Spotting
 Timeline
 Travel Tip
 Trip
 Race
 Social
 Greeting
 Poll
 Img
 PNR
 Pic
 Blog
 News
 Conf TL
 RF Club
 Convention
 Monitor
 Topic
 Bookmarks
 Rating
 Correct
 Wrong
 Stamp
 PNR Ref
 PNR Req
 Blank PNRs
 HJ
 Vote
 Pred
 @
 FM Alert
 FM Approval
 Pvt
News Super Search
 ↓ 
×
Member:
Posting Date From:
Posting Date To:
Category:
Zone:
Language:
IR Press Release:

Search
  Go  

Gour Express: আমের শহর মালদা থেকে রোজ যায় শিয়ালদা - Joydeep Roy

Full Site Search
  Full Site Search  
FmT LIVE - Follow my Trip with me... LIVE
 
Tue Oct 26 21:19:04 IST
Home
Trains
ΣChains
Atlas
PNR
Forum
Quiz Feed
Topics
Gallery
News
FAQ
Trips/Spottings
Login
Post PNRAdvanced Search
Large Station Board;
Entry# 395009-0
Close-up; Platform Pic; Large Station Board;
Entry# 2908549-0

GSP/Gurdaspur (1 PFs)
ਗੁਰਦਾਸਪੁਰ     गुरदासपुर

Track: Single Electric-Line

Show ALL Trains
Civil lines, Railway Road, Gurdaspur
State: Punjab

Elevation: 266 m above sea level
Zone: NR/Northern   Division: Firozpur

No Recent News for GSP/Gurdaspur
Nearby Stations in the News
Type of Station: Regular
Number of Platforms: 1
Number of Halting Trains: 37
Number of Originating Trains: 0
Number of Terminating Trains: 0
Rating: 4.7/5 (8 votes)
cleanliness - excellent (1)
porters/escalators - excellent (1)
food - good (1)
transportation - excellent (1)
lodging - excellent (1)
railfanning - excellent (1)
sightseeing - good (1)
safety - excellent (1)
Show ALL Trains

Station News

Page#    Showing 1 to 18 of 18 News Items  
रेलवे स्टेशन गुरदासपुर में चल रहा किसानों का पक्का मोर्चा 337वें दिन में दाखिल हो गया। शुक्रवार को मोर्चे पर 255वें जत्थे ने भूख हड़ताल रखी जिसमें जमहूरी किसान सभा पंजाब के हरभजन सिंह, महिंदर सिंह, जसविंदर सिंह, जोगिंदर सिंह, चैन सिंह, गुरदेव सिंह, सतनाम सिंह आदि ने हिस्सा लिया।धरने में बोध सिंह, मक्खन सिंह, गुरदीप सिंह, करनैल सिंह, नरिंदर सिंह ने संबोधित करते हुए गत दिवस मोगा में सुखबीर सिंह बादल की रैली में पूर्ण शांति से सवाल पूछने जा रहे किसानों पर पंजाब पुलिस द्वारा लाठीचार्ज करने की पुरजोर निंदा की। नेताओं ने कहा कि किसान कभी पुलिस पर पत्थर नहीं मारते।
यह सिर्फ कुछ राजनीतिक गुंडे हैं जो साजिश के तहत भड़काव पैदा करने के लिए ऐसा करते हैं।
...
more...
पुलिस को अमन शांति से प्रदर्शन करने वाले किसानों पर लाठीचार्ज करने का कोई हक नहीं मिला हुआ। किसान नेताओं ने करनाल के एसडीएम को गिरफ्तार करने की मांग को फिर से दोहराया।
Feb 19 (13:40) रेल रोको आंदोलन: पंजाब में 50 जगह रेलवे ट्रैक पर डटे रहे किसान, राजपुरा में यात्री हुए बेहाल, यहां पढ़ें- हर जिले का हाल (www.amarujala.com)
Major Accidents/Disruptions
NR/Northern
0 Followers
64213 views

News Entry# 440014  Blog Entry# 4882316   
  Past Edits
Feb 19 2021 (13:40)
Station Tag: Abohar Junction/ABS added by Saurabh®/1294142

