Spotting
 Timeline
 Travel Tip
 Trip
 Race
 Social
 Greeting
 Poll
 Img
 PNR
 Pic
 Blog
 News
 Conf TL
 RF Club
 Convention
 Monitor
 Admin
 Followed
 Rating
 Correct
 Wrong
 Stamp
 HJ
 Vote
 Pred
 @
 FM Alert
 FM Approval
 Pvt
News Super Search
 ↓ 
×
Member:
Posting Date From:
Posting Date To:
Category:
Zone:
Language:
IR Press Release:

Search
  Go  

RailFans - हमको देख देख दुनिया जले, हमको ज़माने से क्या

Full Site Search
  Full Site Search  
 
Mon Jun 17 02:13:33 IST
Home
Trains
ΣChains
Atlas
PNR
Forum
Gallery
News
FAQ
Trips/Spottings
Login
Feedback
Advanced Search
Page#    362489 news entries  next>>
  
Jun 08 (21:12) Tunnelling on Dhansiri-Zubza rail line begins at Chümoukedima village (www.nagalandpost.com)
New Facilities/Technology
NFR/Northeast Frontier
0 Followers
1489 views

News Entry# 383720  Blog Entry# 4338076   
  Past Edits
Jun 08 2019 (21:15)
Station Tag: Pherima/PHRMA added by 12649⭐️ KSK ⭐️12650^~/1203948

Jun 08 2019 (21:15)
Station Tag: Sukhovi/SAKAI added by 12649⭐️ KSK ⭐️12650^~/1203948

Jun 08 2019 (21:12)
Station Tag: Thizama (Kohima)/THZMA added by 12649⭐️ KSK ⭐️12650^~/1203948

Jun 08 2019 (21:12)
Station Tag: Molvom/MLVOM added by 12649⭐️ KSK ⭐️12650^~/1203948

Jun 08 2019 (21:12)
Station Tag: Dhansiripar/DSRPR added by 12649⭐️ KSK ⭐️12650^~/1203948

Jun 08 2019 (21:12)
Station Tag: Zubza/ZUBZA added by 12649⭐️ KSK ⭐️12650^~/1203948

Jun 08 2019 (21:12)
Station Tag: Dhansiri/DSR added by 12649⭐️ KSK ⭐️12650^~/1203948
Tunnelling on Dhansiri-Zubza rail line begins at Chümoukedima village
As part of the Central government’s ambitious plan to connect all State Capitals with rail-head, tunnelling on the hilly area from Chümoukedima till Zubza began with the first tunnel dugout at Chümoukedima village on Friday. The 72-metre tunnel was dug using the conventional method of tunnelling using a hydraulic hammer attached to the tip on an excavator.
The proposed new rail route by Northeast Frontier Railway (NFR) in Nagaland will cover 82.3 km from Dhansiri to its terminal station at Zubza. Work for the
...
more...
project began in March this year and the arduous and long-drawn task of tunnelling, building numerous bridges and laying tracks is expected to be completed in two years.  
The 82.3-km stretch will have 20 tunnels spanning 26 km, besides 19 major bridges. The longest bridge to be built at Sirima village is estimated to be 700 meters long, while the longest tunnel measuring 6.4 km will be dug at Chaphema village. Once operational, the railway route will pass through Dhansiri-Dhansiripar-Shoxuvi-Molvom- Sirima- -Chephema-Khabvuma before culminating at Zubza, which is around 900 metres above the plains of Dimapur. 
An official from NFR explained that a railway station at Kohima was not feasible as it was situated around 1,444 metres above sea level, “too steep for a rail head”, adding that there was also the lack of space. He also informed the media that the route from Dhansiri to Shoxuvi was expected to be operational by December this year.
On Friday, Nagaland Post visited two sites where tunnelling was underway and another site where the next tunnel would soon be drilled. While the drilling for a 72-metre tunnel at Chumoukedima village was completed on Friday, drilling for a much longer 824-metre tunnel is currently underway near Kukidolong. A longer tunnel (3 km) from Chumoukedima village to New Chumoukedima will be drilled next.
The exaction method currently employed at Kukidolong is the New Australian Tunnelling Method (NATM), a method that is believed to have revolutionized modern tunnelling industry and currently used in many modern day tunnels. Also dubbed as the “design as you go” approach, NATM is based on the study of behaviour of rock masses under load and monitoring performance of underground rocks during construction. 
NFR has incorporated state-of-the-art machinery for its drilling with an imported boring machine from Switzerland.
Keeping in mind safety of the workers, NFR is in consultation with Geological Survey of India (GSI) to understand the landslide patterns and history on the routes. Also taking into account the constantly shifting tectonic plates and fault lines that can develop over a period of time, conscious effort is being made to ensure that the route is perpendicular and not along the tectonic plates.
The NFR official explained that unlike Rishikesh where rocks were blasted during excavation, the soil in Nagaland was primarily of stale soil or mud stone, as referred by geologists, which made tunnelling a difficult task as the soil easily absorbed water, making it slippery and thereby also increasing risks of landslides. This nature of the soil also increased the pressure on the walls of the tunnels, he added.
Another challenge is water pockets that can cause seepage during excavations. Taking cognizance of these challenges, engineers at the site have embedded pressure cells along the inner walls of the tunnel to check for increase in weight.
The NFR official claimed that contractors were determined to finish the project within the stipulated time. There are also currently no major hurdles except for the earth cutting and filling that had to be halted in Pherima due to the monsoon. The biggest hurdle so far had been the land ownership dispute in Sirema, though compensation had not been a problem, the official added.

