शताब्दी एक्सप्रेस के ड्राइवर की नजर पटरी पर पड़ी तो उसने इमरजेंसी ब्रेक लगाकर ट्रेन को रोक दिया। इमरजेंसी ब्रेक के कारण ट्रेन तेज झटका देकर खड़ी हो गई। इस ट्रेन में सफर कर रहे यात्री मोहम्मद जाहिद ने बताया कि जोरदार आवाज के साथ ट्रेन रुक गई। हालांकि सीनियर डीसीएम जगतोष शुक्ला के मुताबिक उनको ऐसी किसी घटना की जानकारी नहीं है। हालांकि ट्रेन यहां 15 मिनट तक खड़ी रही।नीलांचल का मार्ग बदला 1पुरी से आनंद विहार के बीच चलने वाली ट्रेन 12875 नीलांचल एक्सप्रेस का संचालन मंगलवार से बहाल कर दिया जाएगा। हालांकि यह ट्रेन लखनऊ, सुलतानपुर, जफराबाद व वाराणसी के रास्ते रवाना होगी। 1पिपरसंड में पटरी पर पड़े उपकरण
Page#    Showing 1 to 10 of 10 News Items  

Scroll to Top
Scroll to Bottom
Go to Mobile site
Important Note: This website NEVER solicits for Money or Donations. Please beware of anyone requesting/demanding money on behalf of IRI. Thanks.
Disclaimer: This website has NO affiliation with the Government-run site of Indian Railways. This site does NOT claim 100% accuracy of fast-changing Rail Information. YOU are responsible for independently confirming the validity of information through other sources.
India Rail Info Privacy Policy