Spotting
 Timeline
 Travel Tip
 Trip
 Race
 Social
 Greeting
 Poll
 Img
 PNR
 Pic
 Blog
 News
 Conf TL
 RF Club
 Convention
 Monitor
 Topic
 Bookmarks
 Rating
 Correct
 Wrong
 Stamp
 PNR Ref
 PNR Req
 Blank PNRs
 HJ
 Vote
 Pred
 @
 FM Alert
 FM Approval
 Pvt
News Super Search
 ↓ 
×
Member:
Posting Date From:
Posting Date To:
Category:
Zone:
Language:
IR Press Release:

Search
  Go  

नहीं कोई गम, रेलवे से हैं हम - Aman

Full Site Search
  Full Site Search  
FmT LIVE - Follow my Trip with me... LIVE
 
Sat Sep 18 19:34:44 IST
Home
Trains
ΣChains
Atlas
PNR
Forum
Quiz Feed
Topics
Gallery
News
FAQ
Trips/Spottings
Login
Post PNRAdvanced Search
Large Station Board;
Entry# 1995614-0
Medium; Platform Pic; Large Station Board;
Entry# 2397037-0


G/Gondia Junction (7 PFs)
गोंदिया जंक्शन     गोंदिया जंक्शन

Track: Double Electric-Line

Show ALL Trains
Junction Pt. Balaghat-Durg-Nagbhir-Tumsar Road Rail Toli, Gondia 441614
State: Maharashtra


Zone: SECR/South East Central   Division: Nagpur

Type of Station: Junction
Number of Platforms: 7
Number of Halting Trains: 204
Number of Originating Trains: 30
Number of Terminating Trains: 31
Rating: 5.0/5 (204 votes)
cleanliness - excellent (27)
porters/escalators - excellent (26)
food - excellent (26)
transportation - excellent (25)
lodging - excellent (24)
railfanning - excellent (26)
sightseeing - excellent (24)
safety - excellent (26)
Show ALL Trains

Station News

Page#    Showing 1 to 20 of 475 News Items  next>>
Yesterday (17:36) SECR proposes RoR at Gondia to end detention of trains on Howrah route (www.thehitavada.com)
New Facilities/Technology
SECR/South East Central
0 Followers
13712 views

News Entry# 465051  Blog Entry# 5068520   
  Past Edits
Sep 17 2021 (17:36)
Station Tag: Chacher/CHCR added by HA1NKS RESTORED/1095213

Sep 17 2021 (17:36)
Station Tag: Gondia Junction/G added by HA1NKS RESTORED/1095213
Stations:  Gondia Junction/G   Chacher/CHCR  
By Sagar Mohod :

For resolving the stagnation at Gondia with opening of new route to Jabalpur, South East Central Railway (SECR) has proposed a project of Rail over Rail (RoR) that would help in simultaneous running of trains in East-West as well as South-North directions. After completion of the link till Jabalpur, Indian Railways had to redraw the maps of long distance travel for passenger traffic as rule states that trains should run through shortest route. With over 200 kms travel distance slashed off as round about trip to Itarsi
...
more...
is now cut off the trains are being diverted from Ballarshah station via Gondia enroute to Jabalpur. An alternate to Grand Trunk route of Indian Railways ensured that most of long distance trains emerging from Southern direction of country are no longer coming to Nagpur and then moving ahead to Itarsi and then to Jabalpur and ahead to their respective destination. Right now about half dozen Mail/Express trains going to Northern direction are taking the new path through Gondia.

Though the new route resulted in huge savings for Railways, on operations front it posed a new problem at Gondia station that was getting locked-up for a fairly long time, particularly on the East-West route. During the time, traffic on mainline -- Howrah-Mumbai -- was held-up the incoming trains from Chandafort-Nagbhir direction coming to Gondia crosses-over for moving onto Jabalpur direction. The time lost in transit on mainline was not very helpful given the congestion due to rapid increase in number of trains over the year and development freezes on the front of expansion of network. So the development of new route though heralded a good news after a perennially long time, the detention on mainline added to worries of planners. Now to accommodate new traffic and anticipated growth in future a third line is also being laid between Rajnandgaon and Kalumna stations in SECR's Nagpur Division.

