Spotting
 Timeline
 Travel Tip
 Trip
 Race
 Social
 Greeting
 Poll
 Img
 PNR
 Pic
 Blog
 News
 Conf TL
 RF Club
 Convention
 Monitor
 Topic
 Bookmarks
 Rating
 Correct
 Wrong
 Stamp
 PNR Ref
 PNR Req
 Blank PNRs
 HJ
 Vote
 Pred
 @
 FM Alert
 FM Approval
 Pvt
News Super Search
 ↓ 
×
Member:
Posting Date From:
Posting Date To:
Category:
Zone:
Language:
IR Press Release:

Search
  Go  

No Alcohol No Drugs - the only addiction is Railfanning, to escape the negativity of the world. - Keshav Singh

Full Site Search
  Full Site Search  
FmT LIVE - Follow my Trip with me... LIVE
 
Fri Sep 24 15:57:03 IST
Home
Trains
ΣChains
Atlas
PNR
Forum
Quiz Feed
Topics
Gallery
News
FAQ
Trips/Spottings
Login
Post PNRAdvanced Search
Large Station Board;
Entry# 912982-0
Medium; Platform Pic; Large Station Board;
Entry# 4451725-0
Scenic; Platform Pic; Large Station Board;
Entry# 4505190-0

DBEC/Deobaloda Charoda (2 PFs)
     देवबलोदा चरोदा

Track: Triple Electric-Line

Show ALL Trains
Bhilai Marshalling Yard, Bhilai
State: Chhattisgarh


Zone: SECR/South East Central   Division: Raipur

No Recent News for DBEC/Deobaloda Charoda
Nearby Stations in the News
Type of Station: Regular
Number of Platforms: 2
Number of Halting Trains: 29
Number of Originating Trains: 0
Number of Terminating Trains: 0
Rating: NaN/5 (0 votes)
cleanliness - n/a (0)
porters/escalators - n/a (0)
food - n/a (0)
transportation - n/a (0)
lodging - n/a (0)
railfanning - n/a (0)
sightseeing - n/a (0)
safety - n/a (0)
Show ALL Trains

Station News

Page#    Showing 1 to 12 of 12 News Items  
May 26 (07:29) दो महीने से रेलवे पीने का साफ पानी नहीं दे:रेलवे अफसरों ने मंगाई पानी की रिपोर्ट पूछा कब-कब सैंपल लेकर भेजा गया (www.bhaskar.com)
Commentary/Human Interest
SECR/South East Central
0 Followers
8197 views

News Entry# 452637  Blog Entry# 4969738   
  Past Edits
May 26 2021 (07:29)
Station Tag: Deobaloda Charoda/DBEC added by Adittyaa Sharma/1421836

May 26 2021 (07:29)
Station Tag: Bilaspur Junction/BSP added by Adittyaa Sharma/1421836

