Spotting
 Timeline
 Travel Tip
 Trip
 Race
 Social
 Greeting
 Poll
 Img
 PNR
 Pic
 Blog
 News
 Conf TL
 RF Club
 Convention
 Monitor
 Topic
 Followed
 Rating
 Correct
 Wrong
 Stamp
 HJ
 Vote
 Pred
 @
 FM Alert
 FM Approval
 Pvt
News Super Search
 ↓ 
×
Member:
Posting Date From:
Posting Date To:
Category:
Zone:
Language:
IR Press Release:

Search
  Go  

Purulia Express: লালপাহাড়ীর দ‍্যাশে যাবি? চিন্তা কিসের লো? বিকাল বেলা হাওড়া থেকে পুরুল্যা এক্সপেরেস পাবি। - Dip

Full Site Search
  Full Site Search  
 
Sat Oct 24 10:50:17 IST
Home
Trains
ΣChains
Atlas
PNR
Forum
Topics
Gallery
News
FAQ
Trips/Spottings
Login
Advanced Search

News Posts by 💥 Guard Furquan Ashraf DDU 💥

Page#    Showing 1 to 5 of 74 news entries  next>>
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी अक्टूबर के दूसरे सप्ताह में बनारस आ सकते हैं। आदर्श ब्लाक के रूप में विकसित हो रहे सेवापुरी में विकास योजनाओं से संबंधित कार्यक्रम में शिरकत कर सकते हैं। समझा जा रहा है कि बनारस से ही बिहार चुनाव को साधने की तैयारी है। हालांकि, पीएम के आगमन को  लेकर कोई अधिकारिक  जानकारी नहीं है लेकिन अंदरखाने की तैयारियां संभावना को मजबूती दे रही हैं। बात रेलवे की करें तो मंडुआडीह रेलवे स्टेशन का नया नाम बनारस हो गया है जिसका लोकार्पण पीएम के हाथ से कराने की तैयारी है।
यही वजह है कि एक सप्ताह पूर्व पूर्वोत्तर रेलवे वाराणसी मंडल के डीआरएम विजय कुमार पंजियार के  निरीक्षण के बाद स्टेशन पर जहां भी बनारस नाम लिखा गया था।
...
more...
आनन-फानन  में उसे हटाकर फिर से मंडुआडीह कर दिया गया। पूर्वोत्तर रेलवे के मंडुआडीह स्टेशन का नामकरण बनारस होने के बाद स्टेशन पर तमाम जगहों पर बनारस की पट्टिकाएं और होर्डिंग लगाए गए थे। अब उन्हें हटाकर फिर से मंडुआडीह नाम लिख दिया है। यहां तक कि मंडुआडीह से दिल्ली को जाने वाली शिवगंगा स्पेशल ट्रेन की बोगियों पर लगे डिस्प्ले बोर्ड पर भी बनारस-दिल्ली लिखने के बाद फिर से मंडुआडीह-दिल्ली कर दिया गया है।

रेलवे अफसरों के अनुसार ऐसा इसलिए किया गया कि रेलवे के सिस्टम में अभी पुराना मंडुआडीह स्टेशन का कोड एमयूवी ही शो कर रहा है जबकि बनारस नाम से कोड बीएसबीएस जारी किया गया है। आरक्षण के समय यात्रियों में कोड को लेकर भ्रम की स्थिति है। यह देखते हुए रेलवे प्रशासन ने सिस्टम अपग्रेड नहीं होने तक मंडुआडीह नाम ही चलने का फैसला लिया है। पूर्वोत्तर रेलवे वाराणसी मंडल के पीआरओ अशोक कुमार ने बताया कि मंडुवाडीह रेलवे स्टेशन पर ट्रायल बेस पर एक बोर्ड पर बनारस लिखा गया था। अब यह निर्णय लिया गया है कि पेंङ्क्षटग बोर्ड की जगह रेट्रोरिफ्लेक्टिव बोर्ड लगाया जाएगा। वहीं, पैसेंजर रिजर्वेशन सिस्टम में बनारस नाम एवं कोड फीड होने के बाद रेलवे बोर्ड से निर्देश मिलते ही नाम बदलने की कार्रवाई शुरू की जाएगी।

