Spotting
 Timeline
 Travel Tip
 Trip
 Race
 Social
 Greeting
 Poll
 Img
 PNR
 Pic
 Blog
 News
 Conf TL
 RF Club
 Convention
 Monitor
 Topic
 Bookmarks
 Rating
 Correct
 Wrong
 Stamp
 PNR Ref
 PNR Req
 Blank PNRs
 HJ
 Vote
 Pred
 @
 FM Alert
 FM Approval
 Pvt
News Super Search
 ↓ 
×
Member:
Posting Date From:
Posting Date To:
Category:
Zone:
Language:
IR Press Release:

Search
  Go  

For RailFans, the Journey itself is the Destination. - Sreerup Patranabis

Full Site Search
  Full Site Search  
FmT LIVE - Follow my Trip with me... LIVE
 
Sun Jun 13 01:14:12 IST
Home
Trains
ΣChains
Atlas
PNR
Forum
Quiz Feed
Topics
Gallery
News
FAQ
Trips/Spottings
Login
Advanced Search

News Posts by Vcpl Jbp

Page#    Showing 1 to 5 of 1848 news entries  next>>
Yesterday (19:51) रेलवे ने इन 10 ट्रेनों के फेरों में किया इजाफा, यहां से होकर चलती है (palpalindia.com)
0 Followers
2627 views

News Entry# 455900  Blog Entry# 4983999   
  Past Edits
This is a new feature showing past edits to this News Post.
Trains:  Danapur - Udhna SF Special Fare Special/09012   Udhna - Danapur SF Special Fare Special/09011   Bandra Terminus - Barauni Special Fare Special (Via Patna)/09005   Barauni - Bandra Terminus Special Fare Special (Via Patna)/09006   Okha - Guwahati Dwarka Special Fare Special/09501   Guwahati - Okha Dwarka Special Fare Special/09502   Ahmedabad - Samastipur Summer Special Fare Special/09453   Samastipur - Ahmedabad Summer Special Fare Special/09454   Mumbai Central - Samastipur Summer Special Fare Special/09049   Samastipur - Mumbai Central Summer Special Fare Special/09050   Rajkot - Samastipur Special Fare Special/09521   Samastipur - Rajkot Special Fare Special/09522   Mumbai Central - Bhagalpur Special Fare Special/09117   Bhagalpur - Mumbai Central Special Fare Special/09118   Mumbai Central - Bhagalpur Summer Special/09175   Bhagalpur - Mumbai Central Summer Special/09176   Bandra Terminus - Danapur SF Special Fare Special (via Mathura)/09181   Danapur - Vadodara Special Fare Special (via Mathura)/09182   Mumbai Central - Bhagalpur Special Fare Special/09177   Bhagalpur - Mumbai Central Special Fare Special/09178  
नई दिल्ली. यात्रियों की अतिरिक्त भीड़ को देखते हुए उनकी सुविधा के लिए बांद्रा टर्मिनल, मुंबई सेंट्रल, अहमदाबाद आदि स्टेशनों से पूर्व मध्य रेल के बरौनी, समस्तीपुर, दानापुर सहित अन्य स्टेशनों के लिए वर्तमान में चलाई जा रही 10 जोड़ी स्पेशल ट्रेनों के फेरों में वृद्धि की गई है. सभी स्पेशल ट्रेनें पूर्णतया आरक्षित हैं एवं यात्रा के दौरान यात्रियों को कोविड-19 प्रोटोकॉल का पालन अनिवार्य होगा.

इन ट्रेनों के फेरों में वृद्धि की गई है.
...
more...

