Spotting
 Timeline
 Travel Tip
 Trip
 Race
 Social
 Greeting
 Poll
 Img
 PNR
 Pic
 Blog
 News
 Conf TL
 RF Club
 Convention
 Monitor
 Admin
 Followed
 Rating
 Correct
 Wrong
 Stamp
 HJ
 Vote
 Pred
 @
 FM Alert
 FM Approval
 Pvt
News Super Search
 ↓ 
×
Member:
Posting Date From:
Posting Date To:
Category:
Zone:
Language:
IR Press Release:

Search
  Go  

For RailFans, the Journey itself is the Destination. - Sreerup Patranabis

Full Site Search
  Full Site Search  
 
Mon Feb 18 21:31:32 IST
Home
Trains
ΣChains
Atlas
PNR
Forum
Gallery
News
FAQ
Trips/Spottings
Login
Feedback
Advanced Search

News Posts by Vcpl Jbp

Page#    Showing 1 to 5 of 888 news entries  next>>
  
Today (12:30) रेल ट्रेक पर ट्रेन के पहले दौड़ रहे ट्रक (www.palpalindia.com)
0 Followers
733 views

News Entry# 376805  Blog Entry# 4235295   
  Past Edits
This is a new feature showing past edits to this News Post.
पलपल संवाददाता, जबलपुर. रेल ट्रेक पर अभी तक तो ट्रेनों को चलते देखा है, लेकिन अब रेलवे ट्रेन की बजाय ट्रक दौड़वा रहा है. यह काम मध्य प्रदेश के खंडवा-सनावद के बीच देखा जा रहा है. चौबीसों घंटे गिट्टियों से भरे डम्पर-ट्रक इस खंड में बिछी रेल लाइनों पर दौड़ाए जा रहे हैं.
उल्लेखनीय है कि इन दिनों सनावद से खंडवा रेलवे रूट पर गेज कन्वर्जन (अमान परिवर्तन) का काम तेजी से किया जा रहा है. ये डंपर इसी काम के तहत रेलवे ट्रेक पर गिट्टी बिछाने का काम कर रहे हैं. इस रेल मार्ग का काम देख रहे इंजीनियर की माने तो यह एक तरह से यह जुगाड़ टेक्निक है. जिसे कम लागत में तेज़ी से काम करने के लिए किया
...
more...
गया है. ये जुगाड़ काफी कारगर साबित हुई है, जिससे बड़ी मेहनत के काम को आसानी से किया जा रहा है..
इस तरह डंपर्स को किया मॉडीफाई
तेज और सुविधाजनक तरीके से निर्माण कार्य को पूरा करने के लिए रेलवे अधिकारियों द्वारा ये अनोखा प्रयोग किया है. आमतौर पर किसी भी ट्रक या डंपर में रबर के टायर होते हैं, लेकिन, रेलवे ट्रेक पर दौडऩे वाले इन डंपरों की खास बात ये है कि, इसमें रबर के टायर की जगह ट्रेन में इस्तेमाल होने वाले लोहे के पहिए लगाए गए हैं. इसकी मदद से डंपर आसानी से रेलवे ट्रैक दौड़ सकता है.
इन डम्पर्स की यह है खूबियां
एक बार में 20 टन से ज्यादा गिट्टी ले जाने में सक्षम ये डंपर 40 कि.मी प्रतिघंटे की रफ्तार से ट्रैक पर दौड़ते हुए गिट्टी बिछाने का काम कर सकते हैं. हालांकि, इस दौरान डंपर का स्टेयरिंग लॉक कर दिया जाता है. इस व्यवस्था से 100 मजदूरों के बराबर काम किया जा रहा है. इसमें इस्तेमाल किये गए पहिए प्रदेश के ग्वालियर से बनकर आए हैं. हाइड्रोलिक ट्रॉली की मदद से ये ट्रैक पर दौड़ते हुए गिट्टी बिछाने में सक्षम है.
इस तकनीक से इतने दिनों में होगा काम पूरा
बताया जा रहा है कि, जिस ट्रैक पर कनवर्जन का काम चल रहा है, वो ब्रिटिशकालीन ट्रैक है. इसके खस्ता हाल होने के कारण आखरी पैसेंजर ट्रैन जनवरी 2017 में अकोला से सनावद तक दौड़ी थी. इस ट्रैक के बनने के बाद खंडवा-सनावद ट्रैक चार राज्यों को जोडऩे वाले जयपुर-कांचीगुड़ा ट्रैक से मिल जाएगा. इसपर कोयले की ट्रैने दौड़ाई जाएंगी, जिसका लक्ष्य साल 2019 के अंतिम महीने तक रखा गया है. हालांकि, खंडवा तक ट्रेन करीब डेढ़ साल बाद सफर कर सकेगी.
  