Feb 19 2021 (13:40)
Station Tag: Muktsar/MKS added by Saurabh®/1294142

Feb 19 2021 (13:40)
Station Tag: Firozpur Cantt. Junction/FZR added by Saurabh®/1294142

Feb 19 2021 (13:40)
Station Tag: Shambhu/SMU added by Saurabh®/1294142

Feb 19 2021 (13:40)
Station Tag: Gurdaspur/GSP added by Saurabh®/1294142

Feb 19 2021 (13:40)
Station Tag: Rajpura Junction/RPJ added by Saurabh®/1294142

Feb 19 2021 (13:40)
Station Tag: Jalandhar City Junction/JUC added by Saurabh®/1294142

Feb 19 2021 (13:40)
Station Tag: Amritsar Junction/ASR added by Saurabh®/1294142
कृषि कानूनों के विरोध में संयुक्त किसान मोर्चा के आह्वान पर गुरुवार को पंजाब में 50 स्थानों पर किसानों ने रेलवे ट्रैक जाम किया। प्रदर्शन की वजह से ट्रेनों का संचालन प्रभावित हुआ और लोगों को मुसीबतों का सामना करना पड़ा। पंजाब में दोपहर 12 बजे से शाम चार बजे तक 50 स्थानों पर किसानों ने रेलवे ट्रैक पर धरना दिया। इससे सात ट्रेनों का संचालन प्रभावित हुआ। रेलवे ट्रैक जाम शांतिपूर्ण रहा और कहीं कोई अप्रिय घटना नहीं घटी। किसानों ने यात्रियों की सुविधा के लिए लंगर की व्यवस्था भी की थी।लुधियाना में किसान नेताओं ने यात्रियों को लंगर छकायासंयुक्त किसान मोर्चा के आह्वान पर गुरुवार को लुधियाना रेलवे स्टेशन सहित गिल, साहनेवाल, जगरांव, मुल्लांपुर दाखा में रेलवे ट्रैक पर धरना दिया गया। किसान आंदोलन को देखते हुए रेलवे ने पहले ही 12 बजे, जो ट्रेन जिस रेलवे स्टेशन पर पहुंची उसे वहीं रोक दिया। लुधियाना रेलवे स्टेशन पर पहुंची...
more...
बांद्रा-अमृतसर पश्चिम एक्सप्रेस को रेलवे ने रोक दिया था।  संयुक्त किसान मोर्चा के नेताओं ने रेलवे स्टेशन पहुंच कर ट्रैक पर धरना देकर केंद्र सरकार के खिलाफ जमकर नारेबाजी की। किसानों ने यात्रियों को लंगर भी छकाया। किसान नेताओं ने एलान किया कि 21 फरवरी को बरनाला में भारतीय किसान यूनियन एकता उगराहां और पंजाब खेत मजदूर की तरफ से महारैली का आयोजन होगा। इसके बाद सभी एकजुट होकर दिल्ली बॉर्डर कूच करेंगे। अमृतसर में किसान बोले- केंद्र सरकार का जिद्दी रवैया देशहित में नहीं                                     अमृतसर में रेलवे ट्रैक पर बैठे किसान।अमृतसर रेलवे स्टेशन पर चार घंटे तक रेलगाड़ियों की आवाजाही रोककर किसानों ने प्रदर्शन किया। किसान नेताओं ने नए कृषि कानूनों को रद्द करवाने का संकल्प दोहराया। किसान नेताओं ने आंदोलन में शामिल 235 किसानों की शहादत का जिक्र करते हुए कहा कि केंद्र सरकार का जिद्दी रवैया देशहित में नहीं है। केंद्र सरकार बड़े व्यापारिक घरानों को मालामाल कर रही है। किसान अपने अधिकारों के लिए सड़कों पर खाक छान रहे हैं। संगरूर में महिलाओं ने रेल ट्रैक पर दिया धरनाकृषि कानूनों के खिलाफ संयुक्त किसान मोर्चा के सदस्यों ने गुरुवार को रेलवे स्टेशन पर धरना लगाकर केंद्र सरकार के खिलाफ नारेबाजी की और कृषि कानून वापस लेने की मांग की। धरने में बड़ी संख्या में महिलाएं भी शामिल हुईं। किसान नेताओं ने कहा कि मोदी सरकार किसानों की मांगों पर टाल मटौल कर रही है और अहंकार में किसानों को नजरअंदाज करने में लगी है।                                              
जालंधर में रेल ट्रैक पर डटे किसान।राजपुरा : ट्रेन रुकने से यात्रियों को हुई मुसीबतेंकिसान संगठनों नें राजपुरा-अंबाला रेलमार्ग पर शंभू स्टेशन पर बैठकर ट्रेनें रोकीं। किसान नेताओं हरजीत सिंह टहलपुरा, दर्शन सिंह नरड़ू, सुरिंदर कौर, गुरमेल सिंह मंडियाणा, ज्ञान सिंह, रणधीर सिंह, गुरध्यान सिंह सहित सैकड़ों किसानों ने प्रदर्शन के दौरान कहा कि कृषि कानूनों के खिलाफ पंजाब, हरियाणा सहित अन्य प्रदेशों के किसानों में जबरदस्त रोष है। जब तक तीनों कानूनों को रद्द नहीं किया जाता, तब तक संघर्ष चलता रहेगा। अगर मांग न मानी गई तो संघर्ष और तेज किया जाएगा। वहीं किसान संगठनों के आह्वान पर 12 से 4 बजे तक ट्रेनें रोकने का असर यात्रियों पर पड़ा। राजपुरा स्टेशन पर बैठी महिलाओं व बच्चों को भूखा रहना पड़ा। राजपुरा के गांव से अमृतसर जा रही महिला हरजीत कौर और रणजीत कौर ने बताया कि वह सुबह से परिवार के साथ स्टेशन पर पहुंच गईं थीं और शहीद एक्सप्रेस से अमृतसर जाना था। अब पता चला है कि ट्रेन पांच बजे तक आएगी, जिस कारण परेशान होना पड़ रहा है।                                                 