Spotting
 Timeline
 Travel Tip
 Trip
 Race
 Social
 Greeting
 Poll
 Img
 PNR
 Pic
 Blog
 News
 Conf TL
 RF Club
 Convention
 Monitor
 Topic
 #
 Rating
 Correct
 Wrong
 Stamp
 PNR Ref
 PNR Req
 Blank PNRs
 HJ
 Vote
 Pred
 @
 FM Alert
 FM Approval
 Pvt
News Super Search
 ↓ 
×
Member:
Posting Date From:
Posting Date To:
Category:
Zone:
Language:
IR Press Release:

Search
  Go  
dark mode

Amarkantak Express: Holy for Railfans as holy as Amarkantak is for devotees. - Ayan G

Full Site Search
  Full Site Search  
FmT LIVE - Follow my Trip with me... LIVE
 
Tue Aug 9 12:59:45 IST
Home
Trains
ΣChains
Atlas
PNR
Forum
Quiz Feed
Topics
Gallery
News
FAQ
Trips
Login
Post PNRPost BlogAdvanced Search
Large Station Board;
Entry# 518019-0
Large Station Board;
Entry# 1997624-0

FBG/Forbesganj Junction (4 PFs)
فاربسگنج جنکشن     फारबिसगंज जंक्शन

Track: Construction - Single-Line Electrification

Show ALL Trains
National Highway 57, Forbesganj, Araria
State: Bihar


Zone: NFR/Northeast Frontier   Division: Katihar

No Recent News for FBG/Forbesganj Junction
Nearby Stations in the News
Type of Station: Junction
Number of Platforms: 4
Number of Halting Trains: 25
Number of Originating Trains: 0
Number of Terminating Trains: 0
0 Follows
Rating: 4.1/5 (16 votes)
cleanliness - excellent (2)
porters/escalators - good (2)
food - excellent (2)
transportation - good (2)
lodging - good (2)
railfanning - good (2)
sightseeing - good (2)
safety - good (2)
Show ALL Trains

Station News

Page#    Showing 1 to 20 of 138 News Items  next>>
May 18 (09:12) जोगबनी से वाराणसी के लिए नई ट्रेन चलाने की मांग (www.livehindustan.com)
New/Special Trains
NFR/Northeast Frontier
0 Followers
20741 views

News Entry# 486580  Blog Entry# 5348798   
  Past Edits
This is a new feature showing past edits to this News Post.
फारबिसगंज, एक संवाददाता भारत नेपाल सीमा स्थित जोगबनी रेलवे स्टेशन से वाराणसी रेलवे स्टेशन...

फारबिसगंज, एक संवाददाता

भारत नेपाल सीमा स्थित जोगबनी रेलवे स्टेशन से वाराणसी रेलवे स्टेशन के लिए एक जोड़ी नई
...
more...
ट्रेन चलाने की मांग तेज हो गई है। इस संबंध में नागरिक संघर्ष समिति के अध्यक्ष शाहजहां शाद, जदयू नेता रमेश सिंह, पवन मिश्रा आदि ने रेलमंत्री को एक पत्र भेजकर जोगबनी से नई ट्रेन वाराणसी के लिए चलाने की मांग की है। रेल मंत्री को भेजे गये पत्र में कहा गया है की जोगबनी नेपाल सीमा पर स्थित है। बड़ी संख्या में नेपाली पर्यटक वाराणसी पूजा अर्चना के लिए जाते है। नई ट्रेन खुलने से दोनों देशों के बीच रिश्ता काफी मजबूत होगा।

जोगबनी से वाराणसी के लिए ट्रेन चलाने की मांग
Mar 01 (08:51) फारबिसगंज-सहरसा रेलखंड पर भी चले राजधानी एक्सप्रेस ट्रेन (www.livehindustan.com)
New/Special Trains
ECR/East Central
0 Followers
38072 views

News Entry# 478905  Blog Entry# 5231049   
  Past Edits
This is a new feature showing past edits to this News Post.
फारबिसगंज। एक संवाददाता