1. 09011 उधना-दानापुर स्पेशल ट्रेन का परिचालन 14 जून 2021 को किया जाएगा.
2. 09012 दानापुर-उधना स्पेशल ट्रेन का परिचालन 16 जून 2021 को किया जाएगा.
3. 09049 मुंबई सेंट्रल- समस्तीपुर स्पेशल ट्रेन का परिचालन 14, 15, 17 एवं 19 जून, 2021 को किया जाएगा.
4. 09050 समस्तीपुर-मुंबई सेंट्रल स्पेशल ट्रेन का परिचालन 16, 17, 19 एवं 21 जून, 2021 को किया जाएगा.
5. 09117 मुंबई सेंट्रल- भागलपुर स्पेशल ट्रेन (वाया मुजफ्फरपुर, बेतिया) का परिचालन 18 जून 2021 को किया जाएगा.
6. 09118 भागलपुर-मुंबई सेंट्रल स्पेशल ट्रेन (वाया मुजफ्फरपुर, बेतिया) का परिचालन 21 जून 2021 को किया जाएगा.
7. 09175 मुंबई सेंट्रल- भागलपुर स्पेशल ट्रेन (वाया मुजफ्फरपुर, बेतिया) का परिचालन 13 जून 2021 को किया जाएगा.
8. 09176 भागलपुर-मुंबई सेंट्रल स्पेशल ट्रेन (वाया मुजफ्फरपुर, बेतिया) का परिचालन 15 जून 2021 को किया जाएगा.
9. 09177 मुंबई सेंट्रल-भागलपुर स्पेशल ट्रेन (वाया मुजफ्फरपुर, बेतिया) का परिचालन 16 जून 2021 को किया जाएगा.
10. 09178 भागलपुर-मुंबई सेंट्रल स्पेशल ट्रेन (वाया मुजफ्फरपुर, बेतिया) का परिचालन 19 जून 2021 को किया जाएगा.
11. 09181 बांद्रा टर्मिनस-दानापुर स्पेशल ट्रेन का परिचालन 15 जून 2021 को किया जाएगा.
12. 09182 दानापुर-बड़ोदरा स्पेशल ट्रेन का परिचालन 17 जून 2021 को किया जाएगा.
13. 09453 अहमदाबाद- समस्तीपुर स्पेशल ट्रेन का परिचालन 13 जून 2021 को किया जाएगा.
14. 09454 समस्तीपुर- अहमदाबाद स्पेशल ट्रेन का परिचालन 16 जून 2021 को किया जाएगा.
15. 09501 ओखा-गुवाहाटी स्पेशल ट्रेन (वाया पंडित दीन दयाल उपाध्याय जं.-पटना) का परिचालन 18 जून 2021 को किया जाएगा.
16. 09502 गुवाहाटी-ओखा स्पेशल ट्रेन (वाया पंडित दीन दयाल उपाध्याय जं.-पटना) का परिचालन 21 जून 2021 को किया जाएगा.
17 09521 राजकोट- समस्तीपुर स्पेशल ट्रेन का परिचालन 16 जून 2021 को किया जाएगा.
18. 09522 समस्तीपुर- राजकोट स्पेशल ट्रेन का परिचालन 19 जून 2021 को किया जाएगा.
19 09005 बांद्रा टर्मिनस- बरौनी (वाया पटना, बक्सर, पंडित दीन दयाल उपाध्याय जं.) स्पेशल का परिचालन 18 जून 2021 को किया जाएगा.
20. 09006 बरौनी-बांद्रा टर्मिनस स्पेशल (वाया पटना, बक्सर, पंडित दीन दयाल उपाध्याय जं.) का परिचालन 21 जून 2021 को होगा.
इन स्पेशल ट्रेनों का समय, ठहराव एवं कोच संयोजन पूर्ववत् रहेगा.
जबलपुर. पश्चिम मध्य रेल के महाप्रबंधक शैलेन्द्र कुमार सिंह ने मुख्यालय के प्रमुख विभागाध्यक्षों के साथ आज 08 जून 2021 को जबलपुर-बीना रेल खण्ड का विंडो (खिड़की) निरीक्षण किया. निरीक्षण के दौरान महाप्रबंधक ने इस रेलखंड पर स्थित स्टेशनों, रेल पुलों, रेल पथ, ओएचई एवं सिग्नल प्रणाली का सघन निरीक्षण किया. कटनी-बीना तीसरी लाइन का निरीक्षण किया तथा इस खंड पर माल गाडिय़ों की गति बढ़ाने के लिए आवश्यक निर्देश दिए. कटनी मुड़वारा स्टेशन के नजदीक बन रहे रोड ओवर ब्रिज (आओबी) का जायजा लेकर शेष कार्य को शीघ्र ही पूरा करने आवश्यक दिशा-निर्देश दिये. सागर स्टेशन के माल गोदाम को लिधौराखुर्द स्टेशन पर स्थान्तरित करने के लिए तत्सम्बधित कार्यो को शीघ्र करने के भी आदेश दिये.