May 26 2021 (07:29)
Station Tag: Bhilai/BIA added by Adittyaa Sharma/1421836
चरोदा के पांच वार्डों समेत भिलाई-3 में लगभग पौने दो महीने से रेलवे पीने का साफ पानी नहीं दे सका है। रायपुर के आला अफसरों को इसकी जानकारी मिली तो उन्होंने स्थानीय अधिकारियों से पानी की सारी रिपोर्ट मांगी है। इसमें उनसे पूछा गया है कि आपने कब कब सैंपल लेकर बिलासपुर भेजा है। साथ ही स्थानीय स्तर पर लोगों को शुद्ध पानी देने की दिशा में क्या क्या काम किया है।इस संबंध में एडीईन रायपुर ने इसकी विस्तार से जानकारी संबंधित अधिकारियों से मांगी है। साथ ही कहा है कि स्थानीय लोगों को शुद्ध पानी देने की जिम्मेदारी सही तरीके से निभाएं।
रेलवे अपने कर्मचारियों और अधिकारियों के निवास और दफ्तर में पीने के पानी देने के लिए बीएसपी से अनुबंध
...
more...
कर रखा है। उनसे रॉ वाटर खरीद कर उसे अपने फिल्टर प्लांट में शुद्ध करके चरोदा और भिलाई-3 के रेलवे कॉलोनियों समेत अन्य स्थानों पर आपूर्ति करता है।स्थानीय अधिकारियों ने पानी के मामले में वही बात कही है, जो बीएसपी के फिल्टर प्लांट और पीएचई के अधिकारी अभी तक कहते आए हैं। इसके अलावा अपनी ओर से सिर्फ पानी का क्लोरिनेशन करने के अलावा कोई दूसरा काम नहीं किया है। एक बार 27 मार्च को पानी का सेंपल लिए थे और दूसरी बार 18 मई को। सेंपल लेने के बाद उसे जांच के लिए बिलासपुर भेजा है, लेकिन वहां से अभी तक रिपोर्ट नहीं आई है। जैसा पानी आ रहा है। ठीक वैसे ही पानी की आपूर्ति रेलवे कॉलोनियों में की जा रही है।
लोगों ने की शिकायत तो निगम से मांगना पड़ा टैंकरचरोदा निगम के जलकार्य प्रभारी एमआईसी सदस्य चंद्रप्रकाश पांडेय ने बताया कि लोगों ने गंदा पानी आने, उसमें दुर्गंध आने और पीने से उल्टी होने की शिकायत की तो भिलाई-चरोदा नगर निगम से पीने का पानी मांगा गया। इन दिनों 6 टैंकरों से लोगों को पानी दिया जा रहा है। लोग यहां के पानी का उपयोग निस्तारी के लिए भी नहीं कर रहे हैं। रेलवे इकलौते टैंकर से ही सुबह-शाम सप्लाई कर रहा है।
Apr 22 (08:16) टाउनशिप के बाद अब भिलाई-तीन व चरोदा रेलवे कालोनी में गंदे पानी की सप्लाई (www.naidunia.com)
Commentary/Human Interest
SECR/South East Central
0 Followers
10360 views

News Entry# 449300  Blog Entry# 4944922   
  Past Edits
Apr 22 2021 (08:16)
Station Tag: Deobaloda Charoda/DBEC added by Adittyaa Sharma/1421836