आखिरकार 14 वर्षों के लंबे अंतराल के बाद सीमांचल वासियों को बड़ी सौगात मिलने वाली है। इस वर्ष जहां एक ओर फारबिसगंज—सहरसा रेलखंड आमान परिवर्तन कार्य पूरा होने की संभावना बनी हुई है। वहीं आमान परिवर्तन कार्य पूरा होने के साथ ही इस नये रेलखंड पर आधा दर्जन पैसेंजर ट्रेनों के साथ—साथ डिब्रूगढ़—गोहाटी—नई दिल्ली राजधानी एक्सप्रेस का परिचालन किये जाने की तैयारी भी शुरू हो चुकी हैं। इससे सीमांचल के लोगों को बड़ी सौगात मिल जायेगी। रेलवे सूत्रों के मुताबिक इस संबंध में समस्तीपुर रेल मंडल प्रशासन ने राजधानी
...
more...
ट्रेन के परिचालन को लेकर एक प्रस्ताव हाजीपुर मुख्यालय को भेजा है। ताकि वहां से यह प्रस्ताव रेलवे बोर्ड के पास भेजा जायेगा। फिलहाल इस वक्त राजधानी ट्रेन का परिचालन बरौनी,समस्तीपुर, मुजफ्फरपुर,हाजीपुर के रास्ते किया जा रहा है। समस्तीपुर रेल मंडल प्रशासन द्वारा भेजे गये नए प्रस्ताव के मुताबिक राजधानी एक्सप्रेस न्यू जलपाईगुड़ी, कटिहार के रास्ते,फारबिसगंज, सुपौल,सहरसा तक आयेगी। फिर सहरसा से सरायगढ़ रेल पुल होते हुए निर्मली, झंझारपुर होते हुए दरभंगा जायेगी, दरभंगा से सीतामढ़ी,रकसौल, नरकटियागंज, बगहा होते हुए गोरखपुर के रास्ते नई दिल्ली तक जायेगी।

नये प्रस्ताव से परिचालन होने से दिल्ली जाने में चार घंटे के समय की बचत होगी। इस संबंध में बीते 17 फरवरी को समस्तीपुर में रेलवे संसदीय समिति की बैठक में कोसी एवं मिथिलांचल के सांसदो ने संयुक्त रूप से प्रस्ताव रखा था। ताकि क्षेत्र का विकास के साथ—साथ लोगों को राजधानी ट्रेन की सुविधा मिल सके। इधर आगामी 07 मार्च को ईस्टर्न सर्किल कोलकाता के सीआरएस एएम चौधरी ने पूर्व मध्य रेल की नवनिर्मित ललितग्राम—नरपतगंज 12 किलोमीटर आमान परिवर्तन कार्य का सीआरएस निरीक्षण करेंगे। सीआरएस निरीक्षण के बाद हरी झंडी मिलने के साथ सहरसा से राधोपुर जानेवाली वाली ट्रेनों का विस्तार नरपतगंज रेलवे स्टेशन तक हो जायेगा।

नरपतगंज—फारबिसगंज के बीच शेष बचे आमान परिवर्तन का कार्य भी युद्धस्तर पर जारी है। अगर कार्य तेज गति से जारी रहा तो इसी वर्ष 2022 में फारबिसगंज—सहरसा बड़ी लाइन पर राजधानी ट्रेन सहित अन्य कई महत्त्वपूर्ण ट्रेनों का परिचालन शुरू हो जायेगा। ट्रेनों के परिचालन शुरू होने से सीमांचल के इलाकों में विकास की नई किरण दिखाई देगी एवं सीमांचल वासियों की चिर परिचित मांग भी पूरी हो सकेगी।

क्या कहते है अररिया सांसद:

अररिया सांसद प्रदीप कुमार सिंह ने कहा की रेलवे संसदीय समिति की बैठक में उन्होंने इस मांग की प्रस्ताव दिया था, जिसमें अन्य कई सांसदों ने भी उनका समर्थन करते हुए राजधानी एक्सप्रेस को कटिहार से अररिया, फारबिसगंज, सुपौल होते हुए चलाने की मांग की थी। इस प्रस्ताव को समस्तीपुर डीआरएम ने हाजीपुर भेजा है, जहां से स्वीकृति के लिए केंद्रीय रेलवे बोर्ड भेजा जायेगा। उसके बाद राजधानी ट्रेन नये रूट के मुताबिक चलेगी।
Feb 16 (13:09) निर्मली-तमुरिया के बीच 122 किमी/घंटे की रफ्तार से दौड़ा इंजन, मिथिलांचल-सीमांचल में खुशी की लहर (hindi.news18.com)
New Facilities/Technology
ECR/East Central
0 Followers
31753 views

News Entry# 477842  Blog Entry# 5219618   
  Past Edits
Feb 16 2022 (13:09)
Station Tag: Forbesganj Junction/FBG added by Aniket/1490219

Feb 16 2022 (13:09)
Station Tag: Tamuria/TMA added by Aniket/1490219

Feb 16 2022 (13:09)
Station Tag: Darbhanga Junction/DBG added by Aniket/1490219

Feb 16 2022 (13:09)
Station Tag: Jhanjharpur Junction/JJP added by Aniket/1490219

Feb 16 2022 (13:09)
Station Tag: Nirmali/NMA added by Aniket/1490219
बिहार के कई शहरों और जिलों को रेल कनेक्शन (Rail Connectivity) से जोड़ा जा रहा है. इसी क्रम में पूर्व मध्य रेलवे (East Central Railway) के नवनिर्मित स्टेशन निर्मली और तमुरिया के बीच मंगलवार को रेल इंजन का स्पीड ट्रायल (Rail Engine Speed Trial) किया गया. इस खबर से लोगों के बीच काफी खुशी देखी गई. इन जगहों पर रेल की कनेक्टिविटी बढ़ने से क्षेत्र विकास की ओर अग्रसर होगा, आने वाले समय में जल्द ही इस रेल पटरी पर दरभंगा झंझारपुर निर्मली होते हुए फारबिसगंज के रास्ते में लाइन चालू होने की लोगों में उम्मीद जगी है. जानकारी के मुताबिक, 122 किमी प्रति घंटे की रफ्तार से इंजन को दौड़ाया गया. 24 किमी दूरी 13 से 14 मिनट में तय हुई. अब 19 फरवरी को सीआरएस का निरीक्षण किया जाएगा.
बता
...
more...
दें कि दोनों रेल खंड को बड़ी रेल लाइन में बदलने की घोषणा 17 साल पहले हुई थी. अब तक इसका शिलान्यास दो-दो बार किया जा चुका है. 15 सितंबर 2016 को इसके लिए प्रथम फेज में झंझारपुर और घोघरडीहा के बीच मेगा ब्लॉक लिया गया. मालूम हो कि सकरी- झंझारपुर-निर्मली और रेल खंड की लम्बाई करीब 62 किलोमीटर है. झंझारपुर निर्मली रेल खंड में दीप, तमुरिया, घोघरडीहा, निमुआं, घोघरडीहा, परसा, चिकना निर्मली आदि स्टेशन और हाल्ट पड़ते हैं.
इस रेल नेटवर्क के जुड़ने से 30 लाख आबादी होंगे लाभान्वित
गौरतलब है कि मिथिलांचल को सीमांचल से जोड़ने वाला यह रेलखंड 1934 से बंद है. वहीं इस रेल परियोजना की संशोधित लागत 6 सौ करोड़ से अधिक की है. रेल खंडों में 20 अधिक बड़े और 100 सौ के करीब लघु पुल का निर्माण किया गया है. मिथिलांचल-सीमांचल का रेल नेटवर्क जुड़ाव से 30 लाख आबादी को लाभ होगा.
मिथिलांचल और सीमांचल के बीच 13 साल बाद फि‍र शुरू होगी रेल सफर, ट्रायल का काम पूरा !