  
Rail News
531 views
Jun 08 (21:23)
Myra Misfit 🍷^~   73960 blog posts   47014 correct pred (79% accurate)
Re# 4338076-1            Tags   Past Edits
Finally seven sisters states are Connecting
load badhne wala h UP-BIHAR-BENGAL lines pe
Aur delhi side se specially via kanpur and MB

  
541 views
Jun 08 (21:26)
rdb*^   35528 blog posts   495691 correct pred (83% accurate)
Re# 4338076-2            Tags   Past Edits
All services will not be between NE and Delhi etc,. Huge demand exists from NE to Mumbai, Pune, SC, SBC, MAS etc

  
529 views
Jun 08 (21:28)
©Indian Railways™^~   7834 blog posts   988 correct pred (68% accurate)
Re# 4338076-3            Tags   Past Edits
Haha Yeh bhi Sahi baat Hai Lekin Delhi Capital Of India..
Superfast Yaa fir Mail/Exp train Kii bhi Connectivity mil jaayegi Delhi se

  
536 views
Jun 08 (21:29)
Myra Misfit 🍷^~   73960 blog posts   47014 correct pred (79% accurate)
Re# 4338076-4            Tags   Past Edits
Bhai tabhi UP-BIHAR-BENGAL likha h
Aur last line me likha h "delhi se specially" via MB-CNB
.
For south load on bengal specially
And for mumbai/pune load on UP-BIHAR -bengal (NJP)

  
532 views
Jun 08 (21:30)
rdb*^   35528 blog posts   495691 correct pred (83% accurate)
Re# 4338076-5            Tags   Past Edits
EDFC should be up and running by then
  
