Spotting
 Timeline
 Travel Tip
 Trip
 Race
 Social
 Greeting
 Poll
 Img
 PNR
 Pic
 Blog
 News
 Conf TL
 RF Club
 Convention
 Monitor
 Topic
 #
 Rating
 Correct
 Wrong
 Stamp
 PNR Ref
 PNR Req
 Blank PNRs
 HJ
 Vote
 Pred
 @
 FM Alert
 FM Approval
 Pvt
News Super Search
 ↓ 
×
Member:
Posting Date From:
Posting Date To:
Category:
Zone:
Language:
IR Press Release:

Search
  Go  
dark mode

बिहार संपर्क क्रांति : मिथिला पेंटिंग की सुंदरता और तेज रफ्तार - Keshav Singh

Full Site Search
  Full Site Search  
FmT LIVE - Follow my Trip with me... LIVE
 
Tue May 24 08:39:11 IST
Home
Trains
ΣChains
Atlas
PNR
Forum
Quiz Feed
Topics
Gallery
News
FAQ
Trips
Login
Post PNRPost BlogAdvanced Search

MIR/Maijapur (2 PFs)
میجاپور     मैजापुर

Track: Double Electric-Line

Show ALL Trains
MDR 18E,Balpur,Gonda
State: Uttar Pradesh

Elevation: 110 m above sea level
Zone: NER/North Eastern   Division: Lucknow NER

No Recent News for MIR/Maijapur
Nearby Stations in the News
Type of Station: Regular
Number of Platforms: 2
Number of Halting Trains: 6
Number of Originating Trains: 0
Number of Terminating Trains: 0
0 Follows
Rating: NaN/5 (0 votes)
cleanliness - n/a (0)
porters/escalators - n/a (0)
food - n/a (0)
transportation - n/a (0)
lodging - n/a (0)
railfanning - n/a (0)
sightseeing - n/a (0)
safety - n/a (0)
Show ALL Trains

Station News

Page#    Showing 1 to 15 of 15 News Items  
Jan 23 2021 (22:55) इन गांवों से कोई मुसाफिर भूखा न गुजरा (www.jagran.com)
Commentary/Human Interest
NER/North Eastern
0 Followers
17313 views

News Entry# 434831  Blog Entry# 4854827   
  Past Edits
Jan 23 2021 (22:55)
Station Tag: Maijapur/MIR added by Anupam Enosh Sarkar/401739
Stations:  Maijapur/MIR  
25 मई की बात है मैजापुर रेलवे स्टेशन पर ट्रेन रुकते ही भूख व प्यास से परेशान यात्री रेलवे लाइन के किनारे स्थित तालाब से गंदा पानी पीने लगे। यह देख आसपास के गांवों के लोगों की आंखें भर आई। सभी ने मिलकर इनकी मदद करने का निर्णय लिया।
शिव प्रसाद तिवारी, हलधरमऊ (गोंडा)
कोरोना काल में लॉकडाउन से हर कोई जूझ रहा था। दिल्ली, मुंबई, पंजाब व अन्य शहरों में फंसे प्रवासी मुश्किलों से जूझने लगे। लोगों का काम छिन गया। खाने का संकट हो गया। घर से निकलने पर
...
more...
पाबंदी थी। ऐसे में सरकार ने दूर शहरों में रह रहे मजदूरों की घरवापसी की योजना तैयार की। गोरखपुर, बस्ती व अन्य शहरों को जाने वाले यात्रियों को लेकर जब ट्रेनें यहां पहुंचनी शुरू हुई तो गोंडा रेलवे स्टेशन पर प्लेटफार्म फुल हो गया। ऐसे में ट्रेनों को कुछ दूरी वाले स्टेशनों पर रोकना पड़ा।
25 मई की बात है, मैजापुर रेलवे स्टेशन पर ट्रेन रुकते ही भूख व प्यास से परेशान यात्री रेलवे लाइन के किनारे स्थित तालाब से गंदा पानी पीने लगे। यह देख आसपास के गांवों के लोगों की आंखें भर आई। सभी ने मिलकर इनकी मदद करने का निर्णय लिया।
इस तरह हुई मदद : मैजापुर, हलधरमऊ, उत्तरपुरवा, खालेपुरवा, हाता, साईंतकिया, कपूरपुर के ग्रामीणों ने स्टेशन के आउटर पर कैंप लगा दिया। कैंप में पानी के साथ ही भोजन तक तैयार करके बांटा गया। ट्रेन रुकते ही एक माह तक गांवों के लोगों ने यात्रियों को भोजन की व्यवस्था कराई। यहां के रहने वाले भाजपा नेता इमरान खां का कहना है कि हर किसी को इस तरह की गतिविधियों में आगे आकर प्रयास करना चाहिए। इसने समाज को एक नई सीख दी है। शंकरशरण शुक्ल, रामनाथ दूबे, सूफियान खां आदि ने कहा कि परहित से बढ़कर कुछ नहीं है। करीब एक माह तक ट्रेनों से लाए गए यात्रियों की ग्रामीणों ने मदद करके एक मिसाल कायम की है। ग्रामीणों को कई संगठनों ने सम्मानित किया।
कायम की मिसाल : ग्रामीणों के इस प्रयास को कैसरगंज के सांसद बृजभूषण शरण सिंह ने मौके पर पहुंचकर सराहा। उन्होंने कहा कि जब देश से संकट से जूझ रहा था तो यहां के ग्रामीणों ने उम्मीदों का एक नया संसार तैयार किया। इनसे सभी को प्रेरणा लेनी चाहिए।
Jul 12 2019 (00:37) इंजन फेस्त्रत्त्ल होने से एक घंटे खड़ी रही वैशाली सुपर फास्ट ट्रेन (www.amarujala.com)
Major Accidents/Disruptions
NER/North Eastern
0 Followers
31996 views