That would further require uninterrupted running of trains on Howrah-Mumbai line without any need for stoppages on outer signal for allowing movement of criss-crossing traffic from Chandafort direction. “So after looking at the table and mapping trains movement, the RoR was thought off as the best option,” said Vikas Kashyap, Sr. Divisional Commercial Manager, SECR, Nagpur Division. Kashyap added, “RoR would help the division to increase throughput on the new line, especially in terms of movement of freight trains.” The project involved construction of a railway over the existing mainline. A similar project already exists at Chacher railway station in Mauda in Nagpur Division that has enabled simultaneous placing of loaded rake and moving of empty rake outside the yard.

At Gondia, the RoR would ensure that mainline remains undisturbed even as trains coming from Southern directions move on smoothly overhead. As the term suggests, RoR is a steel bridge over the existing tracks and meant to create a system of by-pass at crossing points. The project cost as of now is pegged at around Rs 134 crore and apart from RoR, allied structures like connecting brides would be constructed for smooth transit of trains through Gondia. The surface crossing that is currently occurring would also end and overcome issue of bottleneck on mainline. To handle the trains on RoR, a Chord Cabin would also come up on Eastern side of Gondia station where the new project is going to come up to control South to North movement.

Rail News
13442 views
Yesterday (18:05)
Saurabh®
Saurabhdubey_86^~   26238 blog posts
Re# 5068520-1            Tags   Past Edits
Gin ke 1 north-south train chalai hai 1 saal mein, wo bhi weekly. Aur ab RoR ka proposal. Ye sab freight revenue ke liye,but excuse passenger services ka.

9276 views
Yesterday (20:44)
Irtaqua Akhter
IrtaquaAkhter~   611 blog posts
Re# 5068520-2            Tags   Past Edits
Bilkul sahi kahe aapne or jaisa ki is article me NGP divsion ke Sr.DCM ne bhi kaha hai ki ROR would help "especially in terms of movement of freight trains" kul milake goods trains ki time saving karke jyada se jyada revenue earn karna or G yard me freights ka congestion kam karna. Existing 2 Coaching trains ke alawa baaki chalu hui nahi or G JBP section overcrowded ho gaya.
Sep 15 (12:45) Jabalpur: गोंदिया ब्रॉडगेज परियोजना का सपना 21 साल बाद भी अधूरा। करोड़ों रुपए हुए खर्च - YouTube (www.youtube.com)
Other News
SECR/South East Central
0 Followers
8607 views

News Entry# 464875  Blog Entry# 5066816   
  Past Edits
Sep 15 2021 (12:45)
Station Tag: Gondia Junction/G added by jayjethwa/85547

Sep 15 2021 (12:45)
Station Tag: Katangi/KGE added by jayjethwa/85547

Sep 15 2021 (12:45)
Station Tag: Balaghat Junction/BTC added by jayjethwa/85547

Sep 15 2021 (12:45)
Station Tag: Seoni/SEY added by jayjethwa/85547

Sep 15 2021 (12:45)
Station Tag: Mandla Fort/MFR added by jayjethwa/85547

Sep 15 2021 (12:45)
Station Tag: Nainpur Junction/NIR added by jayjethwa/85547

Sep 15 2021 (12:45)
Station Tag: Jabalpur Junction/JBP added by jayjethwa/85547
जबलपुर गोंदिया ब्रॉडगेज परियोजना का सपना 21 साल बाद भी अधूरा है. इस परियोजना का मकसद उत्तर भारत और दक्षिण भारत के बीच रेल सफर को आसान बनाना था.. परियोजना के तहत नैरोगेज, ब्राडगेज में तब्दील तो हो गई लेकिन यात्रियों को ट्रेनों की सुविधा नहीं मिल पा रही है.
Sep 13 (12:00) . . . तो सिवनी से होकर गुजरेगी राजधानी एक्सप्रेस! (samacharagency.com)
Other News
SECR/South East Central
0 Followers
17435 views