रतलाम . पश्चिम रेलवे के सबसे बडे़ व महत्वपूर्ण जक्शन माने जाने वाले ए श्रेणी के रतलाम रेलवे स्टेशन पर 14 जोड़ी ट्रेनों का ठहराव ही नहीं है। इनका न वाणिज्यिक ठहराव है न परिचालन का। ये ट्रेन कोटा से चलने के बाद 526 किमी दूर सीधे वड़ोदरा स्टेशन पर ठहराव होता है। तीन सांसद बदल गए, लेकिन दस वर्षो में कभी लोकसभा में आवाज नहीं उठी। कुछ ट्रेन में पैंट्रीकार नहीं होने के चलते पानी से डॉक्टर सुविधा के लिए टीटीई पर निर्भर रहना होता है।
गर्मी से हुई थी यात्रियों की मौत
अधिक
...
more...
दिन नहीं हुए है जब झांसी ग्वालियर के बीच एक यात्री ट्रेन के जनरल बोगी में गर्मी के चलते चार यात्रियों की मौत हो गई थी। क्योंकि ट्रेन को एक घंटे तक आउटर पर रोका हुआ था। यहां तो ५२६ किमी तक के रास्ते में ट्रेन का यात्रियों को किसी प्रकार की सुविधा देने के लिए ठहराव ही नहीं है। एेसे में ये समझा जा य्सकता है कि यात्रियों को किन परेशानी से जुझना पड़ता होगा। कुछ दिन पूर्व नागदा से ट्रेन के पास होने के दौरान एक महिला यात्री की तबीयत ट्रेन नंबर 09006 मुंबई सेंट्रल सुपरफास्ट में खराब हुई। ट्रेन को आपात हालात में मेघनगर में रोका गया।
इन ट्रेन का ठहराव नहीं
ट्रेन ट्रेन का नाम कोटा का समय वड़ोदरा का समय
12484 कोचुवली साप्ता शाम 7.45 3.49 तड़के
12908 महाराष्ट्र संपर्क क्रांति रात 3.10 सुबह 11.01
22414 निजामुद्ीन मडगांव एक्स रात 3.30 सुबह 10.20
12218 केरला संपर्क क्रंाति शाम 7.55 तड़के 3.49
12432 तिरुअनंतपुरत एक्स रात 3.30 सुबह 10.20
09006 मुंबई सुपरफास्ट शाम 7.30 तड़के 1.53
22660 कोचुवली एक्स 7.45 शाम तड़के 3.49 
सक्षम स्थान पर आवाज नहीं उठाई
किसी भी ट्रेन के ठहराव का निर्णय जनप्रतिनिधियों की भावना व यात्रियों की मांग के अनुसार होता है। अब तक किसयी ने इसके लिए सक्षम स्थान पर आवाज नहीं उठाई है। फिर भी ट्रेनों का ठहराव हो तो हमको कोई समस्या नहीं है।
- आरएन सुनकर, डीआरएम
आवाज सही जगह उठाई जाएगी
संसदीय क्षेत्र के हक की हर आवाज सही जगह उठाई जाएगी। ट्रेनों का ठहराव हो इसके लिए हर संभव प्रयास होगा।
- जीएस डामोर, संसद सदस्य, रतलामR
  
Today (01:16) ‘बादली में जल्द बनेगा रेलवे स्टेशन’ (navbharattimes.indiatimes.com)
0 Followers
55 views

News Entry# 384387  Blog Entry# 4344974   
  Past Edits
This is a new feature showing past edits to this News Post.
प्रदेश के कृषि एवं किसान कल्याण मंत्री ओमप्रकाश धनखड़ ने समारोह के दौरान कहा\Bएक संवाददाता, झज्जर\Bजल्द ही केएमपी एक्सप्रेसवे साथ रेलवे लाइन बनेगी और बादली में रेलवे स्टेशन बनाया जाएगा। ये बात प्रदेश के कृषि एवं किसान कल्याण मंत्री ओमप्रकाश धनखड़ ने शनिवार को बादली में नवनिर्वाचित सांसद डॉ अरविंद शर्मा के सम्मान समारोह में कही। कृषि मंत्री धनखड़ ने कहा कि बाढ़सा राष्ट्रीय कैंसर संस्थान तक सरकार पहले ही मेट्रो सेवा की मंजूरी दे चुकी है और अब केएमपी एक्सप्रेसवे साथ लगते रेलवे लाइन बनने से क्षेत्र का विकास तीव्र गति से होगा।रोहतक संसदीय क्षेत्र से नवनिर्वाचित सांसद डॉ. अरविंद शर्मा ने कृषि मंत्री धनखड़ के उठाए जा रहे विकासात्मक प्रयासों की जमकर सराहना की। उन्होंने कहा कि जनता ने जिस विश्वास व भरोसे के साथ बीजेपी की सरकार बनाई है, उस पर मोदी सरकार पूरी तरह से खरा उतरेगी। \Bपाहसौर में बनेगा खेल स्टेडियम :\B विकास एवं पंचायत मंत्री...
more...
धनखड़ ने पाहसौर की गांव की काफी पुरानी मांग खेल स्टेडियम की आधारशिला रखी। उन्होंने बताया कि 20 लाख रुपये की ग्रांट जारी कर दी गई है। आगे जरूरत के अनुसार और दी जाएगी। इसके बाद पंचायत मंत्री ने गांव में स्थित बाबा नावट वाले मंदिर में नवनिर्मित सामुदायिक भवन का भी उद्घाटन किया। मौके पर सांसद की धर्मपत्नी डॉ. रीटा शर्मा, बीजेपी जिलाध्यक्ष बिजेंद्र दलाल, हिसार कृषि विवि प्रबंधन बोर्ड सदस्य आनंद सागर, डी. पी. कौशिक, कृष्ण कोट, अमित छनपाड़िया, लोक गायक, एसडीएम बादली जगनिवास, डीएसपी अशोक कुमार व बीडीपीओ रामकरण शर्मा व अन्य गणमान्य व्यक्ति मौजूद रहे।
  