तत्पश्चात
...
more...
मण्डल रेल प्रबंधक भोपाल एवं अन्य अधिकारियों के साथ बीना में निर्माणाधीन मेमू शेड का सघन निरीक्षण किया, और निर्माण किये जा रहे कार्यों का जायजा लिया. अधिकारियों से चर्चा के दौरान निर्माण में शेष कार्यो को शीघ्र पूरा करने के आवश्यक दिशा निर्देश संबंधित अधिकारियों को दिये. उल्लेखनीय है कि बीना मेमू शेड का निर्माण लगभग रुपये 139 करोड़ की लागत से तीव्र गति से किया जा रहा है. जिसका शीघ्र पूरा होने का अनुमान है. इस शेड को चालू होने से पश्चिम मध्य रेल को आवंटित मेमू ट्रेन के आठ रेकों का अनुरक्षण बीना मेमू शेड में किया जा सकेगा. यह मेमू गाडिय़ां शीघ्र ही पश्चिम मध्य रेल में दौड़ेगी. मेमू शेड के प्रशासनिक भवन के प्रांगण में महाप्रबंधक एवं मण्डल रेल प्रबंधक सहित अन्य उच्च अधिकारियों ने पौधारोपण कर पर्यावरण संरक्षण को मजबूत बनाने का संदेश भी दिया.

इसके पश्चात महाप्रबंधक ने महादेवखेड़ी से लेकर मालखेड़ी के बीच तीव्र गति से रेल लाइन दोहरीकरण के कार्य का जायजा लिया. इस रेल लाइन पर नवनिर्मित एक बड़े, सात छोटे पुलों एवं तीन रोड अंडर ब्रिज का भी निरीक्षण किया. बीना-गुना सेक्शन की दोहरीकरण का कार्य की कुल लंबाई 118.37 किमी है जिसमें से अशोकनगर से गुना सेक्शन जो कि 44.20 किलोमीटर का है.

इस खंड का दोहरीकरण का पहले ही पूर्ण कर लिया गया है. इस खण्ड पर रेल संचालन शुरू भी हो गया है. बीना से गुना दोहरीकरण हो जाने से रेल ट्रैक के आवश्यक अनुरक्षण के लिए मिलने वाले ब्लॉक में बढ़ोतरी होगी तथा ट्रेनों की गति में भी निश्चित ही वृद्धि होगी, जिससे यात्रियों के समय में काफी बचत होगी.