मंडुआडीह रेलवे स्टेशन पर वाराणसी मंडल रेल प्रबंधक विजय कुमार पंजियार के निरीक्षण के दौरान ट्रायल के तौर पर एक बोर्ड पर बनारस लिखा गया था जिसे देखने के बाद मंडुआडीह के उच्च मानक को ध्यान में रखकर यह निर्णय लिया गया है कि पेंटिंग बोर्ड की जगह रेट्रोरिफ्लेक्टिव बोर्ड लगाया जाए। इससे दिन एवं रात्रि में लाइट पडऩे पर स्टेशन की सुंदरता में और निखार आए।
Sep 04 (00:57) एक लड़की को पहुंचाने के लिए 535 KM के सफर पर चल पड़ी राजधानी एक्सप्रेस (www.jagran.com)
ECR/East Central
0 Followers
8268 views

News Entry# 417520  Blog Entry# 4704102   
  Past Edits
Sep 04 2020 (00:58)
Station Tag: Pt. DD Upadhyaya Junction (Mughalsarai)/DDU added by 💥 Guard Furquan Ashraf DDU 💥/1949117

Sep 04 2020 (00:58)
Station Tag: DaltonGanj/DTO added by 💥 Guard Furquan Ashraf DDU 💥/1949117

Sep 04 2020 (00:58)
Train Tag: New Delhi - Ranchi Covid - 19 AC Special/02454 added by 💥 Guard Furquan Ashraf DDU 💥/1949117
रांची (मुजतबा हैदर रिजवी)। सिर्फ एक लड़की को पहुंचाने के लिए गुरूवार को राजधानी एक्सप्रेस 535 KM के सफर पर चल पड़ी है। दरअसल, हुआ कुुुुुछ यूं कि नई दिल्ली से रांची के लिए चली राजधानी एक्सप्रेस के पहिए टाना भगतों के आंदोलन ने डाल्टनगंज में थाम लिए। इसके बाद ट्रेन में सवार 930 यात्रियों को गंतव्य तक पहुंचाने के लिए रेलवे ने बस की वैक्लपिक व्यवस्था की। इस दौरान 929 यात्री इसमें जाने के लिए तैयार हो गए। लेकिन एक युवती ने बस से जाने से इंकार कर दिया। इसके बाद रेलवे को युवती के जिद के आगे झुकना पड़ा। राजधानी एक्सप्रेस को शाम तकरीबन चार बजे डाल्टनगंज से वापस गया ले जाकर गोमो और बोकारो होते हुए रांची ले जाना पड़ा। ट्रेन के रात 1 से 1:30 बजे के बीच रांची रेलवे स्टेशन पर पहुंचने की संभावना है।
दिल्ली
...
more...
से रांची के लिए सवार युवती राजधानी से ही सुबह रांची पहुंचेगी। दिल्ली से रांची आ रही राजधानी एक्सप्रेस में 930 यात्री सवार थे। राजधानी एक्सप्रेस को डाल्टनगंज से सीधे रांची आना था। डाल्टनगंज से ट्रेन के जरिए रांची की दूरी 308 किलोमीटर है। मगर, युवती ने राजधानी से ही रांची जाने की जिद की तो ट्रेन को गया ले जाकर गोमो व बोकारो होकर रांची लाना पड़ा। डाल्टनगंज से गया 217 किलोमीटर व गया से बोकारो 202 किलोमीटर और बोकारो से रांची 116 किलोमीटर यानि कुल 535 किलोमीटर का सफर राजधानी ने एक युवती को लेकर किया। युवती मुगलसराय से चढ़ी है। रांची जाना है। युवती का नाम अनन्या है। बी 3 कोच की 51 नंबर सीट पर है।