जयपुर: राजस्थान के सियासी हालात की बात करें तो यहां नेताओं द्वार वादों की बयार कोई नई बात नहीं है. सियासी बिसात चाहे किसी भी चुनाव की हो लेकिन उस पर एक मुद्दा ही पूरी सियासत की तस्वीर बदल कर कर रख देता है. एसे ही वादों एवं दावों के बीच राजसमंद लोकसभा क्षेत्र के मेड़ता सिटी का रेल मुद्दा हमेशा से ही चर्चित रहा है. जिसको लेकर प्रत्याशी चाहे पैराशूट का हो या फिर जमीनी स्तर का कार्यकर्ता सब कुछ उलझ कर रह जाते है. लेकिन दूसरी बार एतिहासिक पूर्ण बहुमत वाली मोदी सरकार से मेड़ता की पब्लिक बहुत कुछ आस लगाए बैठी है.
प्रदेश के ठीक मध्य में स्थित प्रशासनिक दृष्टि से नागौर और राजसमंद लोकसभा का क्षेत्र दोनो एक
...
more...
ही प्रशासनिक क्षेत्र में आते हैं.  लेकिन सियासी दुनिया की बात करें तो जिला तो मेड़ता सिटी का नागौर में आता है लेकिन संसदीय क्षेत्र को लेकर मेड़ता की स्थिति बदल जाती है. जिसके कारण नागौर ज़िले के मेड़ता में आने वाला क्षेत्र हर बार सियासी खेल का फ़ुटबाल बन जाता है. कभी मुद्दों के नाम पर तो कभी पर्यटन के नाम पर तो कभी रेल के नाम पर. यहां पर हमेशा से ही सियासी खेल वादों औ इरादों का चलता आया है. 
यहां के नेता हर बार रेल के मुद्दे पर जो मेड़ता से अजमेर को जोड़ने के वादों की बात करता है वह दिल्ली के संसद में अपनी उपस्थिति दर्ज करा लेता है. सरकारे आई सियासत बदली, नेताओ के चहेरे भी बदले लेकिन अगर कुछ नहीं बदला तो वो है मेड़ता की हालत. मेड़ता से अजमेर को जोड़ने वाली रेल लाइन का मुद्दा आज भी नही. बदला. आज भी क्षेत्र का अवाम अपनी इस मांग को पूरज़ोर शब्दों में उठा रहे है.
इसको लेकर यहां के लोगों का मानना है की अगर मेड़ता सिटी से अजमेर रेल लाइन से जुड़ जाता है तो इसका सीधा कनेक्शन देश के प्रमुख चार महानगरों से हो जाएगा. बल्कि देश के चारों प्रमुख तीर्थ स्थल, अमन एवं शांति के दूत गरीब नवाज़ की ज़ियारत के लिए देश के हर कोने से सीधा रेल रूट इस ट्रेक से जुड़ जाएगा. अगर मेड़ता सिटी से अजमेर रेल लाइन का मार्ग प्रशस्त होता है तो मेड़ता सिटी से मेड़ता रोड़ के बीच चलने वाली रेल बस की समस्या से भी मुक्ति मिल जाएगी. 
साथ ही मीरा बाई मंदिर एवं तीर्थ स्थलों से शुमार देश के नक्शे पर प्रमुख पर्यटन केंद्र के रूप में उभर रहे मेड़ता की आर्थिक स्थिति भी मज़बूत होगी. मेड़ता सिटी से अजमेर रेल लाइन को लेकर जब इस क्षेत्र से चुनाव जितने वाली सांसद दिया कुमारी से चुनावी वादों को पूरा करने की बात की गई तो उन्होंने जल्द ही प्रधान मंत्री से मिलकर रेल लाइन के इस मुद्दे को जल्द ही साकार रूप देने का आशवाशन दिया. यहां की सांसद दिया कुमारी ने बताया कि मेड़ता सिटी से अजमेर रेल सेवाओं से जुड़े इसको लेकर जो प्रयास किए जाने है किए जाएंगे, उन्होंने इसको लेकर हर संभव प्रयास का भरोसा दिलाया. अब देखना यह हैं कि क्या इस बार भी यहां की जनते को सरकार रेल का सफर करवा पाएगी? 
  