शंभू में प्रदर्शन करते किसान।गुरदासपुर में चार घंटे रेल ट्रैक पर प्रदर्शनकिसान संगठनों ने चार घंटे गुरदासपुर में रेल ट्रैक पर धरना दिया। वहीं किरती किसान यूनियन ने भी गुरदासपुर के औजला फाटक रेलवे पटरी पर धरना दिया। किसान नेताओं ने कहा कि पंजाब में किसान रेलवे स्टेशनों व दिल्ली में भी लगातार धरना दे रहे हैं।उधर, बठिंडा जिले में संयुक्त किसान मोर्चा एवं भारतीय किसान यूनियन एकता उगराहां के बैनर तले किसानों ने सात रेलवे ट्रैकों पर चार घंटे धरना देकर नारेबाजी की। भारतीय किसान यूनियन एकता उगराहां के किसान नेता जसवीर सिंह ने बताया कि संगत मंडी में स्थित बठिंडा-सिरसा, भाई बख्तौर में स्थित बठिंडा-दिल्ली, गोनियाना में स्थित बठिंडा-फिरोजपुर और भुच्चो मंडी में स्थित बठिंडा-अंबाला रेलवे ट्रैक पर धरना दिया गया। फिरोजपुर : रेलवे ट्रैक रोक पेट्रोल के दाम कम करने की मांग की किसानों ने फिरोजपुर की बस्ती टैंकावाली, मल्लांवाला और तलवंडी नेपालां स्थित रेलवे ट्रैक पर धरना देकर ट्रेनें रोकीं। इस दौरान किसानों ने फिरोजपुर छावनी रेलवे स्टेशन के प्लेटफार्म नंबर-एक पर धरना लगाया और नारेबाजी की। किसान मजदूर संघर्ष कमेटी के जिला प्रेस सचिव सुखवंत सिंह ने कहा कि सरकार कृषि कानून को रद्द कर फसलों की खरीद की गारंटी दे। वहीं पेट्रोल के दाम 50 फीसदी तक कम करें। पटियाला : रेलवे ट्रैक पर बैठीं महिलाएंपटियाला में बड़ी संख्या में किसान इकट्ठा होकर रेलवे ट्रैक पर बैठ गए। इसमें बड़ी संख्या में महिलाएं भी शामिल हुईं। किसानों ने कृषि कानूनों को वापस लेने और उनके खिलाफ दर्ज मामले रद्द कर उन्हें रिहा करने की मांग की। किसानों ने केंद्र को चेतावनी दी कि भविष्य में किसी किसान को गिरफ्तार न किया जाए। ऐसा करने पर आंदोलन तेज किया जाएगा।
 मुक्तसर में ट्रेनों का संचालन ठप...फिर भी ट्रैक पर डटे किसान
किसान संगठनों के नेतृत्व में किसानों ने मुक्तसर रेलवे स्टेशन पर धरना दिया। हालांकि मुक्तसर में लंबे समय से ट्रेनें बंद पड़ी हैं लेकिन किसानों ने चार घंटे केंद्र सरकार के खिलाफ प्रदर्शन कर भड़ास निकाली। किसानों ने केंद्र सरकार के खिलाफ नारेबाजी करते हुए कृषि कानूनों को रद्द करने की मांग दोहराई। किसानों के धरने में शामिल हुए शहीद ऊधम सिंह के वारिसभारतीय किसान यूनियन एकता उगराहां ने चार घंटे तक रेलवे ट्रैक पर धरना देकर केंद्र सरकार को जमकर कोसा। धरने में बड़ी संख्या में महिलाएं भी शामिल हुईं। आंदोलन में शहीद ऊधम सिंह के वारिस जीत सिंह ने भी हिस्सा लिया। उन्होंने केंद्र सरकार से मांग की है कि इन कानूनों को रद्द कर किसानों से सलाह के बाद नए कानून बनाए जाएं। किसान परिवारों की महिलाओं ने दावा किया कि दिल्ली में पुरुष और पंजाब में महिला किसान आंदोलन की कमान संभाल रहीं हैं। उगराहां की बुजुर्ग महिला सुखपाल कौर ने कहा कि वह कृषि कानूनों को लागू नहीं होने देंगी। इस दौरान इंकलाबी गीत भी गाए गए। गांव शेरों के रहने वाले रुल्दू सिंह जो जन्म से ही दृष्टिहीन हैं उन्होंने किसानों के दर्द को पेश करता गीत गाया। अबोहर : किसान संगठनों ने रेल लाइनों पर लगाया धरनारेलवे स्टेशन के पास अनेक किसान संगठनों ने रेल लाइनों पर बैठकर धरना लगाया। आजाद किसान मोर्चा के प्रधान मनोज गोदारा व अन्य किसानों ने कहा कि जब तक तीनों कृषि कानून रद्द नहीं होते किसानों का संघर्ष जारी रहेगा। इस मौके पर क्रांतिकारी किसान यूनियन, कुलहिंद किसान सभा, देहाती मजदूर सभा, किसान मजदूर तालमेल संघर्ष कमेटी के पदाधिकारी नोपाराम, रामराज, अवतार सिंह, कुलवंत किरती, विरेंद्र भाटी, सुरेंद्र गोदारा मौजूद रहे।                         अबोहर रेलवे स्टेशन पर धरना देते किसान संगठन।विज्ञापनआगे पढ़ेंअमृतसर में किसान बोले- केंद्र सरकार का जिद्दी रवैया देशहित में नहींविज्ञापन
Feb 18 (16:44) नहीं चलती कोई भी यात्री गाड़ी, फिर भी दिया चार घंटे धरना (www.jagran.com)
Commentary/Human Interest
NR/Northern
0 Followers
9615 views