News Entry# 464704  Blog Entry# 5065275   
  Past Edits
Sep 13 2021 (12:00)
Station Tag: Jabalpur Junction/JBP added by jayjethwa/85547

Sep 13 2021 (12:00)
Station Tag: Nainpur Junction/NIR added by jayjethwa/85547

Sep 13 2021 (12:00)
Station Tag: Balaghat Junction/BTC added by jayjethwa/85547

Sep 13 2021 (12:00)
Station Tag: Gondia Junction/G added by jayjethwa/85547

Sep 13 2021 (12:00)
Train Tag: Bilaspur - New Delhi Rajdhani Express/12441 added by jayjethwa/85547

Sep 13 2021 (12:00)
Train Tag: New Delhi - Bilaspur Rajdhani Express/12442 added by jayjethwa/85547
फिलहाल रायपुर राजधानी को घंसौर के रास्ते मिल सकती है जगह, सांसद अगर संजीदा हों तो बहुत जल्द फिर सकती है सिवनी की किस्मत, मण्डला सांसद ने तो कर दिया काम, अब दारोमदार बालाघाट सांसद पर(रश्मि सिन्हा)
नई दिल्ली (साई)। सिवनी जिले के दो सांसद अगर मिलकर ठान लें तो सिवनी से होकर राजधानी एक्सप्रेस गुजरने में देर नहीं लगने वाली . . .! वैसे अमान परिवर्तन के काम में मण्डला सांसद फग्गन सिंह कुलस्ते ने तो अपनी जवाबदेही का निर्वहन ईमानदारी से कर दिया, अब बारी बालाघाट सांसद डॉ. ढाल सिंह बिसेन की है। अब सारा दारोमदार बालाघाट के सांसद पर ही है।उक्ताशय की बात नई दिल्ली स्थित रेल भवन के उच्च पदस्थ सूत्रों ने समाचार एजेंसी ऑफ इंडिया से चर्चा
...
more...
के दौरान कही। सूत्रों ने कहा कि भोपाल से इटारसी होकर नागपुर एवं नागपुर से रायपुर वाले रेलखण्ड पर यातायात का दबाव बहुत ज्यादा होने के कारण कुछ रेलगाड़ियों के लिए शार्टेस्ट रूट (कम से कम दूरी वाले रेल मार्ग) खोजे जा रहे हैं।
जबलपुर, बालाघाट से गुजर सकती है राजधानी एक्सप्रेस
सूत्रों ने समाचार एजेंसी ऑफ इंडिया को आगे बताया कि नई दिल्ली से आगरा, झांसी, भोपाल, नागपुर, गोंदिया, रायपुर के रास्ते बिलासपुर जाने वाली राजधानी एक्सप्रेस 12441 / 12442 को अब जबलपुर से घंसौर, नैनपुर, बालाघाट से गोंदिया का रेलखण्ड पूरा होने के कारण नई दिल्ली से आगरा, झांसी, भोपाल, इटारसी, जबलपुर, घंसौर, नैनपुर, बालाघाट से गोंदिया, रायपुर होते हुए बिलासपुर ले जाने की संभावनाओं पर भी विचार किया जा रहा है। इससे इटारसी से नागपुर होकर गोंदिया मार्ग पर अप व डाऊन दोनों दिशाओं की एक एक रेलगाड़ी कम हो जाएगी।
. . . तो चलने लगती सिवनी से राजधानी एक्सप्रेस!