Apr 22 2021 (08:16)
Station Tag: Bhilai/BIA added by Adittyaa Sharma/1421836
Stations:  Bhilai/BIA   Deobaloda Charoda/DBEC  
भिलाई। टाउनशिप भिलाई के बाद अब भिलाई तीन व चरोदा रेलवे कालोनी में गंदे पानी की शिकायत आने लगी है। कर्मचारियों ने बताया कि बीते एक महीने से गंदा पानी एक महीने से लगातार शिकायत के बाद भी रेलवे के अफसर ध्यान नहीं दे रहे हैं।
बता दें कि भिलाई इस्पात संयंत्र के टाउनशिप में बीते एक महीने से लोग गंदे पानी से परेशान है। शिकायत के बाद भी संयंत्र प्रबंधन साफ पानी उपलब्ध नहीं करा पा रहा है।
वहीं हाल भिलाई तीन व चरोदा नगर निगम की कालोनियों का है।
...
more...
यहां भी बीते एक महीने से गंदा पानी सप्लाई हो रहा है। कर्मचारी शिकायत करके थक चुके हैं, न तो यूनियन ध्यान दे रहा है और न ही रेलवे का जल व स्वास्थ्य विभाग।
कोरोना काल में पीलिया का खतरा
दो साल पहले पीलिया ने हलका सा सिर उठाया था, पर समय रहते उस पर काबू पा लिया गया। लोगों को डर इस बात का है कि एक तो कोरोना के चलते लाकडाउन है। अस्पतालों में खासी भी़़ड़ है। ऐसे में गंदे पानी की वजह से पीलिया या अन्य कोई जलजनित बीमारी का उभर आई तो लोगों को खासी दिक्कत हो जाएगी।
मरोदा डैम से आता है पानी
बताया जा रहा है कि भिलाई तीन व चरोदा के रेलवे क्वाटरों में सप्लाई होने वाला पानी मरोद डेम से आता है। भिलाई, बीएमवाय, पीपी यार्ड, भिलाई तीन में फिल्टर होने के बाद वह भिलाई तीन के तीन सौ आवसों तथा चरोदा के जोन वन, जोन टू, जोन थ्री में स्थित तकरीबन एक हजार से ज्यादा आवासों में सप्लाई होता है।
रेल यात्री रमेश सिंह ने बताया कि एक महीने से भिलाई तीन के रेलवे स्टेशन में भी गंदा पानी आ रहा है। पानी का रंग मटमैला आ रहा है। अधिकारी कहते हैं कि मरोदा डेम में ही पानी गंदा है तो क्या किया जा सकता है।
--
मरोदा डेम में ही पानी खराब है। वैसे पानी की टेस्टिंग करा ली गई है। पानी पीने लायक है। पानी मटमैला जरुर है, उसे जल्द ठीक करा लिया जाएगा।
-अंकुश अग्रवाल, एडीएन-2
बीएमवाय, चरोदा
कोविड की वजह से इन दिनों जिले के लगभग सभी अस्पतालों में बेड फुल हैं। कहीं बेड नहीं मिल रहा है। वहीं सालभर से बीएमवाई के इंस्टीट्यूट और सांस्कृतिक भवन में सारी व्यवस्था के बाद भी इसे आइसोलेशन सेंटर नहीं बनाया जा सका है। रेलवे प्रशासन ने अप्रैल 2020 से यहां बेड रखा है। सेप्रेट टॉयलेट बनवाए गए हैं। हाथ धोने के लिए पैर से उपयोग होने वाले बेसिन और नल भी लगवाए हैं।
यह सारी व्यवस्था कोरोना के मरीजों को यहां रखने के लिए किया गया था, लेकिन सालभर से यह सब बेकार पड़ा हुआ है। इनका कोई उपयोग नहीं किया जा रहा। वहीं रेलवे अस्पताल में आने वाले मरीजों को या तो रायपुर रेफर किया जा रहा है या फिर
...
more...
निजी अस्पतालों में जाने की सलाह दी जा रही है। पिछले साल लॉकडाउन लगने के बाद रेलवे ने अपनी सीमा में इंस्टीट्यूट और सांस्कृतिक भवन को आइसोलेशन सेंटर बनाने का फैसला किया था। इस संबंध में डीआरएम से शिकायत की गई है। इस केंद्र का उपयोग करने से स्थानीय मरीजों को सुविधा मिलेगी।