Today (12:01) इटारसी-जबलपुर ट्रेक चमक रहा, जीएम का निरीक्षण (www.palpalindia.com)
0 Followers
693 views

News Entry# 376798  Blog Entry# 4235258   
  Past Edits
This is a new feature showing past edits to this News Post.
पलपल संवाददाता, जबलपुर. इटारसी-जबलपुर के लगभग 275 किलोमीटर लंबे रेलमार्ग चमक रहा है, यहां तक कि ट्रेक पर लगे नट-बोल्ट तक को घिस-घिस कर चमकाया गया है औैर उसकी पेंटिंग तक की गई गई है, पुल-पुलियों, रेल फाटक तो ऐसे की जो देखे बस देखता ही रह जाए, यह सब कवायद इसलिए की आज सोमवार को पश्चिम मध्य रेलवे के महाप्रबंधक अजय विजयवर्गीय द्वारा इस रेलखंड का निरीक्षण किया जा रहा है.
इटारसी छोर से हुई शुरूआत, बागरा तवा ब्रिज के ऊपर पैदल चले
इटारसी से जबलपुर के बीच निरीक्षण पर गए पमरे
...
more...
जीएम अजय विजयवर्गीय सुबह करीब 10 बजे बागरातवा रेल ब्रिज पर रुके उन्होंने ब्रिज का बारीकी से निरीक्षण किया. वहां पर उन्हें कुछ खामियां दिखाई दीं, जिसे दुरुस्त करने के लिए उंन्होने डीआरएम और विभाग प्रमुखों को आदेश दिए हैं. वागरातवा से जीएम और डीआरएम ट्रॉली पर सवार होकर ट्रेक का निरीक्षण किया है. सुहागपुर स्टेशन पहुंचने पर जीएम ने निरीक्षण शुरू किया, प्लेटफार्म पर यात्री सुविधाओं का निरीक्षण कर रहे थे.
रेल खंड के 25 स्टेशन हुए चगन-मगन
सुबह स्पेशल ट्रेन में बैठकर जीएम अनिल विजयवर्गीय, इंजीनियरिंग, ऑपरेटिंग, काामर्शियल, सिग्नल एण्ड कम्प्यूनिकेशन और मैकेनिकल विभाग के वरिष्ठ अधिकारियों के साथ सुरक्षा, सुविधा और संरक्षा का जायजा लेंगे. पिछले दो माह से रेलवे के अधिकारी और कर्मचारी जबलपुर से इटारसी के बीच आने वाले 25 रेलवे स्टेशन और रेलवे ट्रैक को दुरुस्त करके सजा दिया गया है. इस काम को पूरा करने के लिए कई कर्मचारियों को कटनी, बीना और मानिकपुर से भी बुलाया गया है.
  