News Entry# 386518  Blog Entry# 4375648   
  Past Edits
Jul 12 2019 (00:37)
Station Tag: Maijapur/MIR added by ♤The Silent Traveller ♧♤*^~/206964

Jul 12 2019 (00:37)
Station Tag: Gonda Junction/GD added by ♤The Silent Traveller ♧♤*^~/206964
Stations:  Gonda Junction/GD   Maijapur/MIR  
गोंडा। नई दिल्ली से बरौनी जा रही 12554 वैशाली सुपर फास्ट एक्सप्रेस ट्रेन का इंजन बुधवार की सुबह मैजापुर रेलवे स्टेशन के पास तकनीकी खराबी के कारण फेल हो गया। जिससे ट्रेन तकरीबन एक घंटे तक मैजापुर रेलवे स्टेशन पर ही खड़ी रही।
...
more...
इससे यात्रियों को काफी दिक्कतों का सामना करना पड़ा। वैशाली एक्सप्रेस ट्रेन में लगे इलेक्ट्रॉनिक इंजन को बदलने के लिए एक घंटे तक दूसरा इंजन नहीं मिल सका। एक घंटे बाद दूसरा इंजन लगाने के बाद ट्रेन को आगे के लिए रवाना किया गया। स्टेशन अधीक्षक अनिल कुमार नेे बताया कि दूसरा इंजन मिलने में समय लगने के कारण ट्रेन संचालन में देरी हुई।
Apr 23 2019 (02:58) गोंडा: ट्रेन रुकी, मजा लेने के लिए फसल में लगाई आग में खुद ही जलकर मर गया युवक (www-amarujala-com.cdn.ampproject.org)
Crime/Accidents
NER/North Eastern
0 Followers
96646 views

News Entry# 381025  Blog Entry# 4299095   
  Past Edits
Apr 23 2019 (02:58)
Station Tag: Gonda Kachahri/GDK added by Kumaon Tiger^~/1427404

Apr 23 2019 (02:58)
Station Tag: Maijapur/MIR added by Kumaon Tiger^~/1427404

Apr 23 2019 (02:58)
Station Tag: Gonda Junction/GD added by Kumaon Tiger^~/1427404