रेल भवन के उच्च पदस्थ सूत्रों ने समाचार एजेंसी ऑफ इंडिया को बताया कि सिवनी जिले के दोनों (मण्डला एवं बालाघाट) के सांसद अगर ईमानदारी से पहल करते या भविष्य में करें तो जिला मुख्यालय सिवनी से होकर राजधानी एक्सप्रेस भी गुजर सकती है। सूत्रों का कहना था कि नैनपुर से सिवनी के बीच अगर भोमा से सिवनी के बीच के महज 18 किलोमीटर के रेलखण्ड का निर्माण समय सीमा (जो लगभग एक साल विलंब से चल रहा है) में करवा लिया जाकर इसे विद्युतीकृत कर दिया जाता तो आज सिवनी के विकास के द्वार कब से खुल चुके होते।सूत्रों ने कहा कि इन परिस्थितियों में रेल्वे के द्वारा झांसी, बीना, भोपाल से इटारसी, बैतूल, नागपुर के रास्ते में यातायात का दबाव कम करने के लिए नई दिल्ली से चेन्नई 12433 / 12434, नई दिल्ली से बंग्लुरू राजधानी एक्सप्रेस 12691 / 12692, नई दिल्ली से हैदराबाद राजधानी एक्सप्रेस 12437 / 12438 को भी नई दिल्ली से आगरा, झांसी, मानिकपुर, इलहाबाद, कटनी, जबलपुर, घंसौर, नैनपुर, के रास्ते सिवनी, कटंगी, तिरोड़ी होते हुए नागपुर एवं उसके बाद इन रेल गाड़ियों को आगे गंतव्य तक भेज दिया जाता।सूत्रों ने बताया कि रेलवे में सवारी गाड़ियों के परिचालन में तेजस को पहली प्राथमिकता, शताब्दी, राजधानी एक्सप्रेस को दूसरी प्राथमिकता के उपरांत दुरंतो, संपर्क क्रांति आदि सवारी गाड़ियों को तीसरी एवं उसके बाद जिन रेलगाड़ियों के नंबर पहले 2 अब 12 से आरंभ होते हैं वे रेल गाड़ियां रेलवे बोर्ड के द्वारा मानीटर की जाने वाली मानी जाती हैं, को प्राथमिकता दी जाती है।सूत्रों ने बताया कि झांसी से मानिकपुर, इलाहाबाद, कटनी होकर जबलपुर के रेलखण्ड पर यातायात का दबाव अपेक्षाकृत कम होने से प्राथमिकता वाली इन रेलागाड़ियों का परिचालन इस रेलखण्ड से किया जा सकता है। इन संभावनाओं पर भी रेल मंत्रालय एवं रेलवे बोर्ड विचार कर रहा है।
मण्डला सांसद ने की जवाबदेही पूरी, अब बालाघाट सांसद की बारी!
सूत्रों ने बताया कि मण्डला के सांसद फग्गन सिंह कुलस्ते के द्वारा अपने संसदीय क्षेत्र विशेषकर मण्डला संसदीय क्षेत्र के सिवनी जिले के हिस्से में अमान परिवर्तन का काम शत प्रतिशत पूरा करवा दिया गया है। अब विद्युतीकरण ही यहां बाकी रह गया है, वह भी 2022 में मार्च तक पूरा होने की उम्मीद है।सूत्रों की मानें तो बालाघाट संसदीय क्षेत्र के सिवनी जिले के हिस्से में अधिकारियों और ठेकेदार को पता नहीं काम करने में बुखार क्यों आ रहा है। यहां काम को पेटी, लोटा, गिलास, चम्मच आदि में लेने के फिकरे भी रेलवे में जमकर कसे जा रहे हैं। बालाघाट संसदीय क्षेत्र के सिवनी जिले के हिस्से में भोमा से सिवनी होकर चौरई का काम कब पूरा होगा यह कहना बहुत ही मुश्किल है। जब तक भोमा से सिवनी के बीच का काम पूरा नहीं होता और यहां विद्युतीकरण नहीं होता तब तक सिवनी से होकर सवारी गाड़ियों का गुजरना दिवा स्वप्न ही माना जा सकता है।
Share this:
Sep 12 (08:08) Bilaspur Railway News: आइआरसीटीसी कराएगा दक्षिण भारत के तीर्थ स्थलों की यात्रा (www.naidunia.com)
Tourism
SECR/South East Central
0 Followers
9267 views