जागरण संवाददाता, सुपौल। 1934 तक दरभंगा से राघोपुर तक रेलगाड़ी चलती थी, इसी साल आए भूकंप के कारण ट्रेनों का परिचालन बंद हो गया। 1975 में तत्कालीन रेलमंत्री ललित नारायण मिश्र ने फारबिसगंज तक रेल सेवा शुरू करवाई। 2008 में कोसी की बाढ़ के कारण ट्रैक ध्वस्त हो जाने के कारण ट्रेनों की आवाजाही रुक गई। इसके बाद पहले राघोपुर तक और उसके बाद कोसी रेल महासेतु के उस पार आसनपुर कुपहा तक ट्रेनों
...
more...
का परिचालन शुरू हुआ। अब पश्चिम में निर्मली तक और पूरब में ललितग्राम तक स्पीड ट्रायल संपन्न हो चुका है। ललितग्राम से आगे फारबिसगंज तक रेल पथ का काम जारी है। ऐसे में लगता है कि जल्द ही मिथिलांचल और सीमांचल काे रेल की दो पटरियां एक करेगी।

चलती थी जानकी और कोसी एक्सप्रेस

1934 तक दरभंगा से राघोपुर तक ट्रेन चलती थी। इस साल जब भूकंप आया और इसके चलते कोसी की बाढ़ आई तो यह रेलखंड क्षत-विक्षत हो गया। ट्रेन का परिचालन बंद हो गया। इसके बाद लंबे अंतराल तक यह इलाका रेल से कटा रहा। तत्कालीन रेल मंत्री ललित नारायण मिश्र द्वारा 1975 में फारबिसगंज तक रेल सेवा चालू करवाई गई। तब जानकी एक्सप्रेस और कोसी एक्सप्रेस जैसी गाड़ियां भी मिथिलांचल और सीमांचल को जोड़ती थी। आमान परिवर्तन को लेकर थरबिटिया से फारविसगंज तक जब मेगा ब्लाक लिया गया 01 नवंबर 2015 को अंतिम बार इस रेलखंड पर रेल की सीटी सुनाई दी। इसके बाद रेल परिचालन बंद कर दिया गया। फिलहाल सहरसा से राघोपुर तक ट्रेन चल रही है।

हो गया स्पीड ट्रायल

ललितग्राम रेलवे स्टेशन भारत के पूर्व रेल मंत्री ललित नारायण मिश्र का पैतृक गांव है। 2008 में कोसी नदी में आई प्रलयंकारी बाढ़ में रेलवे ट्रैक ध्वस्त हो गया जिससे सहरसा से फारबिसगंज के बीच ट्रेन सेवा बंद हो गई। इसके कुछ वर्षों बाद आमान परिवर्तन का कार्य शुरू किया गया। कार्य होने के बाद इस रेलखंड पर राघोपुर रेलवे स्टेशन तक ट्रेन का परिचालन शुरू हुआ। बीते नवंबर में राघोपुर से ललितग्राम तक स्पीड ट्रायल किया गया। अब जल्द ही पूर्व रेल मंत्री के गांव तक रेल दौड़ेगी।

निर्मली तक हुआ सीआरएस निरीक्षण

पूर्व मध्य रेलवे के निर्मली स्टेशन से आसनपुर कुपहा तक सीआरएस निरीक्षण हो गया है, एक सौ किलोमीटर प्रति घंटा की रफ्तार स्पीड ट्रायल हुआ। उम्मीद है कि जल्द ही 5.96 किलोमीटर इस लंबी रेल लाइन पर परिचालन शुरू हो जाएगा। उधर निर्मली से परसा बसबाड़ी तक 5.88 किलोमीटर लंबी रेल लाइन का काम लगभग पूर्ण हो चुका है, रेलवे ने संभावना जताई है कि अप्रैल 2022 में झंझारपुर तक ट्रेन दौड़ेगी।

दरभंगा तक पूर्ण होने को है कार्य


ज्ञातव्य हो कि निर्मली स्टेशन से पश्चिम परसा बसबाड़ी तक 5.88 किलोमीटर लंबी रेल लाइन कार्य पूर्ण होने पर है। जानकारी दी गई कि इसका फरवरी से मार्च तक सीआरएस निरीक्षण किया जाएगा। इसके बाद अप्रैल 2022 से झंझारपुर-सकरी-दरभंगा भी निर्मली स्टेशन से जुड़ जाएगा।