पलपल संवाददाता, जबलपुर. पश्चिम मध्य रेलवे मजदूर संघ से लगातार प्रमुख कार्यकर्ताओं, पदाधिकारियों का पलायन जारी है. मजदूर संघ के शीर्ष नेतृत्व एवं हठधर्मिता एवं प्रजातांत्रिक मूल्यों को अवपथन करने से संघ के पदाधिकारी एवं कार्यकर्ताओं ने लगातार असंतोष बढ़ रहा है. पमरे के कोटा में पूर्व मंडल सचिव एस.डी. धाकड़ द्वारा वेस्ट सेन्ट्रल रेलवे एम्पलाईज यूनियन की सदस्यता ग्रहण करने के पश्चात संघ को दूसरी बार करारा झटका देते हुये इंजीनियरिंग शाखा कोटा के अध्यक्ष निजाम जमादार ने भी शनिवार 16 फरवरी को सैंकड़ों कार्यकर्ताओं के साथ वेस्ट सेन्ट्रल रेलवे एम्पलाईज यूनियन का दामन थामते हुये यूनियन के महामंत्री मुकेश गालव के नेतृत्व में एकत्रित हुये.
वेस्ट सेन्ट्रल रेलवे मजदूर संघ छोड़कर एम्पलाईज यूनियन में एक दर्जन से अधिक पदाधिकारियों
...
more...
ने उमरावमल पुरोहित सभागार में सदस्यता ग्रहण की. सर्वश्री सुधीर कुमार पूर्व शाखा सचिव शामगढ़ एसएसई/पीवे/प्रशिक्षण केन्द्र कोटा, के.के.मीणा व डी.एस.चौहान पूर्व उपाध्यक्ष यातायात शाखा कोटा, गार्ड शिडयूल कमेटी के पदाधिकारी रहे आर.डी.मीणा एवं यूथविंग के मंडल उपाध्यक्ष हेमराज मीणा के साथ नरेन्द्र कुमार शर्मा ने भी सदस्यता ग्रहण की.
इनके साथ सवाईमाधोपुर शाखा के उपाध्यक्ष रहे एवं वर्तमान में मंडल रेल चिकित्सालय कोटा में मुख्य कार्यालय अधीक्षक जी.पी. मंगल, वाणिज्य विभाग से सीपीएस रामसहाय तेली, विक्रम सिंह राजावत, मनीष शुक्ला एवं ईसीआरसी अरविन्द प्रभाकर ने भी यूनियन की सदस्यता ग्रहण की. कोटा यातायात यूथ विंग के पदाधिकारी घनश्याम मीणा एवं सुनील कुमार, ललित कुमार के साथ दर्जनों कार्यकर्ता के साथ सदस्यता ग्रहण की.
सहायक मंडल सचिव एस.डी. धाकड़ ने बताया कि कार्यकर्ताओं की उपेक्षा कर
कोई भी संगठन मजबूत नहीं हो सकता. विगत सप्ताह भोपाल मंडल में भी दर्जनों पदाधिकारियों के साथ कार्यकर्ताओं द्वारा मजदूर संघ का तिरस्कार कर यूनियन की सदस्यता ग्रहण करने से मान्यता के लिये गुप्त मतदान में खतरे का संकेत है. कार्यकर्ताओं एवं पदाधिकारियों का असंतोष अभी भी कई शाखाओं में व्याप्त है. संघ में अपने आप को ठगा सा महसूस कर स्वच्छंद होने के लिये समय का इंतजार कर रहे है.
हर कर्मचारी अपने को यूनियन का पदाधिकारी समझे : गालव
कार्यक्रम में कार्यकर्ताओं को संबोधित करते हुये महामंत्री मुकेश गालव ने आश्वस्त किया कि मौजूदा सरकार कर्मचारी विरोधी होने पर भी कोटा मंडल एवं पश्चिम मध्य रेलवे प्रशासन को कर्मचारियों का दमन एवं उनके हितों को अनदेखा वेस्ट सेन्ट्रल रेलवे एम्पलाईज यूनियन के रहते हुये नहीं होने दिया जायेगा. सभी कार्यकर्ता अपने आप को पदाधिकारी से कम ना समझें.
कार्यक्रम के अन्त में कशमीर के पुलवामा में सीआरपीएफ के जवानों के नरसंहार की कड़े शब्दों में भत्र्सना की एवं प्रतिकार लेने हेतु संकल्प लेकर श्रृद्धांजलि अर्पित करते हुये दो मिनट का मौन रखा तथा पुष्पाजंलि अर्पित कर श्रंद्धाजलि दी. कार्यक्रम में प्रमुख रूप से मंडल अध्यक्ष एस.के.भार्गव, कोषाध्यक्ष इरशाद खान, संजय दलेला, गीतम सिंह, मनजीत सिंह बग्गा, अजय शर्मा, उपेन्द्र सिंह, राकेश, सहित सैंकड़ो रेलकर्मचारी उपस्थित थे.
  