मालखेड़ी से तीन दिशाओं में रेल परिचालन होता है. वर्तमान में मालखेड़ी से महादेवखेड़ी सिंगल लाइन है. इस खण्ड पर दोहरीकरण का कार्य चल रहा है जो अतिशीघ्र पूरा होने वाला है. कार्य पूरा होने के बाद ट्रेनों के परिचालन गति एवं क्षमता में वृद्धि होगी. इस निरीक्षण के दौरान महाप्रबंधक के साथ मण्डल रेल प्रबंधक, पश्चिम मध्य मुख्यालय के प्रमुख मुख्य विभागाध्यक्ष अधिकारी एवं आरवीएनएल के अधिकारी सहित अन्य अधिकारी व पर्यवेक्षक कर्मचारी उपस्थित रहे.
जबलपुर. कोरोना के संक्रमण की दूसरी लहर के कारण जबलपुर रेल मंडल की बंद की गई यात्री रेल गाडिय़ों को पुन: चलाने का रेलवे ने फैसला लिया है . जिसके तहत आज मंगलवार 8 जून को पश्चिम मध्य रेलवे द्वारा 8 जोड़ी यात्री गाडिय़ों को आगामी 10 जून से क्रमश: चलाने का निर्णय लिया है, जिसके तहत जबलपुर मंडल से चलने वाली 3 जोड़ी यात्री गाडिय़ां भी शामिल है.
इस संबंध में वरिष्ठ मंडल वाणिज्य प्रबंधक श्री विश्वरंजन ने बताया कि आज पश्चिम मध्य रेलवे द्वारा 8 जोड़ी यात्री गाडिय़ों को पुन: चलाने के लिए गए निर्णय के तहत जबलपुर मंडल की जबलपुर से इंदौर जाने वाली ओवरनाइट एक्सप्रेस गाड़ी नंबर 02292/91 आगामी 10 जून को जबलपुर से इटारसी,भोपाल होकर
...
more...
इंदौर तक चलेगी, तथा 11 जून से इंदौर से जबलपुर के बीच उक्त मार्ग से ही वापस आएगी.

इसी तरह 11 जून को लखनऊ से जबलपुर के बीच चित्रकूट एक्सप्रेस नंबर 05205/06 कानपुर, सतना, मार्ग से जबलपुर आएगी तथा 12 जून को जबलपुर से लखनऊ जाएगी. इस तरह मंडल की उक्त दोनों बहुप्रतीक्षित गाडिय़ां प्रारंभ होने जा रही है . इसके साथ ही इटारसी से प्रयागराज छिवकी के बीच चलने वाली पैसेंजर गाड़ी क्रमांक 01117 इटारसी से नरसिंहपुर, जबलपुर, कटनी, सतना मार्ग से 11 जून से चला करेगी.



श्री विश्वरंजन ने यात्रियों से अनुरोध किया है कि वे यात्री गाडिय़ों में कोविड-19 तथा रेलवे के आवश्यक निर्देशों का पालन करते हुए अपनी सुखद यात्रा करें. उन्होने कहा कि रेलवे द्वारा मंडल में बंद की गई यात्री गाडिय़ों को धीरे-धीरे उन्हें चलाने का निर्णय लिया जा रहा है जिससे की आम यात्रियों को सुविधा मिल सके. इसके साथ ही पश्चिम मध्य रेल द्वारा आज घोषित 8 जोड़ी यात्री गाडिय़ों में से 5 जोड़ी यात्री गाडिय़ां कोटा मंडल की है जो कि कोटा से प्रारंभ होकर अपने गंतव्य की ओर जाएंगे.
कोटा. रेल कर्मचारियों को फ्रंट लाइन वर्कर घोषित करने की मांग को लेकर आज 7 जून सोमवार को आल इंजिया रेलवे मेंस फेडरेशन (एआईआरएफ) व वेस्ट सेंट्रल रेलवे एम्पलाइज यूनियन (डबलूसीआरईयू) के संयुक्त तत्वावधान में देश भर के 3 लाख से अधिक कर्मचारियों ने ट्विटर पर अभियान चलाया और अपनी मांग को लेकर प्रधानमंत्री, रेलमंत्री, हेल्थ मिनिस्ट्रिी, रेलवे बोर्ड को टिवट् करके विरोध दर्ज करवाया.

एआईआरएफ के असिस्टेंट जनरल सैक्रेट्री व डबलूसीआरईयू के महामंत्री मुकेश गालव ने बताया कि रेलकर्मचारियों को फ्रंटलाईन वर्कर घोषित करने के लिये रेलकर्मचारियों ने लाखों की संख्या
...
more...
में प्रधानमंत्री, रेलमंत्री, हेल्थ मिनिस्ट्रिी, रेलवे बोर्ड को टिवट् करके विरोध दर्ज करवाया.