दरअसल, जब टोरी में टाना भगत के रेलवे ट्रैक पर चल रहे आंदोलन की वजह से राजधानी एक्सप्रेस को डाल्टनगंज रेलवे स्टेशन पर रोका गया। पहले तो रेलवे के अधिकारियों ने सोचा कि टाना भगत का आंदोलन खत्म हो जाएगा तो राजधानी रांची पहुंचा दी जाएगी। मगर, जब आंदोलन खत्म नहीं हो पाया तो रेलवे बोर्ड के चेयरमैन को इसकी जानकारी दी गई। तब रेलवे बोर्ड ने राजधानी से मुसाफिरों को उतार कर बसों से रांची भेजने का आदेश दिया। रेलवे बोर्ड ने निर्देश दिया कि राजधानी एक्सप्रेस को डाल्टनगंज में ही खड़ा रखा जाए और जब आंदोलन खत्म हो तो इसे नियमित रूट से रांची भेज दिया जाए। इसके बाद 929 मुसाफिरों को रांची बस से ले जाया गया। मगर, राजधानी में बैठी एक युवती बस से जाने के लिए तैयार नहीं हुई।

बस से सफर करने से कर दिया इंकार
दिल्ली से रांची जा रही एक युवती ने बस से सफर करने से इंकार कर दिया। उसने अधिकारियों से साफ कहा कि वो बस से सफर नहीं करेगी। युवती ने कहा कि वो ट्रेन से ही रांची जाएगी क्योंकि, उसने दिल्ली से रांची तक का ट्रेन का टिकट लिया है। युवती का कहना था कि अगर उसे बस से सफर करना होता तो वो दिल्ली से ही बस पर सफर करती। युवती जिद पर अड़ी थी कि उसने राजधानी एक्सप्रेस का टिकट लिया है तो वो इसी से रांची जाएगी। युवती ने रेलवे के अधिकारियों और प्रशासनिक अधिकारियों से कहा कि उसे बस का सफर अच्छा नहीं लगता। उसका ये भी कहना था कि जिन बसों का इंतजाम किया गया है। वह ठीक नहीं है।

युवती ने नहीं मानी रेलवे के अधिकारियों की बात
इसके बाद रेलवे के अधिकारियों ने युवती से कहा कि उसके पास अब रांची जाने का कोई चारा नहीं है। क्योंकि, अधिकारियों को रेलवे बोर्ड से जो आदेश मिला था उसके अनुसार राजधानी एक्सप्रेस को डाल्टनगंज में खड़ा रखा जाना था और इसे टाना भगत के आंदोलन के बाद ही रांची लाया जाना था। अधिकारियों ने युवती से कहा कि अगर वो चाहे तो उसे कार के जरिए रांची भेज दिया जाए मगर युवती इस जिद पर अड़ी रही कि वो राजधानी से ही रांची जाएगी।

युवती की जिद के आगे फूल गए थे अधिकारियों के हाथ पैर
इसके बाद रेलवे के अधिकारियों के हाथ पैर फूल गए। आनन-फानन रेलवे बोर्ड के चेयरमैन को ये बात बताई गई। युवती की जिद की बात सुन कर रेलवे बोर्ड के चेयरमैन भी सकते में आ गए और थोड़ी देर बाद निर्देश देने की बात कही। बाद में रेलवे बोर्ड ने डीआरएम को निर्देश दिया कि युवती को राजधानी में बैठा कर ट्रेन को गया ले जाकर वहां से गोमो व बोकारो के रास्ते रांची ले जाया जाए। इसके बाद राजधानी एक्सप्रेस देर शाम डाल्टनगंज से रांची के लिए रवाना हुई।