महिला-पुरुषों के लिए तैयार कराए गए 50 बेडइसके लिए यहां करीब 50 बेड लगाए गए। कुछ बेड रायपुर के रेलवे अस्पताल से मंगाए गए और कुछ बेड एटीओ ऑफिस भिलाई-3 से लाए गए। इन्हें यहां बाकायदा जमाकर और नंबरिंग करके रखा गया है। इसमें महिलाओं और पुरुषों के लिए अलग-अलग व्यवस्था है। इसमें वॉश बेसिन लगाए गए हैं। हाथ का उपयोग करने के बजाय एक लीवर लगाया गया है।
रोजाना 10 से 20 संदिग्ध जांच के लिए आ रहे हैंरेलवे अस्पताल में हर दिन इनडोर और आउटडोर पेशेंट के रूप में 50-60 मरीज आ रहे हैं। इनमें 10-20 मरीज कोरोना के संदिग्ध रहते हैं। उनकी प्रारंभिक जांच के बाद उन्हें स्थान देखकर एक या दो दिन के लिए रखा जा रहा है। इसके बाद मामले को बढ़ते हुए देखकर उन्हें रायपुर रेलवे अस्पताल भेज दिया जाता है। रायपुर में मरीजों का प्रेशर बढ़ने से बेड की भारी कमी है।
ऑक्सीजन बेड के रूप में अब हो सकता है उपयोगइंस्टीट्यूट और सांस्कृतिक भवन में जगह की कमी नहीं है। सुविधाओं का भी अभाव नहीं है। बस यहां ऑक्सीजन की पाइप लाइन की व्यवस्था करने के साथ यहां मरीजों के लिए आइसोलेशन सेंटर बनाया जा सकता है। कोविड के सेकंड स्ट्रेन के दौरान रेलवे के अधिकारियों की ओर से कोई पहल नहीं की गई है। इससे रेलवे के कोविड मरीजों को लाभ नहीं मिल पा रहा है।
आयुक्त ने किया है तीन बार निरीक्षणभिलाई-चरोदा नगर निगम के आयुक्त कीर्तिमान सिंह राठौर ने इन स्थानों का अभी तक तीन बार निरीक्षण किया है। साथ ही रेलवे के अधिकारियों से भी बातचीत की है। लेकिन अभी तक इस दिशा में कोई सार्थक पहल नहीं हो पाया है। मंडल समन्वयक एसईसीआर मजदूर कांग्रेस के डी. विजय कुमार ने भी मामले की शिकायत पीएचई मंत्री व स्थानीय विधायक गुरु रुद्रकुमार से की है।
50 बोगियों को बनाया गया था आइसोलेशन वार्डबढ़ते कोविड-19 के संक्रमण को देखते हुए रेलवे ने 50 बोगियों को आइसोलेशन वार्ड में बदला है। इसे राज्य शासन की मांग के अनुसार रसमड़ा और दल्ली-राजहरा से भाटापारा तक के विभिन्न स्थानों पर उपलब्ध कराया जा सकेगा। सीनियर डीसीएम डॉ. विपिन वैष्णव ने बताया कि रायपुर मंडल में रसमड़ा से लेकर भाटापारा, मरोदा से लेकर दल्ली-राजहरा, रायपुर से लेकर टीटलागढ़ तक के स्थान आते हैं। इन स्थानों को देखते हुए पिछले साल ही कुछ बोगियों को आइसोलेशन वार्ड का रूप दिया गया था।
स्थान और बेड की कमी नहीं है, मूल समस्या स्टाफस्थान और बेड की कमी नहीं है। मूल समस्या स्टाफ की है। डॉक्टर और नर्स की कमी है। यदि स्थानीय प्रशासन से सहयोग मिल जाए तो इसे आइसोलेशन केंद्र बनाया जा सकता है। इसका उपयोग किया जा सकता है।-डॉ. विपिन वैष्णव, सीनियर डीसीएम रायपुर
Jan 20 (17:27) चरोदा रेलवे यार्ड में मालगाड़ी के दो वैगन पटरी से उतरे, घंटो रास्‍ता जाम (www.naidunia.com)
Major Accidents/Disruptions
SECR/South East Central
0 Followers
15215 views