24 घंटे पूरी शिद्दत से रेलवे को चलायमान रखने में जुटे रहे कर्मचारी

श्री गालव ने बताया कि कोरोना काल में भी 24 घंटे गाडिय़ों का संचालन कर अपनी डयूटी पूरी निष्ठा, ईमानदारी से करने में लगे है. यहां तक कि सबसे कठोर लॉकडाउन अवधि के दौरान भी वर्ष 2020 या 2021 भारतीय अर्थव्यवस्था को मजबूत बनाये रखने में प्रमुख योगदान रहा है. रेलवे में 1 लाख से ज्यादा कर्मचारी संक्रमित हुये हैं और 2 हजार से ज्यादा कर्मचारियों की मौत हो चुकी है. ऐसी विषम परिस्थितियों में रेलकर्मचारियों ने कोरोना महामारी में कोरोना वोरियर की भूमिका निभाई है. फिर भी केन्द्र सरकार द्वारा रेलकर्मचारियों को फ्रंटलाईन वर्कर नहीं माना जा रहा है.

रेल कर्मचारियों का जताया आभार

यूनियन के महामंत्री मुकेश गालव ने समस्त रेलकर्मचारियों को सोशल मिडिया के माध्यम से विरोध दर्ज करने पर रेलकर्मचारियों को धन्यवाद ज्ञापित किया है और बताया कि भारत सरकार रेलकर्मचारी को कोरोना फ्रंटलाईन वर्कर घोषित करना ही होगा.
जबलपुर. पूरे भारतीय रेलवे में पश्चिम मध्य रेलवे पूर्ण विद्युतीकरण का पहला जोन बनने का तमगा हासिल किया है. रेलवे दुनिया में सबसे बड़ा हरित रेलवे बनने के लिए मिशन मोड में काम कर रहा है और 2030 से पहले शुद्ध शून्य कार्बन उत्सर्जन बनने की ओर बढ़ रहा है और इस काम में पमरे ने सबसे पहले अपना योगदान दिया है, जहां उसके तीनों रेल मंडलों जबलपुर, कोटा और भोपाल मंडल में विद्युतीकरण पूरा कर लिया गया है.

भारतीय रेल देश में यात्रियों के साथ-साथ और माल ढुलाई का सबसे बड़ा
...
more...
वाहक है. इसलिए पर्यावरण की चुनौतियों से निपटने के लिए पर्यावरण की सुरक्षा के प्रति भारतीय रेल का दृष्टिकोण बहुत महत्व रखता है. भारतीय रेल ने पर्यावरण की सुरक्षा के लिए कई दिशाओं में कार्य किया है, जैसे रेल विद्युतीकरण, हेड ऑन जेनेरेशन तकनीक एवं विद्युत इंजनों का अधिक से अधिक प्रयोग करना. रेलवे विद्युतीकरण की गति जो पर्यावरण के अनुकूल है और प्रदूषण को कम करती है, 2014 के बाद से लगभग 10 गुना बढ़ गई है. भारतीय रेलवे को हरित रेलवे में बदलने और विद्युतकर्षण की आर्थिक लाभों को त्वरित रूप से प्राप्त करने के लिए रेलवे ने ब्रॉडगेज मार्गो को 100: विद्युतीकरण करने का दिसंबर 2023 तक का योजना बनाई है. इससे डीजल ट्रेक्शन को खत्म करने में आसानी होगी, जिसके परिणाम स्वरूप इसके कार्बन फुटप्रिंट और पर्यावरण प्रदूषण में उल्लेखनीय कमी आएगी. विद्युतीकरण पूर्ण होने से विशेषकर पर्यावरण को अनेकों प्रकार के लाभ मिलते हैं. जैसे पर्यावरण के अनुकूल परिवहन एवं आयातित डीजल ईंधन पर कम निर्भरता होती है, जिससे कीमती विदेशी मुद्रा की बचत होती है और कार्बन फुटप्रिंट भी कम होता है तथा परिचालन लागत में भी कमी आती हैं. कर्षण परिवर्तन के कारण ट्रेनों की परिचालन गति में बढ़ोत्तरी होती है, जिससे उनकी सेक्शन क्षमता भी बढ़ जाती है.