News Entry# 439896  Blog Entry# 4881460   
  Past Edits
Feb 18 2021 (16:44)
Station Tag: Gurdaspur/GSP added by Anupam Enosh Sarkar/401739
Stations:  Gurdaspur/GSP  
जिले में वीरवार को किसानों ने तीन जगहों पर रेल पटरियों पर धरना दिया। गुरदासपुर सिटी रेलवे स्टेशन औजला फाटक व बटाला में किसान रेल पटरी पर दोपहर 12 बजे से शाम चार बजे तक धरने पर बैठे।
संवाद सहयोगी, गुरदासपुर : जिले में वीरवार को किसानों ने तीन जगहों पर रेल पटरियों पर धरना दिया। गुरदासपुर सिटी रेलवे स्टेशन, औजला फाटक व बटाला में किसान रेल पटरी पर दोपहर 12 बजे से शाम चार बजे तक धरने पर बैठे। वर्तमान समय में गुरदासपुर रेलवे स्टेशन से कोई भी यात्री ट्रेन नहीं चलती व गुजरती है। यहां से चलने व गुजरने वाली ट्रेनें कोरोना काल से ही बंद पड़ी हैं। मालगाड़ियां ही कभी कभार चलती हैं। फिर भी किसान संगठनों ने चार
...
more...
घंटे रेलवे स्टेशन के पटरी पर धरना दिया। कृषि कानूनों के विरोध में संयुक्त किसान मोर्चे के निमंत्रण पर यह धरना दिया गया। धरने में बड़ी संख्या में शामिल किसानों ने केंद्र सरकार के खिलाफ जमकर नारेबाजी की।
उधर किरती किसान यूनियन ने भी गुरदासपुर के औजला फाटक रेलवे पटरी पर धरना दिया। किसान नेताओं ने कहा कि केंद्र की मोदी सरकार द्वारा किसानों के संघर्ष को अनदेखा किया जा रहा है। पिछले कई महीनों से किसान लगातार धरना देते आ रहे हैं। मगर सरकार किसानों की तरफ बिल्कुल भी ध्यान नहीं दे रही। उन्होंने कहा कि किसान अब जबकि केंद्र सरकार के गलत मंसूबों के खिलाफ खड़े हो गए हैं। उन्होंने बताया कि जिले में दोपहर 12 से शाम चार बजे तक धरना दिया है। उन्होंने कहा कि किसान लगातार संघर्ष कर रहे हैं। भले ही सरकार किसानों को दबा रही है,लेकिन किसान अपने संघर्ष को खत्म नहीं करेंगे। जब से केंद्र में मोदी सरकार आई है तब से किसान, आम वर्ग, व्यापारी वर्ग के खिलाफ फैसले लिए जा रहे हैं। आब हालात यह बन चुके हैं कि लोग आर्थिक तौर पर कमजोर हो चुके हैं। सरकार की गलत नीतियों के खिलाफ डटकर संघर्ष करेंगे। इस मौके पर किसान गुरप्रीत सिंह, सुरजीत सिंह, संतोख सिंह,जगीर सिंह, गुरप्रीत सिंह, सतबीर सिंह, मेजर सिंह, अशोक, हरभजन सिंह, बलबीर सिंह आदि उपस्थित थे।
Feb 17 (23:31) आज रेलवे पटरी पर किसान देंगे धरना (www.jagran.com)
Commentary/Human Interest
NR/Northern
0 Followers
6789 views