झांसी। जल्द ही ड्रोन कैमरे से ट्रेेनों, रेलवे लाइन और पुलों की निगरानी होगी। इसके लिए रेलवे बोर्ड की ओर से मंडल को दो ड्रोन कैमरे उपलब्ध कराए जाएंगे। इन ड्रोेन कैमरे से रेलवे 24 घंटे निगरानी कर सकेगा। सुरक्षा व्यवस्था के तहत भी कैैमरे लाभकारी साबित होंगे।
मंडल के सुनसान स्थानोें पर स्थिति की जानकारी नहीं मिल पाती है। इसकी वजह से तत्काल सहायता नहीं पहुंच पाती है। रेलवे बोर्ड रेलवे लाइनों की निगरानी और तत्काल जानकारी करने के लिए प्रत्येक रेल मंडल को ड्रोन कैमरे उपलब्ध कराने जा रहा है। इसके तहत झांसी रेल मंडल को भी ड्रोन कैमरे मिलेंगे। इन कैमरों से बरसात के मौसम
...
more...
में रेलवे पुलों, बाढ़ प्रभावित क्षेत्रों की रेल लाइनों आदि की निगरानी भी हो सकेगी।ड्रोन कैमरा उपलब्ध कराने के साथ मंडल मुख्यालय पर कंट्रोल रूम भी बनाया जाएगा। ड्रोन कैमरा फोटो और सूचनाएं कंट्रोल रूम को भेजने का काम करेगा। यार्ड रिमॉडलिंग वाले स्थानों पर ड्रोन कैमरा ट्रेन संचालन में सहायक बनेगा। जनसंपर्क अधिकारी मनोज कुमार सिंह बताया कि ड्रोन कैमरा ट्रेन संचालन व अन्य कार्यों के लिए सहायक साबित होगा।कैमरे रात में भी निगरानी कर सकेंगेयात्री सुविधाओं के साथ-साथ रेलवे रेल संरक्षा पर भी जोर दे रहा है। रेलवे ट्रैक और पुलों के साथ ओएचई की निगरानी भी हो सकेगी। ये कैमरे रात में भी निगरानी कर सकेंगे। मंडल में अगले महीने ड्रोन कैमरे का ट्रायल भी होगा।उच्च गुणवत्ता के होंगे कैमरेबताया गया है कि ड्रोन में काफी उच्च गुणवत्ता का कैमरा लगाया जाएगा। रात में भी इससे होने वाली निगरानी साफ नजर आएगी। उच्च क्वालिटी के कैमरे होने के कारण रात के समय भी फाल्ट को पकड़ा जा सकेगा।
Page#    362489 news entries  next>>

Scroll to Top
Scroll to Bottom
Go to Mobile site
Important Note: This website NEVER solicits for Money or Donations. Please beware of anyone requesting/demanding money on behalf of IRI. Thanks.
Disclaimer: This website has NO affiliation with the Government-run site of Indian Railways. This site does NOT claim 100% accuracy of fast-changing Rail Information. YOU are responsible for independently confirming the validity of information through other sources.
India Rail Info Privacy Policy