पमरे ने यह उपलब्धि 2 साल पहले ही पूरी कर ली

इस संंबंध में पश्चिम मध्य रेलवे के मुख्य जनसम्पर्क अधिकारी राहुल जयपुरियार कहते हैं कि रेलवे बोर्ड ने तो विद्युतीकरण का टारगेट दिसम्बर 2023 का दिया था, किंतु पमरे ने यह विशिष्ट उपलब्धि महाप्रबंधक एसके सिंह के कुशल नेतृत्व में अधिकारियों, कर्मचारियों की टीम ने ढाई साल पहले ही रिकार्ड समय में पूरी कर ली है. जिसके बाद पश्चिम मध्य रेल भारतीय रेल पर पहला ऐसा जोन बन गया है, जिसका पूरा 3012 किलोमीटर का रूट विघुतीकरण हो गया है.

हेड आन जेनरेशन सिस्टम भी शुरू हो रहा

भारतीय रेलवे हेड ऑन जनरेशन सिस्टम भी शुरू कर रहा है, जिसके तहत लोकोमोटिव के माध्यम से सीधे ओवर हेड इक्विपमेंट (ओएचई) से कोचों को बिजली की आपूर्ति की जाती है. यह ट्रेनों में अलग पावर कारों की आवश्यकता को समाप्त करता है और इस प्रकार अतिरिक्त कोचों को खींचने की आवश्यकता को कम करता है और दक्षता बढ़ाता है. भारतीय रेल में 1120 से अधिक ट्रेनों को पहले ही एचओजी में बदल दिया गया है. इसके अलावा उत्पादन इकाइयों से 160 एचओजी अनुपालन वाली ट्रेनें प्राप्त हुई है. इसलिए कुल 1280 ट्रेनों को एचओजी सिस्टम से लैस किया गया है. इससे कार्बन फुटप्रिंट में प्रतिवर्ष से 31,88,929 टन की कमी आएगी. पावर कारों को खत्म करने स े 2300 करोड ़ रुपए की ईंधन लागत में भी बचत होगी.

पमरे में 63 इलेक्ट्रिक लोकोमोटिव हेड ऑन जनरेशन तकनीक से लैस



सीपीआरओ राहुल जयपुरियार ने बताया कि पश्चिम मध्य रेल ने भी हेड ऑन जनरेशन तकनीकी का उपयोग किया है. पश्चिम मध्य रेल में इलेक्ट्रिक इंजन 63 लोकोमोटिव हेड ऑन जनरेशन कंप्लाइन्ट लोको तकनीकी के हैं एवं 21 हेड ऑन जनरेशन कंप्लाइन्ट रेकों का उपयोग किया जा रहा है. इस तकनीकी से पर्यावरण में वायु प्रदूषण एवं ध्वनि प्रदूषण काफी कमी आयी है एवं पिछले 02 वर्षो में 20 करोड़ की बचत हुई है. भारतीय रेलवे ने पर्यावरण संरक्षण के लिए उच्च ऊर्जा दक्षता वाले नए और बेहतर इंजनों का उपयोग किया गया है. रेलवे ने 12 हजार हॉर्स पावर वाले उच्च क्षमता के लोको इलेक्ट्रिकल इंजनों के उपयोग में लाने से मालगाडिय़ों की औसत गति में वृद्धि हुई है. ये लोकोमोटिव ऊर्जा कुशल है. पश्चिम मध्य रेल पर वर्तमान में 776 विद्युत इंजनों का उपयोग किया जा रहा है.
Page#    1848 news entries  next>>

Scroll to Top
Scroll to Bottom
Go to Mobile site
Important Note: This website NEVER solicits for Money or Donations. Please beware of anyone requesting/demanding money on behalf of IRI. Thanks.
Disclaimer: This website has NO affiliation with the Government-run site of Indian Railways. This site does NOT claim 100% accuracy of fast-changing Rail Information. YOU are responsible for independently confirming the validity of information through other sources.
India Rail Info Privacy Policy