News Entry# 439673  Blog Entry# 4880636   
  Past Edits
Feb 17 2021 (23:31)
Station Tag: Gurdaspur/GSP added by Anupam Enosh Sarkar/401739
Stations:  Gurdaspur/GSP  
संवाद सहयोगी,कलानौर : वीरवार को कृषि कानून के विरोध में किसान संगठन गुरदासपुर की रेलवे पटरी पर चार घंटे धरना देंगे। माझा किसान संघर्ष कमेटी की इकाई कलानौर के प्रधान दीदार सिंह ने बताया कि 18 फरवरी को रेल रोको आंदोलन में किसान संघर्ष कमेटी के प्रधान बविदर सिंह राजू औलख के दिशा निर्देशों पर गुरदासपुर रेल रोकू आंदोलन में बड़े स्तर पर शिरकत की जाएगी।
उन्होंने कहा कि माझा किसान संघर्ष कमेटी इकाई कलानौर के तहत बड़े स्तर पर शिरकत कर रेल रोकी जाएगी। उन्होंने कहा कि सरकार से कानून रद करवाने के लिए किसान हर संभव प्रयास करेंगे।इस मौके पर सुखविदर सिंह, प्रगटन सिंह, सर्बजीत सिंह विर्क आदि उपस्थित थे। 25 फरवरी की महापंचायत की तैयारियां तेज
...
more...
कृषि कानून के विरोध में संयुक्त किसान मोर्चा की ओर से 25 फरवरी को कलानौर की दाना मंडी में करवाई जा रही महापंचायत की तैयारियां पूरी तेजी के साथ चल रही हैं। उक्त विचार जम्हूरी किसान सभा के नेता कामरेड जगजीत सिंह गोराया ने किसान नेताओं व आढ़तियों दाना मंडी कलानौर में महापंचायत के लिए बनाए जाने वाले पंडा बेरिकेड व पार्किंग बनाने वाले स्थानों का जायजा लेने उपरांत किया।
कामरेड जगजीत सिंह ने बताया कि कलानौर अनाज मंडी में विशाल पंडाल बनाने के अलावा कलानौर गुरदासपुर मार्ग पर बाबा बंदा सिंह बहादुर ,शहीद भगत सिंह स्टेडियम में भी किसानों के ट्रैक्टर ट्रालियां लगाने के लिए पार्किंग बनाई जाएंगी। इसके अलावा जिला गुरदासपुर के कस्बा कलानौर में हो रही महापंचायत में संयुक्त मोर्चा व 31 संगठनों के नेता शिरकत करेंगे। इस मौके पर सतीश कुमार,यादविदर सिंह, सुखविदर सिंह काहलों, अमृतपाल सिंह,बलविदर सिंह, गुरपिदर सिंह, गुरमेज सिंह, गुरविदर सिंह, मुनीष कुमार, सोनू आरती, बलजिदर सिंह आदि थे।
Feb 15 (17:54) रेल रोको के आह्वान पर गांवों में की जा रही बैठकें (www.jagran.com)
Commentary/Human Interest
NR/Northern
0 Followers
8786 views