युवती की सुरक्षा के लिए चाक-चौबंद रहीं आरपीएफ की महिला सिपाही
सीनियर डीसीएम ने बताया कि राजधानी एक्सप्रेस में युवती के अकेले सफर करने की वजह से रेलवे ने उसकी सुरक्षा के इंतजाम किए हैं। इसके लिए आरपीएफ के एक अधिकारी कई महिला सिपाहियों के साथ ट्रेन पर मौजूद हैं। ताकि, युवती को हिफाजत के साथ रांची पहुंचाया जाए।
सारे मुसाफिरों को बस के जरिए डाल्टनगंज से रांची ले जाया गया। मगर, एक युवती ऐसा करने के लिए तैयार नहीं थी। उसने ट्रेन से ही रांची जाने की जिद की। इस पर राजधानी एक्सप्रेस को गया, गोमो व बोकारो होकर देर शाम रांची के लिए रवाना किया गया। - अखिलेश पांडेय, सीनियर डीसीएम धनबाद
Sep 03 (12:13) Jharkhand: टाना भगतों के प्रदर्शन से थमे ट्रेनों के पहिए, बस से रांची भेजे गए राजधानी एक्‍सप्रेस के यात्री (www.jagran.com)
ECR/East Central
0 Followers
7913 views

News Entry# 417474  Blog Entry# 4703360   
  Past Edits
Sep 03 2020 (12:13)
Station Tag: DaltonGanj/DTO added by 💥 Guard Furquan Ashraf DDU 💥/1949117

Sep 03 2020 (12:13)
Train Tag: New Delhi - Ranchi Covid - 19 AC Special/02454 added by 💥 Guard Furquan Ashraf DDU 💥/1949117
पलाम, जासं। टाना भगतों के प्रदर्शन के कारण रेल यातायात बाधित होने से प्रभावित नई दिल्ली-रांची राजधानी एक्सप्रेस के यात्रियों को बस से रांची भेजा गया है। इसके अलावा कई टैक्सियों का भी इंतजाम किया गया है। डाल्टनगंज रेलवे स्टेशन परिसर से स्पेशल राजधानी एक्सप्रेस के 140 यात्रियों को लेकर 5 बसें रांची के लिए रवाना हो गईं है। 52 सीटर हर एक बस पर शारीरिक दूरी का पालन करते हुए 28-28 यात्री रवाना हुए हैं। डाल्टनगंज रेलवे स्टेशन पर पुलिसकर्मियों ने यात्रियों का सामान उठाने में मदद की।
टाना भगतों के आंदोलन के कारण नई दिल्ली-रांची राजधानी ट्रेन सुबह 6.40 बजे से डालटनगंज रेलवे स्टेशन पर खड़ी है। लातेहार जिला के टोरी रेलवे स्टेशन के समीप टाना भगतों ने अप और
...
more...
डाउन रेल पटरियों को बुधवार की शाम 5:30 से ही जाम कर दिया है। इसे लेकर रेल परिचालन पूरी तरह से बाधित है। 8 से 10 मालगाड़‍ियां विभिन्‍न स्‍टेशनों पर खड़ी है। अब भी टाना भगतों का समूह रेल पटरी पर बैठा हुआ है। स्थानीय रेल अधिकारी मौके पर पहुँच कर रेल यात्रियों की सहायता कर रहे हैं। बता दें कि यह राजधानी स्पेशल ट्रेन है, जिसे कोरोना को लेकर जारी लॉकडॉउन में चलाया जा रहा है।