Apr 23 2019 (02:58)
Station Tag: ColonelGanj/CLJ added by Kumaon Tiger^~/1427404

Apr 23 2019 (02:58)
Train Tag: Avadh Assam Express/15910 added by Kumaon Tiger^~/1427404
गोंडा जिले के कटरा बाजार थाना क्षेत्र के बमडेरा गांव के पास ट्रेन रुकने पर एक युवक ट्रेन से उतरा और सामने खेत में कटी रखी गेहूं की फसल में आग लगा दी, लेकिन हवा तेज होने के कारण वह भाग नहीं सका और खुद की लगाई आग में जलकर भस्म हो गया।
...
more...
तहसील करनैलगंज के गोंडा-लखनऊ रेल मार्ग पर बमडेरा गांव के पास पुल निर्माण का कार्य चल रहा है। दोपहर बाद लखनऊ की ओर से असम जा रही अवध असम एक्सप्रेस वहीं रुक गई। काशन के कारण रुकी ट्रेन से एक युवक उतरा और बगल के खेत में कटी लगी गेहूं की फसल में आग लगा दी।हवा तेज होने के कारण आग की लपटें तेज हो गईं जिससे युवक भाग नहीं सका और खुद की लगाई आग में जिंदा जल गया। आसपास के लोगों ने आग पर जब तक काबू पाया तब तक युवक की मौत हो चुकी थी।युवक की जेब से मात्र रेलवे का एक टिकट मिला जो असम तक था। उसकी पहचान नहीं हो सकी। जीआरपी ने मौके पर पहुंच कर शव को पोस्टमार्टम के लिए भेजा है। वहीं, पुलिस का कहना है कि युवक विक्षिप्त लग रहा था। उसकी शिनाख्त नहीं हो सकी है।
Mar 31 2018 (23:07) गोंडा-लखनऊ रेल मार्ग पर तार टूटा, आठ घंटे नहीं चली इलेक्ट्रिक ट्रेन, तोड़फोड़ कचहरी स्टेशन पर यात्रियों का उत्पात, ट्रेन के आगे सीट तोड़कर फेंकी (epaper.jagran.com)
Major Accidents/Disruptions
NER/North Eastern

News Entry# 333158   
  Past Edits
Mar 31 2018 (23:07)
Station Tag: Gonda Kachahri/GDK added by ☆अलविदा गोंडा मीटरगेज ■☆*^~/206964

Mar 31 2018 (23:07)
Station Tag: Maijapur/MIR added by ☆अलविदा गोंडा मीटरगेज ■☆*^~/206964