पलपल संवाददाता, जबलपुर. मध्य प्रदेश के खजुराहो में एक ऐसा मामला सामने आया है, जिसमें रेलवे के अधिकारियों की कार्यप्रणाली पर सवालिया निशान लगाये जा रहे हैं. दरअसल शनिवार को रेलवे ने खजुराहो से इंदौर के लिए एक नई ट्रेन चलाने की घोषणा की. इस कार्यक्रम के लिए केंद्रीय मंत्री वीरेंद्र खटीक को आमंत्रित किया गया था, जिन्हें ही इस ट्रेन को हरी झंडी दिखाना थी, लेकिन माननीय कार्यक्रम में नहीं पहुंचे तो अधिकारियों ने माननीय की जगह उनकी पत्नी से ही हरी झंडी दिखा दी, जिस पर स्थानीय कांग्रेस नेताओं ने सवाल उठाए हैं.
उल्लेखनीय है कि खजुराहो से ललितपुर, भोपाल, उज्जैन होते हुए इंदौर जाने वाले यात्रियों को हफ्ते में 4 दिन खजुराहो एवं छतरपुर से ट्रेन की सुविधा शनिवार
...
more...
16 फरवरी से मिल गई, लेकिन हरी झंडी दिखाए जाने के मामले ने तूल पकड़ लिया है. ट्रेन को हरी झंडी भाजपा सांसद व केंद्रीय मंत्री वीरेन्द्र कुमार खटीक को दिखाना थी. लेकिन वह किसी कारण वहां नहीं पहुंच सके. सांसद की अनुपस्थिति में उनकी पत्नी कमल खटीक ने ट्रेन को हरी झंडी दिखाकर रवाना किया. अब सवाल उठ रहे हैं कि रेलवे के कई अधिकारियों के वहां होने के बाद भी सांसद की पत्नी ने कैसे नियम को ताक पर रख कर इस काम को अंजाम दिया है. वह किसी भी सरकारी पद पर नहीं है. इस मामले पर कांग्रेस ने भाजपा पर निशाना साधा. इस कार्यक्रम में स्थानीय कांग्रेस नेताओं को भी नहीं बुलाया गया. जिस पर कांग्रेसियों ने ऐतराज भी जताया.
ट्रेन की यह है समय सारिण
रविवार से इस रूट की नियमित ट्रेन नंबर है 19664 जो कि खजुराहो से हफ्ते में 4 दिन शनिवार, रविवार, मंगलवार और शुक्रवार को रात्रि 11.30 बजे रवाना होगी, यह ट्रेन रात्रि 12.03 बजे छतरपुर पहुंचेगी. यहां से खरगापुर, टीकमगढ़, ललितपुर, बीना, विदिशा, सांची, संत हिरदाराम नगर भोपाल, उज्जैन होते हुए अगले दिन 1.50 बजे इंदौर पहुंचेगी. वहीं इंदौर से यह ट्रेन शनिवार, रविवार, सोमवार और बुधवार को शाम 3.55 बजे रवाना होगी. यह ट्रेन अगले दिन सुबह 6 बजे खजुराहो पहुंचेगी.
कांग्रेसी नेताओं को नहीं किया आमंत्रित
रेल मंत्रालय द्वारा खजुराहो और छतरपुर में इस ट्रेन के उद्घाटन का संक्षिप्त कार्यक्रम रखा गया जिसमें सिर्फ भाजपा नेताओं को शामिल किया गया. मप्र में कांग्रेस की सरकार है एवं खजुराहो में राजनगर विधायक नातीराजा के मौजूद होने के बावजूद भी उन्हें इस कार्यक्रम की कोई जानकारी नहीं दी गई न ही आमंत्रण दिया गया. कांग्रेस नेताओं ने इस पर नाराजगी जाहिर की है. उद्घाटन अवसर पर सिर्फ भाजपा नेता मौजूद रहे.

1 Public Posts - Yesterday

  
Rail News
469 views
Yesterday (12:36)
deepakrashikendra~   1852 blog posts
Re# 4234375-2            Tags   Past Edits
Train timings needs to be fine tuned, departure from Khajuraho sud be 22:20 to reach 11:05 am Indore with reversal at Bhopal( Bareilly Indore /Bareily train Timings 14319/14320). Similarly departure from Indore at 16:45 hrs and departure from Bhopal at 22:20hrs to reach Khajuraho @5:40 am

  
465 views
Yesterday (12:37)
जय हिंद की सेना ✋🇮🇳~   2355 blog posts   150 correct pred (63% accurate)
Re# 4234375-3            Tags   Past Edits
madam ji be like: Pati humare vidhayak hein.

  
463 views
Yesterday (12:40)
जय हिंद की सेना ✋🇮🇳~   2355 blog posts   150 correct pred (63% accurate)
Re# 4234375-4            Tags   Past Edits
Important thing is inaugration! Ab chahe wo public hi kyun naa kare. Mantri ji ke pas time nahi hai toh kya hua. Aisa pehle bhi hua Yamuna Bank-Anand Vihar delhi metro section ke liye PM MMSingh ke paas time nahi tha, tab uska inaugration public ne khud hi kiya tha

  
Rail News
459 views
Yesterday (12:59)
समाजवादी परम्परा ही मूल राजनैतीक विचारधारा है~   4783 blog posts
Re# 4234375-5            Tags   Past Edits
Kya fark padta hai, Jhandi toh koi bhi dikha sakta hai...