स्पेशल राजधानी एक्सप्रेस के कई यात्रियों ने डाल्टेनगंज रेलवे स्टेशन पर हंगामा शुरू कर दिया है। डाल्टनगंज रेलवे स्टेशन पर हंगामा कर रहे यात्रियों को पुलिस पदाधिकारी लगातार समझा रहे हैं। इधर, पलामू जिला प्रशासन की पहल पर हंगामा कर रहे स्पेशल राजधानी एक्सप्रेस के यात्री शांत हुए हैं। डाल्टनगंज रेलवे स्टेशन प्रबंधक ने यात्रियों के लिए नाश्ते की व्यवस्था कराई है। उन्‍हें बसों से रांची भेजने का इंतजाम किया गया है। पलामू के एसपी अजय लिंडा, पलामू डीसी डालटनगंज रेलवे स्टेशन परिसर पहुंच गए हैं। वे यात्रियों को रांची भेजने के लिए हो रही व्यवस्था का जायजा ले रहे हैं।

इस ट्रेन का डालटनगंज रेलवे स्टेशन में ठहराव नहीं है। डाल्टेनगंज रेलवे स्टेशन पर राजधानी एक्सप्रेस के यात्रियों को बसों से रांची भेजने की तैयारी हो रही है। डालटनगंज रेलवे स्टेशन पर खड़ी स्पेशल राजधानी एक्सप्रेस से उतर कर यात्री स्‍टेशन से बाहर जा रहे हैं। टोरी स्टेशन पर ट्रैक जाम होने के कारण यह ट्रेन सुबह 6:40 से डालटेनगंज रेलवे स्टेशन पर खड़ी है। अब इस ट्रेन के यात्री अपने संसाधन से रांची जाने लगे हैं। डाल्टेनगंज रेलवे स्टेशन पर सुबह 6:40 से रुकी स्पेशल राजधानी एक्सप्रेस में करीब 750 यात्री हैं। इन सभी को रांची जाना है।

राजधानी एक्सप्रेस को 10:00 बजे तक रांची पहुंचना था। पीआरओ चंदन कुमार ने बताया कि रेलवे के आला अधिकारी राज्य सरकार के अधिकारियों से बात कर रहे हैं। टाना भगत को समझाया जा रहा है कि वह ट्रैक से हट जाएं। उनके ट्रैक से हटने के बाद राजधानी एक्सप्रेस को रांची की तरफ रवाना किया जाएगा। राजधानी एक्सप्रेस के डाल्टनगंज में फंस जाने से अब यह ट्रेन लेट हो गई है। इस पर सवार मुसाफिर परेशान हैं। रेलवे के अधिकारियों का कहना है कि राजधानी के अलावा 8 मालगाड़ियां भी दोनों तरफ फंसी हुई हैं।

धनबाद रेल मंडल अंतर्गत बरकाकाना-डालटनगंज रेलखंड के टोरी रेलवे स्टेशन के समीप टाना भगतों ने अप और डाउन रेल पटरियों को बुधवार शाम से ही जाम कर दिया गया है। टाना भगतों का समूह रेल पटरी पर बैठा हुआ है। इसके कारण रेलखंड पर रेल परिचालन पूरी तरह से बाधित है। हालांकि कोरोना को लेकर इस मार्ग से यात्री ट्रेनों का परिचालन लंबे समय से बंद है। लेकिन इससे मालगाड़ी का परिचालन पूरी तरह से ठप हो गया है। इसके अलावा स्‍पेशल ट्रेनों का आवागमन भी बाधित हुआ है।

सुबह 9 बजे से लातेहार एसडीएम सागर कुमार के नेतृत्व में प्रशासनिक टीम टाना भगतों को समझा कर रेलवे ट्रैक से हटाने का प्रयास कर रही है। फिलवक्त 500 से अधिक की संख्या में टाना भगत रेलवे ट्रैक जाम कर बैठे हुए हैं। टाना भगत थोड़ी-थोड़ी देर में घंटा भी बजा रहे हैं। वहीं आंदोलनकारी टाना भगतों को देखने के लिए लोगों की भीड़ जमा हो रही है। स्थानीय लोगों को पुलिस टीम लगातार हटा रही है।