Mar 31 2018 (23:07)
Station Tag: Gonda Junction/GD added by ☆अलविदा गोंडा मीटरगेज ■☆*^~/206964
तार टूटा, आठ घंटे नहीं चली इलेक्ट्रिक ट्रेन, तोड़फोड़
कचहरी स्टेशन पर यात्रियों का उत्पात, ट्रेन के आगे सीट तोड़कर फेंकी1
Click here to enlarge image
संसू, गोंडा : शुक्रवार का दिन रेल यातायात पर भारी पड़ा। सुबह करीब आठ बजे मैजापुर-कचहरी के बीच बिजली का तार टूट गया। इससे गोंडा-लखनऊ रेल मार्ग पर बिजली से चलने वाली ट्रेनों का आवागमन ठप हो गया।
...
more...
इसकी वजह से घंटों इंतजार के बाद यात्रियों का गुस्सा फूट पड़ा। यात्रियों ने डीजल इंजन वाली गाड़ियों को रोककर उस पर पथराव शुरू कर दिया। इंजन के आगे सीटों को तोड़कर डाल दिया। लकड़ी के पोल डाल दिए। रेलवे के खिलाफ नारेबाजी करने लगे। सूचना पर पहुंची आरपीएफ व सिविल पुलिस ने दौड़ाकर लोगों को स्थिति संभाली। मौके से दो लोगों को हिरासत में लिया गया है। साथ ही 35 के खिलाफ रेल संचालन में बाधा पहुंचाने का मुकदमा दर्ज किया गया है।1बताया गया कि सुबह मैजापुर व गोंडा कचहरी के बीच इलेक्ट्रिक लाइन का तार टूट गया, जिससे अप साइड की बिजली से चलने वाली ट्रेनों का संचालन ठप हो गया। डीजल इंजन से चलने वाली ट्रेनें चलाई जाने लगीं। ऐसे में इलेक्ट्रिक इंजन की ट्रेनों को कचहरी के पास रोका गया। कुछ ट्रेनों पूर्णिमा एक्सप्रेस, कोचीन एक्सप्रेस, बरौनी ग्वालियर एक्सप्रेस में डीजल इंजन लगाकर लखनऊ की ओर रवाना किया। टूटे तार को शुक्रवार की शाम को करीब चार बजे ठीक किया गया, जिसके बाद ट्रेनों का आवागमन बहाल हो सका।1 हालांकि इससे पहले ही नाराज यात्रियों ने जमकर हंगामा किया। यात्रियों ने ट्रैक नंबर दो से गुजर रहीं डीजल इंजन वाली ट्रेनों को रोक लिया। उनके सामने सीटें तोड़कर डाल दीं। लकड़ी के बड़े-बड़े बोटे लाकर डाल दिए। इंजन पर पथराव शुरू कर दिया। जिससे वहां पर अफरा तफरी मच गई। 1 आनन फानन में आरपीएफ, जीआरपी व सिविल पुलिस मौके पर पहुंची। पुलिस कर्मियों ने लोगों को दौड़ाकर स्थिति संभाली। इस दौरान दो को हिरासत में लिया गया है। मामले में 35 के खिलाफ मामला दर्ज किया जा रहा है। एरिया मैनेजर शिवेंद्र सिंह का कहना है कि तार टूटने से दिक्कत आई थी, जिसे ठीक करा दिया गया है। 1स्टेशन की बत्ती गुल1शुक्रवार की शाम को आई तेज आंधी के कारण गोंडा स्टेशन की बत्ती गुल हो गई। बिजली का तार टूट गया। बाद में जनरेटर का तार भी टूट गया। जिससे पूरे जंक्शन पर अंधेरा छा गया। बाद में लाइन को सही कराया गया तब जाकर स्थिति सामान्य हो सकी।