फारबिसगंज तक चल रहा कार्य

दूसरी ओर ललितग्राम से फारबिसगंज तक आमान परिवर्तन सहित अन्य कार्यों की गति को देखते हुए कहा जा सकता है कि जल्द ही सीमांचल और मिथिलांचल के इलाके को रेलवे जोड़ देगा।
Dec 10 2021 (21:54) रेलमंत्री ने कहा तय समय पर पूरा होगा सहरसा फारबिसगंज रेल लाइन का काम, 250 करोड़ होंगे खर्च (www.allindianewsservices.com)
New Facilities/Technology
ECR/East Central
0 Followers
100950 views

News Entry# 472017  Blog Entry# 5159427   
  Past Edits
Dec 10 2021 (21:54)
Station Tag: Darbhanga Junction/DBG added by Mritunjay T/2087640

Dec 10 2021 (21:54)
Station Tag: Raghopur/RGV added by Mritunjay T/2087640

Dec 10 2021 (21:54)
Station Tag: Lalitgram/LLP added by Mritunjay T/2087640

Dec 10 2021 (21:54)
Station Tag: Saraigarh Junction/SRGR added by Mritunjay T/2087640

Dec 10 2021 (21:54)
Station Tag: Supaul/SOU added by Mritunjay T/2087640

Dec 10 2021 (21:54)
Station Tag: Nirmali/NMA added by Mritunjay T/2087640

Dec 10 2021 (21:54)
Station Tag: Sakri Junction/SKI added by Mritunjay T/2087640

Dec 10 2021 (21:54)
Station Tag: Forbesganj Junction/FBG added by Mritunjay T/2087640

Dec 10 2021 (21:54)
Station Tag: Saharsa Junction/SHC added by Mritunjay T/2087640
राज्यसभा में बिहार के पूर्व उप मुख्मंत्री सुशील मोदी ने सहरसा फारबिसगंज रेल लाइन सहित सहरसा से दरभंगा रेल लाइन से जुड़े पूछे गए सवाल में रेलमंत्री ने कहा कि तय समय पर सहरसा से फारबिसगंज तक रेल परिचालन शुरू किया जाएगा। रेलमंत्री अश्विनी वैष्णव ने बताया की सकरी- फारबिसगंज (206 KM) जिसके अंतर्गत सकरी- निर्मली– झंझारपुर-लौकहा बाजार– सहरसा- फारबिसगंज के बीच ब्रॉडगेज अमान परिवर्तन 2004-05 में 1471 करोड़ से स्वीकृत हुआ था। इस पर अभी तक 1238 करोड़ खर्च हो चुका है तथा वर्ष 2021-22 में 250 करोड़ का प्रावधान किया गया है। सकरी-फारबिसगंज रेल लाइन के अमान परिवर्तन पर 1238 करोड़ अभी तक खर्च हो चुका है। सकरी-तुमरिया (29 KM) एवं गढ़बरुआरी-ललितग्राम (83 KM) किलोमीटर कमीशन हो चुका है। हाल ही में राघोपुर से लालि ग्राम तक सीसीआरएस निरीक्षण हो चुका है। नए साल में इस रेलखंड पर ट्रेन परिचालन किया जाएगा। सहरसा से सरायगढ़ के रास्ते आसानपुर कूपहा...
more...
तक ट्रेन परिचालन किया जा रहा है। अप्रैल तक सहरसा से दरभंगा के बीच रेल परिचालन शुरू होने की उम्मीद है। सहरसा फारबिसगंज आमान परिवर्तन कार्य जून तक पूरा करने का लक्ष्य रखा गया है।
Page#    Showing 1 to 20 of 138 News Items  next>>

Scroll to Top
Scroll to Bottom
Go to Mobile site
Important Note: This website NEVER solicits for Money or Donations. Please beware of anyone requesting/demanding money on behalf of IRI. Thanks.
Disclaimer: This website has NO affiliation with the Government-run site of Indian Railways. This site does NOT claim 100% accuracy of fast-changing Rail Information. YOU are responsible for independently confirming the validity of information through other sources.
India Rail Info Privacy Policy