News Entry# 464598  Blog Entry# 5064382   
  Past Edits
Sep 12 2021 (08:08)
Station Tag: Wardha Junction/WR added by Adittyaa Sharma/1421836

Sep 12 2021 (08:08)
Station Tag: Nagpur Junction/NGP added by Adittyaa Sharma/1421836

Sep 12 2021 (08:08)
Station Tag: Gondia Junction/G added by Adittyaa Sharma/1421836

Sep 12 2021 (08:08)
Station Tag: Raj Nandgaon/RJN added by Adittyaa Sharma/1421836

Sep 12 2021 (08:08)
Station Tag: Durg Junction/DURG added by Adittyaa Sharma/1421836

Sep 12 2021 (08:08)
Station Tag: Raipur Junction/R added by Adittyaa Sharma/1421836

Sep 12 2021 (08:08)
Station Tag: Champa Junction/CPH added by Adittyaa Sharma/1421836

Sep 12 2021 (08:08)
Station Tag: Raigarh/RIG added by Adittyaa Sharma/1421836

Sep 12 2021 (08:08)
Station Tag: Bilaspur Junction/BSP added by Adittyaa Sharma/1421836
बिलासपुर। Bilaspur Railway News: आइआरसीटीसी दिसंबर में दक्षिण भारत के तीर्थ स्थलों की यात्रा कराएगा। आठ रात और नौ दिन की यह यात्रा 15 दिसंबर को ब्रजराजनगर से शुरू होगी। इस यात्रा से अधिक से अधिक लोग लाभान्वित हो सकें इसलिए रायगढ़, चांपा, बिलासपुर, रायपुर, दुर्ग, राजनांदगांव, गोंदिया, नागपुर व वर्धा समेत कई प्रमुख स्टेशनों को बोर्डिंग स्टेशन बनाया गया है। आइआरसीटीसी की टीम ने इस ट्रेन के प्रचार-प्रसार की कवायद शुरू कर दी है, ताकि सभी सीटें बुक हो जाए।
कोरोना संक्रमण की वजह से पर्यटन व धार्मिक स्थलों में भ्रमण कराने की योजना ठंड पड़ी है। दो बार तो बढ़ते संक्रमण के कारण यात्रा रद भी हो चुकी है। पर अब स्थिति सामान्य है और
...
more...
लोग शहर से बाहर घूमने के लिए जा रहे हैं। इसे देखते हुए ही आइआरसीटीसी ने दक्षिण भारत यात्रा की योजना बनाई है। इसके तहत यात्रियों को तिरुपति, मदुरई, कन्याकुमारी, रामेश्वरम व श्रीशैलम के दर्शन कराए जाएंगे। यात्रा की अनुमति उन्हीं यात्रियों को रहेगी, जिन्हें कोरोना वैक्सीन की दोनों डोज लग चुकी है।
आइआरसीटीसी के एरिया मैनेजर जेराल्ड सोरेन ने बताया कि यात्रा स्पेशल ट्रेन 15 दिसंबर की रात 8:00 बजे ब्रजराजनगर स्टेशन से छूटेगी और 11:41 बजे बिलासपुर पहुंचेगी। इस दौरान स्लीपर कोच में यात्रा करने पर 8,510 रुपये प्रति यात्री लगेगा। वहीं एसी कोच की बुकिंग के लिए 14 हजार 180 रुपये निर्धारित किए गए हैं। उन्होंने उम्मीद जताई कि इस बार यात्रा रद करने जैसी स्थिति निर्मित नहीं होगी। संक्रमण नियंत्रण में है और लोग बाहर घूमना शुरू कर चुके हैं। जिन-जिन स्टेशनों को बोर्डिंग पाइंट स्टेशन बनाया गया है। वहां इस यात्रा की जानकारी पहुंचाने के लिए प्रचार-प्रसार किया जाएगा।
सांसद बिसेन ने रेल मंत्री से जिले में रेल संचालन और सुविधाओं को लेकर की चर्चा