संसू, गोंडा : शुक्रवार का दिन रेल यातायात पर भारी पड़ा। सुबह करीब आठ बजे मैजापुर-कचहरी के बीच बिजली का तार टूट गया। इससे गोंडा-लखनऊ रेल मार्ग पर बिजली से चलने वाली ट्रेनों का आवागमन ठप हो गया। इसकी वजह से घंटों इंतजार के बाद यात्रियों का गुस्सा फूट पड़ा। यात्रियों ने डीजल इंजन वाली गाड़ियों को रोककर उस पर पथराव शुरू कर दिया। इंजन के आगे सीटों को तोड़कर डाल दिया। लकड़ी के पोल डाल दिए। रेलवे के खिलाफ नारेबाजी करने लगे। सूचना पर पहुंची आरपीएफ व सिविल पुलिस ने दौड़ाकर लोगों को स्थिति संभाली। मौके से दो लोगों को हिरासत में लिया गया है। साथ ही 35 के खिलाफ रेल संचालन में बाधा पहुंचाने का मुकदमा दर्ज किया गया है।1बताया गया कि सुबह मैजापुर व गोंडा कचहरी के बीच इलेक्ट्रिक लाइन का तार टूट गया, जिससे अप साइड की बिजली से चलने वाली ट्रेनों का संचालन ठप हो गया। डीजल इंजन से चलने वाली ट्रेनें चलाई जाने लगीं। ऐसे में इलेक्ट्रिक इंजन की ट्रेनों को कचहरी के पास रोका गया। कुछ ट्रेनों पूर्णिमा एक्सप्रेस, कोचीन एक्सप्रेस, बरौनी ग्वालियर एक्सप्रेस में डीजल इंजन लगाकर लखनऊ की ओर रवाना किया। टूटे तार को शुक्रवार की शाम को करीब चार बजे ठीक किया गया, जिसके बाद ट्रेनों का आवागमन बहाल हो सका।1 हालांकि इससे पहले ही नाराज यात्रियों ने जमकर हंगामा किया। यात्रियों ने ट्रैक नंबर दो से गुजर रहीं डीजल इंजन वाली ट्रेनों को रोक लिया। उनके सामने सीटें तोड़कर डाल दीं। लकड़ी के बड़े-बड़े बोटे लाकर डाल दिए। इंजन पर पथराव शुरू कर दिया। जिससे वहां पर अफरा तफरी मच गई। 1 आनन फानन में आरपीएफ, जीआरपी व सिविल पुलिस मौके पर पहुंची। पुलिस कर्मियों ने लोगों को दौड़ाकर स्थिति संभाली। इस दौरान दो को हिरासत में लिया गया है। मामले में 35 के खिलाफ मामला दर्ज किया जा रहा है। एरिया मैनेजर शिवेंद्र सिंह का कहना है कि तार टूटने से दिक्कत आई थी, जिसे ठीक करा दिया गया है। 1स्टेशन की बत्ती गुल1शुक्रवार की शाम को आई तेज आंधी के कारण गोंडा स्टेशन की बत्ती गुल हो गई। बिजली का तार टूट गया। बाद में जनरेटर का तार भी टूट गया। जिससे पूरे जंक्शन पर अंधेरा छा गया। बाद में लाइन को सही कराया गया तब जाकर स्थिति सामान्य हो सकी।हंगामा करते यात्रियोंको समझाती पुलिस ’जागरणटैक से बेंच को हटाते पुलिस के जवान ’जागरणयात्रियों से लिया फीड बैक : गत गुरुवार की देर रात आरपीएफ के आइजी राजाराम ने ट्रेनों में यात्र कर रहे यात्रियों से जानकारी ली। साथ ही कई ¨बदुओं पर फीडबैक लिया।
Aug 27 2017 (17:38) मीरजापुर के सबरी रेलवे फाटक के पास फिर सामने आई रेलवे की लापरवाही पेंड्रोल क्लिप नहीं थीं, गुजरती गईं ट्रेनें जिंदगियां बचाने वाले ड्राइवर को रेलवे देगा अवॉर्ड (epaper.navbharattimes.com)
Major Accidents/Disruptions
NCR/North Central