  
453 views
Yesterday (13:12)
ललितपुर सिंगरौली बड़ी रेल लाइन~   1170 blog posts   95 correct pred (72% accurate)
Re# 4234375-6            Tags   Past Edits
सांसद पत्नी के साथ सफाई कर्मी ने भी ट्रेन को हरी झंडी दिखाई। ये मीडिया वालों को नही दिखाई दिया और उस के बाद बोलते है नो नेगेटिव न्यूज़ 😂😂
  
पलपल संवाददाता, जबलपुर. दुर्ग से अमरकंटक व्हाया जबलपुर होकर प्रतिदिन चलने वाली अमरकंटक एक्सप्रेस को इंदौर तक बढ़ाने की तैयारी है. यदि इस ट्रेन को इंदौर तक चलाया जाता है तो जबलपुर से इंदौर के लिए यह तीसरी ट्रेन होगी. यह ट्रेन इंदौर तक बढ़ती है तो इंदौर को बिलासपुर, रायपुर, भिलाई और दुर्ग के लिए रोजाना एक्सप्रेस श्रेणी की ट्रेन मिल जाएगी. फरवरी अंत तक इस मामले में फैसला होने की उम्मीद है. इस ट्रेन को चलाने के लिए लोकसभा अध्यक्ष और इंदौर की सांसद श्रीमती सुमित्रा महाजन ताई लगातार रेलमंत्री से संपर्क में हैं.
जानकारों का कहना है कि अमरकंटक एक्सप्रेस को इंदौर तक बढ़ाने के लिए रेलवे को अतिरिक्त रैक की जरूरत नहीं पड़ेगी.
पिछले
...
more...
दिनों लोकसभा स्पीकर सुमित्रा महाजन की तरफ से रेल मंत्री को सुझाव दिया गया था कि अमरकंटक और इंदौर-बिलासपुर नर्मदा एक्सप्रेस का रैक लिंक कर दिया जाए तो अमरकंटक एक्सप्रेस को इंदौर से चलाया जा सकता है. 23 कोच की अमरकंटक एक्सप्रेस रोज भोपाल से दोपहर 3.40 बजे चलती है और अगले दिन सुबह 7.55 बजे दुर्ग पहुंचती है. वापसी में दुर्ग से यह ट्रेन रोज शाम 6.20 बजे चलकर अगले दिन सुबह 10.30 बजे भोपाल पहुंचती है. सुबह से शाम तक यह ट्रेन भोपाल में खड़ी रहती है.
बगैर एक्सट्रा रैक के चल जायेगी ट्रेन, नर्मदा एक्सप्रेस का रैक का होगा उपयोग
बताया जाता है कि अमरकंटक एक्सप्रेस का रैक नर्मदा एक्सप्रेस से लिंक हो जाए तो भोपाल से चलकर यह ट्रेन दोपहर ढाई-तीन बजे तक इंदौर आ सकती है और शाम 5.15 बजे नर्मदा एक्सप्रेस बनकर रवाना हो सकती है. इसी तरह रोज सुबह 10.50 बजे इंदौर आने वाली नर्मदा एक्सप्रेस को तुरंत अमरकंटक बनाकर रवाना किया जाए तो यह ट्रेन तय समय भोपाल पहुंच जाएगी. उक्त सुझाव पर बोर्ड अफसरों का रुख भी सकारात्मक है, क्योंकि उन्हें भोपाल से इंदौर का टाइम टेबल बनाना होगा और कोई अतिरिक्त रैक नहीं जुटाना होगा.

  
Rail News
425 views
Feb 16 (13:27)
anshulsharmami~   260 blog posts
Re# 4233512-1            Tags   Past Edits
बताया जा रहा है कि 28 को ट्रैन की घोषणा हो सकती है

  
386 views
Feb 16 (14:21)
sonu~   135 blog posts
Re# 4233512-2            Tags   Past Edits
Kaun so train?
Page#    888 news entries  next>>

Scroll to Top
Scroll to Bottom
Go to Mobile site
Important Note: This website NEVER solicits for Money or Donations. Please beware of anyone requesting/demanding money on behalf of IRI. Thanks.
Disclaimer: This website has NO affiliation with the Government-run site of Indian Railways. This site does NOT claim 100% accuracy of fast-changing Rail Information. YOU are responsible for independently confirming the validity of information through other sources.
India Rail Info Privacy Policy