रेलवे मंत्री ने जल्द ट्रेनों के संचालन को कराया आश्वस्त, सांसद ने नई ट्रेनों और रूटों के विस्तारीकरण की रखी मांग
बालाघाट। जिले के सांसद डॉ. ढालसिंह बिसेन बीते दिनों रेल मंत्रालय की आकस्मिक बैठक में रेल मंत्रालय के आमंत्रण पर पहुंचे थे। इस बैठक मंे रेल मंत्री अश्विनी वैष्णव और रेलवे बोर्ड अध्यक्ष सनत शर्मा समेत अन्य अधिकारीगण मौजूद थे। बैठक में सांसद बिसेन द्वारा विगत दिनों से लगातार लोकसभा, पत्राचार तथा दूरभाष के माध्यम से
...
more...
जिले में जनसुविधाओं को दृष्टिगत रखते हुए जल्द ट्रेन चालू करने के लिए रेल मंत्रालय के समक्ष लगातार रखी जा रही मांगों पर सारगर्भित चर्चा की, इस दौरान उन्होंने एक और पत्र सौंपा। साथ ही गत 26 अगस्त को रेल विभाग नागपुर और बिलासपुर द्वारा सांसद श्री बिसेन की अनुशंसा पर भेजे गये प्रस्ताव के अनुपालन में जिले में ट्रेन संचालन के लिए आवश्यक बैठक दिल्ली में देररात तक रेल भवन में हुई। जहां रेल मंत्री अश्विनी वैष्णव ने सांसद बिसेन की उपस्थिति में उपयुक्त प्रस्ताव पर चर्चा कर गहन एवं वास्तविक स्थिति को समझा। उक्ताशय की जानकारी रेलवे सलाहकार समिति सदस्य नागपुर मंडल अरुण राहंगडाले और मोनिल जैन ने संयुक्त रूप से दी।
जिले का होगा मुख्य शहरों से संपर्क
सांसद बिसेन ने नये ट्रैक बालाघाट से जबलपुर की विधिवत लोकार्पण संबंध में चर्चा की और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के शुभ हस्ते लोकार्पण का निवेदन किया। उन्होंने गोंदिया से जबलपुर तथा नई बाईपास लाइन गोंदिया-कटंगी-तिरोड़ी -नागपुर का भी विधिवत प्रारंभ कर यहां से ट्रेन संचालन की बात रखी। जिस पर रेल मंत्री द्वारा कोरोना गाइडलाइन का पालन करते हुए लगभग तीन, चार लोकल ट्रेनों का पुनः संचालन शीघ्रता से शुरू करने, रेल मंडल बिलासपुर के प्रस्तावों को मंजूरी दिए जाने की बात कही। जिसकी जल्द ही सूचना जारी कर दी जायेगी। बैठक में सांसद बिसेन द्वारा नई लंबी दूरी की ट्रेनों के संचालन की बातें रखीं। इसी कड़ी में जबलपुर से उपलब्ध ट्रेनों में से मुख्यतः दिल्ली, इंदौर, भोपाल को जोड़ने वाली यात्री गाड़ियों का संचालन और कुछ ट्रेनों को विस्तारीकरण, रूट परिवर्तन एवं नवीन गाड़ी चलाने के लिए वैकल्पिक व्यवस्था की कार्य योजना को भी साझा किया। जिस पर रेल मंत्रालय द्वारा विचार कर अमलीजामा पहनाया जाने की बात कही।
चौरई और सिवनी के बीच शीघ्र पूर्ण हो ब्राडगेज कार्य