बता दें कि झारखंड के छोटानागपुर के टाना भगत आजादी के इतने सालों के बाद भी अपने हक और अधिकार के लिए आंदोलनरत हैं। केन्द्र एवं राज्य सरकार से अपनी मांगों को अवगत करा चुके हैं। उनका कहना है क‍ि सरकार उनकी मांग को गंभीरता से नहीं ले रही है।

Rail News
7035 views
Sep 03 (12:21)
आसनसोल डब्लयू ए जी 9 एचसी 🔥🔥
Harsh12345ER^~   10106 blog posts
Re# 4703360-1            Tags   Past Edits
Corona sharm se chala gaya kya?🧐🧐

7251 views
Sep 03 (12:25)
💥 Guard Furquan Ashraf DDU 💥
furquan_ashraf^~   2127 blog posts
Re# 4703360-2            Tags   Past Edits
Hahahaha
Ye toh wahi waali baat hogyi
Macchar inhe katega toh Dengue inhe nhi balki maccharon ko ho jaayega 🤣🤣🤣🤣
धनबाद, जेएनएन। Indian Railways तकरीबन तीन साल पहले बनी बिना गार्ड के मालगाड़ी चलाने की योजना को अब धरातल पर उतारने की तैयारी शुरू हो गई है। मालगाड़ियों में गार्ड की जगह आधुनिक तकनीक वाला उपकरण ईओटीटी (इंड आफ ट्रेन टेलीमेट्री) सिस्टम लगाया जाएगा।  पहले चरण में लोडिंग वाले पांच महत्वपूर्ण जोन को 250 सेट ईओटीटी उपलब्ध कराने का आदेश रेलवे बोर्ड ने जारी किया है। उपकरण पांच जोनों के शेड में भेजे जाएंगे।

ईओटीटी मालगाड़ी के अंतिम छोर पर स्थित गार्ड यान (ब्रेक यान) में लगाया जाएगा। उपकरण एक कम्यूनिकेशन सिस्टम
...
more...
के तहत काम करेगा, जो मालगाड़ी के आगे इंजन से अंतिम छोर के डिब्बे तक जुड़ा रहेगा। पूरी मालगाड़ी की एक-एक पल की गतिविधि उपकरण में दर्ज होती रहेगी। मालगाड़ी के खुलने से पहले उपकरण ब्रेक पाइप व प्रेशर को चेक करने के बाद लोको पायलटों को ग्रीन सिग्नल देगा। इसके बाद उपकरण लगातार लोको पायलट और कंट्रोल के संपर्क में रहेगा।



आपात परिस्थितियों की भी देगा खबर

मालगाड़ी के दो भाग में बंट जाने पर चालक और कंट्रोल को इस उपकरण से सूचना मिल जाएगी। यानी यह पूरी तरह गार्ड की भूमिका निभाएगा।

जून में आदेश जारी कर चुका रेलवे बोर्ड, विरोध टालने को गुपचुप तैयारियां

नई व्यवस्था को लेकर रेलवे बोर्ड ने जून में ही आदेश जारी कर दिया है। डीजल लोकोमोटिव वर्क्स ( डीएलडब्ल्यू) को इसके लिए केंद्रीकृत खरीद एजेंसी बनाया गया है। हालांकि कर्मचारी यूनियनों के विरोध को टालने के लिए इसकी गुपचुप तैयारियां की जा रही हैं।
रायपुर। अब तक ट्रेनों और रेलवे स्टेशन में टिकट चेकिंग का काम करने वाले टिकट निरीक्षक अब रेलवे के लिए मार्केटिंग का काम भी करेंगे । कोरोना काल में ट्रेनों का संचालन पूर्ण रुप से बंद है। ऐसे में आय बढ़ाने के लिए रेलवे ने पार्सल के जरिए कमाई करने का रास्ता बनाया है। लिहाजा नए पार्सल कस्टमर ढूंढने के लिए रेलवे ने अपने टिकट चेकिंग स्टॉफ को मार्केट में भेजकर पार्सल सेवा के लिए कस्टमर ढूंढने का काम करेंगे । हालांकि टिकट चेकिंग स्टॉफ ने रेलवे के इस फैसले का विरोध भी शुरु कर दिया ।