News Entry# 313421   
  Past Edits
Aug 27 2017 (17:38)
Station Tag: Ghazipur City/GCT added by ☆गोंडा इलेक्ट्रिक शेङ ■☆*^~/206964

Aug 27 2017 (17:38)
Station Tag: Unnao Junction/ON added by ☆गोंडा इलेक्ट्रिक शेङ ■☆*^~/206964

Aug 27 2017 (17:38)
Station Tag: Allahabad Junction/ALD added by ☆गोंडा इलेक्ट्रिक शेङ ■☆*^~/206964

Aug 27 2017 (17:38)
Station Tag: Faizabad Junction/FD added by ☆गोंडा इलेक्ट्रिक शेङ ■☆*^~/206964

Aug 27 2017 (17:38)
Station Tag: Maijapur/MIR added by ☆गोंडा इलेक्ट्रिक शेङ ■☆*^~/206964
इलाहाबाद : क्षतिग्रस्त ट्रैक से गुजर गई अयोध्या रामेश्वरम एक्सप्रेस!
मीरजापुर के सबरी रेलवे फाटक के पास फिर सामने आई रेलवे की लापरवाही
पेंड्रोल क्लिप नहीं थीं, गुजरती गईं ट्रेनें
जिंदगियां बचाने वाले ड्राइवर को रेलवे देगा अवॉर्ड
कैफियात
...
more...
एक्सप्रेस के ड्राइवर ने समझदारी से लगाए थे ब्रेक
उन्नाव : स्टेशन के पास पटरियों से गायब मिलीं पेंड्रोल क्लिप
28 घंटे बाद संचालन हो सका बहाल
लखनऊ : कैफियात एक्सप्रेस की डम्पर से टक्कर के 28 घंटे बाद गुरुवार सुबह ट्रेन संचालन बहाल हो गया। गाड़ियों के घंटों लेट आने से एक ओर जहां उनमें सफर कर रहे यात्री परेशान हुए वहीं दूसरी ओर लखनऊ व दूसरे स्टेशनों से आरक्षण कराने वाले यात्री भी प्लेटफॉर्म पर इंतजार करते-करते थक गए।
 नॉर्थ सेंट्रल रेलवे के सीपीआरओ गौरव बंसल ने बताया कि अप लाइन पर गुरुवार सुबह 5:58 बजे से संचालन शुरू हो गया है। आनंदविहार-गोरखपुर हमसफर एक्सप्रेस 12.30 घंटे, कोटा-पटना एक्सप्रेस 13 घंटे, फरक्का एक्सप्रेस 5.30 घंटे, मरुधर एक्सप्रेस पांच घंटे, बिहार संपर्कक्राति एक्सप्रेस 17 घंटे, शहीद एक्सप्रेस 11 घंटे, वैशाली एक्सप्रेस 07.30 घंटे, पद्मावत एक्सप्रेस 04.30 घंटे, गोरखधाम एक्सप्रेस 10 घंटे और आनंदविहार-मुजफ्फरपुर गरीबरथ एक्सप्रेस चार घंटे लेट आई।
हादसे के बाद गुरुवार को पहली ट्रेन रवाना की गई।
लापरवाही सामने आ रही है।
आरपीएफ भी हुई सुस्त
रेलवे ट्रैक की कमी से हो रहे हादसों पर नजर रखने के लिए कुछ महीने पहले आरपीएफ को ट्रैक की निगरानी रखने के लिए निर्देशित किया गया था। आरपीएफ रेलपथ का निरीक्षण कर सीधे हेडऑफिस में रिपोर्ट भेजेगी। इसके बाद अगर ट्रैक में कोई गड़बड़ी है तो जिम्मेदारों पर कार्रवाई सुनिश्चित की जाएगी। लेकिन आरपीएफ भी धीरे-धीरे अपने निरीक्षण पर ब्रेक लगाती दिखाई पड़ रही है।
जर्जर स्लीपर दे रहे हादसों को दावत
ट्रैक पर पेंड्रॉल क्लिप के आलावा जर्जर स्लीपर भी किसी बड़ी दुघर्टना को दावत देने की तैयारी में हैं। रेलपथ निर्माण में पटरियों के नीचे कुछ जगहों पर लकड़ी के स्लीपर लगाए गए थे। जो अब सड़ चुके हैं।•एनबीटी, उन्नाव : पांच दिनों को अंदर लगातार दो रेल हादसे होने के बाद रेल विभाग इसको लेकर गंभीर नहीं नजर नहीं आ रहा है। मॉडल रेलवे स्टेशन के पास ही कई जगहों पर पटरियों से पेंड्रॉल क्लिप गायब हैं। रेलवे स्टेशन से मगरवारा की ओर जाने पर दर्जनों ऐसी जगहे हैं जहां लगी पेंड्रॉल क्लिप ढीली हैं या तो कई गायब हैं। खास बात है कि पथ पर ये कमियां मॉडल रेलवे स्टेशन से कुछ दूरी पर ही हैं। गैंगमैनों की कमी भी इसका एक कारण है।