सांसद बिसेन की मांग पर सिवनी से चौरई के बीच चल रहे ब्रॉडगेज निर्माण कार्य को गति प्रदान करने के लिए रेल मंत्री द्वारा अधिकारियों को निर्देशित कर तय समय में कार्य पूर्ण करने कहा गया। ‌बैठक में श्री बिसेन ने इस बहुउद्देशीय ब्राडगेज परियोजना का प्रारंभ करने की आवश्यकता पर बल देते हुए बताया कि बीते एक साल से इस योजना को पूर्ण करने के लिए उनके द्वारा लगातार पत्राचार एवं लोकसभा प्रश्न के माध्यम से बात रखी जा रही थी, किंतु कोरोना महामारी के कारण उक्त कार्यों में विलंब हो रहा है। वर्तमान में सामान्य स्थिति के पश्चात बालाघाट, सिवनी को रेलवे के माध्यम से प्रदेश एवं देश के अन्य शहरों से जोड़ना अति आवश्यक है। ताकि नक्सल प्रभावित एवं आदिवासी क्षेत्र का विकास प्रारंभ हो सके। वही पर्यटक दृष्टि से दो बड़े नेशनल पार्क कान्हा एवं पेंच के पर्यटक को सुविधा एवं पर्यटन क्षेत्र का विकास संभव हो। उन्होंने बालाघाट में लग रहे नवीन उद्योगों की स्थापना के लिए रेल लाइन का संचालन एवं विस्तारीकरण बेहद जरूरी होने की बात कही। उन्होंने बताया कि इस सेक्शन से उत्तर से दक्षिण की दूरी का लाभ भी आम जनता एवं रेल मंत्रालय को होगा। सांसद बिसेन के प्रस्ताव सिवनी-कटंगी मार्ग का सर्वे जल्द से जल्द करने के लिए रेल मंत्री ने स्वीकार कर वर्तमान बजट में शामिल करने का आश्वासन भी दिया। इनके अतिरिक्त बालाघाट एवं सिवनी को मॉडल स्टेशन बनाने एवं विभिन्न कार्यो को शीघ्रता से पूर्ण करने और सर्वे के लिए निर्देशित किया है।
इन प्रस्तावों पर हुई चर्चा
अरुण राहंगडाले और मोनील जैन ने बताया कि, रेलवे मंत्री के साथ हुई इस बैठक में सांसद बिसेन ने गोंदिया से बालाघाट से कटंगी लोकल मेमो का विस्तारीकरण तिरोड़ी से इतवारी तक, गोंदिया से बालाघाट से समनापुर ट्रेनों का विस्तारीकरण नैनपुर से जबलपुर एवं मंडला, जबलपुर से चांदा पोर्ट को पुनः शुरू कर हैदराबाद सिकंदराबाद तक इलाज करने वाले मरीजों के लिए विस्तारीकरण, जबलपुर से नागपुर और ओवरनाइट ट्रेन का रूट परिवर्तन कर बालाघाट से गोंदिया होते हुए नागपुर तक चलाने, महाकौशल एवं गोंडवाना एक्सप्रेस का विस्तारीकरण नैनपुर से बालाघाट होते हुए गोंदिया या तिरोड़ी से इतवारी तक करने, महाराष्ट्र एक्सप्रेस का विस्तारीकरण नैनपुर या जबलपुर तक करने, साथ ही इंदौर से भोपाल से जबलपुर होते हुए बालाघाट से गोंदिया तक फास्ट ट्रेन का संचालन, रीवा से जबलपुर एवं शटल ट्रेनों का विस्तारीकरण गोंदिया से इतवारी से रायपुर तक, जबलपुर से नागपुर एवं जबलपुर से रायपुर के लिए इंटरसिटी एक्सप्रेस का संचालन का प्रस्ताव रखा।
सिटीलाईव (रिपोर्टर)
Page#    Showing 1 to 20 of 475 News Items  next>>

Scroll to Top
Scroll to Bottom
Go to Mobile site
Important Note: This website NEVER solicits for Money or Donations. Please beware of anyone requesting/demanding money on behalf of IRI. Thanks.
Disclaimer: This website has NO affiliation with the Government-run site of Indian Railways. This site does NOT claim 100% accuracy of fast-changing Rail Information. YOU are responsible for independently confirming the validity of information through other sources.
India Rail Info Privacy Policy