News Entry# 439203  Blog Entry# 4877566   
  Past Edits
Feb 15 2021 (17:54)
Station Tag: Gurdaspur/GSP added by Anupam Enosh Sarkar/401739
Stations:  Gurdaspur/GSP  
संवाद सहयोगी, गुरदासपुर : किरती किसान यूनियन द्वारा संयुक्त किसान मोर्चे के आह्वान पर 18 फरवरी को गुरदासपुर रेलवे स्टेशन पर 12 बजे से चार बजे तक रेल रोको एक्शन को कामयाब करने के लिए गांव-गांव बैठकें की जाएगी। ये बाते कमेटी के नेता अमरजीत शास्त्री ने पलविदर सिंह किला नत्थू सिंह के नेतृत्व में संगठन के कलानौर तहसील कमेटी की हुई बैठक के दौरान कही।
उन्होंने कहा कि केंद्र सरकार कारपोरेट घरानों के हक में नीतियां लागू करने के लिए मानव अधिकारों की सभी हदें पार कर चुकी है। उन्होंने कहा कि आंदोलन को तेज करने के लिए 18 फरवरी को रोल रोको के आह्वान को लागू करने के लिए घर-घर जाकर लोगों को लामबंद किया जाएगा। इस मौके पर
...
more...
संगठन के नेता सलविदर सिंह, उपाध्यक्ष सरबजीत सिंह, दलजीत सिंह, इंद्रजीत सिंह, सरबजीत सिंह, गुरदयाल सिंह गोसल ने भी अपने विचार सांझे किए।
Page#    Showing 1 to 18 of 18 News Items  

Scroll to Top
Scroll to Bottom
Go to Mobile site
Important Note: This website NEVER solicits for Money or Donations. Please beware of anyone requesting/demanding money on behalf of IRI. Thanks.
Disclaimer: This website has NO affiliation with the Government-run site of Indian Railways. This site does NOT claim 100% accuracy of fast-changing Rail Information. YOU are responsible for independently confirming the validity of information through other sources.
India Rail Info Privacy Policy