News Entry# 434211  Blog Entry# 4851253   
  Past Edits
Jan 20 2021 (17:27)
Station Tag: Deobaloda Charoda/DBEC added by Adittyaa Sharma/1421836

Jan 20 2021 (17:27)
Station Tag: Raipur Junction/R added by Adittyaa Sharma/1421836
रायपुर। Raipur News : चरोदा रेलवे यार्ड में बुधवार को खाली मालगाड़ी के दो वैगन पटरी से उतर गए। घटना के समय मालगाड़ी की गति कम थी। इसके बावजूद करीब तीन सौ मीटर तक वैगन घिसटता चला गया। पहिए स्लीपर को तोड़ते हुए फंस गए थे। इस घटना के कारण यार्ड के कई विभागों और जी केबिन देवबलोदा जानी वाली सड़क बंद हो गई।
करीब डेढ़ घंटे की मशक्‍कत के बाद वैगन को काटकर अलग किया जा सका। घटना यार्ड में होने से रेल यातायात प्रभावित नहीं हुई। चरोदा रेलवे के यार्ड में क्रू लाबी के समीप ही शंटिंग सेक्शन में यह घटना सुबह 7.30 बजे के करीब हुई। आई केबिन की ओर से मालगाड़ी रिशेप्सन यार्ड देवबलोदा की ओर जा रही
...
more...
थी। इस दौरान ही मालगाड़ी के बीच के हिस्से के एक वैगन का पहिया पटरी से उतर गया।
थोड़ी देर बाद इसके पीछे का वैगन भी पटरी से उतर गया। मालगाड़ी की गति इस दौरान धीमी थी, जिसके चलते वैगन पलटने से बच गया। बताया जाता है कि चालक ने मालगाड़ी के वैगन उतरने का आभास होते ही इमरजेंसी ब्रेक लगाया और फिर गार्ड के मध्यम से कंट्रोल रूम को सूचना दी।घटना जिस जगह हुई वहां पर जी केबिन-देवबलोदा जाने का रास्ता है। इसके अलावा रेलवे के कई विभागों में भी इसी रास्ते से कर्मचारी आनाजाना करते हैं। इस दुर्घटना से पूरा रास्ता बंद हो गया।
यहां से आने जाने वाले कर्मचारियों को इंटरनेट मीडिया पर मैसेज भेजकर सिरसा गेट व देवलौदा की ओर से आने के लिए के लिए कहा गया। क्षतिग्रस्त वैगन हटाने व मालगाड़ी को आगे बढ़ाने में करीब दो घंटे से भी ज्यादा का समय लग गया। घटना की वजह स्पष्ट नहीं हो पाई है। यह खाली मालगाड़ी फिटनेस जांच के बाद यार्ड में भेजी जा रही थी।
Sep 21 2020 (08:28) रेलवे ने सफाई के लिए किया जागरूक (www.naidunia.com)
IR Affairs
SECR/South East Central
0 Followers
33120 views

News Entry# 419108  Blog Entry# 4721445   
  Past Edits
Sep 21 2020 (08:29)
Station Tag: Deobaloda Charoda/DBEC added by Adittyaa Sharma/1421836

Sep 21 2020 (08:28)
Station Tag: Bhilai/BIA added by Adittyaa Sharma/1421836

Sep 21 2020 (08:28)
Station Tag: Dalli Rajhara/DRZ added by Adittyaa Sharma/1421836

Sep 21 2020 (08:28)
Station Tag: Durg Junction/DURG added by Adittyaa Sharma/1421836

Sep 21 2020 (08:28)
Station Tag: Bhatapara/BYT added by Adittyaa Sharma/1421836

Sep 21 2020 (08:28)
Station Tag: Raipur Junction/R added by Adittyaa Sharma/1421836
रायपुर (नईदुनिया प्रतिनिधि)
स्वच्छता पखवाड़ा के तहत रविवार को रायपुर रेल मंडल के मुख्य परिसरों में विभिन्ना कार्यक्रम आयोजित किए गए । इनके माध्यम से सफाई के लिए जागरूक किया गया। मंडल चिकित्सालय रायपुर, उप- चिकित्सालय बीएमवाई चरोदा, दल्ली राजहरा, भिलाई हेल्थ यूनिट, स्कूलों, रेलवे इंस्टिट्यूट और प्रशिक्षण केंद्रों में पोस्टर-बैनर के माध्यम से स्वच्छता के लिए जागरूक किया गया। रायपुर, भाटापारा, दुर्ग समेत मंडल के विभिन्ना स्टेशनों को सैनिटाइज किया गया। कर्मचारियों से सूखा और गीला कचरा को अलग-अलग डस्टबिन में डालने, कार्यस्थलों, परिसरों में गंदगी न फैलाने की अपील की गई।
Page#    Showing 1 to 12 of 12 News Items  

Scroll to Top
Scroll to Bottom
Go to Mobile site
Important Note: This website NEVER solicits for Money or Donations. Please beware of anyone requesting/demanding money on behalf of IRI. Thanks.
Disclaimer: This website has NO affiliation with the Government-run site of Indian Railways. This site does NOT claim 100% accuracy of fast-changing Rail Information. YOU are responsible for independently confirming the validity of information through other sources.
India Rail Info Privacy Policy