 कुछ महीने पहले ही उन्नाव रेलवे स्टेशन पर एलटीटी दुघर्टनाग्रस्त हो गई थी। जिसकी जांच में रेलपथ गड़बड़ी सामने आई थी। इसके बाद भी ऐसी•एनबीटी ब्यूरो, इलाहाबाद : इलाहाबाद के प्रयाग और फाफामऊ स्टेशनों के बीच क्षतिग्रस्त ट्रैक से गुरुवार को अयोध्या रामेश्वरम एक्सप्रेस गुजर गई। इस ट्रैक की मरम्मत चल रही है। हालांकि एक स्थान पर ट्रैक में दरार ज्यादा आ गई थी। ट्रेन की स्पीड कम थी इसलिए कोई दुर्घटना नहीं हुई। इसकी जानकारी मिलने के बाद इलाहाबाद से लखनऊ जाने वाली गंगा-गोमती एक्सप्रेस ट्रेन को भी करीब आधे घंटे देरी से प्रयाग से छोड़ा गया। इसी ट्रैक से जौनपुर,
फैजाबाद, वाराणसी और लखनऊ के लिए ट्रेनें जाती हैं। ट्रैक क्षतिग्रस्त होने की जानकारी मिलने के बाद अधिकारियों ने कर्मचारियों की मदद से इसे दुरुस्त किया।
•एनबीटी ब्यूरो, मीरजापुर : नगर के सारी रेलवे क्रॉसिंग के पास अप लाइन की पटरी के स्लीपरों की आधा दर्जन पेंड्रोल क्लिप रेलवे ट्रैक के पास बिखरी हुई पड़ी थीं। उसी ट्रैक से शाम को छह बजे के करीब पुरुषोत्तम एक्सप्रेस गुजर गई। ट्रेन की रफ्तार कम होने के चलते कोई हादसा नहीं हुआ।
 मामले की जानकारी होते ही आरपीएफ के प्रभारी निरीक्षक अर्जुन कौंतेय व जीआरपी व कटरा कोतवाली के थानाध्यक्ष मौके पर पहुंच गए। रेलवे क्रॉसिंग से चंद कदम की दूरी पर अप लाइन की रेल पटरी के आधा दर्जन स्लीपर के पेंड्रोल क्लिप खुली गई थीं। रेलवे के अफसरों का कहना है कि मामले की जांच की जा रही है। वैसे ट्रेन के गुजरते समय झटका लगने पर भी पेंड्रोल क्लिप कभी-कभी खुल जाती हैं।
Praveen.Mohta@timesgroup.com
कानपुर : ट्रैक पर अचानक आए डंपर के बाद डीरेल हुई कैफियात एक्सप्रेस के यात्री मामूली चोटों के अलावा किसी बड़े नुकसान से बच गए। 107 किमी घंटा की स्पीड पर दौड़ रही ट्रेन के ड्राइवर ने धीरे-धीरे ब्रेक लगाए। एक साथ ब्रेक लगाने पर ब्रेक जाम हो जाते और कोच एक-दूसरे पर चढ़ते। यही वजह रही कि डंपर से टकराने के वक्त ट्रेन की स्पीड काफी नियंत्रण में आ चुकी थी और बड़ी जनहानि टल गई। रेलवे अधिकारियों के अनुसार, ड्राइवर का नाम अवॉर्ड के लिए भेजा जाएगा।
नॉर्थ सेंट्रल रेलवे के सीपीआरओ गौरव कृष्ण बंसल के अनुसार, दिल्ली जा रही कैफियात एक्सप्रेस 107 किमी की स्पीड पर दौड़ रही थी। अछल्दा-पाता के बीच ट्रैक पर अचानक डंपर देख लोको पायलट (ड्राइवर) एसके चौहान ने अपना पूरा अनुभव झोंक दिया और ब्रेक को धीरे-धीरे अप्लाई किया। इससे स्पीड कम हुई और डंपर से टक्कर के बावजूद ज्यादातर कोच बेकाबू होकर उछले नहीं। एक साथ ब्रेक लगाने पर जबर्दस्त नुकसान का खतरा था। हादसे में चौहान भी जख्मी हुए हैं। ड्यूटी के दौरान लगी चोट (आईओडी) के कारण उन्हें तय रकम का भुगतान किया जाएगा। साथ ही यात्रियों की जान बचाने के लिए अवॉर्ड मिलेगा। इसके लिए उनका नाम भेजा जाएगा। हादसे की तीव्रता कम होने की दूसरी बड़ी वजह एलएचबी कोच थे। ये कोच सिर्फ 6 महीने पुराने
Page#    Showing 1 to 15 of 15 News Items  

Scroll to Top
Scroll to Bottom
Go to Mobile site
Important Note: This website NEVER solicits for Money or Donations. Please beware of anyone requesting/demanding money on behalf of IRI. Thanks.
Disclaimer: This website has NO affiliation with the Government-run site of Indian Railways. This site does NOT claim 100% accuracy of fast-changing Rail Information. YOU are responsible for independently confirming the validity of information through other sources.
India Rail Info Privacy Policy