टिकट…टिकट..टिकट
...
more...
की आवाज आपने ट्रेनों और स्टेशनों में टिकट इंस्पेक्टर से सुनी होगी, लेकिन अब ये टिकट इंस्पेक्टर पार्सल…पार्सल…पार्सल भी बोलेंगे। अब आप सोच रहे होंगे..की आखिर क्या टिकट चेकिंग स्टॉफ पार्सल की चेकिंग भी करेंगे…तो ऐसा नहीं है। दरअसल ये टिकट चेकिंग स्टॉफ अब रेलवे के लिए पार्सल भेजवे वाले कस्टमर की तलाश करेंगे । 

कोरोना के चलते लॉकडाउन में ट्रेन सेवा पूर्ण रुप से बंद है। अनलॉकडाउन के तहत कुछ स्पेशल ट्रेन ही चल रही हैं, अगर बात रायपुर की करें तो यहां दो ट्रेनें चल रही हैं और दो ट्रेनें यहां से गुजर रही हैं । ऐसे में अधिकांश टीटी के पास काम नहीं है, हालांकि फिर भी 50 फीसदी स्टॉफ को किसी न किसी काम में स्टेशन में लगाया गया है । ट्रेने नहीं चलने से रेलवे को राजस्व भी नहीं मिल रहा है । लिहाजा टीटी का उपयोग पार्सल के लिए प्रोत्साहित करने के लिए करने का फैसला लिया गया है । 

रेलवे के मंडल कार्यालय की ओर से जारी आदेश में दुर्ग और रायपुर के 5-5 टीटी की ड्यूटी अभी मार्केटिंग के कार्य के लिए लगाई गई है । रेलवे के इस फरमान का इंडियन रेलवे टिकट चेकिंग आर्गेनाइजेशन ने विरोध किया है ।

भारतीय रेलवे के इतिहास में ऐसा पहली बार होगा, पूरी टीम को प्रोफेशनल तरीके से कार्य करना होगा… सीनियर टिकट इंस्पेक्टर (सीटीआई) के नेतृत्व में टिकट निरीक्षकों की टीम काम करेगी। उन्हें पार्सल बुकिंग और दुकानों में जाकर रेलवे की मार्केटिंग का एक लक्ष्य दिया जाएगा। उनकी टेरेटरी बनाई जाएगी। स्टेशन से बाहर जाकर काम अपने 8 घंटे की ड्यूटी के दौरान हर दिन 20-20 दुकानदारों से बात करनी होगी । फिलहाल ये कदम एक प्रयोग के रुप में उठाया गया है। अधिकारियों की माने अगर इसमें सफलता मिलती है, तो फिर इसे पूरे देश में भी अपनाया जा सकता है ।

Rail News
15981 views
Jul 04 (23:53)
kedarc68
Goawaychinaviru   775 blog posts
Re# 4662217-1            Tags   Past Edits
ye tc to checking ka kaam puri lagan se nhi karte. aur koi kaam thodehi karenge.

12450 views
Jul 05 (00:21)
💥 Guard Furquan Ashraf DDU 💥
furquan_ashraf^~   2127 blog posts
Re# 4662217-2            Tags   Past Edits
Hahahaha 100 taka shi bola 😆😆😆😆
Page#    74 news entries  next>>

Scroll to Top
Scroll to Bottom
Go to Mobile site
Important Note: This website NEVER solicits for Money or Donations. Please beware of anyone requesting/demanding money on behalf of IRI. Thanks.
Disclaimer: This website has NO affiliation with the Government-run site of Indian Railways. This site does NOT claim 100% accuracy of fast-changing Rail Information. YOU are responsible for independently confirming the validity of information through other sources.
India Rail Info Privacy Policy